Submit your post

Follow Us

इतना जाबड़ टूर्नामेंट जीतने वाली खिलाड़ी की तारीफ़ किसी और ही वजह से हो रही है!

ई-मार्केटर नाम की एक मार्केट रिसर्च कंपनी ने स्टडी करके कहा है कि साल 2020 में एक आम वयस्क भारतीय अपने दिन के औसतन पांच घंटे 24 मिनट मीडिया को देगा. इसमें टीवी, मोबाइल, लैपटॉप/डेस्कटॉप, प्रिंट मीडिया और रेडियो शामिल है. चौंकिए मत. आने वाले दो सालों में ये आंकड़ा ऊपर ही जाने वाला है. छोटा-सा उदाहरण ले लीजिए. दिन भर में आप शायद कई वेबसाइट्स खोलकर देखते होंगे. अखबार देखते होंगे. फोन पर आते नोटिफिकेशन आपको याद दिलाते होंगे कि आपको खबरें चेक करनी हैं. इस वक़्त आप जो ये आर्टिकल पढ़ रहे हैं अपनी स्क्रीन पर, ये भी इस समय में ही गिना जा रहा है.

अब एक छोटा-सा सवाल.

इन पांच घंटे 24 मिनटों में आप कितनी ऐसी खबरें पढ़ते हैं, जिनमें आपको महिलाएं दिखाई देती हैं? फ्रंट पेज की हेडलाइंस से लेकर आखिरी स्पोर्ट्स और साइंस के कॉलम तक? सोच में पड़ गए ना. इसीलिए हमने शुरू किया है ऑडनारी का स्पेशल न्यूज बुलेटिन WIN, यानी विमेन इन न्यूज. जहां पर हम बात करेंगे महिलाओं की, खबरों की, और ख़बरों में महिलाओं की. जिनके बारे में आप यहां पढ़ सकते हैं.

चीन की वायरलॉजिस्ट का दावा- चीनी सरकार ने ही बनाया कोरोना वायरस

Li Meng Yan
(तस्वीर: ट्विटर)

डॉक्टर ली मेंग यान हांगकांग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ से पढ़ी हैं. साइंटिस्ट हैं. वायरस और इम्यून सिस्टम पर काम करती हैं. इन्होंने हाल में ही एक टॉक शो में बताया कि दिसंबर और जनवरी के बीच उन्होंने न्यू निमोनिया पर रिसर्च की थी. अपने सुपरवाइजर से रिजल्ट शेयर भी किए थे. लेकिन डॉक्टर यान ने बताया कि उनसे कहा गया, ‘चुप रहो वरना गायब कर दी जाओगी’. डॉक्टर यान चीन छोड़ चुकी हैं. उन्होंने एक सीक्रेट लोकेशन से इस टॉक शो में भाग लिया. उन्होंने कहा कि उनके पास सारे साइंटिफिक सुबूत हैं ये बात साबित करने के लिए कि कोरोना वायरस चीन की सरकार ने ही बनाया है. इन सुबूतों को जल्द ही दुनिया के सामने लाया जाएगा.

नाओमी ओसाका ने जीता यूएस ओपन, लेकिन तारीफ इस बोल्ड कदम की वजह से हो रही है

Naomi Osaka
(तस्वीर: AP)

हाल में ही यूएस ओपन टेनिस टूर्नामेंट ख़त्म हुआ है. इसके फाइनल में बेलारूस की खिलाड़ी विक्टोरिया अजारेंका को हराकर नाओमी ओसाका ने जीत दर्ज की. 22 साल की नाओमी को विमेंस टेनिस असोसिएशन ने नंबर एक पायदान पर रखा है. नाओमी का यह दूसरा यूएस ओपन टाइटल है. लेकिन इस बार सारे मैचेज़ में उन्होंने एक ख़ास कदम उठाया. अपने सभी मैच में जो मास्क पहनकर वो आईं, उन पर ब्लैक लोगों के नाम थे. ये वो लोग थे, जो कथित नस्लीय हिंसा या पुलिस की बर्बरता के शिकार हुए. यूएस ओपन के फाइनल में नाओमी ने तामीर राइस के नाम का मास्क पहना. तामीर 12 साल का एक अफ्रीकी-अमेरिकन बच्चा था. खिलौने वाली गन से खेल रहा था, उसी वक्त उसे पुलिस ऑफिसर टिमोथी लेहमैन ने गोली मार दी थी.

