Submit your post

Follow Us

'बिकिनी गर्ल' अर्चना गौतम के राजनीति में आने से लोगों को दिक्कत क्यों है?

बचपन में फैंसी ड्रेस कॉम्पटिशन में हिस्सा लेती थी. वहां हर किरदार अपने सोशल रोल के हिसाब से कपड़े पहन कर आता था. वकील हुआ तो काला ब्लेजर, डॉक्टर हुआ तो सफेद! सोशल रोल्स में कपड़ों की कंडीशनिंग बचपन से सिखाई जाती है. औरतों के लिए तो ये कंडीशनिंग कैरेक्टर सूचक चिह्न की तरह होती है. साड़ी है तो संस्कारी, जींस या शॉर्ट्स हैं तो बोल्ड! किसी के कपड़ों से उसका कैरेक्टर डिफ़ाइन हो या ना हो, उसके काम से जरूर होता है.

ये सब हम आपको इसलिए बता रहे हैं क्योंकि इन दिनों एक्ट्रेस कम मॉडल अर्चना गौतम अपने पहनावे के लिए ट्विटर पर खूब जज की जा रही हैं. ये जजमेंट्स तब शुरू हुए जब पिछली 13 जनवरी को कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों (UP elections 2022) के लिए अपने उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की. कांग्रेस की इस सूची में 125 उम्मीदावारों में 40 फीसदी महिला उम्मीदवार हैं. इनमें से एक नाम अर्चना गौतम का भी है. उन्हें कांग्रेस की तरफ से हस्तिनापुर सीट से चुनाव लड़ने का टिकट मिला है.

कौन हैं अर्चना गौतम?

पेशे से अर्चना एक ऐक्ट्रेस और मॉडल रही हैं.  साल 2014 में अर्चना ने ‘मिस यूपी’ का टाइटल जीता. फिर साल 2018 में ‘मिस बिकिनी इंडिया’ और ‘मिस इंडिया यूनिवर्स’ का खिताब जीता.  इन टाइटल को जीतने के बाद उन्होंने ‘मिस कॉस्मोस वर्ल्ड 2018’ में इंडिया को रिप्रजेंट किया. अर्चना ने 2015 में अपना बॉलीवुड डेब्यू किया. वे ‘ग्रेट ग्रैन्ड मस्ती’ , ‘हसीना पार्कर’ , ‘बारात कंपनी’ और ‘वाराणसी जंक्शन’ जैसी फिल्मों का हिस्सा रह चुकी हैं. इसके अलावा उन्होंने कुछ तमिल और तेलुगु फिल्में भी की हैं. उन्होंने मेरठ के IIMT से BJMC यानी जर्नलिज़्म का कोर्स किया है. उसके बाद उन्होंने ग्लैमर इंडस्ट्री की तरफ़ रुख किया और अब हस्तिनापुर से कांग्रेस की कैंडिडेट बनकर चुनाव लड़ने जा रही हैं.

पत्रकार के ट्वीट की आलोचना

अर्चना के पॉलिटिकल डेब्यू की खबर आते ही सोशल मीडिया पर उनकी ट्रोलिंग शुरू हो गई. उनके पहनावे से उन्हें जज किया जाने लगा. इनमें से जर्नलिस्ट स्वाति पाठक का ट्वीट सबसे अधिक चर्चा का विषय बन रहा है. ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा.

“प्रियंका गांधी ने तेलुगु अभिनेत्री और मिस बिकिनी 2018, अर्चना गौतम को हस्तिनापुर सीट दी. “

हालांकि ट्वीट में सीधे – सीधे कुछ नहीं लिखा गया है. लेकिन ट्वीट में अर्चना गौतम के जिस वीडियो का इस्तेमाल किया गया, लोगों ने उसके ऊपर आपत्ति जताई. लोगों ने कहा कि अर्चना के ऐक्टिंग या मॉडलिंग प्रोफेशन के ग्लैमरस वीडियो को पोस्ट कर उनकी राजनीतिक एंट्री पर रिएक्शन देना एक बायस्ड सोच को सामने लाता है. वो सोच ये है कि इन प्रोफेशन में शामिल औरतें राजनीति नहीं कर सकतीं.

