Submit your post

Follow Us

रेपिस्ट को पकड़वाने के लिए इस महिला ने बेहद सूझ-बूझ वाला काम किया

पुणे जाने के लिए एक महिला ने ट्रक से लिफ्ट ली. उस ट्रक वाले ने केबिन में महिला का रेप किया. उसके बाद उसे सड़क किनारे छोड़ दिया. लेकिन महिला की सूझ-बूझ ने उस ड्राइवर को पकड़वा दिया.

क्या है पूरा मामला?

‘हिंदुस्तान टाइम्स’ में छपी रिपोर्ट के अनुसार, महिला की कुछ महीने पहले शादी हुई थी. महिला उत्तर प्रदेश से है और उसका पति पुणे में मजदूरी करता है. वो रविवार 14 जून को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से मुंबई आई थी.

पनवेल पुलिस स्टेशन के एक अधिकारी  के मुताबिक़,

‘महिला अपने पति से पिछले चार महीनों से मिल नहीं पाई थी. इसलिए उन्होंने पुणे में मिलना तय किया. मुंबई आकर वो अपने एक रिश्तेदार के यहां रुकी थी. उसने उसे बताया कि वो कल्याण होते हुए पनवेल जाए और कोई भी वहां उसे पुणे के लिए लिफ्ट दे देगा.

बुधवार, 17 जून की आधी रात के आस-पास वो कलम्बोली जंक्शन पहुंची. वहीं विकास सिंह नाम के ट्रक ड्राइवर ने उसे पुणे तक लिफ्ट देने की पेशकश की. लेकिन महिला को पुणे ले जाने की बजाए वो उरण नाम की जगह के पास ले गया और वहां ट्रक पार्क कर दिया. इसके बाद महिला का रेप किया. महिला ने उसकी उंगली काटकर उसे रोकने की कोशिश भी की. ट्रक ड्राइवर उसे एक सुनसान इलाके में छोड़ गया.

पुलिस ऑफिसर ने बताया,

‘जगह दूर थी, लेकिन महिला ने दिमाग लगाया और ट्रक का नंबर अपने मोबाइल में नोट कर लिया. 100 नंबर पर फोन किया और ड्यूटी पर तैनात ऑफिसर को अपनी लोकेशन बताई.’

इसके बाद महिला को अस्पताल ले जाया गया मेडिकल जांच के लिए. जब पुलिस को ट्रक का नंबर मिला, तो उन्होंने वेस्टर्न रेलवे के वेयरहाउस में चेक किया. विकास सिंह वहां अपने ट्रक में ही था. लेकिन पुलिस के वहां पहुंचने पर उसने भागने की कोशिश की. लगभग 45 मिनट तक ट्रक का पीछा करने के बाद पुलिस ने उसे पकड़ लिया.

फिलहाल विकास सिंह हिरासत में है. उस पर  भारतीय दंड संहिता की धारा 376 (बलात्कार) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.


वीडियो: तमिलनाडु: लड़की का नहाते हुए वीडियो बनाकर ब्लैकमेल किया, तो उसने खुद को जला लिया 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

सुशांत की एक्स गर्लफ्रेंड अंकिता को उनकी मौत का ज़िम्मेदार बताने वाले इस पोस्ट को पढ़ लें

अंकिता को खूब ट्रोल किया गया, भद्दी-भद्दी बातें कही गई.

सुशांत सिंह राजपूत का एक बड़ा सच ये था, जिससे हम मुंह नहीं मोड़ सकते

फिर चाहे हम फिल्म इंडस्ट्री को कितना भी ब्लेम कर लें.

क्या है ये BPET, जिसमें भारतीय सेना ने महिला अफसरों के लिए नौ साल पुराना नियम बदल दिया?

और कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी ये टेस्ट क्लियर करने के लिए.

केंद्र सरकार का नाम लेकर इस झूठी योजना के बहाने पैसे ऐंठ रहे हैं ठग

आखिर किस तरह दिया जा रहा है झांसा?

कोरोना: अपने बीमार पति को तलाश रही महिला ने दिल्ली के बड़े अस्पताल पर लगाया गंभीर आरोप

महिला के पति कोरोना पॉजिटिव.

लॉकडाउन के दौरान पुरुषों के मुकाबले ज्यादा नौकरियां खो रही हैं महिलाएं?

नई स्टडी तो यही कहती है.

दलितों के नाम पर पैसा पीट रही थी ये कंपनी, लोगों ने आईना दिखा दिया

इसके बाद से माफ़ी मांगने का दौर जारी है.

क्या ये वेबसाइट, गे मैरिज अरेंज कराने के नाम पर समलैंगिकों को ठग रही है!

इस साइट के पीछे क्या चल रहा है? सीईओ ने हमें कोई जवाब नहीं दिया.

क्या जान-बूझकर तोड़ी गईं इस एथलीट की टोक्यो ओलंपिक की उम्मीदें?

दो साल बाद डोपिंग का केस बंद हुआ.

वीडियो कॉल के दौरान एक ट्रिक आपको घरेलू हिंसा से बचा सकती है

वायरल है ये तरीका.