Submit your post

Follow Us

कभी 'खरीदकर' लाई गई थी ये बहू, अब घर के बाहर उसकी अपनी नेमप्लेट लगी है!

कोर्ट ने DNA टेस्ट करवाने की बाबत बड़ा फैसला सुनाया

छह साल की बच्ची की जान ले ली गई, वजह अंधविश्वास

यूरोप के छोटे से देश की पहली महिला राष्ट्रपति बनीं ये

इन सबके बारे में जानेंगे, ऑडनारी के स्पेशल न्यूज बुलेटिन WIN, यानी विमन इन न्यूज में. इस खास प्रोग्राम में हम बात करते हैं महिलाओं की, उनकी जो किसी न किसी वजह से खबर में बनी रहीं. इसी के साथ बढ़ते हैं पहली खबर की ओर-

# कोर्ट ने कहा- DNA टेस्ट कराना पत्नी के लिए वफादारी का सबसे बड़ा सुबूत

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने पति-पत्नी के बीच चल रहे एक मामले में महत्वपूर्ण टिप्पणी की है. कोर्ट ने कहा कि पति अगर पत्नी पर किसी और से संबंध रखने का आरोप लगाता है, तो DNA टेस्ट कराकर पत्नी अपने सही होने का सुबूत दे सकती है. पूरा मामला क्या था और अदालत को यह बात क्यों कहनी पड़ी, वो जान लीजिए.

नीलिमा नाम की महिला के पति का कहना था कि 2014 में उनके तलाक की प्रक्रिया शुरू हुई थी. तलाक की वजह में एडल्ट्री (व्यभिचार) का आरोप लगाया गया. यानी पत्नी के किसी और के साथ संबंध का आरोप. इसी बीच 2016 में पत्नी को एक बेटा पैदा हुआ. पति का कहना था कि हम दोनों साथ में नहीं रहे. ऐसे में ये बच्चा मेरा नहीं है. पति ने कहा कि DNA टेस्ट करवाओ. हमीरपुर की फैमिली कोर्ट ने भी कहा, बच्चे का और पिता का DNA टेस्ट कराया जाना चाहिए. मैच हुआ तो सच सामने आ जाएगा.

 

प्रतीकात्मक तस्वीर.
प्रतीकात्मक तस्वीर.

इसी बात को लेकर पत्नी हाई कोर्ट पहुंच गई. अर्जी में कहा कि बीच में वह अपने पति से मिली थी. प्रेग्नेंट होने के दौरान पति ने मारपीट की तो अपने पिता के यहां चली गई. महिला ने दलील दी कि एविडेंस एक्ट के सेक्शन 112 के तहत भी यही कहा जाता है कि शादी के दौरान पैदा हुआ बच्चा उसी पुरुष का माना जाएगा, जब तक कोई पक्ष ये साबित न कर दे कि बच्चे के कंसीव होने के वक्त पति-पत्नी एकदूसरे के साथ नहीं थे.

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने सुप्रीम कोर्ट के पहले के फैसलों को आधार बनाया, और अपने फैसले में कहा कि जब विज्ञान के आधार पर ये साबित करने की सुविधा है कि फलां बच्चा किसी व्यक्ति का है या नहीं, तो उसे ज़रूर अपनाया जाना चाहिए. जस्टिस विवेक अग्रवाल की बेंच ने कहा,

DNA टेस्टिंग पत्नी के लिए भी सबसे ऑथेंटिक, नैतिक और सही माध्यम माना जाना चाहिए. अगर वो साबित करना चाहती है कि अपने पति के प्रति वफादार रही है और पति के द्वारा लगाए गए आरोप गलत है तो उसे DNA टेस्ट कराकर सुबूत दे देना चाहिए.

इसी के साथ हाई कोर्ट में पत्नी की याचिका खारिज कर दी गई.

# काले जादू के चक्कर में छह साल की बच्ची का कलेजा निकाल लिया

उत्तर प्रदेश का कानपुर ज़िला. यहां के एक गांव में 6 साल की बच्ची की लाश मिली. दीवाली की रात उसकी हत्या कर दी गई थी. ‘आजतक’ से जुड़े पत्रकार रंजय सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक़, दीवाली की रात बच्ची घर के बाहर खेल रही थी. अचानक गायब हो गई. लाख ढूंढने पर भी नहीं मिली. अगले दिन सुबह बच्ची का शव कुछ गांववालों ने देखा. उसके शरीर पर धारदार हथियार से काटे जाने के निशान थे. हाथ-पैरों में रंग लगा हुआ था.

