Submit your post

Follow Us

बड़े प्रोडक्शन हाउस हाई कोर्ट पहुंचे तो गुस्से में कंगना ने बॉलीवुड को गटर कह दिया

‘वंडर वुमन’ बनने चली क्लियोपैट्रा तो क्यों हो रहा हंगामा

सैकड़ों मेडल जीतने वाली खिलाड़ी पैसों के लिए मोहताज

10 बरस की बच्ची ने एक घंटे में 33 पकवान बना दिए

इन सबके बारे में जानेंगे ऑडनारी के स्पेशल न्यूज बुलेटिन WIN, यानी विमन इन न्यूज में. जहां हम बात करते हैं महिलाओं की, उनसे जुड़ी खबरों की और ख़बरों में महिलाओं की. बढ़ते हैं पहली खबर की ओर.

# बड़े प्रोडक्शन हाउस कोर्ट गए तो कंगना को आया गुस्सा

बॉलीवुड के बड़े प्रोडक्शन हाउसेज़ कुछ मीडिया संस्थानों के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट पहुंचे हैं. दो टीवी चैनलों और उनसे जुड़े लोगों पर बॉलिवुड के खिलाफ दुष्प्रचार फैलाने और बदनाम करने का आरोप लगाया है. इस याचिका पर अब एक्ट्रेस कंगना रनौत ने गुस्सा ज़ाहिर किया है. बॉलीवुड को गटर कह दिया है. कंगना ने ट्वीट करके कहा,

बॉलीवुड ड्रग्स, शोषण, नेपोटिज़म और जिहाद का गटर है. और इस गटर को साफ करने के बजाए बॉलीवुड जवाबी हमले कर रहा है. मुझ पर भी एक केस दर्ज करो क्योंकि मैं भी सभी को बेनकाब करती रहूंगी, जब तक जिंदा हूं.

कंगना यहीं नहीं रुकीं. आगे ट्वीट करके गंभीर आरोप लगाए. लिखा,

बडे़ हीरो महिलाओं को न केवल वस्तु की तरह देखते हैं, बल्कि युवा लड़कियों का शोषण भी करते हैं. वो सुशांत सिंह राजपूत जैसे युवाओं को आगे नहीं आने देते. 50 की उम्र में भी स्कूल के बच्चों का रोल करना चाहते हैं. वो कभी किसी के लिए खड़े नहीं होते, भले ही उनकी आंखों के सामने लोगों के साथ गलत क्यों न हो रहा हो.

फिल्म इंडस्ट्री में एक अलिखित कानून है, तुम मेरे डर्टी सीक्रेट्स छिपाओ, मैं तुम्हारे छिपाऊंगा. यही एक-दूसरे के प्रति उनकी निष्ठा का आधार है. जब से मैं पैदा हुई हूं, इन्हीं मुट्ठीभर आदमियों को देख रही हूं, जो फिल्मी फैमिली में पैदा हुए और इंडस्ट्री को चला रहे हैं. ये कब बदलेगा?

बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ है, जब 34 प्रोडक्शन हाउसेज़ और 4 फिल्मी संस्थाओं ने एकसाथ आकर मीडिया रिपोर्टिंग को लेकर अदालत से दखल की मांग की है. इनमें बॉलीवुड के बड़े नाम सलमान खान, आमिर खान, शाहरुख खान, अजय देवगन, अनिल कपूर भी शामिल हैं.

# कोविड-19 ने दिखाया, कैसा होता है औरत का जीवन

सिमी ग्रेवाल. एक्ट्रेस हैं. फेमस टॉक शो होस्ट भी हैं. ट्विटर पर हाल ही में एक पोस्ट शेयर की, जो वायरल हो रही है. सिमी ने बताया कि किस तरह कोविड-19 ने लोगों को औरत के जीवन से रूबरू करवाया. सिमी के मुताबिक, कोरोना के दौरान हर किसी की ज़िंदगी एक औरत की ज़िंदगी की तरह हो गई है. उन्होंने पोस्ट में लिखा-

क्या आप बाहर निकलने से डरते हैं?
क्या आपको इस बात का डर है कि आप अपने चेहरे को ठीक से कवर नहीं कर रहे?
क्या आप किसी के स्पर्श से डर जाते हैं?
क्या आपके करीब कोई आता है तो आप डरते हैं?
क्या आपको इस बात का डर है कि जो व्यक्ति आपको सुरक्षित दिखाई देता है, वो अंदर से बीमार हो?
क्या आपको इस बात का डर है कि अगर आप कोरोना के शिकार हो जाएं तो हर कोई आप पर ही आरोप लगाएगा, और कोई मदद के लिए आगे नहीं आएगा?

