Submit your post

Follow Us

TikTok ने फैज़ल सिद्दीकी को ऐसी सज़ा दी कि सबकी अक्ल ठिकाने आ जाएगी

टिकटॉक स्टार फैज़ल सिद्दीकी. इनके 1 करोड़ 30 लाख फॉलोअर्स को अब इनका टिकटॉक वीडियो नहीं दिखेगा. क्योंकि फैज़ल का अकाउंट बंद हो चुका है. ‘बिज़नेस इनसाइडर’ की रिपोर्ट के मुताबिक, टिकटॉक ने खुद फैज़ल का अकाउंट सस्पेंड किया है. टिकटॉक के प्रवक्ता कहते हैं,

‘हमारी प्राथमिकता ये है कि टिकटॉक पर हम लोगों को सुरक्षित रखें. हमने अपनी सर्विस और कम्युनिटी गाइडलाइन्स में भी साफ तौर पर ये लिखा है. बताया है कि क्या स्वीकार नहीं किया जा सकता. पॉलिसी के आधार पर हम ऐसे कॉन्टेंट को अलाऊ नहीं कर सकते, जो लोगों की सुरक्षा को खतरे में डालता हो, औरतों पर होने वाले शारीरिक हमले और हिंसा को प्रमोट करता हो. इसलिए हमने उस  अकाउंट को सस्पेंड कर दिया और लॉ एनफोर्समेंट एजेंसियों के साथ काम कर रहे हैं.’

इस बयान के अलावा टिकटॉक ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर भी स्टेटमेंट डाला. लिखा,

‘टिकटॉक की सबसे पहली प्राथमिकता सुरक्षित और सकारात्मक वातावरण बनाना है. हमारी गाइडलाइन्स में साफ लिखा है कि हमारा प्लेटफॉर्म किस कॉन्टेंट को स्वीकार करेगा और किसे नहीं. हम अपने यूज़र्स से उम्मीद करते हैं कि वो इसका पालन करें. पिछले दिनों हमने ऐसे कई कॉन्टेंट हटाए हैं, जो हमारी पॉलिसी का उल्लंघन करते हैं. यूज़र्स के अकाउंट सस्पेंड किए हैं.’

इसके बाद टिकटॉक पर क्या किया जा सकता है और क्या नहीं, इसकी भी एक लिस्ट डाली.

कॉन्टेट को कैसा होना चाहिए?

– क्रिएटिविटी दिखाएं और खुशियां लाएं
– ग्लोबल कम्युनिटी के साथ सच्चा और अर्थपूर्ण संबंध बनाएं
– सभी यूज़र्स और ग्रुप्स के लिए सुरक्षित और सहयोग देने वाला वातावरण बनाएं

कॉन्टेंट कैसा नहीं होना चाहिए?

– गैरकानूनी और खतरनाक गतिविधियों को सपोर्ट करने वाला.
– किसी भी प्राणी, फिर चाहे वो आदमी, औरत, बच्चे या फिर जानवर हों, उनके खिलाफ शारीरिक हिंसा को प्रमोट करने वाला.
– जिसमें किसी व्यक्ति या समूह पर हमला दिखाया गया हो, या हमले को सपोर्ट किया गया हो.
– खुद की और दूसरी को जान को खतरा हो जाए, ऐसा कॉन्टेंट न हो. इनमें प्रैंक्स (मज़ाक) भी शामिल हैं.
– ड्रग्स जैसी किसी प्रतिबंधित चीज़ का के इस्तेमाल या व्यवसाय को दिखाया जाए.

ऐसे ही कुछ प्रतिबंध टिकटॉक ने यूज़र्स के कॉन्टेंट पर लगाए हैं. इसके अलावा ये भी कहा कि टिकटॉक क्रिएटिविटी को सेलिब्रेट और एक्सप्रेस करने का प्लेटफॉर्म है.

फैज़ल पर क्या आरोप लगा था?

