Submit your post

Follow Us

पेगासस लिस्ट में जिन महिलाओं का नाम आया, उन्होंने इस पर क्या कहा?

पेगासस स्पाईवेयर. लोगों के फोन में सेंध मारकर उनके कॉल्स सुनने वाला, उनका डेटा चुराने वाला सॉफ्टवेयर. 18 जुलाई की रात से खबरों में बना हुआ है. आरोप है कि इस स्पाईवेयर से देश के कई पत्रकारों और नेताओं को टारगेट किया गया. संभावित टारगेट्स में वो महिला भी शामिल हैं जिन्होंने पूर्व CJI रंजन गोगोई पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे. उनके अलावा कई महिला पत्रकारों को इस स्पाईवेयर से टारगेट करने की बात सामने आई है. वो कौन हैं और इन स्पाईवेयर अटैक पर उन्होंने क्या कहा है. आज हम इसी पर बात करेंगे.

द वायर की रिपोर्ट के मुताबिक, अप्रैल, 2019 में जिस महिला ने पूर्व CJI रंजन गोगोई पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे, आरोप लगाने के कुछ दिन बाद ही उन महिला की जासूसी शुरू हो गई. उनके साथ-साथ उनके परिवार से जुड़े कुल 11 लोगों के फोन नंबर उस लिस्ट में शामिल हैं जिन्हें संभावित टारगेट बताया जा रहा है. अगर जासूसी की बात सच है तो उन महिला ने अपने वकीलों और जानने वालों से केस को लेकर जो भी बात की, वो जासूसी करने वालों तक पहुंची. ऐसे में इस आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है कि उन जानकारियों का इस्तेमाल जस्टिस गोगोई के खिलाफ तब चल रहे मामले में भी किया गया हो. बता दें कि बाद में जस्टिस गोगोई को यौन शोषण के मामले से बरी कर दिया गया था.

द वायर ने ही कई संभावित लोगों के नाम जारी किए हैं जिनका नाम पेगासस की उस लिस्ट में हो सकता है जिन्हें टारगेट किया गया था. उनमें कौन-कौन सी महिलाओं के नाम हैं? चलिए जानते हैं.

रोहिणी सिंह

Rohini
पत्रकार रोहिणी सिंह का नाम संभावित टारगेट्स की लिस्ट में है. फोटो- Twitter

पत्रकार हैं. द वायर के मुताबिक, रोहिणी सिंह ने गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह और पीएम नरेंद्र मोदी के करीबी निखिल मर्चेंट के बिजनेस को लेकर बैक टू बैक रिपोर्टिंग की थी. इसके साथ ही वो पीयूष गोयल और बिजनेसमैन अजय पिरामल की डीलिंग्स को लेकर जांच कर रही थीं. इसी दौरान उन्हें पेगासस का टारगेट बनाया गया. रोहिणी ने वेबसाइट से कहा,

“लोग सोचते हैं कि एक ताकतवर सरकार ही सर्विलांस करवा सकती है. मुख्यधारा के पत्रकार इसकी आलोचना तक नहीं करते और मुझे ये बेहद दुर्भाग्यपूर्ण लगता है.”

रितिका चोपड़ा

Ritika Chopra
इंडियन एक्सप्रेस की पत्रकार रितिका चोपड़ा.

इंडियन एक्सप्रेस के साथ जुड़ी हैं. अखबार के लिए एजुकेशन और चुनाव आयोग की बीट देखती हैं. रितिका ने इंडियन एक्सप्रेस के पॉडकास्ट 3 थिंग्स में इस बारे में विस्तार से बात की. उन्होंने बताया कि दो हफ्ते पहले एक विदेशी मीडिया संस्थान के एक पत्रकार ने उन्हें कॉन्टैक्ट किया. वो जानना चाहते थे कि क्या रितिका का फोन कभी सर्विलांस में रहा है. इसके लिए उनके फोन का बैकअप डेटा मांगा गया. पर रितिका ने डेटा देने से मना कर दिया. इसके बाद 17 जुलाई को रितिका से द वायर ने कॉन्टैक्ट किया. तब उन्हें पता चला कि उनका नंबर पेगासस स्पाईवेयर के संभावित टारगेट्स की लिस्ट में था. रितिका ने कहा,

