Submit your post

Follow Us

बिहार की वो उपमुख्यमंत्री, जो नीतीश कुमार को अपना भाई कहती हैं!

शहीद की बेटी का दिल पिघला देने वाला वीडियो वायरल.

आंखों से अंगारे बरसाने वाली ये एक्ट्रेस आजकल कहां हैं? ़

किस राज्य में सेक्स रेशियो सबसे बेहतर और कहां सबसे खराब है?

इन सबके बारे में जानेंगे, ऑडनारी के स्पेशल न्यूज बुलेटिन WIN, यानी विमन इन न्यूज में. इस खास प्रोग्राम में हम बात करते हैं महिलाओं की, उनकी जो किसी न किसी वजह से खबर में बनी रहीं. इसी के साथ बढ़ते हैं पहली खबर की ओर-

# कौन हैं रेणु देवी, जो बिहार की उपमुख्यमंत्री बन गई हैं

सोमवार 16 नवंबर को नीतीश कुमार ने 7वीं बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. उनके अलावा 14 अन्य मंत्रियों को शपथ दिलाई गई. इस दौरान दो डिप्टी सीएम बनाए गए. इनमें से एक रेणु देवी हैं.

रेणु देवी ने शपथ लेने के बाद पीएम मोदी और नीतीश कुमार को धन्यवाद देते हुए ट्वीट किया.

रेणु देवी अति पिछड़ा नोनिया समुदाय से आती हैं. ‘आजतक’ में छपी रिपोर्ट के अनुसार, रेणु साल 1989 में बीजेपी महिला मोर्चा की चंपारण क्षेत्र की अध्यक्ष चुनी गईं. 1990 में तिरहुत प्रमंडल में महिला मोर्चा का प्रभारी बनीं. 1991 में प्रदेश महिला मोर्चा की महामंत्री बनीं. वह 1992 में जम्मू कश्मीर तिरंगा यात्रा में भी शामिल हुई थीं. 1993 में रेणु देवी को बीजेपी बिहार प्रदेश महिला मोर्चा का अध्यक्ष चुना गया. 1996 में फिर वह महिला मोर्चा की अध्यक्ष बनीं. 2014 में बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई.

साल 1995 के चुनाव में पहली बार नौतन विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी ने रेणु देवी को उम्मीदवार बनाया. लेकिन जीत नहीं सकीं. साल 2000 में बेतिया विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी ने टिकट दिया. यहां से करीब दस हजार मतों से जीतकर पहली बार विधायक चुनी गईं. इसके बाद 2005 में फिर से बेतिया से जीतकर विधानसभा पहुंचीं.

रेणु देवी साल 2013 से 2015 तक नीतीश सरकार में कला व संस्कृति मंत्री रहीं. 2015 में चुनाव हार गई थीं. लेकिन इस बार हुए विधानसभा चुनाव में फिर से जीती हैं.

‘आजतक’ से बातचीत में रेणु देवी ने कहा कि वह लालू यादव के समय भी विधायक थीं. उसके बाद जब नीतीश कुमार की सरकार बनी, तब भी विधायक रहीं. नीतीश कुमार से रेणु देवी का भाई-बहन का रिश्ता है, ऐसा वो खुद बताती हैं.

# शहीद की बेटी ने जवानों के गले लगकर जो कहा, वो आपको भी रुला देगा

दस साल की छोटी-सी बच्ची. अपने शहीद पापा के पार्थिव शरीर को विदाई देने पहुंचती है. आखिरी सैल्यूट देती है. और साथ आए फौजियों के गले लग जाती है. अपनी दादी से कहती है-

दादी रोना मत. ये अंकल हमारी रक्षा करते हैं. चिंता मत करो, रोना नहीं. मैं भी पापा की तरह फौज में जाना चाहती हूं. वंदेमातरम. भारत माता की जय.

