Submit your post

Follow Us

हड्डियों में कैसे हो जाता है कैंसर?

यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछें. दी लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.

ऋषि. 10 साल का बच्चा है. सालभर पहले उसकी बाई जांघ में दर्द उठा. ये दर्द लगातार कई दिन तक रहा. एक दिन दोपहर में वो क्लास में था. उस वक़्त उसकी जांघ में ज़बरदस्त चमक उठी. उसी दिन वो गिरा भी था. उसे डॉक्टर के पास लेकर जाया गया. डॉक्टर ने बताया कि उसको फ्रैक्चर हुआ है. इलाज चला. पर दर्द नहीं गया. सूजन भी ज़्यादा बढ़ गई. उसे दूसरे हॉस्पिटल शिफ्ट करवाया गया. टेस्ट में पता चला उसकी हड्डी में कुछ अजीब तरह का बदलाव है. जो आमतौर पर फ्रैक्चर में नहीं होता. बाईयोप्सी की गई. पता चला ऋषि को बोन कैंसर है. ये हड्डी उसके हिप जॉइंट के पास थी. ऋषि के घरवाले शॉक में आ गए. 10 साल के बच्चे को बोन कैंसर कैसे हो सकता है? सात महीने ऋषि बिस्तर पर रहा. वो चल नहीं पाता था. सात महीने बाद उसकी सर्जरी हुई. सर्जरी के बाद ऋषि चल पाया. तो सबसे पहले जानते हैं कि बोन कैंसर क्या होता है और क्यों होता है?

क्या होता है बोन कैंसर?

इस बारे में हमें बताया डॉक्टर जगदीश शिंदे ने. वो पुणे के आदित्य बिरला मेमोरियल हॉस्पिटल में कैंसर स्पेशलिस्ट हैं.

बोन कैंसर शरीर की किसी भी हड्डी में हो सकता है, पर ज़्यादातर बोन कैंसर शरीर की लंबी हड्डियों में होता है. जैसे हाथ-पैर या कमर की हड्डी. बोन कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है. बच्चों से लेकर बूढ़ों तक.

Dr. Jagdish Shinde | Aditya Birla Memorial Hospital
डॉक्टर जगदीश शिंदे, कैंसर स्पेशलिस्ट, आदित्य बिरला मेमोरियल हॉस्पिटल, पुणे

कारण:

-जेनेटिक कारण हो सकता है. अगर परिवार में बोन कैंसर की हिस्ट्री रही है तो रिस्क बढ़ जाता है

बोन कैंसर क्या होता है और क्यों होता है, ये समझ में आ गया. अब जानते हैं कि कैसे पता चलेगा बोन कैंसर है. क्या बायोप्सी से पहले कोई लक्षण हैं जिनपर नज़र रखनी चाहिए और हां, इसका इलाज क्या है?

लक्षण:

-किसी हड्डी में दर्द होना

-हड्डी में सूजन आना

-थकावट महसूस होना

The Benefits Of Phytonutrients In Bone Cancer - Dr. Rath Research Institute
बोन कैंसर शरीर की किसी भी हड्डी में हो सकता है

-अचानक वेट लॉस होना

-किसी हड्डी का अचानक से फ्रैक्चर हो जाना

-अगर इनमें से कोई भी लक्षण पाया जाता है तो डॉक्टर आपको कुछ टेस्ट बताएंगे.

-बोन कैंसर डाइग्नोस करने के लिए पेट स्कैन, एमआरआई स्कैन, सीटी स्कैन, बोन स्कैन या एक्सरे किया जाता है

-इसके अलावा बायोप्सी की जाती है. जिसमें बोन कैंसर के ट्यूमर से एक टुकड़ा निकाला जाता है, फिर उस टुकड़े की जांच होती है. इसमें पता चलता है कि बोन कैंसर किस टाइप का है. एक बार बोन कैंसर डाइग्नोस हो गया तो फिल इलाज शुरू होता है.

इलाज:

-बोन कैंसर का इलाज बोन कैंसर के टाइप और स्टेज पर निर्भर करता है

-बोन कैंसर में मोटा-मोटी तीन टाइप होते हैं

-कोंड्रोसारकोमा (Chondrosarcoma), ऑस्टियोसारकोमा(Osteosarcoma) और इविंगसारकोमा (Ewing’s Sarcoma)

Primary Bone Cancer - National Cancer Institute
बोन कैंसर डाइग्नोस करने के लिए पेट स्कैन, एमआरआई स्कैन, सीटी स्कैन, बोन स्कैन या एक्सरे किया जाता है