बधाई हो. आखिरकार आपने समझ लिया कि एक महिला रोज़ाना किन हालात का सामना करती है, उस सोसायटी में जो रेप के लिए भी उसे ही ज़िम्मेदार ठहराती है.

# कराटे में सैकड़ों मेडल जीतने वाली खिलाड़ी पैसों के लिए मोहताज

विमला मुंडा. ताबड़तोड़ कराटे चैम्पियन हैं. 34वें नेशनल गेम्स में सिल्वर मेडल जीतकर अपने राज्य झारखंड का सम्मान बढ़ाया था. अलग-अलग तरह के कॉम्पिटिशन में सैकड़ों मेडल जीत चुकी हैं, लेकिन फिर भी इस वक्त पैसों की बदहाली का सामना कर रही हैं. सरकार विमला को नौकरी देने वाली थी, लेकिन किसी ने कोई सुध नहीं ली.

Vimla Munda

‘इंडिया टुडे’ के आकाश कुमार की रिपोर्ट के मुताबिक, विमला रांची के पतरागोंदा गांव में रहती हैं. 2010 से 2019 के बीच नेशनल कराटे चैंपियनशिप में गोल्ड, सिल्वर और रजत पदक जीत चुकी हैं. परिवार गरीब है. मां दूसरे के खेतों में काम करती हैं. पिता फिजिकली फिट नहीं हैं, इसलिए मजबूरी में घर चलाने के लिए विमला को हड़िया यानी राइस बियर बेचनी पड़ रही है. गरीबी का असर उनकी कराटे प्रैक्टिस पर भी पड़ रहा है. विमला कहती हैं,

नाना ने उधारी लेकर हम पांच भाई-बहनों को पढ़ाया. गेम खेलने के लिए भेजा. हमने सोचा था कि अच्छा खेलेंगे तो नौकरी लग जाएगी. इंटरव्यू वगैरह हुआ एक-दो बार, लेकिन कुछ नहीं हुआ. बस बात होती है कि हो जाएगा, लेकिन कहीं से कोई जवाब नहीं आता.

# इस एक्ट्रेस ने कलाकारों का बड़ा असोसिएशन क्यों छोड़ा?

पार्वती थिरुवोथु. एक्ट्रेस हैं. मलयालम, तमिल और कन्नड़ भाषा की कई फिल्मों में काम कर चुकी हैं. साल 2017 में आई बॉलीवुड फिल्म ‘करीब-करीब सिंगल’ में भी लीड रोल में थीं. इरफ़ान के साथ. पार्वती इस वक्त खबरों में हैं, क्योंकि उन्होंने मलयालम कलाकारों के असोसिएशन यानी AMMA से इस्तीफा दे दिया है. इस संस्था के जनरल सेक्रेटरी इडावेला बाबू के एक बयान की वजह से.

इडावेला जो खुद एक एक्टर हैं, उनसे एक्ट्रेस भावना को लेकर एक जर्नलिस्ट ने सवाल किया था. जवाब में इडावेला ने भावना के लिए ‘मर चुकी’ शब्द का इस्तेमाल किया. दरअसल, साल 2008 में ‘ट्वेंटी:20’ नाम की एक मलयालम फिल्म आई थी. इसकी स्टारकास्ट में भावना भी शामिल थीं. अब इसी फिल्म का दूसरा पार्ट बन रहा है, जिसे AMMA प्रोड्यूस कर रहा है. जर्नलिस्ट ने इडावेला से पूछा कि फिल्म के दूसरे पार्ट में भावना का रोल है या नहीं? जवाब में इडावेला ने कहा,

भावना इस समय AMMA का हिस्सा नहीं हैं. मैं इतना ही कह सकता हूं कि पहले पार्ट में उन्होंने अच्छा रोल किया था. लेकिन हम किसी मरे हुए को वापस नहीं ला सकते.