ये छोटी सी बच्ची है मौली. BSF के सब इंस्पेक्टर राकेश डोवाल की बेटी, जिनका पार्थिव शरीर ऋषिकेश लाया गया था. मौली की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हैं. बीएसएफ के सब-इंस्पेक्टर राकेश डोवाल जम्मू कश्मीर के बारामूला इलाके में तैनात थे. बीते शुक्रवार यानी 13 नवंबर को पाकिस्तान की ओर से कई जगहों पर सीजफायर का उल्लंघन किया गया. अचानक बिना वजह की गई भारी फायरिंग में राकेश शहीद हो गए. श्रीनगर में रक्षा प्रवक्ता के मुताबिक, पाकिस्तान की ओर से मोर्टार समेत अन्य हथियारों से फायरिंग की गई थी. इस गोलीबारी में बीएसएफ के सब-इंस्पेक्टर के अलावा तीन और सैन्यकर्मी शहीद हुए. चार सुरक्षाकर्मी और आठ नागरिक घायल भी हो गए.

Mauli Rakesh Dobhal Daughter 5
अपने पिता को आखिरी विदाई देती 10 साल की मौली की बातें हौसला बढ़ाने वाली हैं. (तस्वीर: आज तक)

# अरुणाचल प्रदेश में सेक्स रेशियो सबसे बेहतर, मणिपुर में सबसे खराब

सेक्स रेशियो. यानी किसी भी आबादी में स्त्री और पुरुष का अनुपात. इसे ऐसे समझिए कि 100 लड़कों पर कितनी लड़कियां. 100 लड़कों पर 100 लड़कियां- ये एक आइडियल अनुपात है. भारत में कई राज्य इससे अब भी बहुत दूर हैं. कैसे? सिविल रजिस्ट्रेशन सिस्टम 2018 में दर्ज किए गए आंकड़ों पर रिपोर्ट अभी रिलीज हुई है. इन आंकड़ों में जन्म, मृत्यु इत्यादि की जानकारी रखी जाती है. इस रिपोर्ट की मानें तो अरुणाचल प्रदेश में सेक्स रेशियो सबसे बेहतर है. यहां प्रति हजार लड़कों के जन्म पर औसतन 1084 लड़कियां जन्म लेती हैं. वहीं मणिपुर में ये आंकड़ा सबसे कम 757 है.

ये रिपोर्ट रजिस्ट्रार जनरल ऑफ इंडिया की ओर से पब्लिश की जाती है. इस बार के आंकड़ों में झारखण्ड, बिहार, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, सिक्किम, और पश्चिम बंगाल शामिल नहीं थे. रिपोर्ट के मुताबिक़, सबसे अच्छे अनुपात वाले राज्यों में दूसरे नंबर पर नगालैंड  रहा. यहां प्रति हजार लड़कों पर औसतन 965 लड़कियों का जन्म हुआ. 964 लड़कियों का अनुपात लेकर मिजोरम तीसरे नंबर पर रहा.

सबसे ज्यादा चिंतित करने वाले आंकड़े मणिपुर के बाद लक्षद्वीप, पंजाब और गुजरात में देखे गए. यहां पर अनुपात में लड़कियों की संख्या 900 से भी कम रही.

School Girls
देश में गर्ल चाइल्ड के आंकड़े अब भी सुकून देने वाले नहीं हैं. (सांकेतिक तस्वीर)

# स्पेस में बजाया सैक्सोफोन, एस्ट्रोनॉट की तस्वीर अब हुई वायरल

NASA. अमेरिका की स्पेस एजेंसी है. जेसिका मेयर नाम की एस्ट्रोनॉट की तस्वीर नासा ने हाल में ट्वीट की. इस तस्वीर में दिख रहा है कि अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन में मौजूद जेसिका सैक्सोफोन नाम का म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट बजाती दिखाई दे रही हैं. ये तस्वीर ट्वीट करते हुए NASA ने अपने फॉलोअर्स से पूछा- अपने साथ स्पेस में वो क्या ले जाना पसंद करेंगे? तस्वीर में दिख रही एस्ट्रोनॉट जेसिका मेयर की ये तस्वीर पुरानी है. लेकिन NASA के शेयर करने के बाद वायरल हो रही है.

