Submit your post

Follow Us

उत्तराखंड: परिवार की मर्जी के खिलाफ शादी की, तो घर के सामने ही गोलियों से भून डाला!

उत्तराखंड का उधम सिंह नगर ज़िला. यहां पर है काशीपुर. यहीं पर एक दंपति की हत्या कर दी गई. कथित तौर पर लड़की के घरवाले इस शादी से खुश नहीं थे, इसलिए उन्होंने ऐसा कदम उठाया.

पूरा मामला क्या है

‘हिंदुस्तान टाइम्स’ में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़, मरने वाले जोड़े का नाम राशिद और नाजिया है. दोनों ने घर से भागकर शादी की थी. इसके बाद वापस भी आ गए थे और राशिद के घर में रह रहे थे. इसी रिपोर्ट के अनुसार, ASP राकेश भट्ट ने बताया-

‘नाजिया के घरवाले इस शादी से खुश नहीं थे. खास तौर पर उसके पिता मुज़म्मिल और भाई मोहसिन इस शादी के सख्त खिलाफ थे. जांच में ये भी पता चला है कि मुज़म्मिल इस बात से ख़ासा नाराज़ था कि नाजिया ने किसी और समुदाय वाले मुस्लिम से शादी की, जिसे उनके परिवार में नीचा माना जाता था. सोमवार रात को जब नाजिया और राशिद नाजिया के घर के सामने से गुज़र रहे थे, तब नाजिया के परिवार वालों ने दोनों पर गोली चला दी. दोनों की मौत हो गई’

रिपोर्ट के अनुसार, राशिद के घरवालों ने पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई है. इस मामले में नाजिया के परिवार वालों में उसके पिता और भाई के साथ-साथ दो मामा- अफसर अली और जौहर अली की भी तलाश जारी है.

7 साल पहले दलित लड़के से लव मैरिज करने वाली लड़की की हत्या हो गई. प्रतीकात्मक तस्वीर. रॉयटर्स.
(प्रतीकात्मक तस्वीर- रॉयटर्स)

इज्जत के नाम पर हत्या

परिवार की मर्ज़ी के खिलाफ शादी या प्रेम-संबंध पर इज्जत के नाम पर कपल्स को मारने की खबरें अक्सर सामने आती हैं. 2019 में राजस्थान विधानसभा में ऑनर किलिंग के खिलाफ बिल पास हुआ. ये संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने पेश किया था. बहस के दौरान धारीवाल ने कहा कि IPC और CrPc की धाराएं ऑनर किलिंग के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पर्याप्त नहीं थीं, इसलिए ये बिल लाया गया. उन्होंने कहा-

‘लोग संकीर्ण मानसिकता से बाहर निकल सकें, इसलिए ये बिल लाया गया. पिछले पांच साल में इस राज्य में, खाप पंचायतों द्वारा दिए गए 71 गैरकानूनी फैसलों के मामले सामने आए हैं. 10 मामले ऑनर किलिंग के थे. इनमें चार आदमी और आठ औरतों को मारा गया था. ये केस पिछले कुछ साल में काफी बढ़े हैं और ये समाज के विकास के लिए रोड़े हैं.’

राजस्थान सरकार के ऑनर किलिंग बिल, 2019 के अनुसार, इस अपराध में आजीवन कैद से लेकर मृत्युदंड तक और पांच लाख रुपए तक का जुर्माना हो सकता है.


वीडियो:रिया के भाई ने बताया, सुशांत को ड्रग की सप्लाई कैसे होती थी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

अंकिता लोखंडे ने सुशांत सिंह राजपूत मामले को लेकर बड़ी बात कह दी!

अंकिता लोखंडे ने सुशांत सिंह राजपूत मामले को लेकर बड़ी बात कह दी!

कल्पना चावला किस बात के लिए ख़बरों में हैं?

सुशांत के जाने के बाद रिया चक्रवर्ती की ये 10 तस्वीरें देखकर सबकुछ साफ़ हो जाता है

सुशांत के जाने के बाद रिया चक्रवर्ती की ये 10 तस्वीरें देखकर सबकुछ साफ़ हो जाता है

समझ जाएंगे कि क्या चल रहा है.

जब महिला खिलाड़ी ने जीत के बाद अपनी टीशर्ट उतार दी, उसकी ब्रा ने इतिहास बना दिया

जब महिला खिलाड़ी ने जीत के बाद अपनी टीशर्ट उतार दी, उसकी ब्रा ने इतिहास बना दिया

ऐसे ही कई किस्सों से भरा है स्पोर्ट्स ब्रा का इतिहास.

13 साल से चल रहा ये टीवी शो आखिरकार बंद होने वाला है!

13 साल से चल रहा ये टीवी शो आखिरकार बंद होने वाला है!

लेकिन ये 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' नहीं है.

12 साल की बच्ची ने पीएम मोदी के नाम जो चिट्ठी लिखी, उसे पढ़कर दिमाग झन्ना जाएगा

12 साल की बच्ची ने पीएम मोदी के नाम जो चिट्ठी लिखी, उसे पढ़कर दिमाग झन्ना जाएगा

ये भी जानिए, टीवी एक्ट्रेस ने क्यों दे दी अपनी जान

रिया चक्रवर्ती को कोसते हुए सुशांत के इस गुनहगार को तो आप भूल ही गए !

रिया चक्रवर्ती को कोसते हुए सुशांत के इस गुनहगार को तो आप भूल ही गए !

इसे नकारा क्यों जा रहा है?

कोई रेप का झूठा आरोप लगाए, तो कानून की मदद किस तरह ली जा सकती है

कोई रेप का झूठा आरोप लगाए, तो कानून की मदद किस तरह ली जा सकती है

बता रहे हैं मामलों के एक्सपर्ट वकील.

सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने वाली एक्टिविस्ट को वैन में उठा ले गए!

सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने वाली एक्टिविस्ट को वैन में उठा ले गए!

और ये महिला किसी की मदद करने के लिए जान पर खेल गईं.

इस महिला के हाथों के बने खिलौने विदेश में भी धूम मचा रहे हैं!

इस महिला के हाथों के बने खिलौने विदेश में भी धूम मचा रहे हैं!

वर्षा प्रियदर्शिनी खबरों में क्यों हैं?

पत्नी प्रेग्नेंट है, लेकिन टीचर बन जाए इसलिए 1200 Km स्कूटी से परीक्षा दिलाने ले गया

पत्नी प्रेग्नेंट है, लेकिन टीचर बन जाए इसलिए 1200 Km स्कूटी से परीक्षा दिलाने ले गया

बाढ़ प्रभावित बिहार को पार करके झारखंड से पहुंचे ग्वालियर.