Submit your post

Follow Us

ये बोन डेथ क्या है जो कोविड पेशेंट्स में देखी जा रही है?

(यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो भी सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछ लें. लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.)

ब्लैक फंगस. वाइट फंगस. येलो फंगस. डायबिटीज. ये कुछ ऐसे complications हैं जो कोविड से ठीक हो चुके पेशेंट्स में देखे जा रहे हैं. ये  दिक्कतें खासतौर पर उन पेशेंट्स में दिखीं जिन्हें कोविड के इलाज के दौरान स्टेरॉयड्स दिए जा रहे थे. अभी तक इन बीमारियों का ही तोड़ नहीं मिल पाया है और अब एक नई मुसीबत आ गई है. बोन डेथ. जिसे मेडिकल भाषा में Avascular Necrosis कहा जाता है. ये भी उन्हीं पेशेंट्स में देखा जा रहा है जिन्हें स्टेरॉयड दिए गए थे. इसमें हड्डियों में ब्लड सप्लाई में रुकावट आती है जिससे हड्डियां खराब हो जाती हैं. हमें सेहत पर कई ऐसे लोगों के मेल्स आए हैं जिन्हें कोविड के बाद हड्डियों में बहुत दर्द है. जबसे उन्होंने मीडिया में बोन डेड होने के केसेस पढ़े हैं तो वो और भी डर गए हैं. तो चलिए ये जानते हैं कि बोन डेड होना क्या होता है?

बोन डेड होने का क्या मतलब होता है?

ये हमें बताया डॉक्टर अंकुर ने.

डॉ अंकुर जैन, असिस्टेंट प्रोफेसर ऑर्थोपेडिक डिपॉर्टमेंट, एनएमसीएच, कोटा
डॉ अंकुर जैन, असिस्टेंट प्रोफेसर ऑर्थोपेडिक डिपॉर्टमेंट, एनएमसीएच, कोटा

बोन डेथ को हम मेडिकल भाषा में avascular necrosis कहते हैं. Avascular का मतलब है कि बोन में ब्लड सप्लाई का रुक जाना और necrosis का मतलब है बोन टिश्यू का डेड हो जाना. ये बीमारी कुछ स्पेसिफिक हड्डियों में  पाई जाती है. इसमें सबसे कॉमन है जांघ की हड्डी, इसे हम फीमर बोन भी कहते हैं. फीमर बोन में भी इसका जो सबसे ऊपर वाला हिस्सा होता है, जिसे हेड ऑफ फीमर कहते हैं, यहां ये सबसे ज्यादा देखने को मिलता है. इसके अलावा कलाई के ज्वाइंट, एंकल ज्वाइंट, घुटने के ज्वाइंट में भी AVN (ए वी एन) हो सकता है. हर बोन की एक फिक्स ब्लड सप्लाई होती है और इस ब्लड के माध्यम से ही हड्डी तक न्यूट्रिएंट्स जैसे कैल्शियम और ऑक्सीजन की सप्लाई होती है.

अगर किसी कारण से ये सप्लाई रुकती है तो बोन का वो वाला एरिया धीरे-धीरे कमजोर होने लगता है और इसमें पैचेज की तरह जगह-जगह धीरे-धीरे बोन टिश्यू की डेथ होने लगती है. इसकी वजह से हिप ज्वाइंट का हेड वाला पार्ट धीरे-धीरे अपनी गोलाई को खोने लगता है. जिसकी वजह से चलने में दिक्कत आने लगती है, शुरुआत में जमीन पर बैठने में दिक्कत होने लगती है. एडवांस केसेज में पेशेंट की चाल टेढ़ी मेढ़ी होने लगती है और कभी-कभी पेशेंट बेड रिडेन भी जाता है.