जेसिका मेयर एक मरीन बायोलॉजिस्ट हैं. 2013 में NASA में चुनी गई थीं. पिछले साल अक्टूबर में उन्होंने अपनी साथी क्रिस्टीना कोच के साथ मिलकर इतिहास बनाया था. ऑल फीमेल स्पेसवॉक का. उनसे पहले जितनी भी महिलाएं गई थीं स्पेसवॉक के लिए, सबके साथ कोई न कोई पुरुष साथी ज़रूर रहा था.

# बर्थडे स्पेशल- मीनाक्षी शेषाद्री

‘दामिनी’, ‘घर हो तो ऐसा’, ‘अकेला’ जैसी फिल्में देकर सुपरहिट होने वाली मीनाक्षी शेषाद्री का आज जन्मदिन होता है. शशिकला शेषाद्री. पैदाइश के वक्त मां बाप ने यही नाम दिया था. बिहार के सिंदरी में एक तमिल अयंगर ब्राह्मण परिवार में पैदा हुईं. साल 1963 में. अब सिंदरी झारखंड में आ गया है. पापा खाद के कारखाने में काम करते थे. बेसिक पढ़ाई लिखाई करने के बाद मीनाक्षी का मन नृत्य में रम गया.

1981 में मिस इंडिया कॉन्टेस्ट में भाग लिया, और 17 साल की उम्र में ये खिताब जीत लिया. उनकी पहली फिल्म थी ‘पेंटर बाबू’, पिट गई. मीनाक्षी का मन कसैला हो गया. उन्होंने फिल्म करियर शुरू करने से पहले ही खत्म करने का फैसला कर लिया. लेकिन सुभाष घई ने उन्हें ऐसा करने नहीं दिया. अपनी फिल्म में फीमेल लीड रोल ऑफर किया. फिल्म थी ‘हीरो’ और इसमें मीनाक्षी के अपोजिट थे जैकी श्रॉफ. ये फिल्म बंपर हिट रही. आगे जाकर मीनाक्षी ने इंडस्ट्री के हर बड़े एक्टर के साथ काम किया. 1993 में आई ‘दामिनी’ फिल्म में उनकी एक्टिंग के चर्चे हर जगह हुए. फिल्मफेयर नॉमिनेशन भी मिला. 1996 में आई ‘घातक’ मीनाक्षी की आखिरी फिल्म थी. फिल्म इंडस्ट्री को अलविदा कहने की तैयारी उन्होंने एक साल पहले ही कर ली थी. 1995 में उन्होंने अमेरिका में बसे एक इनवेस्टमेंट बैंकर हरीश मैसूर से शादी कर ली. उसके बाद वहीं चली गईं. अब एक डांस स्कूल चला रही हैं वहां.

Untitled Design 2020 11 16t190009.514
मीनाक्षी तब (बाएं) और अब (दाएं)

# आज की ऑडनारी 

इस सेक्शन में हम आपको मिलवाते हैं एक ऐसी आम महिला या लड़की से, जो कोई सिलेब्रिटी नहीं होती. लेकिन उससे देश की सभी महिलाएं प्रेरणा ले सकती हैं. आज की हमारी ऑडनारी हैं रेलू वसावे. 27 साल की हैं. आंगनबाड़ी कार्यकर्ता हैं. कई किलोमीटर नाव चलाकर अपना काम करने जाती हैं. ‘आज तक’ से जुड़े पत्रकार प्रवीण ठाकरे के अनुसार रेलू की ये आंगनबाड़ी नंदूरबार जिले के चिमलखेडी गांव में है. पिछले कुछ सालों में नर्मदा के बैकवॉटर की वजह से यहां पर जमीनी संपर्क टूटा हुआ है.

