Submit your post

Follow Us

लखनऊ: दलित युवती से गैंगरेप का आरोप, पुलिस ने केस दर्ज करने में एक महीने लगा दिए!

लखनऊ. यूपी की राजधानी. यहां की पुलिस पर आरोप है कि उसने गैंगरेप का केस दर्ज करने में एक महीने से ज्यादा का समय लगा दिया. 11वीं में पढ़ने वाली दलित छात्रा ने अपनी शिकायत में बताया कि उसे एक सप्ताह बंधक बनाकर रखा गया और उसका गैंगरेप किया गया. और जब वो मामले की शिकायत कराने के लिए थाने गई, तो वहां टालमटोल करके केस दर्ज नहीं किया गया. पर अब घटना के एक महीने बाद पुलिस ने  FIR दर्ज की और दो आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है.

पूरा मामला-

इंडिया टुडे के पत्रकार आशीष श्रीवास्तव की रिपोर्ट के मुताबिक, दलित छात्रा गुडंबा क्षेत्र की रहने वाली है. पिछले महीने यानी 23 अगस्त को विपिन नाम के लड़के ने नौकरी लगवाने के बहाने उसे घर पर डॉक्यूमेंट्स के साथ बुलाया था. और जब दलित छात्रा विपिन के यहां पहुंची, तो वहां पर शकील समेत अन्य तीन व्यक्ति पहले से ही मौजूद थे. छात्रा का आरोप है कि उन सभी ने उसका गैंगरेप किया. एक सप्ताह उसे आरोपियों ने वहीं रखा और फिर वहां से फरार हो गए.

छात्रा के मुताबिक, वो अपने परिवार के साथ थाना गुडंबा के गढ़ी चौकी गई. वहां दारोगा से मामले की शिकायत की, तो उन्होंने टाल दिया. केस दर्ज नहीं किया. आरोप है कि आरोपी विपिन ने छात्रा के घर जाकर केस दर्ज न कराने की धमकी भी दी थी. और तो और इस दौरान छात्रा की बहन से छेड़छाड़ भी की थी. इसके बाद तीन सितंबर को छात्रा ने फिर थाने में शिकायत की. पर कोई सुनवाई नहीं हुई.

रिपोर्ट के मुताबिक, जब हाथरस मामले ने तूल पकड़ा, तो स्थिति की गंभीरता को देखते हुए आला अधिकारियों ने आनन-फानन में दलित छात्रा का मुकदमा दर्ज किया. आरोपी विपिन और शकील को करीब एक महीने बाद गिरफ्तार भी किया.

नॉर्थ जोन की डीसीपी शालिनी ने बताया

लड़की 23 अगस्त को गायब हुई थी. इसके बाद पैरेंट्स ने चौकी पर संपर्क किया था. हालांकि फिर कुछ दिन बाद लड़की मिल गई थी. उसने कुछ समय बाद में ऑफिस में अर्जी दी थी. इसमें तत्काल मुकदमा लिखा गया. एक्शन लेते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया. युवती ने रेप की बात कही है. मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है. 


वीडियो देखें: हाथरस मामला में अब पुलिस का दावा है लड़की के साथ रेप नहीं हुआ

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

दीदी कॉन्ट्रैक्टरः वो आर्किटेक्ट जिसने बिना ट्रेनिंग के ऐसी इमारतें बनाईं कि पूरी दुनिया उन्हें पढ़ती है

दीदी कॉन्ट्रैक्टरः वो आर्किटेक्ट जिसने बिना ट्रेनिंग के ऐसी इमारतें बनाईं कि पूरी दुनिया उन्हें पढ़ती है

दीदी कॉन्ट्रैक्टर का 5 जुलाई को 91 की उम्र में निधन हो गया.

सिंदूर से जुड़े सबसे बड़े झूठ, जिन्हें आप आजतक सच मानकर मांग में भरती आईं

सिंदूर से जुड़े सबसे बड़े झूठ, जिन्हें आप आजतक सच मानकर मांग में भरती आईं

एक चुटकी सिंदूर की कीमत अब जान लीजिए.

अमेरिका के जाते ही अफगानी महिलाओं पर तालिबानी हिंसा शुरू, कई अधिकार छीन लिए गए

अमेरिका के जाते ही अफगानी महिलाओं पर तालिबानी हिंसा शुरू, कई अधिकार छीन लिए गए

इस्लाम के नाम पर अत्याचार को सही ठहराता है तालिबान.

गीता कपूर के काम से ज्यादा उनके सिंदूर और शादी पर बात करने वाले ये कौन लोग हैं?

गीता कपूर के काम से ज्यादा उनके सिंदूर और शादी पर बात करने वाले ये कौन लोग हैं?

फेमस कोरियोग्राफर गीता कपूर का आज हैपी बर्थडे है.

पड़ोसी की बीवी वाले भद्दे कमेंट के लिए दिनेश कार्तिक घेरे गए, माफी मांगनी पड़ी

पड़ोसी की बीवी वाले भद्दे कमेंट के लिए दिनेश कार्तिक घेरे गए, माफी मांगनी पड़ी

मैच की कमेंटरी में कही थी आपत्तिजनक बात.

आमिर-किरण का तलाक हुआ, लोगों ने फातिमा सना शेख को ज़िम्मेदार ठहराकर गंद मचा दी

आमिर-किरण का तलाक हुआ, लोगों ने फातिमा सना शेख को ज़िम्मेदार ठहराकर गंद मचा दी

ट्विटर पर #fatimasanashaikh ट्रेंड होने लगा.

विम्बलडन के 'ऑल-इंडिया मिक्स्ड डबल्स' मैच का रिजल्ट क्या रहा?

विम्बलडन के 'ऑल-इंडिया मिक्स्ड डबल्स' मैच का रिजल्ट क्या रहा?

अंकिता-रामनाथन से जीते या हार गए सानिया-बोपन्ना ?

टोक्यो 2021 जा रहे भारतीय तैराकों की लिस्ट में जुड़ा एक और नाम

टोक्यो 2021 जा रहे भारतीय तैराकों की लिस्ट में जुड़ा एक और नाम

ओलंपिक्स जाने वाली पहली भारतीय महिला तैराक बनीं माना पटेल.

विम्बलडन में सानिया मिर्ज़ा ने की कमाल की वापसी

विम्बलडन में सानिया मिर्ज़ा ने की कमाल की वापसी

विमिंस डबल्स के दूसरे राउंड में पहुंची सानिया.

मेडिकल कॉलेज में लड़कों से ज्यादा लड़कियां हैं, फिर देश में फीमेल डॉक्टर्स की कमी क्यों?

मेडिकल कॉलेज में लड़कों से ज्यादा लड़कियां हैं, फिर देश में फीमेल डॉक्टर्स की कमी क्यों?

डॉक्टर्स डे पर जानिए, इस फील्ड में भी कितना ज्यादा होता है लैंगिक भेदभाव.