Submit your post

Follow Us

क्या बच्चों को दूध पिलाने की वजह से औरतों में सच में कमज़ोरी आ जाती है?

टोक्यो में ओलंपिक गेम्स कुछ ही दिनों में शुरू होने जा रहे हैं. कोविड19 प्रोटोकॉल्स के तहत टोक्यो ओलंपिक के ऑर्गनाइज़र्स ने इस बार सख्त गाइडलाइंस बनाए हैं. इसके मुताबिक, किसी भी खिलाड़ी के परिवार वालों को ओलंपिक में शामिल होने की इजाज़त नहीं है. यानी खिलाड़ी अपने परिवार के किसी सदस्य को लेकर ओलंपिक खेलने नहीं जा सकते हैं. हालांकि, कुछ महिला खिलाड़ियों ने इस नियम का विरोध किया है. इनमें से एक हैं कनाडा की बास्केटबॉल खिलाड़ी किम गाउचर. उनकी तीन महीने की बेटी है. उन्होंने कहा था कि उन्हें अपनी बेटी और ओलंपिक एथलीट बनने के सपने में से किसी एक को चुनने के लिए मजबूर किया जा रहा है. इसके बाद ऑर्गनाइजर्स ने कहा कि ज़रूरी होने पर खिलाड़ी अपने दूध पीते बच्चे को लेकर टोक्यो आ सकते हैं. गाउचर अब अपनी बेटी को लेकर टोक्यो जा पाएंगी.

लेकिन ‘ज़रूरी होने पर’ वाली बात को लेकर भी कई खिलाड़ी असमंजस में हैं. उनका कहना है कि ऑर्गनाइज़र्स ने ये साफ नहीं किया है कि ‘ज़रूरी’ का मतलब उनके हिसाब से क्या है. ये कौन और कैसे तय करेगा कि अपने दूध पीते बच्चे को साथ रखना मां के लिए ज़रूरी है या नहीं? ओलंपिक ऑर्गनाइज़र्स को इसे लेकर जल्द ही कोई क्लैरिटी देनी होगी, क्योंकि ज्यादातर खिलाड़ियों को एक सप्ताह के अंदर टोक्यो के लिए रवाना होना है.

हालांकि, ओलंपिक, दूध पीते बच्चे और उनकी एथलीट मांएं. ये तीन चीज़ें सुनकर हमारे दिमाग में कई और बातें घूमने लगीं.

बच्चे के जन्म के बाद, अगले छह महीनों तक उसे अपना दूध ही पिलाएं.
बच्चे के जन्म के बाद छह महीने तक केवल मां का दूध पिलाना चाहिए.

एक एथलीट के लिए फिजिकली बहुत ज्यादा एक्टिव होने की ज़रूरत होती है. हर एथलीट के लिए ज़रूरी होता है कि वो अपने गेम में बेस्ट करे. ताकि टूर्नामेंट्स जीतता रहे. और ओलंपिक के केस में तो ये और ज़रूरी हो जाता है, क्योंकि उसकी क्वालिफिकेशन की प्रोसेस ही काफी जटिल होती है. हमने अक्सर सुना है कि नर्सिंग मदर्स यानी वो औरतें जो अपने बच्चे को दूध पिलाती हैं उनमें कमज़ोरी आ जाती है. पर इन खिलाड़ियों को देखकर ऐसा नहीं लगता. तो क्या कमज़ोरी बच्चों को दूध पिलाने की वजह से आती है?

इसे लेकर मेरे साथी नीरज ने बात की डॉक्टर शिल्पा पवार से. डॉक्टर शिल्पा, गायनेकोलॉजिस्ट और इनफर्टिलिटी स्पेशलिस्ट हैं. रायपुर में प्रैक्टिस करती हैं. उन्होंने बताया,

ये बहुत बड़ी गलतफहमी है औरतों को ब्रेस्ट फीडिंग से कमज़ोरी आती है. ब्रेस्ट फीडिंग बच्चों के लिए तो अच्छा होता ही है, फीडिंग मदर्स के लिए भी बहुत अच्छा होता है. उनका ब्लड लॉस कंट्रोल होता है. प्रेग्नेंसी के दौरान आया एक्स्ट्रा फैट फीडिंग से कम होता है. बैक पेन और डिस्चार्ज वाली दिक्कत से भी उनको आराम मिलता है. ब्रेस्टफीडिंग से कोई कमज़ोरी नहीं होती है.

लेकिन बच्चों को दूध पिलाने वाली कई महिलाएं तो कमज़ोरी की शिकायत करती हैं, उसके पीछे क्या वजह है फिर? इस पर डॉक्टर शिल्पा ने बताया,

असल में दूध पिलाने वाली मांओं को खाने में अतिरिक्त 500 कैलरी की ज़रूरत होती है. उन्हें ज्यादा पौष्टिक खाने की ज़रूरत होती है. प्रोटीन, कैल्शियम, आयरन सब भरपूर मात्रा में उन्हें मिले ये ज़रूरी है. पर कई परिवारों में मिथकों पर भरोसा करके मांओं को कई चीज़ें खाने से रोका जाता है. चावल मत खाओ, फल मत खाओ बच्चे को सर्दी हो जाएगी. ज्यादा पानी मत पियो, दही मत पियो बच्चे को दस्त लग जाएंगे. लेकिन ये सब मिथक हैं. महिलाओं को फुल डायट लेनी चाहिए. दाल, रोटी, चावल, सब्जी. प्रोटीन के लिए पनीर, उबले अंडे, दाल खाने चाहिए. और पानी खूब पीना चाहिए. क्योंकि शरीर में दूध बनने के लिए ज़रूरी है कि मां हाइड्रेट रहे.

