Submit your post

Follow Us

खून में अगर हीमोग्लोबिन कम हो गया तो क्या होगा?

(यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछें. दी लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.)

तनु 32 साल की हैं. उनको कभी कोई सीरियस हेल्थ इशूज़ नहीं हुए. पर पिछले कुछ महीनों में उन्होंने अपने शरीर में काफ़ी बदलाव देखा है. उन्हें बहुत थकावट रहती है, सीढ़ियां चढ़ते-उतरते समय सांस एकदम फूल जाती है. अगर वो ज़्यादा देर खड़ी रहती हैं, या कुछ काम करती हैं तो उनको ऐसा लगता जैसे उनके शरीर में जान ही नहीं बची है. इसके अलावा उन्हें चक्कर आना, सिर दर्द, तेज़ हार्ट बीट की भी शिकायत रहती हैं. एहतियातन उन्होंने डॉक्टर को दिखाया. डॉक्टर ने उनसे कुछ ब्लड टेस्ट करवाने को कहे. जब रिपोर्ट आई तब पता चला कि तनु का हीमोग्लोबिन बहुत कम है. इस कारण उन्हें सारी दिक्कतें हो रही हैं. तनु जानना चाहती हैं अपना हीमोग्लोबिन लेवल ठीक करने के लिए वो क्या कर सकती हैं.  तो चलिए आज हीमोग्लोबिन पर ही बात करते हैं.

हीमोग्लोबिन क्या होता है, इसका काम क्या है?

ये हमें बताया डॉक्टर अमित उपाध्याय ने.

डॉ. अमित उपाध्याय, हेमेटो-ऑन्कोलॉजिस्ट, पीएसआरआई हॉस्पिटल, नई दिल्ली
डॉ. अमित उपाध्याय, हेमेटो-ऑन्कोलॉजिस्ट, पीएसआरआई हॉस्पिटल, नई दिल्ली

हीमोग्लोबिन रेड ब्लड सेल्स यानी लाल रक्त कोशिकाओं में पाया जाने वाला प्रोटीन होता है. इनका काम पूरे शरीर में खून के माध्यम से ऑक्सीजन की सप्लाई करना होता है. हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन जितना कम होगा, उतना ही हमारे शरीर में खून की कमी होती जाएगी. जिसका मतलब है खून की ऑक्सीजन सप्लाई करने की क्षमता उतनी ही कम हो जाती है. इस स्थिति को एनीमिया कहा जाता है. हीमोग्लोबिन जितना कम होता जाएगा, एनीमिया उतना ही बढ़ता जाएगा. एनीमिया औरतों में ज्यादा होता है क्योंकि उनको हर महीने पीरियड में ब्लड लॉस होता है. यह हमारे देश में सबसे आम समस्या है. लगभग 40 प्रतिशत आबादी इससे ग्रस्त है.

हेल्थ रिस्क

हीमोग्लोबिन की कमी से जो खून की ऑक्सीजन पहुंचाने की क्षमता है, वह कम हो जाती है. इसकी वजह से कई सारी दिक्कतें आ सकती हैं. जैसे अगर दिमाग में ऑक्सीजन की कमी हो जाए तो इंसान को चक्कर आ सकते हैं. अगर दिल में ऑक्सीजन की कमी हो जाए तो धीरे-धीरे दिल कमजोर होने के साथ हार्ट फेल हो सकता है. ये जानलेवा हो सकता है. हीमोग्लोबिन अगर कम हो जाता है तो बार-बार इंफेक्शन होने की संभावना होती है. अगर एनीमिया को वक्त रहते ठीक न किया जाए तो इंसान चिड़चिड़ा होने लग जाता है, कई बार डिप्रेशन की कंडीशन भी हो सकती है.

हीमोग्लोबिन कम है, ये कैसे पता चलेगा?

हीमोग्लोबिन की कमी होने पर चक्कर आने लग जाते हैं, सीढ़ियां चढ़ने-उतरने में थकावट होती है. सांस फूलने लगती है, मन अच्छा नहीं रहता है.

Serum free hemoglobin test
हीमोग्लोबिन की कमी से जो खून की ऑक्सीजन पहुंचाने की क्षमता है, वह कम हो जाती है

जिन लोगों में हीमोग्लोबिन की कमी होती उनका शरीर सफेद सा नजर आता है, उनकी आंखें और जीभ का रंग सफेद सा होता है. इसके अलावा बच्चों में कई बार देखा गया है कि उन्हें मिट्टी खाने की आदत पड़ जाती है. उनको बर्फ खाना अच्छा लगने लगता है, यह भी आयरन की कमी की निशानी है.