जब कोविड 19 महामारी की वजह से लॉकडाउन लगा था, उस समय रेलू के पास गांव के लोग आने बंद हो गए. तब रेलू ने निर्णय लिया कि अगर माएं और बच्चे उनके पास नहीं आ सकते, तो वो खुद उनके पास जाएंगी. इसलिए रेलू ने एक नाव उधार ली, और अब रोज नाव लेकर लोगों तक पहुंचती हैं. रोज सुबह आंगनबाड़ी पहुंचने के बाद रेलू कुछ देर काम करती हैं. फिर नाव लेकर आसपास के इलाके में निकल जाती हैं. इन इलाकों में 17 नवजात बच्चे और 8 गर्भवती महिलाएं हैं, जिनके लिए रेलू आहार और बाकी ज़रूरी चीजें लेकर जाती हैं.

रेलू को रोज़ करीब 18 किलोमीटर नाव खेनी पड़ती है. लेकिन रेलू हार नहीं मानतीं. उनके इन प्रयासों की तारीफ़ लोकल लोगों के बीच काफी हो रही है. यही नहीं, नंदूरबार जिला पंचायत के उपायुक्त ने रेलू तक मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का संदेश भी पहुंचाया. मुख्यमंत्री ने उनके काम की तारीफ करते हुए उनका अभिनन्दन किया है.

Relu Vasave
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रेलू ठाकरे लोगों के लिए एक प्रेरणा की तरह हैं. (तस्वीर: प्रवीण ठाकरे/आज तक)

तो ये थीं आज की ख़बरें. अगर आप भी जानते हैं ऐसी महिलाओं को, लड़कियों को, जो दूसरों के लिए मिसाल हैं, तो हमें उनके बारे में बताइए. मेल करिए lallantopwomeninnews@gmail.com पर.


वीडियो:जम्मू कश्मीर में शहीद हुए राकेश डोवाल की बेटी बोली- मैं भी आर्मी में जाऊंगी 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

जयपुर में महिला ने रेप का केस दर्ज करवाया, तो आरोपी ने उसे केमिकल से जला दिया

आरोपी ब्लैकमेल करके महिला का रेप करता था.

कोरोना संक्रमित महिला को अस्पताल ने भर्ती नहीं किया, गेट पर ही उसने बच्चे को जन्म दिया!

आरोपी डॉक्टर का वेतन रोका गया, जांच के लिए कमिटी बनी.

बलिया में छेड़छाड़ के विरोध पर जिंदा जलाने की कोशिश, छात्रा की हालत गंभीर

बेटी को बचाने गए पिता भी झुलसे.

मौसा ने रेप की कोशिश की, मामला छिपाने के लिए मौसी ने मरवाकर लाश बेडबॉक्स में छिपा दी

लड़की पढ़ाई के लिए मौसी के पास दिल्ली आई थी.

गुरुग्राम : लड़की ने आरोप लगाया, बेहोशी की हालत में अस्पताल में हुआ रेप

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

महिलाओं को सेक्स गुलाम बनाकर रखने वाले को 120 साल की सजा हो गई

अमेरिका की एक अदालत ने स्वघोषित ‘गुरु’ को दी सजा.

एक्ट्रेस ने शादी का ऑफर ठुकराया तो चाकू से ताबड़तोड़ वार करके घायल कर दिया

म्यूजिक विडियो बनाने की बात कहकर फेसबुक पर कॉन्टैक्ट किया था.

दिल्ली : एक दिन में तीन लड़कियों का यौन शोषण करने वाला धराया, तो पुलिसवाला निकला

दिल्ली के द्वारका में गाड़ी में बैठकर घात लगाता था.

बीजेपी ने पूछा- पंजाब में छह साल की बच्ची से रेप और शव जलाने पर चुप क्यों हैं राहुल गांधी?

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला ने कहा बच्ची के परिवार को न्याय दिलाकर रहेंगे.

एक लाख से भी ज्यादा महिलाओं की 'नग्न' तस्वीरें इंटरनेट पर पहुंचाने वाला कौन है?

इनमें से कई तस्वीरें नाबालिग लड़कियों की भी हैं.