Submit your post

Follow Us

कोरोना पॉजिटिव मांओं की डिलिवरी के बाद उनके बच्चों को दूध कौन पिलाता है?

अगर प्रेग्नेंट मां COVID-19 पॉजिटिव है, तो उसकी डिलिवरी के बाद बच्चे का ध्यान कैसे रखा जाता है?  ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़, पुणे के ससून अस्पताल में ऐसे कई केस आए हैं. किस तरह से डील कर रहे हैं वो ऐसी सिचुएशन में? क्या प्रोसीजर है, यहां पढ़ लीजिए:

1. सबसे पहले तो बच्चे का कोरोना वायरस टेस्ट होता है. साथ ही पॉजिटिव निकली मां के परिवार वालों को भी क्वारंटीन किया जाता है. ऐसे में अस्पताल ही बच्चे के लिए केयरटेकर का इंतजाम करते हैं.

2. बच्चे को पीने के लिए जो दूध चाहिए, वो अस्पताल के ह्यूमन मिल्क बैंक से लिया जाता है. इस बैंक में महिलाएं अपना ब्रेस्ट मिल्क दान करती हैं.

3. डिलिवरी के पांचवें दिन जब बच्चा कोरोना टेस्ट में निगेटिव पाया जाता है, तभी उसे  घर भेजा जाता है. तब तक अस्पताल में हर दो घंटे में उसे फीड कराया जाता है.

ससून अस्पताल में अप्रैल में 11 प्रेग्नेंट महिलाएं COVID -19 पॉजिटिव पाई गई थीं. उनमें से छह ने ऐसे बच्चों को जन्म दिया, जो कोरोना वायरस नेगेटिव थे. उनमें से दो महिलाएं ठीक होकर घर जा चुकी हैं.

Preg Rep 700
(सांकेतिक तस्वीर: PTI)

डिलिवरी के समय किन बातों का ध्यान रखा जाएगा?

इसकी जानकारी के लिए ‘ऑडनारी’ ने बात की डॉक्टर साधना काला से. ये मूलचंद हॉस्पिटल के गाइनकॉलजी डिपार्टमेंट में सीनियर कंसल्टेंट हैं. इन्होंने बताया,

# डिलिवरी के लिए हमारी गाइनी-ऑब्स्टेट्रिक्स सोसाइटी ने प्रोटोकॉल भेजा है. हम उसी के हिसाब से चलते हैं. अभी तक हमारे पास ऐसा कोई पेशेंट आया नहीं है, लेकिन हमारी तैयारी पूरी है.

# इस प्रोटोकॉल में अगर किसी COVID 19 पॉजिटिव महिला की डिलिवरी करनी है, तो उस एक पेशेंट की देखभाल में जितने लोग इन्वॉल्व होंगे, सबके लिए PPE (पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट) पहनना अनिवार्य होगा. सिस्टर, वॉर्ड बॉय, एनिस्थीसिया देने वाले, हमारे असिस्टेंट, सभी उसे ज़रूर पहनेंगे. बच्चे के जन्म के बाद उसे फ़ौरन आइसोलेशन में रखा जाएगा.


वीडियो: डॉक्टर शोभना चौकसे शादी के 22 साल बाद मां बनीं लेकिन कोरोना की वजह से बच्चों से दूर हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

अस्पताल के कर्मचारियों पर आरोप- डिलीवरी के बाद महिला का यौन शोषण किया

दूध की टेस्टिंग के लिए महिला को सैंपल देना था.

बॉयज़ लॉकर रूम: विक्टिम ने बताया, लड़कों के घरवाले शिकायत वापस लेने को कह रहे हैं

इंस्टाग्राम के इस ग्रुप के चैट वायरल होने के बाद छानबीन शुरू.

अफेयर का शक था, इसलिए पुलिसवाले ने कॉन्स्टेबल पत्नी को गोली से उड़ा दिया

अगले दिन कुछ ऐसा हुआ, जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी.

जामिया की सफ़ूरा के अजन्मे बच्चे को 'नाजायज़' कहने वालों की अब खैर नहीं!

दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस के सामने तीन मांगें रखी हैं.

'बॉयज़ लॉकर रूम' में लड़कियों का रेप प्लान करने वाले लड़कों का भांडा कैसे फूटा?

इस इंस्टाग्राम ग्रुप के एडमिन को दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने गिरफ्तार किया है.

'गर्ल्स लॉकर रूम': लड़कियों की चैट वायरल, जिसमें लड़कों की नग्न तस्वीरें शेयर होती थीं

पहले 'बॉयज़ लॉकर रूम' के चैट्स वायरल हुए थे.

बिहार: तीन बूढ़ी औरतों को पंचायत ने वो 'सज़ा' दी, जिसे सुनकर इंसानियत शर्मसार हो जाए!

तीन बूढ़ी औरतें घर छोड़ने पर मजबूर हुईं.

बनारस में महिला पत्रकार ने सुसाइड किया, नोट में स्थानीय SP नेता को ज़िम्मेदार बताया

आरोपी SP नेता इस वक्त पुलिस की हिरासत में है.

बॉयज लॉकर रूम: गैंगरेप का प्लान बना रहे लड़के दिल्ली के नामी स्कूलों में पढ़ते हैं

इंस्टाग्राम के इस ग्रुप में लड़कियों से जुड़ी और भी भद्दी बातें होती थीं.

'बॉयज़ लॉकर रूम': नाबालिग स्कूली लड़कों का ग्रुप, जहां गैंगरेप के प्लान बनते हैं

ये कोई गुंडे नहीं, साउथ दिल्ली के स्कूली बच्चे हैं.