Submit your post

Follow Us

क्या होता है निपाह वायरस, जो कोरोना वायरस की तरह फैलता है?

(यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछें. दी लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.)

कोविड-19 और स्क्रब टाइफस के बाद अब देश पर एक नई मुसीबत आ गई है. निपाह वायरस.

इंडिया टुडे में छपी ख़बर के मुताबिक, कुछ दिन पहले केरल के कोझिकोड में एक 12 साल के बच्चे की इस वायरस की वजह से मौत हो गई. बाद में केरल की हेल्थ मिनिस्टर वीना जॉर्ज ने कन्फर्म किया कि और लोगों भी में इस वायरस के लक्षण देखे गए हैं. ये जान केरल के पड़ोसी राज्यों ने भी एहतियाती कदम उठाना शुरू कर दिया. पहले कर्नाटक और तमिलनाडु, और बाद में आंध्र प्रदेश सरकार ने भी अपने यहां अलर्ट जारी कर दिया.

जैसा इसके नाम से पता चल रहा है- निपाह वायरस- एक विषाणु से होने वाला इन्फेक्शन है. जैसे कोरोना वायरस. इसलिए निपाह वायरस को कंट्रोल करना कितना ज़रूरी है, ये तो आपको समझ में आ ही गया होगा. पर रोकेंगे तो तब, जब हमें ये पता होगा कि निपाह वायरस है क्या और ये फैलता कैसे है? तो इन सवालों के जवाब जानते हैं एक्सपर्ट्स से.

निपाह वायरस क्या और क्यों होता है?

ये हमें बताया डॉक्टर मंगल ने.

डॉक्टर मंगल, एडवाइज़र, एसडी गुप्ता स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ, IIHMR यूनिवर्सिटी, जयपुर
डॉक्टर मंगल, एडवाइज़र, एसडी गुप्ता स्कूल ऑफ़ पब्लिक हेल्थ, IIHMR यूनिवर्सिटी, जयपुर

-ये रोग एक वायरस से होने वाली बीमारी है.

-ये बीमारी फ्रूट बैट से जानवरों में आती है, जैसे सूअर. फिर इस सूअर के संपर्क में आने वाले इंसानों में फैलती है.

-निपाह वायरस के बारे में सबसे पहले 1999 में जानकारी प्राप्त हुई थी.

-तब मलेशिया और सिंगापुर के सूअरों और लोगों में ये बीमारी फैली थी.

-लगभग 300 लोग इससे ग्रसित हुए थे.

-100 से ज़्यादा लोगों की मौत हुई थी.

Nipah Virus in Kerala: 11 Contacts of Victim Symptomatic; Govt Zeroing in On 'Source'
ये बीमारी फ्रूट बैट से जानवरों में आती है, जैसे सूअर. फिर इस सूअर के संपर्क में आने वाले इंसानों में फैलती है

-तब से ये बीमारी हर साल भारत, बांग्लादेश और आसपास के देशों में पाई जाती है.

-जो भी लोग इन संक्रमित जानवरों के शरीर से निकलने वाले तरल पदार्थ जैसे खून, मूत्र या लार के संपर्क में आते हैं, उन्हें ये बीमारी हो जाती है.

लक्षण

-संपर्क में आने के 4 से 14 दिन बाद लक्षण दिखाई देते हैं.

-शुरुआत बुखार और सिरदर्द जैसे लक्षणों से होती है.

-इस बीमारी में मस्तिष्क में सूजन आ सकती है.

-ऐसे में नींद न आना, भटकाव और भ्रम जैसे लक्षण दिखाई देते हैं.

-ऐसे लोग 24 से 48 घंटों में कोमा में चले जाते हैं.

-जिसके कारण 40 से 75 प्रतिशत संक्रमित लोगों की मौत हो जाती है.

Nipah virus in Kerala: Causes, symptoms and all you need to know about the deadly infection
संपर्क में आने के 4 से 14 दिन बाद लक्षण दिखाई देते हैं

-लक्षणों में मुख्य रूप से बुखार, सिरदर्द, खांसी, गले में ख़राश, सांस लेने में दिक्कत और उल्टी जैसे लक्षण आते हैं.

-जब गंभीर लक्षण होते हैं तो नींद न आना, भ्रम, भटकाव, दौरे पड़ना, कोमा और दिमाग में सूजन आ जाती है.

इलाज

-ये क्योंकि एक वायरल बीमारी है इसलिए इसका कोई ख़ास उपचार नहीं है.

-लक्षणों को देखकर इलाज किया जाता है.

-आराम की सलाह दी जाती है.

