Submit your post

Follow Us

अकेले में रोती सिंधु से कोच ने ऐसा क्या कहा कि मेडल ले आईं?

पी.वी. सिंधु. भारत की स्टार बैडमिंटन प्लेयर. दो ओलम्पिक्स में लगातार दो मेडल घर लाने वाली सिर्फ दूसरी भारतीय खिलाड़ी. पी.वी. सिंधु का मानना है कि वो अपने कोच की वजह से ही अपना दूसरा ओलम्पिक मेडल ला पाईं हैं. लेकिन उनके करियर में माता-पिता का रोल सबसे अहम रहा है. सिंधु मानती हैं कि वो बहुत खुशकिस्मत हैं क्योंकि उनके माता-पिता भी स्पोर्टस जगत से नाता रखते हैं और हार को बड़े अच्छे से समझते हैं.

माता-पिता के रोल को अहम मानने वाली सिंधु के पिता पी.वी रमन्ना पूर्व वॉलीबॉल खिलाड़ी रह चुके है. पी.वी रमन्ना, उस भारतीय टीम का हिस्सा थे जिसने 1986 के एशियन गेम्स में ब्रांज मेडल जीता था. पिता के साथ ही उनकी मां विजया भी नेशनल लेवल पर वॉलीबॉल खेल चुकी हैं. उनके पिता पी.वी रमन्ना को साल 2000 में अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया था. रियो ओलम्पिक में सिल्वर और टोक्यो ओलम्पिक में ब्रांज मेडल जीतने वाली सिंधु ने अपने माता-पिता से मिलने वाले इसी सपोर्ट के बारे में बात की है.

आज तक के जय हो कॉनक्लेव में सिंधु ने कहा,

“मैं बहुत खुशकिस्मत हूं कि मेरे माता-पिता भी खिलाड़ी रह चुके हैं. उनके पास इतने सालों का अनुभव है और वो समझते हैं कि हार कैसी होती है. इसलिए मैं वास्तव में उस तरह से काफी भाग्यशाली हूं.”

सिंधु ने अपने बैडमिंटन करियर पर भी बात की. उन्होंने बताया,

”मेरे पिता रेलवे के मैदान (हैदराबाद) में खेलते थे. उस स्टेडियम के ठीक साइड में बैडमिंटन की सुविधा थी और मैंने वहां मनोरंजन के लिए खेलना शुरू किया था. धीरे-धीरे यह मेरा जुनून बन गया. ऐसा भी नहीं है कि मेरे माता-पिता ने मुझे इसे शुरू करने के लिए कहा था.”

अब आपको बताते हैं सिंधु की हौसला अफजाई करने वाले उस शख्स के बारे में. जिनकी नसीहत सुनकर ही सिंधु ब्रांज मेडल मैच के लिए तैयार हो पाईं और देश के लिए मेडल ला पाईं.

# रोती हुई सिंधु कोच की किस बात से हुईं मेडल के लिए तैयार

टोक्यो ओलम्पिक में पी.वी सिंधु ने पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया था. लेकिन अपने सेमी-फाइनल मुकाबले में चाइनीज ताइपे की ताई-जू-यिंग के हाथों उनको हार का सामना करना पड़ा. इस हार के बाद सिंधु खूब रोईं, वो टूट गई थीं. लेकिन उस समय ही कोच ने उनको एक गुरु मंत्र दिया, जिसकी वजह से वो मैच के लिए तैयार हो पाईं. कोच पार्क-ते-सेंग ने कहा,

”चौथे आने में और ब्रॉन्ज लाने में फर्क होता है.”

बस कोच के इन्हीं मोटिवेशनल शब्दों से सिंधु ने देश के लिए ब्रॉन्ज़ मेडल जीत लिया. सिंधु ने इस मेडल का क्रेडिट अपने कोच को दिया. उन्होंने बताया कि वो अभी साउथ कोरिया के लिए रवाना नहीं हुए है, वो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने के लिए काफी उत्साहित हैं.

”मुझे मेडल दिलाना उनका भी सपना था. वह अभी तक घर नहीं गए हैं, वह प्रधानमंत्री से मिलने के लिए बहुत उत्साहित हैं.”