पढ़ते-पढ़ते बोर हो जाती थी, तो इस बैंड के गाने सुनती थी JEE टॉपर

Anushka Sourced
अपने परिवार के साथ अनुष्का (सफ़ेद शर्ट में). (तस्वीर: सिथुन मोदक/आज तक)

झारखण्ड में JEE एग्जाम टॉप करने वाली अनुष्का 12 से 14 घंटे पढ़ाई करती थीं. ‘जागरण’ में छपी रिपोर्ट के अनुसार अनुष्का दसवीं में 98.8 फीसद नंबर लाई थीं. JEE मेंस में ज़िला लेवल पर टॉप किया था. इस बार 99.97 पर्सेंटाइल के साथ लड़कियों के ग्रुप में टॉप कर गई हैं. लेकिन इतनी सारी पढ़ाई के बीच जब दिमाग का दही हो जाता था, तो मूड ठीक करने के लिए कोरियन बैंड BTS के गाने सुनती थीं. ये ‘बॉय बैंड’ कोरिया का भले हो, लेकिन पूरी दुनिया में अब इनके फॉलोअर्स करोड़ों की संख्या में हैं. इनके फैन्स खुद को BTS आर्मी कहते हैं. जब से अनुष्का ने इनके नाम का ज़िक्र किया है, इस बैंड के फैन्स इस खबर को लगातार शेयर कर रहे हैं.

फोन छीनकर भाग रहे थे चोर, जर्नलिस्ट ने ऐसी फुर्ती दिखाई कि पुलिसवाले भी मान गए

Journalist Delhi
(तस्वीर: तनसीम हैदर/इंडिया टुडे)

दिल्ली में रहने वाली एक जर्नलिस्ट मालवीय नगर लौट रही थी. मामला शनिवार 12 सितंबर का है. जर्नलिस्ट ऑटोरिक्शा में थी. तभी दो लोग बाइक पर आए और उनका फोन छीनकर भाग लिए. जर्नलिस्ट ने ऑटोवाले से कहकर पीछा करना शुरू किया. जगदम्बा रोड की तरफ जाते लुटेरों को पुलिस की बैरीकेडिंग देखी और बाइक का संतुलन बिगड़ गया. पीछे से जर्नलिस्ट लगातार चिल्लाती आ रही थी, ‘चोर-चोर’. ये सुनते ही पुलिस ने उन दोनों लोगों को पकड़ लिया. ‘इंडिया टुडे’ के वरिष्ठ पत्रकार तनसीम हैदर के मुताबिक़, दिल्ली पुलिस ने लुटेरों की पहचान कर ली है. इनके नाम संदीप और अमन बताए गए हैं. दिल्ली पुलिस ने जर्नलिस्ट को इनाम भी दिया है.

इजरायल की सुपरमॉडल ने ऐसा क्या कर दिया कि उन पर पांच करोड़ से भी ज्यादा का जुर्माना लग गया?

Bar Refaeli Tw 2
(तस्वीर: ट्विटर)