-डीहाइड्रेशन न होने पाए, इसका ख्याल रखा जाता है.

-कुछ ख़ास तरह के इलाज का इस्तेमाल भी किया जाता है.

-जैसे मोनोक्लोनल एंटीबॉडी.

-कुछ एंटी वायरल दवाइयों का भी इस्तेमाल किया गया है.

Nipah virus: What are the most common symptoms? Is it deadly? - Deseret News
लक्षणों में मुख्य रूप से बुखार, सिर दर्द, खांसी, गले में ख़राश, सांस लेने में दिक्कत और उल्टी जैसे लक्षण आते हैं.

-लेकिन फ़िलहाल निपाह वायरस का कोई स्पेसिफ़िक इलाज नहीं है.

बचाव

-इस बीमारी से बचाव संभव है.

-रोकथाम के उपाय बहुत ही सिंपल हैं.

-जहां ये बीमारी पहले पाई जा चुकी है, वहां के लोगों को अपने हाथों को नियमित रूप से साबुन और पानी से धोना चाहिए.

-चमगादड़ और सूअरों के संपर्क में आने से बचना चाहिए.

-उन क्षेत्रों में न बसें जहां चमगादड़ रहते हैं.

-कच्चे खजूर के रस का सेवन करने से बचना चाहिए.

Model Predicts Bat Species With the Potential to Spread Nipah Virus in India
ऐसे फलों का सेवन करने से बचना चाहिए जो चिमगादड़ के मूत्र या लार से दूषित हो सकते हैं.

-निपाह वायरस से इन्फेक्टेड इंसान के शरीर से निकले तरल पदार्थों के संपर्क में आने से बचना चाहिए.

जैसा डॉक्टर मंगल ने बताया, निपाह वायरस से बचाव की टिप्स बहुत ही आसान और सिंपल हैं. उनका पालन करिए. ज़रूरी है कि लक्षण दिखने पर RT-PCR टेस्ट किया जाए. जिससे ये पता लगता है कि निपाह वायरस से संक्रमण हुआ है या नहीं. कुछ और टेस्ट भी किए जाते हैं. इसलिए जिन लोगों को बुखार, खांसी, गले में ख़राश, सांस लेने में दिक्कत और उल्टी जैसे लक्षण महसूस हो रहे हों, वो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें.


वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

सलमान खान को धमकी देने वाले गैंग की 'लेडी डॉन' गिरफ्तार, पूरी कहानी जानिए

एक सीधे-सादे परिवार की लड़की कैसे बन गई डॉन?

मिलने के लिए 300 किलोमीटर दूर से फ्रेंड को बुलाया, दोस्तों के साथ मिलकर किया गैंगरेप!

आरोपी और पीड़िता सोशल मीडिया के जरिए फ्रेंड बने थे.

मुंबई रेप पीड़िता की इलाज के दौरान मौत, आरोपी ने रॉड से प्राइवेट पार्ट पर हमला किया था

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा-फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा केस.

NCP कार्यकर्ता ने महिला सरपंच को पीटा, वीडियो वायरल

मामला महाराष्ट्र के पुणे का है. पीड़िता ने कहा – नहीं मिला न्याय.

सिविल डिफेंस वालंटियर मर्डर केस: परिवार ने की SIT जांच की मांग, हैशटैग चला लोग मांग रहे इंसाफ

पीड़ित परिवार का आरोप- गैंगरेप के बाद हुआ कत्ल.

उत्तर प्रदेश: रेप नहीं कर पाया तो महिला का कान चबा डाला, पत्थर से कुचला!

एक साल से महिला को परेशान कर रहा था आरोपी.

मुझे जेल में रखकर, उदास देखने में पुलिस को खुशी मिलती है: इशरत जहां

दिल्ली दंगा मामले में इशरत जहां की जमानत में अब पुलिस ने कौन सा पेच फंसा दिया है?

किशोर लड़कियों से उनकी अश्लील तस्वीरें मंगवाने के लिए किस हद चला गया ये आदमी!

खुद को जीनियस समझ तरीका तो निकाल लिया लेकिन एक गलती कर बैठा.

कॉन्डम के सहारे खुद को बेगुनाह बता रहा था रेप का आरोपी, कोर्ट ने तगड़ी बात कह दी

कोर्ट की ये बात हर किसी को सोचने पर मजबूर करती है.

रेखा शर्मा को 'गोबर खाकर पैदा हुई' कहा था, अब इतनी FIR हुईं कि अक्ल ठिकाने आ जाएगी

यति नरसिंहानंद को आपत्तिजनक टिप्पणियां करना महंगा पड़ा.