सिंधु ने इसके साथ ही सरकार और संगठनों से मिले सहयोग की तारीफ की है. उन्होंने कहा,

”जब ऐसा होता है तब कोई भी खिलाड़ी ज्यादा उत्साहित महसूस करता है. मुझे इस बात की खुशी रहती है कि कई लोग मेरी फ्रिक करते हैं, मेरे लिए अच्छा सोचते हैं.”

अब सिंधु 2024 में पेरिस में होने वाले ओलम्पिक्स पर फोकस कर रही हैं, वो वहां से भी भारत के लिए मेडल लाना चाहती हैं.


उस दिन सचिन तेंडुलकर अगर शोएब अख्तर की वजह से गिर जाते तो क्या होता?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

यूपी: नाबालिग ने 28 पर किया गैंगरेप का केस, FIR में सपा-बसपा के जिलाध्यक्षों के भी नाम

यूपी: नाबालिग ने 28 पर किया गैंगरेप का केस, FIR में सपा-बसपा के जिलाध्यक्षों के भी नाम

पिता के अलावा ताऊ, चाचा पर भी लगाए गंभीर आरोप.

कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद बेटी ने आतंकियों को 'कुरान का संदेश' दे दिया!

कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद बेटी ने आतंकियों को 'कुरान का संदेश' दे दिया!

श्रद्धा बिंद्रू ने आतंकियों को किस बात के लिए ललकारा है?

बिहार: महिला चिल्लाती रही, लोग बदन पर हाथ डालते रहे; वीडियो भी वायरल किया

बिहार: महिला चिल्लाती रही, लोग बदन पर हाथ डालते रहे; वीडियो भी वायरल किया

बिहार की पुलिस ने क्या एक्शन लिया?

महिला अफसर के यौन उत्पीड़न का ये मामला है क्या जिसके छींटे वायु सेना पर भी पड़े हैं?

महिला अफसर के यौन उत्पीड़न का ये मामला है क्या जिसके छींटे वायु सेना पर भी पड़े हैं?

आरोपी अफसर पर बलात्कार से जुड़ी धारा 376 लगी है.

परिवार ने पूरे गांव के सामने पति-पत्नी की हत्या कर दी, 18 साल बाद फैसला आया है

परिवार ने पूरे गांव के सामने पति-पत्नी की हत्या कर दी, 18 साल बाद फैसला आया है

कोर्ट ने एक को फांसी और 12 लोगों को उम्रकैद की सज़ा दी है.

असम से नाबालिग को किडनैप कर राजस्थान में बेचा, जबरन शादी और फिर रोज रेप की कहानी

असम से नाबालिग को किडनैप कर राजस्थान में बेचा, जबरन शादी और फिर रोज रेप की कहानी

नाबालिग 15 साल की है और एक बच्चे की मां बन चुकी है.

डोंबिवली रेप केसः 15 साल की लड़की का नौ महीने तक 29 लोग बलात्कार करते रहे

डोंबिवली रेप केसः 15 साल की लड़की का नौ महीने तक 29 लोग बलात्कार करते रहे

नौ महीने के अंतराल में एक वीडियो के सहारे बच्ची का रेप करते रहे आरोपी.

यौन शोषण की शिकायत पर पार्टी से निकाला, अब मुस्लिम समाज में सुधार के लिए लड़ेंगी फातिमा तहीलिया

यौन शोषण की शिकायत पर पार्टी से निकाला, अब मुस्लिम समाज में सुधार के लिए लड़ेंगी फातिमा तहीलिया

रूढ़िवादी परिवार से ताल्लुक रखने वाली फातिमा पेशे से वकील हैं.

रेप की कोशिश का आरोपी ज़मानत लेने पहुंचा, कोर्ट ने कहा- 2000 औरतों के कपड़े धोने पड़ेंगे

रेप की कोशिश का आरोपी ज़मानत लेने पहुंचा, कोर्ट ने कहा- 2000 औरतों के कपड़े धोने पड़ेंगे

कपड़े धोने के बाद प्रेस भी करनी होगी. डिटर्जेंट का इंतजाम आरोपी को खुद करना होगा.

स्टैंड अप कॉमेडियन संजय राजौरा पर यौन शोषण के गंभीर आरोप, उनका जवाब भी आया

स्टैंड अप कॉमेडियन संजय राजौरा पर यौन शोषण के गंभीर आरोप, उनका जवाब भी आया

इस मामले पर विक्टिम और संजय राजौरा की पूरी बात यहां पढ़ें.