यानी दूध पिलाने से औरतें कमज़ोर नहीं होती हैं. वो कमज़ोर होती हैं सही आहार की कमी से. एथलीट्स फिज़िकल एक्टिविटी के साथ-साथ ब्रेस्ट फीडिंग के हिसाब से हेल्दी डायट लेती हैं. इस वजह से उन्हें कमज़ोरी नहीं होती और वो बेहतर परफॉर्म करती हैं.


डॉक्टर्स डे पर जानिए किस तरह सेक्सिज़्म का सामना करती हैं महिला डॉक्टर्स

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

मैसूर गैंगरेप केस: पुलिस ने 5 को गिरफ्तार किया, आरोपियों में किशोर भी शामिल

मैसूर गैंगरेप केस: पुलिस ने 5 को गिरफ्तार किया, आरोपियों में किशोर भी शामिल

DGP प्रवीण सूद ने घटना के बारे में और क्या बताया.

पति ने पत्नी का प्राइवेट पार्ट सुई-धागे से सिल दिया, वजह हैरान करने वाली

पति ने पत्नी का प्राइवेट पार्ट सुई-धागे से सिल दिया, वजह हैरान करने वाली

मध्य प्रदेश के सिंगरौली का मामला. पुलिस में शिकायत के बाद से ही फरार है आरोपी.

दो साल लिव इन में रही महिला ने लगाया पार्टनर पर रेप का आरोप, कोर्ट ने दे दी जमानत

दो साल लिव इन में रही महिला ने लगाया पार्टनर पर रेप का आरोप, कोर्ट ने दे दी जमानत

कोर्ट ने कहा, लिव इन में रहने का मतलब आपसी सहमति से बने यौन संबंध.

दक्षिण अफ्रीका: अरबों के PPE स्कैम का खुलासा करने वाली भारतीय मूल की महिला की हत्या

दक्षिण अफ्रीका: अरबों के PPE स्कैम का खुलासा करने वाली भारतीय मूल की महिला की हत्या

पिछले साल कोरोना महामारी के दौरान हुआ था घोटाला. वित्तीय अधिकारी के तौर पर तैनात महिला ने खुलासे में निभाई थी प्रमुख भूमिका.

पति ने पत्नी के साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाए और कोर्ट ने उसे छोड़ दिया

पति ने पत्नी के साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाए और कोर्ट ने उसे छोड़ दिया

पत्नियों के साथ होने वाली ज्यादती देखकर भी आंख क्यों बंद कर लेती है हमारी न्यायपालिका

विधायक रहते हुए नाबालिग का दो बार रेप किया, अब 25 साल की जेल हो गई है

विधायक रहते हुए नाबालिग का दो बार रेप किया, अब 25 साल की जेल हो गई है

पॉक्सो स्पेशल कोर्ट ने रेप के दोषी पूर्व विधायक पर 15 लाख का जुर्माना भी लगाया है.

मैसूर में लड़की गैंगरेप का गैंगरेप हुआ, मंत्री ने गलत बात की, फिर बोले- मज़ाक कर रहा था

मैसूर में लड़की गैंगरेप का गैंगरेप हुआ, मंत्री ने गलत बात की, फिर बोले- मज़ाक कर रहा था

लड़की अस्पताल में भर्ती है, किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हुई और राजनेता अपनी रोटियां सेकने से बाज नहीं आ रहे.

रेप के आरोपी को 'भविष्य की संपत्ति' बताकर हाई कोर्ट ने जमानत दे दी

रेप के आरोपी को 'भविष्य की संपत्ति' बताकर हाई कोर्ट ने जमानत दे दी

IIT गुवाहाटी में पढ़ता है आरोपी, विक्टिम को बेहोश करके रेप का आरोप.

जश्न का वीडियो बनाने पहुंची थी लड़की, भीड़ उसके कपड़े फाड़कर हवा में उछालने लगी

जश्न का वीडियो बनाने पहुंची थी लड़की, भीड़ उसके कपड़े फाड़कर हवा में उछालने लगी

लाहौर में 14 अगस्त को हुई घटना, पुलिस ने 400 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है.

मुंबई के वकील पर आरोप: बेटे की चाहत में पत्नी का आठ बार गर्भपात करवाया, 1500 इंजेक्शन लगवाए

मुंबई के वकील पर आरोप: बेटे की चाहत में पत्नी का आठ बार गर्भपात करवाया, 1500 इंजेक्शन लगवाए

सेक्स डिटरमिनेशन के लिए बैंकॉक लेकर जाने का भी आरोप.