स्वाति पाठक के ट्वीट को कोट पर कई लोगों ने रिएक्शन दिए. कांग्रेस के मुखपत्र ‘नेशनल हेराल्ड’ की कंसल्टिंग एडिटर संजुक्ता बसु ने ट्वीट करते हुए कहा,

“यह बेहद प्रेरणादायक और प्रसंशनीय है कि कांग्रेस पार्टी ने मॉडल और अभिनेत्री अर्चना गौतम को टिकट दिया. रूढ़ियों को तोड़ने के लिए प्रियंका गांधी को प्रणाम.  RW (राइट विंग ) के लोग अर्चना की स्लट शेमिंग कर रहे हैं.  विडंबना यह है कि सबसे गलत टिप्पणी  अपर कास्ट महिला पत्रकार की थी. “

स्वतंत्र पत्रकार रोहिणी सिंह ने लिखा,

“अर्चना के लिए यह अच्छा है कि वह वह सब कुछ कर रही हैं जो वह करना चाहती हैं. चाहे मिस बिकिनी जीतना हो या चुनाव में खड़ा होना हो. सच कहूं तो अर्चना गौतम सार्वजनिक जीवन में आतंकवाद की आरोपी प्रज्ञा से कहीं बेहतर हैं.  एक महिला के रूप में हमें अन्य महिलाओं को सशक्त बनाना चाहिए. रैन्डम वीडियो से उन्हें नीचा ना दिखाएं.” 

 

 

लोगों का छिछलापन

जहां कुछ लोग अर्चना गौतम के फोटो और वीडियो को गलत रेफरेंस में शेयर करने के विरोध में आए. वहीं ट्विटर का एक बड़ा हिस्सा उन्हें ट्रोल करने में लगा हुआ है. एक ट्विटर यूज़र ने लिखा,

“लड़की हूं !! अपनी खूबसूरती से ला सकती हूं. उत्तर प्रदेश: तेलुगु एक्ट्रेस और मिस बिकिनी 2018, अर्चना गौतम को प्रियंका गांधी ने दी हस्तिनापुर सीट… उसका मज़ाक मत बनाओ, हो सकता है कल वो यूपी की  सीएम बन जाए”

इसी तरह एक यूजर ने ट्वीट किया,

 

राजनीति का ड्रेसकोड क्या है?

कोई पार्टी किसे और किस आधार पर टिकट देती है, ये उस पार्टी का अपना फैसला है. लेकिन एक महिला उम्मीदवार को उसकी सुंदरता, प्रोफेशन, या कपड़ों की चॉइस के लिए ट्रोल करना, इस बात की तरफ़ इशारा करता है कि एक बिकिनी पहनने वाली, ग्लैमरस लड़की पॉलिटिकल करियर के लिए कितनी मिसफिट है. ऐसी ही एक ट्रोलिंग तब भी हुई थी जब क्रोएशियाई (crotia) की पहली महिला राष्ट्रपति कोलिंदा ग्रैबर की बिकनी पहनी तस्वीरें सोशल हुई थी.

ऐसा पहली बार तो नहीं कि ब्यूटी पीजेन्ट या एक्ट्रेस रह चुकी कोई महिला पहली बार राजनीति का हिस्सा बन रही हो. तात्कालिक बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी इसका जीवंत उदाहरण हैं. कोई किस तरह के कपड़ों में किस तरह की तस्वीरें खिंचवाता है यह उसका व्यक्तिगत फैसला है. लेकिन प्रोफेशन, लुक, जेंडर या ड्रेसिंग को एक अलग करियर चॉइस से जोड़कर देखना और इसके लिए किसी की काबिलियत साबित होने से पहले ही उसे ट्रोल करना सही नहीं है.