इजरायल की सुपरमॉडल हैं बार रफायेली. ‘स्पोर्ट्स इलस्ट्रेटेड’ जैसी बड़ी मैगजींस के कवर पर आ चुकी हैं. 2012 में ‘मैक्सिम मैगजीन’ ने इन्हें अपनी हॉट 100 की लिस्ट में टॉप पर रखा था. इजरायल की सबसे मशहूर अंतरराष्ट्रीय मॉडल कहा जाता है इन्हें. इन पर टैक्स चोरी के मामले में मुकदमा चल रहा था. आरोप थे कि उन्होंने कथित तौर पर झूठ बोलकर टैक्स का पैसा बचाया. इसी मामले में तेल अवीव की एक अदालत ने इन्हें नौ महीने तक कम्युनिटी सर्विस यानी सामुदायिक सेवा करने की सजा सुनाई है. और इसी के साथ इन पर सात लाख 21 हजार डॉलर यानी तकरीबन  पांच करोड़ 29 लाख रुपए का जुर्माना ठोका है. इसी मामले में इनकी मां त्ज़िपी रफायेली को 16 महीने की जेल हुई है, कई दूसरे टैक्स चोरी के आरोपों में. बार रफायेली की सज़ा 21 सितंबर से शुरू होगी, ऐसा बताया जा रहा है.

ये थीं हमारी आज की महिलाएं, जो खबरों का हिस्सा रहीं. अगर आपको भी ऐसा लगता है कि आपकी कहानी इस सेक्शन में जानी चाहिए, या आप किसी ऐसी महिला को जानते हैं, जिन्होंने ख़बरों में आने लायक काम किया है, तो हमें ईमेल करिए lallantopwomeninnews@gmail.com पर. देखते रहिये ऑडनारी. हम कल फिर हाज़िर होंगे हमारे स्पेशल बुलेटिन WIN के साथ.


वीडियो:सेहत: कोरोना वायरस पर फैलाए ये मिथ मेंटल हेल्थ पर बुरा असर डाल रहे, पर बचना कैसे है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

पाकिस्तान में विदेशी महिला से गैंगरेप के बाद जनता सड़कों पर उतर आई है

इस गैंगरेप के बाद जांच अधिकारी के दिए बयान से लोग गुस्से में हैं.

उत्तराखंड: परिवार की मर्जी के खिलाफ शादी की, तो घर के सामने ही गोलियों से भून डाला!

उधम सिंह नगर जिले से आया ऑनर किलिंग का खौफनाक मामला.

झारखंड : फेसबुक पर दोस्त बने लड़के से मिलने गई, घर जिंदा नहीं लौटी!

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में लड़की के साथ रेप की पुष्टि हुई है.

पार्क में एक्ट्रेस और उनकी दोस्तों से मारपीट के आरोप पर क्या बोलीं कांग्रेस नेता?

एक्ट्रेस सम्युक्ता हेगड़े ने लाइव वीडियो बनाया था. अब कविता रेड्डी ने भी अपना पक्ष रखा है.

मैट्रिमोनियल साइट पर दोस्ती की और फिर झूठ बोल-बोलकर 6.19 लाख रुपये ठग लिए

पैसे न देने पर प्राइवेट फोटो पब्लिक करने की धमकी देता था.

लड़की की एक चालाकी ने दिल्ली के पार्कों में 20 गैंगरेप करने का आरोपी गैंग पकड़वा दिया!

दोस्तों के साथ घूमने आने वाली लड़कियों को बनाते थे शिकार, रेप के विडियो वायरल करने की देते थे धमकी.

139 लोगों के खिलाफ रेप का केस दर्ज कराने वाली महिला अब अलग ही बात कह रही है

हैदराबाद का मामला है. 42 पन्नों में इस केस की FIR हुई थी.

बच्चों और महिलाओं के साथ हिंसा की खुलेआम वकालत कर रही है ये वेबसाइट!

ऐसी-ऐसी बातें लिखी हैं कि पढ़कर इंसानियत पर से भरोसा उठ जाए.

कोरोना पॉजिटिव बताकर 14 दिन दवा खिलाई, फिर पता चला कभी संक्रमण था ही नहीं

होम आइसोलेशन के दौरान वे दवाएं भी खानी पड़ी जिनसे महिला को एलर्जी थी.

इंजीनियर ने कथित तौर पर नौ महीने की बच्ची के साथ पांचवी मंजिल से कूदकर जान दे दी

महिला के परिजनों ने ससुरालवालों पर धक्का देने का आरोप लगाया.