Explained: What is avascular necrosis or bone death, a new post-Covid complication? | Latest News India - Hindustan Times

बोन डेड होने के कारण

AVN एक मल्टी फैक्टर डिसीज है यानी कि इसके एक से ज्यादा कारण हो सकते हैं. ऐसा नहीं है कि हमें कोविड के बाद ही स्टेरॉयड इंड्यूज्ड AVN देखने को मिल रहा है बल्कि हमें यंग मेल आबादी में AVN देखने को मिल रहा है. जिसका सबसे आम कारण है कि लोग बॉडी-बिल्डिंग के लिए स्टेरॉयड्स से बने पाउडर और ड्रग्स को बिना ज़रूरत के इस्तेमाल करते हैं, वो भी बिना किसी सलाह के. स्टेरॉयड के अलावा कुछ और भी रिस्क फैक्टर्स होते हैं जिनकी वजह से AVN हो सकता है  जैसे कि कुछ ब्लड रिलेटेड डिसऑर्डर या कुछ इम्यूनोलॉजिकल डिसऑर्डर जैसे सिकल सेल एनीमिया या फिर बोन का फ्रैक्चर. कई बार पोस्ट कीमो और रेडियो थेरेपी या फिर एक लिमिट से ज्यादा शराब लेने से भी ऐसा हो सकता है.

कोविड पेशेंट्स में बोन डेड होने के केसेस क्यों बढ़ रहे हैं?

कोविड -19 के सीरियस पेशेंट्स में उनके लंग्स ( फेफड़े ) में सूजन आने लगती है जिसे मेडिकल टर्म्स में इनफ्लेमेशन कहते हैं. इसी को कम करने के लिए एंटी इन्फ्लेमेटरी दवाइयों का इस्तेमाल किया जाता है. उसमें से एक दवाई होती है स्टेरॉयड. ये स्टेरॉयड लग्स में सूजन को कम करने और पेशेंट्स की रिकवरी में बहुत अच्छे से काम करते हैं. किन स्टेरॉयड्स को ज्यादा और लंबे वक्त तक लेने के साइड इफेक्ट होते हैं और AVN भी उनमें से एक है. अगर किसी पेशेंट को 2000 मिलीग्राम से ज्यादा स्टेरॉयड की डोज दी गई है तो उसमें AVN होने के चांसेज बढ़ जाते हैं, स्टेरॉयड लेने के 6 महीने से 2 साल के अंदर ये लक्षण मरीजों में आने लगते हैं.

इलाज

इसके बारे में हमें बताया डॉक्टर नंदन ने.

डॉ नंदन मिश्रा, आर्थोपेडिक सर्जन, नियो हॉस्पिटल, नॉएडा
डॉ नंदन मिश्रा, आर्थोपेडिक सर्जन, नियो हॉस्पिटल, नोएडा

अगर आप कोविड से ठीक हो चुके हैं और आपके कूल्हे तथा जांघ में दर्द है तो आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए. फिजिकल एग्जामिनेशन के बाद डॉक्टर आपको एक्सरे या एमआरआई के लिए बोल सकते हैं. एमआरआई एक बहुत ही महत्वपूर्ण इन्वेस्टीगेशन है. जिससे हम शुरुआती दौर में ही बीमारी को पकड़ सकते हैं. Avascular necrosis का इलाज इसके स्टेज पर निर्भर करता है. शुरुआती दौर में दवाई या छोटे से ऑपरेशन से ठीक कर सकते हैं लेकिन अगर ये बीमारी बढ़ चुकी है तो हिप रिप्लेसमेंट कराना पड़ सकता है.

भारत में कोविड से रिकवर कर रहे लोगों में ये केसेज़ फिलहाल कम हैं. लेकिन अनुमान है कि आगे ये बढ़ सकते हैं. इसीलिए इनके बारे में जागरूकता होना ज़रूरी है.

आपने बोन डेथ को लेकर दोनों डॉक्टर्स की बात सुन ली. अगर आपको Avascular necrosis के बताए गए लक्षण महसूस हो रहे हैं तो एक बार अपने डॉक्टर से ज़रूर संपर्क करें. देरी न करें. सही समय पर इसका इलाज शुरू होना बेहद ज़रूरी है.


वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

'हिंदू' महिलाओं की पॉर्न फोटो के बहाने मुस्लिम महिलाओं की 'नीलामी' को जायज ठहरा रहे लोग!

'हिंदू' महिलाओं की पॉर्न फोटो के बहाने मुस्लिम महिलाओं की 'नीलामी' को जायज ठहरा रहे लोग!

एक अपराध के नाम पर दूसरे अपराध को जायज नहीं ठहराया जा सकता!

रोमैंस के नाम पर लड़कियों के साथ ये अपराध होता है, आप जानते थे?

रोमैंस के नाम पर लड़कियों के साथ ये अपराध होता है, आप जानते थे?

स्टॉकिंग को प्रेम का रूप समझना सबसे बड़ी बेवकूफी है.

हिंदू- मुस्लिम शादी के लिए परिवार थे राज़ी, धर्म के ठेकेदारों ने हंगामा मचा दिया

हिंदू- मुस्लिम शादी के लिए परिवार थे राज़ी, धर्म के ठेकेदारों ने हंगामा मचा दिया

घर वालों को प्रेम दिख रहा था, दुनिया वालों को लव-जिहाद.

इस एक्ट्रेस को एक शख्स सालभर से भेज रहा अश्लील तस्वीरें, अब रेप की धमकी दी

इस एक्ट्रेस को एक शख्स सालभर से भेज रहा अश्लील तस्वीरें, अब रेप की धमकी दी

बंगाली एक्ट्रेस प्रत्युषा ने बताया- "30 बार ब्लॉक कर चुकी हूं, 31वां अकाउंट बनाकर धमका रहा"

केरल के इस फेमस एक्टर पर लगा दहेज उत्पीड़न का आरोप, हाई कोर्ट ने कहा- 'सरेंडर करो'

केरल के इस फेमस एक्टर पर लगा दहेज उत्पीड़न का आरोप, हाई कोर्ट ने कहा- 'सरेंडर करो'

पत्नी का आरोप- पैसे गबन कर लिए, शारीरिक और मानसिक तौर पर टॉर्चर भी किया.

कोच पी नागराजन पर सात और महिला एथलीट्स ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

कोच पी नागराजन पर सात और महिला एथलीट्स ने लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप

कोच नागराजन करीब तीन दशक से कई राष्ट्रीय पदक विजेताओं को ट्रेनिंग दे रहे हैं.

UP: मॉडल की मां ने फेसबुक लाइव कर सुसाइड कर लिया, पुलिस पर लगाए ये आरोप

UP: मॉडल की मां ने फेसबुक लाइव कर सुसाइड कर लिया, पुलिस पर लगाए ये आरोप

बेटे के लापता होने की शिकायत दर्ज कराने थाने गईं थीं.

बस कंडक्टर ने नाबालिग से पूछा-'सेक्स के बारे में कुछ जानती हो' कोर्ट ने एक साल की सजा सुनाई

बस कंडक्टर ने नाबालिग से पूछा-'सेक्स के बारे में कुछ जानती हो' कोर्ट ने एक साल की सजा सुनाई

POCSO एक्ट की धारा 12 के तहत दोषी पाया.

इलाज के बहाने लड़कियों के प्राइवेट पार्ट में हाथ डालने वाले डॉक्टर का कच्चा-चिट्ठा फिर खुला

इलाज के बहाने लड़कियों के प्राइवेट पार्ट में हाथ डालने वाले डॉक्टर का कच्चा-चिट्ठा फिर खुला

फेमस जिमनास्ट सिमोन बाइल्स भी हुई थीं लैरी नासर का शिकार, कई बड़े खुलासे किए.

मुसलमान औरतों  पर अश्लील चर्चा कर उनकी बोलियां लगाने वालों के बुरे दिन शुरू

मुसलमान औरतों पर अश्लील चर्चा कर उनकी बोलियां लगाने वालों के बुरे दिन शुरू

'सुल्ली डील्स' मामले में दर्ज हुई FIR. आरोपियों को ट्रेस करने में जुटी पुलिस.