Submit your post

Follow Us

क्या जान-बूझकर तोड़ी गईं इस एथलीट की टोक्यो ओलंपिक की उम्मीदें?

ऑस्ट्रेलिया का क्वीन्सलैंड स्टेट. यहां गोल्ड कोस्ट नाम का एक शहर है. साल 2018 के अप्रैल में यहां कॉमनवेल्थ गेम्स हुए थे, जो 4 से 15 अप्रैल तक चले थे. इंडिया ने टोटल 66 मेडल जीते थे. इनमें 26 सोने, 20 चांदी और 20 कांस्य पदक थे. गोल्ड मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों में वेटलिफ्टर खुमुकचम संजीता चानू भी शामिल थीं. 53 किलोग्राम की कैटेगिरी में सोना जीता था. दिन था 6 अप्रैल, 2018. सबने कहा इतिहास रच दिया.

मणिपुर की रहने वाली संजीता तब 24 बरस की थीं. उनकी जीत पर घरवाले, फैन्स सब बहुत खुश थे. लेकिन ये खुशी ज्यादा दिन तक बरकरार नहीं रह सकी. क्योंकि मई, 2018 में पता चला कि संजीता डोपिंग टेस्ट में पॉज़िटिव पाई गई हैं. 15 मई 2018 के दिन इंटरनेशनल वेटलिफ्टिंग फेडरेशन (IWF) ने उन्हें सस्पेंड कर दिया. उनकी वेटलिफ्टिंग पर लग गई रोक.

सवाल- मामला दो साल पुराना, लेकिन अभी बात क्यों?

जवाब- क्योंकि अब IWF ने संजीता पर लगे डोपिंग के आरोप हटा दिए हैं. केस बंद कर दिया है. क्योंकि सैंपल्स की जांच में समानता नहीं मिली है.

संजीता को कुछ दिन पहले ही IWF ने मेल करके इस बात की जानकारी दी. PTI की रिपोर्ट के मुताबिक, मेल में लिखा है,

‘वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी (WADA) ने 28 मई 2020 के दिन IWF को बताया कि चानू के सैंपल में समानता नहीं मिली है. इस टेस्ट के आधार पर केस बंद करने का सुझाव दिया. इसी का नतीजा है कि सैंपल नंबर 1599000 के आधार पर संजीता पर जो भी आरोप लगे थे, IWF उन्हें वापस लेता है. मामला बंद किया जाता है.’

Sanjita Chanu 3
कॉमनवेल्थ गेम्स 2018 के दौरान वेट उठातीं संजीता चानू. (फोटो- रॉयटर्स)

ये सैंपल लिए कब गए थे?

नवंबर 2017 में. अमेरिका में तभी वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैम्पियनशिप हो रही थी. चैम्पियनशिप के पहले यूनाइटेड स्टेट्स एंटी-डोपिंग एजेंसी (USADA) ने संजीता के यूरिन सैंपल्स लिए थे. पहले सैंपल ‘A’ का नतीजा आया मई 2018 में. उनके शरीर में एनाबॉलिक स्टेरॉयड मौजूद पाया गया. ये ऐसी दवा है, जिसे खिलाड़ी नहीं ले सकते. इस पर बैन लगा हुआ है. फिर उनके दूसरे यूरिन सैंपल ‘B’ का नतीजा भी सितंबर 2018 में आया, ये भी पॉज़िटिव निकला.

दोनों ही सैंपल नवंबर 2017 में ही लिए गए थे. दरअसल, टेस्टिंग के लिए यूरिन को दो बॉटल्स में भरकर रखा जाता है. एक को सैंपल A और दूसरे को B कहा जाता है. ऐसा इसलिए करते हैं कि अगर कन्फर्मेशन के लिए अगर दोबारा टेस्ट करना पड़े, तो यूरिन मौजूद रहे.

Sanjita Chanu 1
संजीता पर प्रतिबंधित दवा लेने का आरोप लगा था, उनके डोप टेस्ट 2018 में पॉज़िटिव पाए गए थे. (फोटो- रॉयटर्स)

सैंपल के नंबर्स को लेकर भी भसड़ मची

दोनों ही सैंपल्स को एक ही नंबर दिया जाता है. लेकिन मई 2018 में जब IWF ने संजीता को नोटिस भेजा, तो उसमें दो नंबर लिखे थे. एक था 1599000 और दूसरा 1599176. इसी पर चानू ने तब सवाल उठाया था कि एक ही सैंपल के दो नंबर कैसे हो सकते हैं. उन्होंने तब ‘द क्विंट’ को दिए इंटरव्यू में कहा था कि ये सैंपल्स उनके थे ही नहीं, IWF ने गड़बड़ की है. उस दौरान चानू ने DNA टेस्ट की भी मांग की थी.

खैर, IWF ने जांच जारी रखी. फिर जनवरी 2019 में उन्होंने संजीता के निलंबन को खत्म कर दिया. उन्हें केस की जांच पूरी होते तक वेटलिफ्टिंग की परमिशन दी गई. और अब करीब डेढ़ साल बाद केस बंद कर दिया.

Sanjita Chanu
संजीता ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2014 में भी 48 किलोग्राम की कैटेगिरी में गोल्ड मेडल जीता था. (फोटो- रॉयटर्स)

क्या कहती हैं संजीता?

