Submit your post

Follow Us

हाथरस केस: इस BJP विधायक ने एक बार फिर जहालत भरी बात कर दी है!

मैं विधायक के साथ-साथ शिक्षक हूं. ये घटनाएं संस्कार से ही रुक सकती हैं. शासन और तलवार से रुकने वाला नहीं है. सभी पिता और माता का धर्म है कि अपनी जवान बेटी को एक संस्कारित वातावरण में रहने, चलने और वातावरण में अपना शालीन व्यवहार प्रस्तुत करने का तरीका सिखाएं. और सिखाना चाहिए. सबका धर्म है. अभिभावक का भी धर्म है. मेरा भी धर्म है. सरकार का भी धर्म है. लेकिन परिवार का भी धर्म है. जहां सरकार का रक्षा करने का धर्म है. वहां परिवार का भी धर्म है कि वो अपने बच्चों में संस्कार डाले. तो सरकार और संस्कार मिलकर भारत को सुंदर रूप दे सकता है, नहीं तो कोई दूसरा विधा सामने आने वाला नहीं है.

ये बातें कहीं हैं सुरेंद्र सिंह ने. उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के बैरिया से BJP विधायक हैं. दरअसल, एक पत्रकार ने विधायक सुरेंद्र सिंह से सवाल किया कि

कहा जाता है कि रामराज्य चल रहा है, इस रामराज्य में रेप जैसी घटनाएं आए दिन हो रही हैं, इसका क्या कारण हैं?

इसी पर सुरेंद्र सिंह ने ये बयान दिया. हाथरस कांड का विरोध कर रहे सपा, बसपा और कांग्रेस पर विधायक ने कहा कि ये लोग अपने राजनीतिक फायदे के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं. सुरेंद्र सिंह ने कहा कि दलित हो या ब्राह्मण हो, सबकी बेटी, बेटी ही होती है. सबको सुरक्षा मिलनी चाहिए, लेकिन विपक्षी पार्टी अपने फायदे के लिए दलित की बेटी कहकर समाज को बांटने में लगे हुए हैं. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी लाख कोशिश कर लें उत्तर प्रदेश की जमीन पर कांग्रेस स्थापित होने वाली नहीं हैं.

इनके इस बयान के बाद कवि डॉ. कुमार विश्वास ने ट्वीट किया. और लिखा- 

बड़े से बड़ा पार्टी भक्त इन विधायक जी की जहालत को जस्टिफ़ाई कर के बताए ?कुतर्कों की और सोच की नीचता कहाँ तक है,पता तो चले ?Pouting faceयानी जिन बच्चियों के साथ दुष्कृत्य हुआ उनके परिवार वालों ने बच्चियों को अच्छे संस्कार नहीं दिए ? यह बयान सुनकर आपके मन में पहला विचार किया आया? सच बतानाCrying face

   वहीं, दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालिवाल ने भी ट्वीट किया. उन्होंने लिखा-

यूपी की सत्ता में बैठी पार्टी का विधायक कहता है बलात्कार रोकने हैं तो लड़कियों को संस्कार दो। ऐसी घटिया सोच के लोगों को ऐसे पदों पर बिठाया है इसलिए प्रदेश में बेटियों को नोचा जा रहा है। कोई इस घटिया आदमी से पूछे 3 महीने की बच्चियां जिनका बलात्कार होता है क्या वो भी असंस्कारी हैं?  

 अलका लांबा ने भी ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा-   यूपी कांग्रेस ने भी ट्वीट किया और योगी सरकार पर निशाना साधा. लिखा- 

ये योगी जी के विधायक हैं। देखिए भाजपा कैसा खेल खेलती है। एक तरफ तो ऊपर – ऊपर दिखाने के लिए बोलती है कि कार्रवाई हो रही है। लेकिन अंदर – अंदर अपने लोगों से महिलाओं पर भद्दी टिप्पणी करने, रेप की जिम्मेदारी महिलाओं पर डालने का अभियान चलवाती है।

 