इन लक्षणों के होने पर आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए. वह आपको खून की कुछ जांच बताएंगे, जिससे पता चलेगा कि आपको किस कारण से आयरन या हीमोग्लोबिन की कमी हो रही है. हर बार हिमोग्लोबिन की कमी आयरन, विटामिन बी-12 या पोषण की कमी से नहीं होती. कई बार जेनेटिक बीमारियों जैसे थैलेसीमिया की वजह से भी होती है. इन बीमारियों का पता सिर्फ स्पेशल जांचों के द्वारा ही लगाया जा सकता है.

बचाव और इलाज

हीमोग्लोबिन की कमी से बचाव के लिए आप अपने खानपान में बदलाव कर सकते हैं. जैसे अंकुरित दालें ज़्यादा खानी चाहिए.

Are Hemoglobin Cutoffs for Anemia Outdated? | MedPage Today
जिन लोगों को हिमोग्लोबिन की कमी होती उनका शरीर सफेद सा नजर आता है, उनकी आंखें और जीभ का रंग सफेद सा होता है

फल और हरी पत्तेदार सब्जियां खासतौर पर खानी चाहिए. ड्राई फ्रूट्स जैसे किशमिश और अखरोट खाएं. सोयाबीन अच्छी मात्रा में खाना चाहिए. अगर आप मांसाहारी हैं तो अंडा और मीट का सकते हैं. अगर आपको हीमोग्लोबिन की कमी पोषण की कमी के कारण है तो इन सब टिप्स से वह ठीक हो सकती है.

लेकिन अगर हीमोग्लोबिन की कमी किसी और कारण से है यानी किसी और बीमारी की वजह से है तो उस सूरत में डॉक्टर से मिलना चाहिए. ताकि वह सही कारण का पता कर सकें.

अगर डॉक्टर्स के बताए गए लक्षण आपको महसूस हो रहे हैं तो एक्सपर्ट की सलाह लेकर अपने खून की जांच ज़रूर करवाएं. ज़्यादातर डॉक्टर्स CBC यानी कंप्लीट ब्लड काउंट करवाने के लिए कहते हैं. ये एक ब्लड टेस्ट है. इससे साफ़ पता चल जाता है कि आपके खून में किन-किन चीज़ों की कमी है. ये टेस्ट आप अपने नज़दीकी पैथ लैब से करवा सकते हैं. पर देरी न करें.


वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

इंदौरः पब में हो रहा था फैशन शो, संस्कृति बचाने के नाम पर उत्पातियों ने तोड़-फोड़ कर दी

पुलिस ने आयोजकों को ही गिरफ्तार कर लिया. उत्पाती बोले- फैशन शो में हिंदू लड़कियों को कम कपड़े पहनाकर अश्लीलता फैलाई जा रही थी.

फिरोजाबाद का कपल, दिल्ली से अगवा किया, एक शव MP में तो दूसरा राजस्थान में मिला

लड़की के पिता और चाचा अब जेल की सलाखों के पीछे हैं.

औरतों के खिलाफ होने वाले अपराधों के कम होते आंकड़ों के पीछे का झोल

NCRB ने पिछले साल देश में हुए अपराधों की बहुत बड़ी रिपोर्ट जारी की है.

जिस रेप आरोपी का एनकाउंटर करने की बात मंत्री जी कह रहे थे, उसकी लाश मिली है

हैदराबाद में छह साल की बच्ची के रेप और मर्डर का मामला.

यूपी: गैंगरेप का आरोपी दरोगा डेढ़ साल से फरार, इंस्पेक्टर बनने की ट्रेनिंग लेते हुआ गिरफ्तार

2020 में महिला ने वाराणसी पुलिस के दरोगा समेत चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया था.

खो-खो प्लेयर की हत्या करने वाले का कुबूलनामा- "उसे देख मेरी नीयत बिगड़ जाती थी"

बिजनौर पुलिस ने बताया कि आरोपी महिला प्लेयर का रेप करना चाहता था.

LJP सांसद प्रिंस राज के खिलाफ दर्ज रेप की FIR में चिराग पासवान का नाम क्यों आया?

तीन महीने पहले हुई शिकायत पर अब दर्ज हुई FIR.

साकीनाका रेप केस: महिला को इंसाफ दिलाने के नाम पर राजनेताओं ने गंदगी की हद पार कर दी

अपनी सरकार पर उंगली उठी तो यूपी के हाथरस रेप केस को ढाल बनाने लगी शिवसेना.

सलमान खान को धमकी देने वाले गैंग की 'लेडी डॉन' गिरफ्तार, पूरी कहानी जानिए

एक सीधे-सादे परिवार की लड़की कैसे बन गई डॉन?

मिलने के लिए 300 किलोमीटर दूर से फ्रेंड को बुलाया, दोस्तों के साथ मिलकर किया गैंगरेप!

आरोपी और पीड़िता सोशल मीडिया के जरिए फ्रेंड बने थे.