पुलिस ने इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि मामला तंत्र-मंत्र से जुड़ा है. काले जादू के लिए बच्ची का जिगर, फेफड़ा, आंत आदि अंग निकाल लिए गए थे. पुलिस के मुताबिक, आरोपियों ने कबूलनामे में बताया कि उनके चाचा परशुराम ने उन्हें पैसे दिए थे, लड़की को मारकर उसका कलेजा लाने के लिए. उन्होंने बच्ची को चिप्स के पैकेट का लालच दिया, और पकड़कर ले गए. आरोपियों ने बच्ची के साथ यौन हिंसा की बात भी स्वीकार की.

‘आजतक’ से जुड़े पत्रकार रंजय सिंह ने SP (ग्रामीण) ब्रजेश कुमार श्रीवास्तव से बात की. उनके मुताबिक़ परशुराम नाम के मुख्य आरोपी ने पुलिस को बताया है कि साल 1999 में उसकी शादी होने के बाद भी उसके कोई बच्चा नहीं था. उसने तंत्र-मंत्र करने के लिए बच्ची का लिवर मंगवाया. उसे लगा था कि इसे खाने से उसकी पत्नी को बच्चा हो जाएगा. ऐसा उन्होंने एक किताब में पढ़ा था. पुलिस ने परशुराम और उसकी पत्नी को भी गिरफ्तार कर लिया है. हत्या और सुबूत मिटाने के आरोप में. POCSO से जुड़े सेक्शन भी जोड़े गए हैं. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पांच लाख रुपए मुआवजे की भी घोषणा की है. मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में होगी.

Black Magic
काले जादू के नाम पर छोटी बच्ची की जान ले ली गई. (सांकेतिक तस्वीर)

# बेटी नहीं हो पा रही थी प्रेग्नेंट, तो मां बनी अपने नाती के लिए सरोगेट

अमेरिका का शिकागो. यहां पर 29 साल की ब्रिएना लॉकवुड कई सालों से मां बनने की कोशिश कर रही थीं, दो बार प्रेग्नेंट भी हुईं, लेकिन मिसकैरिज हो गया. आजतक में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़ ब्रिएना को सर्जरी से गुजरना पड़ा. इसके बाद प्रेग्नेंट होना उनके लिए काफी खतरनाक हो गया. ब्रिएना ने IVF तकनीक का भी सहारा लेने की कोशिश की, लेकिन कुछ नहीं हो पाया. इसके बाद आखिरकार उनकी 51 साल की मां जूली ने मदद करने का निर्णय लिया. फ़र्टिलाइज किया हुआ भ्रूण उनके गर्भ में डाला गया. ब्रिएना ने अपने instagram पर अपडेट देते हुए बताया-

मेरी मां एक रॉकस्टार है. उन्होंने जिस तरीके से मेरी मदद की है, मैं अपने आपको बेहद लकी महसूस कर रही हूं कि मुझे ऐसी मां मिली.

जूली का कहना है कि वे इस दौर में भी काफी कंफर्टेबल थीं. लगभग तीन दशक पहले वह प्रेग्नेंट रही हैं. उनकी प्रेग्नेंसी काफी कंफर्टेबल थी, इसलिए सरोगेसी के सहारे प्रेग्नेंट होने में उन्हें दिक्कत नहीं हुई. ब्रिएना ने बताया कि अब वो एक बेटे की मां बन चुकी हैं.

Brianna W Mom 3
ब्रिएना अपनी मां के साथ. (तस्वीर: instagram)

# प्रोफ़ेसर छात्राओं को करता था ‘हिप्नोटाइज’, नौकरी से निकाला गया

एक मशहूर यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर पर छात्राओं ने आरोप लगाए कि वो उन्हें बार बार हिप्नोटाइज करने की कोशिश करता था. प्रोफ़ेसर का नाम वसीम अलादीन है. वसीम साइकॉलजी पढ़ाता था. रिपोर्ट्स के अनुसार, डॉ वसीम ने अपनी एक स्टूडेंट को आकर्षित करने के लिए कहा कि वे दोनों पिछले जन्म में कपल थे. वो 600 साल से उसका इंतज़ार कर रहा है. इसी तरह की बातें करके इस प्रोफेसर पर कुछ और स्टूडेंट्स पर भी सम्मोहित करने की कोशिश के आरोप लगे हैं. ये भी आरोप हैं कि प्रोफ़ेसर ने डिप्रेशन से जूझ रही छात्रा को दवा लेने से रोका, और उसे हिप्नोटाइजेशन इस्तेमाल करने की सलाह दी.