Parvathy Thiruvothu

हालांकि बाद में इडावेला ने सफाई दी कि वह तो ‘ट्वेंटी:20’ के पहले पार्ट में भावना के कैरेक्टर की बात कर रहे थे, जिसकी फिल्म में ‘मौत’ हो चुकी है. ‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, इडावेला के बयान पर मलयालम एक्ट्रेस पार्वती ने AMMA से इस्तीफा देते हुए फेसबुक पर लिखा,

मिस्टर बाबू भले ही ये मानें कि उन्होंने एक मेटाफोर का इस्तेमाल किया था, लेकिन ये उनके घृणास्पद नज़रिए को दर्शाता है. मुझे उन पर दया आती है. मुझे पता है कि बहुत से लोग उनका समर्थन करेंगे, इसलिए क्योंकि महिलाओं से जुड़े मुद्दे हमेशा ऐसे ही निपटाए गए हैं.

# 10 बरस की बच्ची ने एक घंटे में 33 पकवान बना दिए

सान्वी एम. प्रजित. 10 बरस की हैं. केरल के एर्नाकुलम में रहती हैं. खबरों में हैं, क्योंकि एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में जगह बनाई है. ये जगह उन्हें एक घंटे के अंदर 33 डिशेज़ बनाने पर मिली है. सान्वी इंडियन एयरफोर्स के विंग कमांडर प्रजित बाबू और शेफ मंजमा की बेटी हैं.

Saanvi M Prajit
सान्वी कुकिंग करते हुए. (फोटो- PTI)

‘हिंदुस्तान टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक, सान्वी ने किसी बच्चे द्वारा सबसे कम समय में सबसे ज्यादा पकवान बनाने का रिकॉर्ड बनाया है. रिकॉर्ड बनाते वक्त सान्वी की उम्र 10 साल 6 महीने और 12 दिन थी. एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स के अधिकारियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए सान्वी को खाना बनाते देखा. दो गजेटेड ऑफिसर भी सान्वी के घर पर मौजूद थे.

# ‘वंडर वुमन’ अब बनेगी इजिप्ट की रानी, इससे गुस्साया ट्विटर

गैल गैडोट. इज़रायली एक्ट्रेस-मॉडल हैं. हॉलीवुड की कई फिल्मों में काम किया है. ‘वंडर वुमन’ कैरेक्टर भी निभाया है. ज्यादातर लोग ‘वंडर वुमन’ नाम से ही गैल को जानते हैं. अभी खबरों में. कई ट्विटर यूज़र के गुस्से का शिकार हो रही हैं. क्यों? क्योंकि अब वह इजिप्ट की आखिरी रानी क्लियोपैट्रा का रोल निभाने जा रही हैं.

दो दिन पहले गैल गैडोट ने ट्विटर पर इसका ऐलान किया था. बताया कि वह क्लियोपैट्रा की कहानी लंबे समय से कहना चाहती थीं. ट्वीट करके कहा,

इजिप्ट की रानी क्लियोपैट्रा बड़े पर्दे पर आएगी. ये कहानी इस तरह से कही जाएगी, जैसे पहले कभी नहीं कही गई. ये कहानी औरतों के नजरिए से सामने आएगी.

लोग नाक-भौं क्यों सिकोड़ रहे हैं?

एक पत्रकार हैं समीरा खान नाम की. उन्होंने गैल के क्लियोपैट्रा बनने पर आपत्ति जताई. लिखा,

हॉलीवुड के किस बेवकूफ ने ये सोचा कि अरब की स्टनिंग एक्ट्रेस नदीन नजीम के बजाय इज़रायली एक्ट्रेस को क्लियोपैट्रा के तौर पर कास्ट करना सही होगा? गैल गैडोट आपको शर्म आनी चाहिए, आपका देश अरब की ज़मीन छीन रहा है और आप फिल्मों में उनके रोल.

Sameera Tweet Against Gal

इस तरह के और भी कुछ ट्वीट किए गए. लोगों ने विरोध जताया कि इजिप्ट की रानी के रोल के लिए इज़रायली एक्ट्रेस को क्यों लिया गया. खैर, कुछ लोग ऐसे भी सामने आए, जिन्होंने समीरा को बताया कि क्लियोपैट्रा मेसीडोनियन ग्रीक थीं, अरब नहीं थीं. इसलिए इस रोल के लिए गैल सही चॉइस हैं.

