Submit your post

Follow Us

कोविड की टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव, फिर भी हैं लक्षण तो ये काम जरूर करें

(यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो भी सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित हैं. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछ लें. लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.)

इस साल कोविड की दूसरी वेव ने तबाही मचा रखी है. इन्फेक्शन ज़्यादा तेज़ी से फैल रहा है. ज़्यादा ख़तरनाक तरीके से हमला कर रहा है. इस साल एक और चीज़ देखने को मिली है. कई बार वायरस RT-PCR टेस्ट के दौरान पकड़ में नहीं आ रहा. लोग कोविड टेस्ट करवा रहे हैं, लेकिन वो नेगेटिव आ रहा है. हालांकि कोरोना के लक्षण रहते हैं. ऐसे में ज़रूरी ये है कि आप नेगेटिव रिपोर्ट देखकर ही चैन से न बैठ जाएं. ये मत सोच बैठिए कि शायद मौसम की वजह से खांसी, ज़ुकाम हो रहा हो. एलर्जी की वजह से सांस नहीं आ रही. क्योंकि ऐसे बहुत से केस हैं और उनमें से कई सीरियस भी हो रहे हैं. अस्पताल में भर्ती कराने की नौबत आ रही है. तो सबसे पहले जानते हैं डॉक्टरों से कि ऐसा हो क्यों हो रहा है. दूसरी बात आपकी कोविड रिपोर्ट में एक नंबर लिखा होता है, जिसे CT वैल्यू कहते हैं. इस पर ध्यान देना बहुत ज़रूरी है. ये क्या है, ये भी जानेंगे.

लक्षण होने पर भी रिपोर्ट नेगेटिव क्यों आ रही है?

ये हमें बताया डॉक्टर सुमन ने.

डॉक्टर सुमन प्रकाश, रेसिडेंट डॉक्टर, AIIMS, पटना
डॉक्टर सुमन प्रकाश, रेसिडेंट डॉक्टर, AIIMS, पटना

-पहला कारण है कि कोरोना वायरस लगातार अपना रूप बदल रहा है. इसके नए-नए वैरिएंट आ रहे हैं

-RT-PCR टेस्ट इन नए वैरिएंट्स को पकड़ नहीं पा रहा है

-दूसरा कारण है कि जैसे ही हम कोविड पेशेंट के संपर्क में आते हैं या हमें लक्षण दिखने लगते हैं तो हम जल्दी से जल्दी टेस्ट करवाना चाहते हैं

-हो सकता है आप वायरस के संपर्क में आने के फौरन बाद में या बहुत लेट टेस्ट करवा रहे हों

-ऐसे पेशेंट में टेस्ट रिपोर्ट नेगेटिव आ सकती है

-वायरस अगर शरीर में कम हैं तो भी टेस्ट में कई बार पता नहीं चलता है

-इसलिए संक्रमित होने के पांचवें से आठवें दिन पर टेस्ट करवाएं

-तीसरा कारण है, आजकल बहुत से मामले ऐसे आ रहे हैं, जिनमें लैब में सही सैंपलिंग नहीं हो पा रही है

कोविड रिपोर्ट में सीटी वैल्यू का मतलब क्या होता है?

-सीटी वैल्यू की फुल फॉर्म होती साइकिल थ्रैशहोल्ड वैल्यू

-साइकिल थ्रैशहोल्ड बताता है कि RT-PCR के दौरान कितनी बार में वायरस का पता चला

-कितनी बार राउंड चला है, तब वायरस मिला

-अगर कम राउंड पर ही पता चल गया है तो मतलब वायरस शरीर में ज़्यादा हैं

up covid pool testing: Uttar Pradesh to start pool testing for Covid-19 to expedite process - The Economic Times
आप वायरस के संपर्क में आने के फौरन बाद या बहुत लेट टेस्ट करवा रहे हों, तो रिपोर्ट नेगेटिव आ सकती है.

-अगर सीटी वैल्यू 24 से कम है तो इसका मतलब आप दूसरे लोगों को ज़्यादा इन्फेक्ट कर सकते हैं

-अगर ये वैल्यू 24 से ज़्यादा है तो आप दूसरे लोगों को कम इन्फेक्ट करेंगे

ये वायरस टेस्ट में क्यों पकड़ में नहीं आ रहा, इसका जवाब मिल गया. अब जानते हैं कि ऐसे में क्या करना चाहिए? किस तरह के टेस्ट करवाने चाहिए.

रिपोर्ट नेगेटिव आने पर लक्षण वाले पेशेंट क्या करें?