“मुझे नहीं पता कि मेरे फोन पर अटैक सक्सेसफुल रहा या नहीं. पता करने के लिए मुझे किसी थर्ड पार्टी से अपने फोन की फॉरेंसिक जांच करवानी होगी, जो मैं नहीं चाहती हूं. अगर बाय एनी चांस मेरा फोन 2019 में सर्विलांस पर रखा गया तो उसकी संभावित वजह ये हो सकती है कि उस साल लोकसभा चुनाव थे और मैं चुनाव आयोग कवर कर रही थी. तब मैंने तीनों चुनाव आयुक्तों के बीच ओपिनियन में अंतर पर स्टोरी की थी, विपक्ष ने पीएम मोदी और अमित शाह पर चुनाव आचार संहिता के कथित उल्लंघन की शिकायत की थी, वो स्टोरी मैंने की थी. इस तरह छह-सात स्टोरीज़ मैंने लाइन से की थी. तो वो वजह हो सकती है. लेकिन फिलहाल मैं ये अंदाज़ा लगाना नहीं चाहती कि ये सब किसने और क्यों किया होगा.”

विजैता सिंह

Vijaita Singh
विजैता सिंह द हिंदू के लिए गृह मंत्रालय कवर करती हैं. फोटो- ट्विटर

द हिंदू के साथ जुड़ी हैं. अखबार के लिए गृह मंत्रालय कवर करती हैं. उन्होंने Mojo Story यूट्यूब चैनल पर बरखा दत्त से बातचीत में कहा कि ये उनके लिए बेहद डरावना और परेशान करने वाला है कि दो साल से कोई उनके मैसेजेस पढ़ रहा था. उनके फोन कॉल्स सुन रहा था. उन्होंने बताया कि जब द वायर ने उनसे संपर्क किया तब उन्हें इस बारे में पता चला. रितिका तरह ही वो भी कहती हैं कि वो इस बारे में कोई अंदाज़ा नहीं लगाना चाहती हैं कि इसके पीछे कौन हो सकता है. उन्होंने बताया,

“मैं नैशनल सिक्योरिटी और मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स कवर करती हूं. इस फील्ड में काफी सिक्योरिटी ईशूज़ होते हैं. मैं चाइना बॉर्डर क्राइसिस पर काम कर रही थी, उस पर मैंने काफी स्टोरीज़ की हैं. तो मैं किसी एक स्टोरी को लेकर नहीं कह सकती कि उसकी वजह से मेरे फोन पर अटैक हुआ.”

स्वाति चतुर्वेदी

Swati Chaturvedi
पत्रकार और कॉलमिस्ट स्वाति चतुर्वेदी का मानना है कि उनकी जासूसी असल में उनके काम के लिए एक कॉन्प्लिमेंट है.

फ्रीलांस पत्रकार हैं. इनका नाम भी संभावित टारगेट की लिस्ट में हैं. जब इनके फोन पर अटैक की कोशिश हुई तब वो द वायर के लिए लिख रही थीं. उन्होंने बताया,

“बीजेपी की सीक्रेट डिजिटल आर्मी पर मेरी इन्वेस्टिगेटिव बुक ने मोदी सरकार का पर्दाफाश किया था कि कैसे मोदी सरकार लोकतंत्र में नागरिकों पर अटैक कर रही है. मैं इस इल्लीगल सर्विलांस को अपने जर्नलिज़्म के लिए एक कॉम्प्लिमेंट के तौर पर लेती हूं.”

बेला भाटिया

Bela Bhatia
मानवाधिकार कार्यकर्ता और वकील बेला भाटिया.

स्कॉलर हैं. वकील हैं. सोशल एक्टिविस्ट हैं. लंबे समय से बस्तर के आदिवासियों के लिए काम कर रही हैं. इनका नाम भी इस लिस्ट में है. साल 2019 में भी वॉट्सऐप ने जानकारी दी थी कि बेला भाटिया के फोन पर पेगासस अटैक हुआ था. उन्होंने द वायर से कहा कि वो 90 के दशक से देशभर में माओवादी मूवमेंट्स पर स्टडी कर रही हैं. उन्होंने कहा,

“बस्तर में मैं स्कॉलर कम और ह्यूमन राइट्स एक्टिविस्ट, लेखिका और वकील के तौर पर ज्यादा काम कर रही हूं. फेक एनकाउंटर, यौन शोषण, मनगढ़ंत केस बनाकर आदिवासियों की गिरफ्तारी ये सब बस्तर के आदिवासियों की हकीकत है. “

इनके अलावा एक युवा महिला पत्रकार का नाम इस लिस्ट में शामिल है. द वायर ने उनका नाम नहीं लिखा, हालांकि, ये बताया है कि वो पत्रकार सीबीएसई पेपर लीक पर स्टोरी कर रही थीं. संभवतः इसी दौरान उनके फोन पर अटैक किया गया. लिस्ट में द वायर की डिप्लोमैटिक एडिटर देवीरूपा मित्रा का भी नाम है. साथ ही स्वतंत्र पत्रकार स्मिता शर्मा का नाम भी संभावित टारगेट्स की लिस्ट में शामिल है.