# आज की ऑडनारी

अब हमारा आखिरी सेक्शन आज की ऑडनारी. इसमें हम आपको मिलवाते हैं एक ऐसी आम महिला या लड़की से, जो कोई सिलेब्रिटी नहीं होती. लेकिन उससे देश की सभी महिलाएं प्रेरणा ले सकती हैं.

आज की ऑडनारी हैं आशा आमडे. 68 बरस की हैं. इस वक्त सोशल मीडिया पर छाई हुई हैं. क्योंकि महाराष्ट्र के नासिक के हरिहर फोर्ट की बेहद कठिन चढ़ाई पूरी की है. आशा की चढ़ाई का वीडियो भी वायरल हो रहा है. दिख रहा है कि एक बुजुर्ग महिला सफेद साड़ी पहनकर खड़ी सीढ़ियां चढ़ रही है. आस-पास खड़े लोग उनका हौसला बढ़ा रहे हैं.

महाराष्ट्र इन्फॉर्मेशन सेंटर के डिप्टी डायरेक्टर दयानंद कांबले ने भी आशा का वीडियो पोस्ट किया. कहा, ‘अगर चाह है तो राह है’.

हालांकि ये साफ नहीं हो पाया है कि वायरल हो रहा वीडियो किस तारीख का है. हरिहर फोर्ट की सीढ़ियां एकदम खड़ी हैं. चट्टानों को काटकर इन्हें बनाया गया है. इन पर चढ़ना आसान नहीं है. फिर भी बुजुर्ग आशा ने चढ़कर दिखा दिया कि हिम्मत सबसे बड़ी होती है.

तो ये थीं आज की ख़बरें. कल फिर मिलेंगे विमन इन न्यूज़ में. अगर आप भी जानते हैं ऐसी महिलाओं को, लड़कियों को, जो दूसरों के लिए मिसाल हैं, तो हमें उनके बारे में बताइए. मेल करिए lallantopwomeninnews@gmail.com पर.


वीडियो देखें: बालाकोट की वॉरियर स्क्वाड्रन लीडर को मेडल मिला है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

कोविड केयर सेंटर में काम कर रही नर्स ने शादी से इनकार किया, तो स्टॉकर ने ज़िंदा जलाया

नर्स ने लड़के को भागने से रोका लिया. नतीजा दोनों के लिए बुरा रहा.

यूपी के गोंडा में तीन नाबालिग दलित बहनों पर एसिड अटैक, हालत गंभीर

घर पर सो रही थीं बहनें, तब हुआ हमला.

हाथरस केस: हाई कोर्ट ने पुलिस के बड़े अफसर से पूछा- अपनी बेटी का अंतिम संस्कार ऐसे होने देंगे?

कोर्ट ने यूपी पुलिस की कार्रवाई पर नाराज़गी जताई है.

बक्सर: 7 लोगों पर आरोप- महिला को अगवा कर गैंगरेप किया, मासूम बेटे समेत नदी में फेंक दिया

डूबने से बच्चे की मौत हो गई है.

राजस्थान: लापरवाही से प्रेग्नेंट महिला की मौत का आरोप लगा 4 दिन से धरने पर गांववाले

विपक्षी दल गहलोत सरकार को घेरने में जुटे हैं

नाबालिग ने कथित रेप के बाद खुद पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली

मध्य प्रदेश के रीवा की घटना, आरोपी भी नाबालिग है.

गैंगरेप विक्टिम ने सुसाइड किया, फिर पिता ने जान देने की कोशिश की तब जाकर केस दर्ज हुआ

दफन हो चुके शव को निकालकर जांच के लिए भेजा गया.

जोक ऑफ द डे: खुद 44 अपराधों में आरोपी बीजेपी नेता ने हाथरस विक्टिम को ही दोषी बता दिया

इस नेता ने चारों आरोपियों के लिए मुआवजे की मांग भी की है.

बलरामपुर केस: पीड़िता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में क्या निकला?

दो लड़कों पर 22 साल की दलित लड़की से गैंगरेप का आरोप है.

लखनऊ: दलित युवती से गैंगरेप का आरोप, पुलिस ने केस दर्ज करने में एक महीने लगा दिए!

हाथरस मामले के तूल पकड़ने के बाद जागी पुलिस.