टोक्यो ओलंपिक्स में जर्मनी की जिम्नास्ट्स की ड्रेस क्यों है चर्चा में?


लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

केरल का चर्चित नन रेप केस, जिसमें आरोपी बिशप को बरी कर दिया गया है

केरल का चर्चित नन रेप केस, जिसमें आरोपी बिशप को बरी कर दिया गया है

2018 में सामने आया था मामला, पीड़ित नन ने पोप को भी लिखी थी चिट्ठी.

मॉडलिंग ऑफर के बहाने लड़कियों का सेक्सटॉर्शन करने के आरोप में कॉलेज स्टूडेंट गिरफ्तार

मॉडलिंग ऑफर के बहाने लड़कियों का सेक्सटॉर्शन करने के आरोप में कॉलेज स्टूडेंट गिरफ्तार

इंस्टाग्राम से की थी सेक्सटॉर्शन की शुरुआत.

छत्तीसगढ़ः मां पर बेटे का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगा है

छत्तीसगढ़ः मां पर बेटे का जबरन धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगा है

इंटरफेथ शादियों में कैसे तय होता है बच्चे का धर्म?

राजस्थान: नाबालिग से गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट में नुकीली चीज से कई वार किए

राजस्थान: नाबालिग से गैंगरेप, प्राइवेट पार्ट में नुकीली चीज से कई वार किए

बोल और सुन नहीं सकती है पीड़िता. दिमागी हालत भी ठीक नहीं है.

अपहरण, यौन शोषण, विक्टिम शेमिंगः पांच साल में एक्ट्रेस भावना मेनन के साथ क्या-क्या हुआ

अपहरण, यौन शोषण, विक्टिम शेमिंगः पांच साल में एक्ट्रेस भावना मेनन के साथ क्या-क्या हुआ

एक्टर दिलीप के खिलाफ 9 जनवरी को केस दर्ज हुआ है. उन पर केस की जांच कर रहे अधिकारियों के खिलाफ साजिश करने का आरोप है.

जेंडर का सबूत देखने के लिए त्रिपुरा पुलिस ने चार LGBT सदस्यों के कपड़े उतरवाए

जेंडर का सबूत देखने के लिए त्रिपुरा पुलिस ने चार LGBT सदस्यों के कपड़े उतरवाए

विक्टिम्स का आरोप- पुलिस ने भारी ठंड में आधे कपड़ों में रखा, ज़मीन पर बैठाया.

भारत में MeToo का बिगुल बजाने वाली तनुश्री ने लड़ाई छोड़ दी है!

भारत में MeToo का बिगुल बजाने वाली तनुश्री ने लड़ाई छोड़ दी है!

एक्ट्रेस भावना मेनन का MeToo अनुभव रीपोस्ट करते हुए तनुश्री ने गहरी चोट करने वाला पोस्ट लिखा है.

दो साल में चार लड़कियों को मारने वाला सीरियल रेपिस्ट फरीदाबाद में पकड़ा गया

दो साल में चार लड़कियों को मारने वाला सीरियल रेपिस्ट फरीदाबाद में पकड़ा गया

चौथी लड़की की लाश मिल गई, इसलिए पकड़ में आया आरोपी.

ऑनलाइन लूडो खेलते पाकिस्तानी लड़के से प्यार हुआ, महिला मिलने के लिए निकल गई

ऑनलाइन लूडो खेलते पाकिस्तानी लड़के से प्यार हुआ, महिला मिलने के लिए निकल गई

पुलिस ने अमृतसर के जलियांवाला बाग इलाक़े से पकड़ा.

Sulli Deal केस: पुलिस ने कथित मास्टरमाइंड को इंदौर से गिरफ्तार किया, पूछताछ में क्या पता चला?

Sulli Deal केस: पुलिस ने कथित मास्टरमाइंड को इंदौर से गिरफ्तार किया, पूछताछ में क्या पता चला?

आरोपी के पिता ने कहा- बेटे को फंसाया गया है.