Submit your post

Follow Us

पति से दूर मायके में रह रही थी, तीन लड़कों ने घर में घुसकर परिवार के सामने रेप किया

बिहार में एक ज़िला है गया. यहां के एक गांव से गैंगरेप का एक मामला सामने आया है. यहां तीन लड़कों ने घर में घुसकर आधी रात को एक औरत का गैंगरेप किया. वो भी उसके परिवार वालों के सामने. ये घटना 7 अक्टूबर की रात की है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, जिस औरत का गैंगरेप हुआ, वो शादीशुदा थी. उसकी अपने पति से तनातनी चल रही थी, इसलिए मायके में रह रही थी. 7 अक्टूबर की रात तीन लड़कों ने उसके घर में घुसने की कोशिश की. नाकाम हुए तो खिड़की तोड़कर अंदर घुस गए. घर में मौजूद लोगों को बंधक बनाया और उन सबके सामने उस औरत का गैंगरेप किया. औरत ने जब इसका विरोध किया, तो उसे पीटा भी.

घटना के बाद घरवालों ने इस बात की जानकारी गांव के बाकी लोगों को दी. गांववालों ने मिलकर औरत को अस्पताल में भर्ती कराया. जहां इस वक्त उसका इलाज चल रहा है. वहीं मामले की जानकारी पुलिस को दी गई. पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया. औरत का बयान लिया. उसके बयान के बाद पुलिस ने पड़ताल की. तीन में से दो लड़कों की गिरफ्तारी हो चुकी है. तीसरा लड़का अभी भी फरार है. उसे खोजा जा रहा है.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

जस्टिस भानुमती : रात ढाई बजे कोर्ट खोलकर निर्भया के दोषियों को फांसी तक पहुंचाने वाली जज

इससे पहले भी कई महत्वपूर्ण फैसले सुना चुकी हैं.

सीमा कुशवाहाः पायल बेचकर कॉलेज की फीस भरी थी, अब निर्भया के दोषियों को फांसी तक पहुंचा दिया

असल में चर्चा एपी सिंह के बजाए इस वकील की होनी चाहिए.

आज निर्भया होती तो इतने दिन में उसने ये बड़ी घटनाएं देख ली होतीं

गैंगरेप से दोषियों की फांसी तक इंडिया, 17 तस्वीरों में.

क्या है रेप के खिलाफ बना दिशा कानून जिसमें POCSO से भी कड़े नियम हैं?

सबूत पक्का तो 21 दिन में मिलेगी फांसी की सज़ा.

इस औरत को लगा इंजेक्शन सही निकला तो पूरी दुनिया कोरोना वायरस से बच जाएगी

ये बहादुर महिला खुदपर ट्राय करवा रही है कोरोना का पहला संभावित टीका.

रात के 3 बजे घने जंगलों में मीट के टुकड़े लेकर बाघ पकड़ने वाली अफ़सर से मिलिए

इसलिए कि उन जानवरों को बेहतर जीवन मिल सके.

कोरोना तो उम्मीद है एक दिन चला जाएगा, आपके इनबॉक्स में आई बकवास का क्या इलाज है?

ह्यूमर के नाम पर कुछ भी ठेले जा रहे हैं.

एक दशक पुरानी लड़ाई के बाद नेवी में औरतों को अब आदमियों की बराबरी का हक मिला

सुप्रीम कोर्ट ने कहा- परमानेंट कमीशन में जेंडर के आधार पर भेदभाव न हो.

करीना कपूर वहां कामयाब होने में व्यस्त थीं, लोग यहां उनके ब्रेस्ट का मज़ाक उड़ाने में

ज़हरीली ज़ुबान वालों से आम लड़कियां कुछ कहना चाहती हैं.

वो छोटी सी गलती, जिसकी वजह से कल्पना चावला धरती और अंतरिक्ष के बीच खो गईं

अपना नाम रखने वाली कल्पना, जो अंतरिक्ष को अपना सबकुछ मानती थी.