‘दी लल्लनटॉप’ ने संजीता चानू से फोन पर बात की. वो इस वक्त मणिपुर में अपने घर पर ही हैं. उनका कहना है कि वो केस बंद होने पर खुश तो हैं, लेकिन वो चाहती हैं कि IWF उनसे माफी मांगे और उन्हें मुआवज़ा भी दिया जाए, क्योंकि सस्पेंशन के कारण वो एक साल तक खेल नहीं पाईं. इस वजह से टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालिफाई करने का सपना अधूरा रह गया. संजीता कहती हैं,

‘मैंने शुरू से ही कहा था कि वो सैंपल मेरे नहीं हैं. मैंने कुछ नहीं खाया था. मुझे चैम्पियनशिप के दौरान पीठ पर चोट लगी थी, उसके लिए मैं वही दवाएं और सप्लिमेंट ले रही थी, जो इंडियन वेटलिफ्टिंग फेडरेशन की तरफ से दी जा रही थीं. अपनी तरफ से मैंने कोई दवा खाई ही नहीं थी. लेकिन मुझे सस्पेंड कर दिया गया. मैं खेल नहीं पाई. एशियन गेम्स 2018 के लिए तैयारी कर रही थी, टोक्यो ओलंपिक में पार्ट लेना चाहती थी. कुछ नहीं कर पाई. मैं चाहती हूं कि IWF माफी मांगे और मुआवज़ा दे.’

संजीता बताती हैं कि दो साल तक उन्होंने बहुत कुछ सहन किया. वो दिन-रात परेशान रहती थीं. सस्पेंशन भले ही जनवरी 2019 में हटा दिया गया था, लेकिन तब तक बडे़ मौके हाथ से जा चुके थे. वो किसी बड़े टूर्नामेंट में पार्ट नहीं ले पाईं.

Sanjita Chanu 2
26 बरस की वेटलिफ्टर का कहना है कि IWF ने टोक्यो ओलंपिक में जाने का मौका छीन लिया.

बुरा लगता था, जब लोग पीठ पीछे गलत बोलते थे

संजीता बताती हैं,

‘लोग मेरे सामने तो मेरा सपोर्ट करते थे, मेरी बातों पर विश्वास करते थे, मान लेते थे कि मैंने कुछ नहीं खाया, लेकिन पीठ पीछे कहते थे कि ज़रूर कुछ खाया होगा. हंसते थे. मां रोती रहती थीं. मुझे घर से निकलने में शर्म आती थी. किसी से बात करने की हिम्मत नहीं होती थी. किसी का फोन भी आता था, तो मैं बात नहीं कर पाती थी.’

संजीता ने सही जांच के लिए मणिपुर में प्रोटेस्ट भी किया था. उनका परिवार भी उनके साथ था, आज भी है. वेटलिफ्टर संजीता अब 26 बरस की हो चुकी हैं और दमदार वापसी की तैयारी कर रही हैं, लेकिन बीते दो साल उन्हें डराते हैं.


वीडियो देखें: इस यूट्यूबर ने केदारनाथ मंदिर को लेकर ऐसा क्या कह दिया कि हत्या की धमकी मिलने लगी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

दूसरी जाति के लड़के से प्रेम किया, तो मां-बाप ने बेटी के खिलाफ इतना बर्बर कदम उठा लिया!

मामला तेलंगाना का है.

जब अनन्या पांडे की बहन से एक औरत ने कहा, 'बिकनी पहनती हो, तुम्हारा गैंगरेप होना चाहिए'

इस तरह के बहुत से कमेंट्स अलाना को अक्सर आते हैं.

मकान मालकिन ज़बरन वेश्यावृत्ति कराना चाहती थी, लड़ाई हुई तो बुरी तरह टॉर्चर करके मार डाला

बंधक बनाया, सिगरेट से दागा, भूखा रखा, बाल काटे, आईब्रो तक शेव कर दी.

अमेरिकी ब्लॉगर ने पाकिस्तान के पूर्व गृहमंत्री रहमान मलिक पर रेप का आरोप लगाया

पूर्व प्रधानमंत्री युसूफ रज़ा गिलानी पर भी छेड़छाड़ और प्रताड़ना का आरोप लगाया.

केरल: पांच साल के बेटे के सामने पति के दोस्तों ने किया गैंगरेप!

केस में पुलिस बच्चे को मुख्य गवाह के तौर पर पेश करेगी.

पंजाबी एक्ट्रेस की फेक चैट वायरल, 'वो वाला' वीडियो वायरल करने की धमकी!

'स्ट्रीट डांसर-3' में दिखने वाली सोनम बाजवा साइबर बुलिंग का शिकार हुईं.

'ईमानदार हूं, इसलिए मेरे खिलाफ झूठी शिकायत की', महिला SHO ने BJP विधायक पर आरोप लगाए

सोशल मीडिया पर राजस्थान पुलिस की इस अधिकारी का लेटर जमकर वायरल.

बेटी से वॉट्सऐप पर बात करते रहे, फिर पुलिस ने बताया- वो साल भर पहले मर चुकी थी

उसकी हत्या कर, सर और हाथ काट, जाने कब फेंका जा चुका था.

नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की भतीजी ने उनके भाई पर यौन शोषण के आरोप लगाए

नवाज़ के बारे में कहा कि उन्हें बताया तो बोले, 'चाचा हैं ऐसा नहीं कर सकते'.

बेटा और पैसा चाहिए था, तो आदमी ने तांत्रिक की सलाह पर बड़ा कांड कर डाला!

पुलिस अब तांत्रिक को भी खोज रही है.