भांडा तब फूटा, जब उसकी इस हरकत का शिकार हुई एक स्टूडेंट हेल्थ एंड केयर प्रोफेशनल ट्रिब्यूनल सर्विस पहुंच गई. ट्रिब्यूनल ने मामले की सुनवाई की. अलादीन ने बचाव में दावा किया कि वो लड़कियों को सेल्फ हिप्नोसिस यानि आत्मसम्मोहन की तकनीक सिखा रहा था. हालांकि किसी भी लड़की को ये नहीं पता था कि उन्हें ऐसी कोई तकनीक सिखाई जा रही है. इस मामले में ट्रिब्यूनल का कहना है कि उनके पास रेप की शिकायत नहीं आई है. लेकिन प्रोफेसर की कुछ हरकतें ऐसी रहीं, जिनसे काफी शक होता है. उसकी हरकतों से दो स्टूडेंट्स के मानसिक स्वास्थ्य पर भी असर पड़ा है. उनके कुछ फैसले सेक्शुएल मोटिवेशन से भरे थे. इसके बाद प्रोफ़ेसर को यूनिवर्सिटी से हटा दिया गया है.

Waseem Alladin
आरोपी वसीम अलादीन को नौकरी से हटा दिया गया है

# माइया सांदू – माल्डोवा की पहली महिला राष्ट्रपति

यूरोप का एक छोटा सा देश है– मोल्डोवा. पहले सोवियत संघ का हिस्सा था. विघटन के बाद स्वतंत्र देश बन गया. वहां की इकोनोमी बाकी यूरोपीय देशों के मुकाबले जरा कमजोर है. वहां पर पिछले तीन हफ़्तों से राष्ट्रपति चुनाव हो रहे थे. इस चुनाव में यूरोपियन यूनियन के समर्थन में खड़ी राजनेता माइया सांदू जीत गई हैं.

अर्थशास्त्र और इंटरनेशनल रिलेशंस की पढ़ाई करने वाली माइया हार्वर्ड में भी पढ़ चुकी हैं. वर्ल्ड बैंक के साथ भी उन्होंने काम किया है. साल 2014 से 2015 तक मोल्डोवा की प्रधानमंत्री भी रहीं. इस वक़्त पार्टी ऑफ एक्शन एंड सॉलिडेरिटी को लीड कर रही हैं. इस चुनाव में माइया के सामने रशिया समर्थक कैंडिडेट  इगोर दोदोन थे. चुनाव जीतकर माइया मोल्डोवा की पहली महिला राष्ट्रपति बन गई हैं. आधिकारिक नतीजों की घोषणा आने वाले कुछ दिनों में होगी.

Moldova Presidential Elections
माइया सांदू. (तस्वीर: AP)

# आज की ऑडनारी

 

रीना को पश्चिम बंगाल से हरियाणा लाया गया था. शादी उम्र में पंद्रह साल बड़े व्यक्ति के साथ हुई. उन्हें ‘मोलकी’ कहा गया, यानी ऐसी दुल्हन, जिसे दाम देकर खरीदकर लाया जाता है. रीना की तरह डेढ़ लाख महिलाएं ऐसी हैं, हरियाणा में जिन्हें ‘मोलकी’ कहा जाता है. उन्हें बहू बनाकर तो ले आया गया, लेकिन उन्हें ‘परदेशी बहू’से ज्यादा दर्जा नहीं दिया जाता. अब यहां 45 साल गुज़रने के बाद रीना को अपना नाम मिला है. उनके घर के बाहर की नेमप्लेट पर लिखा है – रीना निवास.

‘आज तक’ से जुड़े पत्रकार प्रवीण कुमार की रिपोर्ट के मुताबिक़ ‘परदेशी बहुओं’ को उनकी पहचान दिलाने का ये काम सेल्फी विद डॉटर फाउंडेशन ने शुरू किया है. इसमें इस तरह शादी कर लाई गई दुल्हनों को उनकी पहचान के साथ साथ जायदाद का मालिकाना हक़ दिलाने की भी पहल की जा रही है. रिपोर्ट के अनुसार रीना ने अपनी नेमप्लेट लगाए जाने पर कहा,

‘औरों के लिए ये सिर्फ एक नेमप्लेट होगी, मेरे लिए ये बराबरी की मुहर है. मेरी शान है.