‘एसिड अटैक’ को बढ़ावा देने का आरोप लगा था. बीते दिनों उनका एक वीडियो आग की तरह फैला. इसमें वो एक लड़की के ऊपर कोई लिक्विड फेंकते दिख रहे हैं. वीडियो वायरल होने पर लोगों ने कहा कि फैज़ल ‘एसिड अटैक’ को प्रमोट कर रहे हैं. राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी एक्शन लिया. टिकटॉक से फैज़ल के अकाउंट को बैन करने की मांग की. पुलिस से केस दर्ज करने को कहा.

इधर फैज़ल ने कहा कि उन्होंने ‘एसिड अटैक’ के प्रमोशन में कोई वीडियो नहीं बनाया है. जो वीडियो वायरल हो रहा है, वो अधूरा है. फैज़ल ने इंस्टाग्राम पर पूरा वीडियो भी डाला. जिसमें वो उस लिक्विड को पीते हुए भी दिख रहे थे. उन्होंने कहा कि वो पानी था. एसिड नहीं था. कोई भला एसिड को कैसे पी सकता है?

खैर, फैज़ल की सफाई काम न आई. सोशल मीडिया पर बैनटिकटॉक ट्रेंड करने लगा. उनके अकाउंट को सस्पेंड करने की मांग लगातार बढ़ती गई. फिर अब उनका अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें-

टिक टॉक स्टार फैज़ल सिद्दीकी पर बॉलीवुड गुस्से से तमतमा उठा

एसिड अटैक को बढ़ावा देने के आरोप पर क्या बोले टिक टॉक स्टार फैज़ल सिद्दीकी


वीडियो देखें: Tik Tok स्टार फैज़ल सिद्दीकी ने अपने वायरल वीडियो को लेकर क्या सफाई दी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

दो लड़कियां रिलेशनशिप में थीं, घरवाले खिलाफ थे, तो मजबूर होकर भयानक फैसला कर लिया!

कुछ महीने पहले करीबी दोस्ती की वजह से काम से निकाल दिया गया था.

लड़के को किस करते हुए दो बहनों का वीडियो वायरल हुआ, परिवारवालों ने दोनों को मार डाला

पिता-चाचा पर सबूत छिपाने का आरोप.

एम्बुलेंस ड्राइवर ने पहले 'हेलो सिस्टर्स' कहकर रोका, फिर भद्दी बातें बोलने लगा

तमिलनाडु के कोयम्बटूर में मणिपुरी लड़कियों ने नस्लभेद की शिकायत की.

क्वारंटीन सेंटर में पहले महिला का वीडियो बनाया, फिर ब्लैकमेल करने की कोशिश की

गांव के ही दो आदमियों पर आरोप लगा है.

मंदिर के पुजारियों ने दो औरतों को बंधक बनाया, कई दिन तक लगातार रेप करते रहे

घटना अमृतसर के मंदिर के एक आश्रम की है.

घरवालों के खिलाफ जाकर शादी की, अब कपल कह रहा- हमारी जान बचा लो

लड़की ने वीडियो जारी कर कहा- हम जैसे हैं, वैसे ठीक हैं. हमें छोड़ दो.

अश्लील फोटो फैलाने वालों पर कोई एक्शन नहीं हुआ, तो BJP की महिला नेता ने ट्विटर पर इंसाफ मांगा

ट्विटर पर जब महिला नेता का नाम ट्रेंड हुआ, तब पुलिस ने झटपट काम किया.

मां को बहाने से निर्वस्त्र करवा न्यूड तस्वीरें वायरल कर दीं

बुजुर्ग महिला को रिश्तेदारों से पता चला कि उसकी तस्वीरें वायरल हुई हैं.

यौन उत्पीड़न और जान से मारने की धमकी मिलने से परेशान नाबालिग ने खुद को आग लगाई

पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की. पांच आरोपी गिरफ्तार.

राशन देने का झांसा देकर महिला मजदूर से रेप के आरोप में पुलिसवाला गिरफ्तार

मामला हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर का है.