बता दें कि सुरेंद्र सिंह का ये कोई पहला बयान नहीं है, जिसकी वजह से चर्चा में आए हों. इसके पहले कई बयान दे चुके हैं. मार्च, 2019 में उन्होंने मायावती के बारे में टिप्पणी की थी. खुद सुनिए-

इससे पहले अप्रैल, 2018 में कुलदीप सिंह सेंगर रेप केस में भी बयान दिया था. कहा था-

मनोवैज्ञानिक नजरिये से देखें तो तीन बच्‍चों की मां के साथ कोई भला दुष्‍कर्म कैसे कर सकता है? ये विधायक कुलदीप सेंगर के ख़िलाफ साज़िश है. विधायक की पत्नी ने भी कहा है कि लड़की झूठ बोल रही है. कोई बलात्कार नहीं हुआ है. दोनों का नार्को टेस्ट करा लिया जाए, सच सामने आ जाएगा. 

सुरेंद्र सिंह बैरिया विधानसभा के गांव चांदपुर के रहने वाले हैं. मास्टर बनने के बाद एमएड भी कर डाला. इस मास्टरी, पढ़ाई-लिखाई के पहले वो एक और क्लास में जाने लगे थे. संघ की क्लास में. राष्ट्रवाद की शिक्षा लेने. बीएड करते हुए ही प्रचारक का काम भी करते रहे. टीचर बनने के बाद संघ में तहसील कार्यवाह रहे. फिर जिला कार्यवाह का पद मिला. और 2017 में  बलिया जिले के बैरिया से विधायक बन गए.


ये भी पढ़ें: यूपी के उस विधायक की कहानी जिसने कहा,’मायावती फेशियल कराती हैं, हमारे नेताओं को शौक़ीन कहती हैं’


वीडियो देखें : हाथरस: परिवार से मिले डीजीपी और अपर मुख्य सचिव ने SIT की जांच को लेकर क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

बलरामपुर केस: पीड़िता की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में क्या निकला?

दो लड़कों पर 22 साल की दलित लड़की से गैंगरेप का आरोप है.

लखनऊ: दलित युवती से गैंगरेप का आरोप, पुलिस ने केस दर्ज करने में एक महीने लगा दिए!

हाथरस मामले के तूल पकड़ने के बाद जागी पुलिस.

राजस्थान: नाबालिग बहनों का आरोप- तीन दिन तक गैंगरेप हुआ, पुलिस ने कहा कि बयान तो ऐसा नहीं दिया था

राजस्थान की तीन घटनाएं, जो झकझोर देंगी.

बलरामपुर: गैंगरेप के बाद लड़की की हत्या का आरोप, आधी रात को हुआ अंतिम संस्कार

परिवार का कहना है कि ऑफिस से लौट रही लड़की को किडनैप कर दो लोगों ने उसका रेप किया.

हाथरस केस: जिस परिवार ने बेटी खोई, पुलिस उसे अंतिम संस्कार पर ज्ञान दे रही थी

परिवार चाहता था कि अंतिम विदाई से पहले बेटी एक बार घर आ जाए. पुलिस नहीं मानी.

हाथरस केस: परिवार का आरोप, 'जबरन जला दिया बेटी का शरीर, हमें आखिरी बार देखने भी न दिया'

अंतिम संस्कार के वक्त परिवार वाले मौजूद नहीं थे.

हाथरस: कथित गैंगरेप के बाद लड़की को इतना पीटा कि रीढ़ टूट गई, 15 दिन तड़पने के बाद मौत

गर्दन, स्पाइनल कॉर्ड, सब जगह गहरी चोट लगी थी.

वेब सीरीज में काम दिलाने के बहाने तस्वीरें मंगवाता, फिर ब्लैकमेल करता था

आरोपी ने सोशल मीडिया पर कई फेक प्रोफाइल्स बना रखी थीं.

आरोप-लड़का है या लड़की, पता करने के लिए आठ महीने की गर्भवती का पेट चीर दिया

आरोपी की पांच बेटियां हैं.

जिस किशोरी की हत्या के आरोप में छह लोगों को जेल हुई, वो 12 साल बाद जिंदा मिली है!

उस समय मां ने ही शव की पहचान की थी.