-बोन कैंसर के स्टेज का मतलब है कि कैंसर कितना फैल चुका है. स्टेज 1 मतलब कम से कम फैला है. स्टेज 4 मतलब बहुत ज़्यादा फैल चुका है

-बोन कैंसर में तीन तरह का ट्रीटमेंट किया जाता है

-पहला सर्जरीः इसमें ऑपरेशन करके पूरी गांठ निकाली जाती है

-दूसरा कीमोथैरेपीः इसमें कैंसर की दवाई सलाइन या गोलियों से दी जाती है

-रेडिएशन थैरेपीः इसमें एक मशीन का इस्तेमाल करके ट्यूमर का एक्स-रे या गामा रेज़ से इलाज किया जाता है

-कुछ केसेज़ में लंग कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर हड्डियों तक पहुंच जाता है, उससे पेशेंट को हड्डियों में दर्द होता है, फ्रैक्चर भी हो जाता है. इनका ट्रीटमेंट बोन कैंसर के ट्रीटमेंट से अलग होता है.

डॉक्टर साहब ने जो बाते बताईं उनपर ज़रूर ध्यान दें.


वीडियो

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

महिला थाना प्रभारी की मौत के बाद हंगामा, परिवार ने साथी सब-इंस्पेक्टर पर टॉर्चर के आरोप लगाए

महिला थाना प्रभारी की मौत के बाद हंगामा, परिवार ने साथी सब-इंस्पेक्टर पर टॉर्चर के आरोप लगाए

आत्महत्या या हत्या? जानिए पूरा मामला

कोरोना ग्रस्त लड़कियों का रेप करने वालों को अपनी जान का डर क्यों नहीं लगता?

कोरोना ग्रस्त लड़कियों का रेप करने वालों को अपनी जान का डर क्यों नहीं लगता?

ये महज़ सेक्शुअल उत्तेजना का मामला नहीं, बात और गहरी है.

असम: परिवार से दूर रहकर दूसरे के घर में 'झाड़ू-पोछा' करती थी, अब इस बच्ची का जला हुआ शव मिला

असम: परिवार से दूर रहकर दूसरे के घर में 'झाड़ू-पोछा' करती थी, अब इस बच्ची का जला हुआ शव मिला

रेप, सेक्शुअल असॉल्ट और प्रेग्नेंसी के आरोपों पर पुलिस चुप क्यों?

आठ महीने की प्रेग्नेंट 'ड्रग क्वीन' साइना को उसके पति ने गोलियों से क्यों भून डाला?

आठ महीने की प्रेग्नेंट 'ड्रग क्वीन' साइना को उसके पति ने गोलियों से क्यों भून डाला?

जुड़वा बच्चों की मां बनने वाली थी साइना.

कपड़ा फैक्ट्री में 19 महिलाओं से जबरन काम कराया जा रहा था, पुलिस ने बचा लिया

कपड़ा फैक्ट्री में 19 महिलाओं से जबरन काम कराया जा रहा था, पुलिस ने बचा लिया

तीन महीने की ट्रेनिंग के लिए बुलाया, फिर बंधक बना लिया.

ग्वालियर: COVID सेंटर में वॉर्ड बॉय पर मरीज से रेप की कोशिश का आरोप, गिरफ्तार

ग्वालियर: COVID सेंटर में वॉर्ड बॉय पर मरीज से रेप की कोशिश का आरोप, गिरफ्तार

आरोपी को नौकरी से निकाला.

बाप पर आरोपः दो साल तक बेटी का रेप किया, दांतों से चबाकर उसकी नाक काट ली

बाप पर आरोपः दो साल तक बेटी का रेप किया, दांतों से चबाकर उसकी नाक काट ली

पैसे देकर दूसरे लड़के से रेप करवाने का भी आरोप है.

सुसाइड कर रहे पति को रोकने की जगह पत्नी उसका वीडियो क्यों बना रही थी?

सुसाइड कर रहे पति को रोकने की जगह पत्नी उसका वीडियो क्यों बना रही थी?

पति की मौत हो गई है.

लड़कियों को बेरहमी से घसीट रही पुलिस के वायरल वीडियो का पूरा सच क्या है

लड़कियों को बेरहमी से घसीट रही पुलिस के वायरल वीडियो का पूरा सच क्या है

क्या कार्रवाई के लिए पुलिस फसल पकने का इंतज़ार कर रही थी?

रेप के आरोपी NCP नेता को बचाने की कोशिश कर रहा था ACP, कोर्ट ने दिन में तारे दिखा दिए

रेप के आरोपी NCP नेता को बचाने की कोशिश कर रहा था ACP, कोर्ट ने दिन में तारे दिखा दिए

ये सुनकर कोई भी पुलिस वाला शर्मिंदा हो जाए.