Submit your post

Follow Us

समय से पहले 'बुढ़ापा' आने की क्या है वजह?

(यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछें. दी लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.)

कभी-कभी जब ज़मीन या बिस्तर से उठते समय कमर चरमरा जाती है तो हम क्या कहते हैं? ‘अरे यार बुढ़ापा’ जल्दी आ गया. जब आप अपने सफ़ेद होते बालों को देखते हैं या कमज़ोरी महसूस होती तो दिल में एक ख्याल तो सबके आता है. ‘बड़ी जल्दी बूढ़े हो गए’. अब ये सिर्फ़ कहने की बात नहीं है. ऐसा वाकई होता है. कुछ लोगों में बुढ़ापा जल्दी आता है. इसे कहते हैं प्रीमच्योर एजिंग. यानी समय से पहले बुढ़ापा आना. उम्र के साथ शरीर में बदलाव आना एकदम नेचुरल है. सबके साथ ऐसा होता है. पर जब ये समय से पहले होने लगे तब दिक्कत है.

हमें सेहत पर मेल आया संस्कृति का. 40 साल की हैं. जबलपुर की रहने वाली हैं. वो बताती हैं कि पिछले 5 सालों में उनके शरीर में काफ़ी बदलाव आए हैं. हड्डियां कमज़ोर हो गई हैं. कमर और जोड़ों में दर्द रहता है. कमज़ोरी रहती है. यहां तक कि उनके चेहरे और गले पर झुर्रियां पड़ गई हैं, जो समय से काफ़ी पहले हुआ है. यही नहीं, अब वो तेज़ी से चल भी नहीं पातीं. उन्होंने कई डॉक्टर्स को दिखाया है. कई टेस्ट करवाए हैं. पर कोई बीमारी नहीं निकली. हां, उन्हें टाइप 2 डायबिटीज ज़रूर है.

संस्कृति कहती हैं कि जब वो अपने उम्र के बाकी लोगों को देखती हैं तो उन्हें लगता है कि वो समय से पहले बूढ़ी हो गई हैं. उनके डॉक्टर्स ने कई बार प्रीमच्योर एजिंग का ज़िक्र किया है. वो चाहती हैं हम इस टॉपिक पर बात करें. वो अपनी प्रीमच्योर एजिंग का दोष सालों से रही ख़राब डाइट को देती हैं. संस्कृति चाहती हैं हम उसके कारणों, लक्षण और बचाव के बारे में एक्सपर्ट्स से बात करके उन्हें बताएं. तो सबसे पहले तो समझ लेते हैं प्रीमच्योर एजिंग क्या होती है और इसके पीछे वजह क्या है?

प्रीमच्योर एजिंग क्या होती हैं?

ये हमें बताया डॉक्टर किशोर ख़र्चे ने.

डॉक्टर किशोर ख़र्चे, एंडोक्राइनोलॉजिस्ट, यूनाइटेड सिग्मा हॉस्पिटल, औरंगाबाद
डॉक्टर किशोर ख़र्चे, एंडोक्राइनोलॉजिस्ट, यूनाइटेड सिग्मा हॉस्पिटल, औरंगाबाद

– प्रीमच्योर एजिंग, सरल भाषा में कहें तो समय से पहले बुढ़ापा आना.

– बुढ़ापा तो प्राकृतिक तौर पर आना ही है, लेकिन कभी-कभी इसके लक्षण समय से पहले असर दिखाना शुरू कर देते हैं.

– जब यह लक्षण 35 से 40 साल की उम्र के पहले दिखाई पड़ने लगते हैं तो हम इसे प्रीमेच्योर एजिंग कहते हैं.

कारण

– प्रीमेच्योर एजिंग का सामान्य कारण एंजाइम्स और हॉर्मोन्स का असंतुलन होता है.

– नए सेल्स और टिशु के बनने में कमी आना.

– जेनेटिक्स.

– कुछ और कारण भी हैं जैसे स्मोकिंग, शराब, अल्ट्रावॉयलेट रेज़, खराब डाइट, नींद की कमी, स्ट्रेस, प्रदूषण- ये सभी चीजें एजिंग के प्रोसेस को बढ़ाती हैं.

प्रीमच्योर एजिंग, सरल भाषा में कहें तो समय से पहले बुढ़ापा आना
प्रीमच्योर एजिंग, सरल भाषा में कहें तो समय से पहले बुढ़ापा आना

– इसके अलावा जेनेटिक कंडीशन जैसे प्रोजेरिया भी ज़िम्मेदार है.

लक्षण

– प्रीमेच्योर एजिंग के सामान्य लक्षण हैं- बालों का तेजी से झड़ना, आंखों के नीचे गड्ढे होना, चेहरे पर बहुत ज्यादा झुर्रियां होना, जल्दी थकावट आना, कमर का साइज बढ़ना, हाथ-पैरों का पतला होना.

– इसके अलावा नींद की गड़बड़ी, डिप्रेशन और मेंटल स्टेट में आना भी इसके ही लक्षण हैं.

– यह लक्षण अलग-अलग लोगों में अलग-अलग होते हैं.

– जब जेनेटिक कंडीशन की वजह से प्रीमच्योर एजिंग होती हैं, उसमें गंजापन बेहद कम उम्र में होने लगता है.

– डायबिटीज होना,

– दिल की बीमारियां होना

– कैटरैक्ट या मोतियाबिंद

– हाइट का कम होना

– जोड़ों में तकलीफ़ जैसे लक्षण दिखते हैं.