-घबराएं नहीं

-घर पर रहें

-लक्षणों पर नज़र रखें

-अगर ऑक्सीमीटर से नापने पर शरीर में ऑक्सीजन सैचुरेशन 94 से कम मिले तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें

-दो-तीन दिन बाद फिर से टेस्ट करवाइए, हो सकता है इस बार आपका टेस्ट पॉजिटिव आ जाए

-अगर ऑक्सीजन लेवल 94 से कम हो रहा है तो पेशेंट को HRCT चेस्ट करवाना चाहिए

-इससे पता चलता है कि चेस्ट में कोरोना कितना फैल गया है

-ब्लड टेस्ट भी करवाने चाहिए

Uttar Pradesh govt. reduces cost of COVID-19 test to ₹1,600 - The Hindu
वायरस अगर शरीर में कम हैं तो कई बार टेस्ट में पता नहीं चलता. 

-ब्लड टेस्ट में CRP और डी-डायमर ज़रूर चेक करवाना चाहिए

-ये टेस्ट करने के लिए घर पर भी बुला सकते हैं

-रिपोर्ट आने पर डॉक्टर को बताएं

-सीटी और ब्लड मार्कर टेस्ट दोनों को मिलाकर पता चल सकता है कि आपको कोरोना हुआ है या नहीं

-अगर ऑक्सीजन लेवल 94 से ज़्यादा है तो घर पर रहें

-अच्छी डाइट लें

-विटामिन सी खाइए, जैसे संतरा, नींबू आदि

-पानी ख़ूब पीजिए, 3 से 4 लीटर तक रोजाना

-दिन में 3-4 बार बीटाडीन से गरारे करें

-स्टीम लीजिए

-अगर बहुत ज़्यादा डायरिया हो रहा है, तीन दिन से ज़्यादा बुखार है, 101 डिग्री के करीब है, सांस लेने में परेशानी है, ऑक्सीजन लेवल गिर रहा है तो हॉस्पिटल से संपर्क करें

-लेकिन अगर ये सब नहीं है तो आप घर पर भी ठीक हो सकते हैं

जो टिप्स डॉक्टर साहब ने बताई हैं, उन्हें पाबंदी से फॉलो करिएगा. लक्षण दिखने पर डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करिएगा.


वीडियो : जिन लोगों में नहीं था Diabetes, उनका Blood Sugar Covid-19 के बाद क्यों बढ़ रहा है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

सोशल मीडिया पर मुस्लिम लड़कियों की बोली लग रही, पर शिकायत का कोई असर नहीं

कुछ यूज़र लगातार पाकिस्तानी और इंडियन मुस्लिम लड़कियों की तस्वीरें चुराकर ये घटिया काम कर रहे हैं.

कोरोना जांच कराने आई थी नई दुल्हन, घूंघट हटाने को कहा तो गजब बवाल कट गया

कोरोना से ये देश लड़ भी ले, ऐसे लोगों से कैसे लड़ेगा?

पटना: ICU में भर्ती कोरोना संक्रमित महिला से गैंगरेप का आरोप, अस्पताल अलग कहानी बता रहा

अस्पताल के ही तीन कर्मचारियों पर गैंगरेप का आरोप है.

पटना: आर्मी स्कूल में पढ़ाने वाली टीचर का शव लटका मिला, दहेज हत्या के आरोप में पति अरेस्ट

सास-ससुर और ननद के खिलाफ भी FIR.

इंदौर: कोविड पॉजिटिव महिला से चाकू की नोक पर रेप का आरोप, पैसे भी लूटे

घर पर अकेले रहकर रिकवर हो रही थी महिला. CCTV से हुई आरोपियों की पहचान.

म्यांमार में तख्तापलट के खिलाफ ब्यूटी क्वीन ने क्या कहते हुए हथियार उठा लिए हैं?

2013 में थाईलैंड में हुए पहले मिस ग्रैंड इंटरनेशनल में म्यांमार को रिप्रज़ेंट कर चुकी हैं.

'अमेठी की बेटी' की कथित हत्या पर लोग बौखलाए, पुलिस ने रेप के दावों को खारिज किया

12 साल की बच्ची की मौत के बाद स्मृति ईरानी पर लोगों का गुस्सा फूटा.

रेमडेसिविर के नाम पर ऑनलाइन ठगी के आरोप में पुलिस ने कैमरून की महिला को अरेस्ट किया

लोगों से पैसे लेकर फोन स्विच ऑफ कर लेती थी आरोपी महिला.

बठिंडा: विधवा महिला को ब्लैकमेल कर रेप करने के आरोप में ASI गिरफ्तार, रंगे हाथ पकड़ा गया

महिला के बेटे को झूठे केस में फंसाने की धमकी का आरोप.

टिकरी बॉर्डरः बेटी से गैंगरेप के आरोप लगाने वाले पिता के गायब होने की खबर का सच ये है

मीडिया रिपोर्ट्स में दावा- पुलिस को सबूत देने से पहले ही लापता हो गए पीड़िता के पिता.