खरकडी गांव की सरपंच ने कहा कि सेल्फी विद डॉटर फाउंडेशन द्वारा हमारे गांव मे परदेशी बहू-म्हारी शान अभियान शुरू होने से गांव का नाम रोशन हो गया है. इससे महिलाओं मे आत्मसम्मान एवं आत्मशक्ति का विस्तार होगा.

Reena Niwas
अपने घर के बाहर खड़ीं रीना. (तस्वीर: प्रवीण कुमार/आज तक)

तो ये थीं आज की ख़बरें. अगर आप भी जानते हैं ऐसी महिलाओं को, लड़कियों को, जो दूसरों के लिए मिसाल हैं, तो हमें उनके बारे में बताइए. मेल करिए lallantopwomeninnews@gmail.com पर.


वीडियो: BJP सांसद रीता बहुगुणा की छह साल की पोती की पटाखों से जलने से मौत

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

जयपुर में महिला ने रेप का केस दर्ज करवाया, तो आरोपी ने उसे केमिकल से  जला दिया

जयपुर में महिला ने रेप का केस दर्ज करवाया, तो आरोपी ने उसे केमिकल से जला दिया

आरोपी ब्लैकमेल करके महिला का रेप करता था.

कोरोना संक्रमित महिला को अस्पताल ने भर्ती नहीं किया, गेट पर ही उसने बच्चे को जन्म दिया!

कोरोना संक्रमित महिला को अस्पताल ने भर्ती नहीं किया, गेट पर ही उसने बच्चे को जन्म दिया!

आरोपी डॉक्टर का वेतन रोका गया, जांच के लिए कमिटी बनी.

बलिया में छेड़छाड़ के विरोध पर जिंदा जलाने की कोशिश, छात्रा की हालत गंभीर

बलिया में छेड़छाड़ के विरोध पर जिंदा जलाने की कोशिश, छात्रा की हालत गंभीर

बेटी को बचाने गए पिता भी झुलसे.

मौसा ने रेप की कोशिश की, मामला छिपाने के लिए मौसी ने मरवाकर लाश बेडबॉक्स में छिपा दी

मौसा ने रेप की कोशिश की, मामला छिपाने के लिए मौसी ने मरवाकर लाश बेडबॉक्स में छिपा दी

लड़की पढ़ाई के लिए मौसी के पास दिल्ली आई थी.

गुरुग्राम : लड़की ने आरोप लगाया, बेहोशी की हालत में अस्पताल में हुआ रेप

गुरुग्राम : लड़की ने आरोप लगाया, बेहोशी की हालत में अस्पताल में हुआ रेप

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है.

महिलाओं को सेक्स गुलाम बनाकर रखने वाले को 120 साल की सजा हो गई

महिलाओं को सेक्स गुलाम बनाकर रखने वाले को 120 साल की सजा हो गई

अमेरिका की एक अदालत ने स्वघोषित ‘गुरु’ को दी सजा.

एक्ट्रेस ने शादी का ऑफर ठुकराया तो चाकू से ताबड़तोड़ वार करके घायल कर दिया

एक्ट्रेस ने शादी का ऑफर ठुकराया तो चाकू से ताबड़तोड़ वार करके घायल कर दिया

म्यूजिक विडियो बनाने की बात कहकर फेसबुक पर कॉन्टैक्ट किया था.

दिल्ली : एक दिन में तीन लड़कियों का यौन शोषण करने वाला धराया, तो पुलिसवाला निकला

दिल्ली : एक दिन में तीन लड़कियों का यौन शोषण करने वाला धराया, तो पुलिसवाला निकला

दिल्ली के द्वारका में गाड़ी में बैठकर घात लगाता था.

बीजेपी ने पूछा- पंजाब में छह साल की बच्ची से रेप और शव जलाने पर चुप क्यों हैं राहुल गांधी?

बीजेपी ने पूछा- पंजाब में छह साल की बच्ची से रेप और शव जलाने पर चुप क्यों हैं राहुल गांधी?

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला ने कहा बच्ची के परिवार को न्याय दिलाकर रहेंगे.

एक लाख से भी ज्यादा महिलाओं की 'नग्न' तस्वीरें इंटरनेट पर पहुंचाने वाला कौन है?

एक लाख से भी ज्यादा महिलाओं की 'नग्न' तस्वीरें इंटरनेट पर पहुंचाने वाला कौन है?

इनमें से कई तस्वीरें नाबालिग लड़कियों की भी हैं.