पेगासस मामले पर मोदी सरकार के गोल मोल जवाब, सच्चाई छिपाई जा रही है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

केरल की पहली ट्रांसजेंडर RJ, विधानसभा चुनाव उम्मीदवार रहीं अनन्या अपने फ्लैट में मृत पाई गईं

केरल की पहली ट्रांसजेंडर RJ, विधानसभा चुनाव उम्मीदवार रहीं अनन्या अपने फ्लैट में मृत पाई गईं

पुलिस जांच में जुटी.

18 साल के लड़के पर आरोप, 9 महीने की बच्ची को खिलाने के बहाने रेप किया

18 साल के लड़के पर आरोप, 9 महीने की बच्ची को खिलाने के बहाने रेप किया

घटना के बाद जब बच्ची रोई तो मां-बाप के हवाले कर फरार हुआ.

फेमस होने के चक्कर में मां ने नाबालिग बेटे के साथ जो किया वो अब बच्चे को ताउम्र सताएगा

फेमस होने के चक्कर में मां ने नाबालिग बेटे के साथ जो किया वो अब बच्चे को ताउम्र सताएगा

बच्चे के साथ आपत्तिजनक वीडियो बनाने का आरोप है.

कानपुर देहात पुलिस की इस वायरल तस्वीर का सच क्या है?

कानपुर देहात पुलिस की इस वायरल तस्वीर का सच क्या है?

पुलिस ने वीडियो जारी कर अपनी सफाई पेश की है.

प्रेमी के पास गई महिला तो उसे नग्न करके पीटा, पति को कंधे पर बिठाकर परेड निकाली

प्रेमी के पास गई महिला तो उसे नग्न करके पीटा, पति को कंधे पर बिठाकर परेड निकाली

पुलिस ने इस मामले में 18 लोगों को गिरफ्तार किया है.

सुल्ली डील्स के बाद 'हिंदू' महिलाओं के खिलाफ दिखाई गई नफरत बहुत परेशान करने वाली है

सुल्ली डील्स के बाद 'हिंदू' महिलाओं के खिलाफ दिखाई गई नफरत बहुत परेशान करने वाली है

इधर मुस्लिम महिलाओं को 'सुल्ली' कहा गया, तो उधर हिंदू महिलाओं के लिए हो रहा 'Hslut' का प्रयोग. एक अपराध के नाम पर दूसरे को जायज ठहरा रहे घटिया लोग.

रोमैंस के नाम पर लड़कियों के साथ ये अपराध होता है, आप जानते थे?

रोमैंस के नाम पर लड़कियों के साथ ये अपराध होता है, आप जानते थे?

स्टॉकिंग को प्रेम का रूप समझना सबसे बड़ी बेवकूफी है.

हिंदू- मुस्लिम शादी के लिए परिवार थे राज़ी, धर्म के ठेकेदारों ने हंगामा मचा दिया

हिंदू- मुस्लिम शादी के लिए परिवार थे राज़ी, धर्म के ठेकेदारों ने हंगामा मचा दिया

घर वालों को प्रेम दिख रहा था, दुनिया वालों को लव-जिहाद.

इस एक्ट्रेस को एक शख्स सालभर से भेज रहा अश्लील तस्वीरें, अब रेप की धमकी दी

इस एक्ट्रेस को एक शख्स सालभर से भेज रहा अश्लील तस्वीरें, अब रेप की धमकी दी

बंगाली एक्ट्रेस प्रत्युषा ने बताया- "30 बार ब्लॉक कर चुकी हूं, 31वां अकाउंट बनाकर धमका रहा"

केरल के इस फेमस एक्टर पर लगा दहेज उत्पीड़न का आरोप, हाई कोर्ट ने कहा- 'सरेंडर करो'

केरल के इस फेमस एक्टर पर लगा दहेज उत्पीड़न का आरोप, हाई कोर्ट ने कहा- 'सरेंडर करो'

पत्नी का आरोप- पैसे गबन कर लिए, शारीरिक और मानसिक तौर पर टॉर्चर भी किया.