बचाव

– प्रीमेच्योर एजिंग अगर जिस वातावरण में रह रहे हैं उसके कारण है या जेनेटिक्स के कारण हैं, तो आप उसे रोक नहीं सकते.

जब 'बुढ़ापे' के लक्षण 35 से 40 साल की उम्र के पहले दिखाई पड़ने लगते हैं तो हम इसे प्रीमेच्योर एजिंग कहते हैं
जब ‘बुढ़ापे’ के लक्षण 35 से 40 साल की उम्र के पहले दिखाई पड़ने लगते हैं तो हम इसे प्रीमेच्योर एजिंग कहते हैं

– लेकिन कुछ चीजें आपके हाथ में होती हैं.

– आप खाने से जंक फूड, तला भुना या प्रोसेस्ड खाने को हटाकर घर का बना खाना खाएं.

– हर दिन 3 से 4 लीटर पानी पीने की आदत डालें.

– हर दिन 40 से 45 मिनट तक एक्सरसाइज करें.

– इससे आप काफी हद तक प्रीमेच्योर एजिंग के लक्षणों को कंट्रोल कर सकते हैं.

– जब हम एक्सरसाइज करते हैं तो हमारा ब्लड सर्कुलेशन सही होता है.

– ब्लड सर्कुलेशन सही होने का मतलब है, हम जो भी कुछ खा रहे हैं, उसके पोषक तत्व हमारे शरीर में खून के माध्यम से ठीक से पहुंच रहे हैं.

– प्रीमेच्योर एजिंग से बचने के लिए आपको एक्सरसाइज और डाइट, दोनों का बैलेंस करना होगा.

अपनी डाइट में जंक फ़ूड के बदले सब्जियों को शामिल करें
अपनी डाइट में जंक फ़ूड के बदले सब्जियों को शामिल करें

– इसके अलावा स्ट्रेस मैनेज करना भी बेहद जरूरी है. अपने लिए टाइम निकाल कर दिन में किसी भी हॉबी ( डांस, म्यूजिक, पेंटिंग) को करें जिससे आप स्ट्रेस फ्री रह सकें.

– साथ ही साथ भरपूर नींद लें, जिससे कि प्रीमेच्योर एजिंग के लक्षण आपके शरीर में न नज़र आएं.

इलाज

– एजिंग प्रोसेस को रोकना तो बेहद मुश्किल होता है, लेकिन फिर भी लाइफस्टाइल में बदलाव और एक्सरसाइज करके आप इसे थोड़ा धीमा कर सकते हैं.

– एजिंग प्रोसेस जो जेनेटिक्स की वजह से होता है उसे रोकना संभव नहीं होता.

– ऐसे केस में जो लक्षण आते हैं, उसके हिसाब से इलाज दिया जाता है.

बुढ़ापा आना तो स्वाभाविक है. इससे बचने का कोई तरीका नहीं है. पर जब समय से पहले ऐसा होने लगे तब ध्यान देने की ज़रूरत है. आपकी डाइट, जींस और जीवनशैली का इसमें बड़ा हाथ है. आप अपने जींस तो नहीं बदल सकते, पर हां, सही डाइट और एक्सरसाइज ज़रूर कर सकते हैं. इसलिए अगर आपको समय से पहले इसके लक्षण दिख रहे हैं तो इन्हें इग्नोर न करें.


वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

NCP कार्यकर्ता ने महिला सरपंच को पीटा, वीडियो वायरल

मामला महाराष्ट्र के पुणे का है. पीड़िता ने कहा – नहीं मिला न्याय.

सिविल डिफेंस वालंटियर मर्डर केस: परिवार ने की SIT जांच की मांग, हैशटैग चला लोग मांग रहे इंसाफ

पीड़ित परिवार का आरोप- गैंगरेप के बाद हुआ कत्ल.

उत्तर प्रदेश: रेप नहीं कर पाया तो महिला का कान चबा डाला, पत्थर से कुचला!

एक साल से महिला को परेशान कर रहा था आरोपी.

मुझे जेल में रखकर, उदास देखने में पुलिस को खुशी मिलती है: इशरत जहां

दिल्ली दंगा मामले में इशरत जहां की जमानत में अब पुलिस ने कौन सा पेच फंसा दिया है?

किशोर लड़कियों से उनकी अश्लील तस्वीरें मंगवाने के लिए किस हद चला गया ये आदमी!

खुद को जीनियस समझ तरीका तो निकाल लिया लेकिन एक गलती कर बैठा.

कॉन्डम के सहारे खुद को बेगुनाह बता रहा था रेप का आरोपी, कोर्ट ने तगड़ी बात कह दी

कोर्ट की ये बात हर किसी को सोचने पर मजबूर करती है.

रेखा शर्मा को 'गोबर खाकर पैदा हुई' कहा था, अब इतनी FIR हुईं कि अक्ल ठिकाने आ जाएगी

यति नरसिंहानंद को आपत्तिजनक टिप्पणियां करना महंगा पड़ा.

अवैध गुटखा बेचने वाले की दुकान पर छापा पड़ा तो ऐसा राज़ खुला कि पुलिस भी परेशान हो गई

इतने घटिया अपराध के सामने तो अवैध गुटखा बेचना कुछ भी नहीं.

अपनी ड्यूटी कर रही महिला अधिकारी की सब्जी बेचने वाले ने उंगलियां काट दीं

इसके बाद सब्जी वाले ने जो कहा वो भी सुनिए.

पीट-पीटकर अपने डेढ़ साल के बच्चे को लहूलुहान कर देने वाली मां की असलियत

ये वायरल वीडियो आप तक भी पहुंचा होगा.