Submit your post

Follow Us

सानिया मिर्ज़ा ने बताया स्पोर्ट्स में आगे क्यों नहीं आ पातीं भारतीय महिलाएं

सानिया मिर्ज़ा. इंडियन विमिन स्पोर्ट्स की पोस्टरगर्ल. सानिया ने जब खेलना शुरू किया तब भारत में महिलाओं के लिए स्पोर्ट्स में करियर बनाना आसान नहीं था. लेकिन अब हालात दूसरे हैं. अब क्रिकेट से इतर देखें तो लगभग सभी स्पोर्ट्स में महिलाओं के दबदबा है. सानिया आज के हालात पर गर्व महसूस करती हैं.

जिस तरह से महिलाएं स्पोर्ट्स में छा गई हैं. सानिया उससे काफी खुश हैं लेकिन, उनका मानना है कि अभी महिलाओं के लिए स्पोर्ट्स को नैचुरल करियर के रूप में देखने में कुछ और पीढ़ियां लगेंगी.

छह ग्रैंड स्लैम टाइटल जीत चुकी सानिया ने ऑल इंडिया टेनिस असोसिएशन और स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) के एक वेब सेमिनार में ये बातें कहीं.

# मुश्किल है सफर

उन्होंने कहा,

‘मुझे इस बात पर बहुत गर्व महसूस होता है कि क्रिकेट के अलावा, सारे बड़े स्पोर्ट्स की स्टार महिलाएं हैं. यह एक बड़ा कदम है. मुझे पता है कि एक महिला के लिए स्पोर्ट्स को करियर बनाना कितना मुश्किल है. चीजें बदली हैं. लेकिन हमें अभी वहां तक पहुंचने के लिए काफी सफर तय करना है जब कोई लड़की बॉक्सिंग ग्लव्स, या बैडमिंटन रैकेट उठा ले या फिर यह कह सके- मैं एक पहलवान बनना चाहती हूं.’

इस सेशन के दौरान सानिया से यह भी पूछा गया कि लड़कियां क्यों 15-16 की उम्र तक आते-आते टेनिस छोड़ देती हैं? इसके जवाब में सानिया ने कहा कि इसके पीछे गहरे धंसे हुए सांस्कृतिक कारण जिम्मेदार हैं. सानिया ने कहा,

‘विश्व के इस कोने में स्पोर्ट्स मां-बाप तक नैचुरली नहीं आता. वे चाहते हैं कि उनकी बेटी डॉक्टर, वकील, टीचर बने ना कि एथलीट. पिछले 20-25 साल से, जबसे मैंने टेनिस खेलना शुरू किया, चीजें काफी बदली हैं लेकिन अभी भी रास्ता लंबा है.’

हाल के सालों में भारत में कई महिला एथलीट्स सामने आई हैं. पीवी सिंधु और साइना नेहवाल जैसी दिग्गज बैडमिंटन प्लेयर. छह बार की वर्ल्ड चैंपियन बॉक्सर मेरी कॉम तो पहले से थी हीं. एशियन गेम्स चैंपियन रेसलर विनेश फोगाट, पूर्व विश्व चैंपियन वेटलिफ्टर मीराबाई चानू. जैसे नाम इनमें शामिल हैं. लेकिन सानिया के मुताबिक अब भी चीजें आसान नहीं हैं.

उन्होंने कहा,

‘लड़कियों के लिए कुछ नियम तय हैं. सबकुछ हासिल करने के बाद भी मुझसे पूछा जाता था कि मैं बच्चा कब पैदा करूंगी, जैसे कि अगर मैं बच्चा ना पैदा करूं तो मेरा जीवन ही नहीं पूरा होगा.’

सानिया ने कहा कि उन्हें अपने करियर में कई समस्याओं से जूझना पड़ा. लेकिन उनके माता-पिता के मजबूत समर्थन ने सफल होने में उनकी काफी मदद की.


सानिया मिर्ज़ा ने कोरोना के बाद खेल की दुनिया में आने वाले बदलावों पर क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

अस्पताल के कर्मचारियों पर आरोप- डिलीवरी के बाद महिला का यौन शोषण किया

दूध की टेस्टिंग के लिए महिला को सैंपल देना था.

बॉयज़ लॉकर रूम: विक्टिम ने बताया, लड़कों के घरवाले शिकायत वापस लेने को कह रहे हैं

इंस्टाग्राम के इस ग्रुप के चैट वायरल होने के बाद छानबीन शुरू.

अफेयर का शक था, इसलिए पुलिसवाले ने कॉन्स्टेबल पत्नी को गोली से उड़ा दिया

अगले दिन कुछ ऐसा हुआ, जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की थी.

जामिया की सफ़ूरा के अजन्मे बच्चे को 'नाजायज़' कहने वालों की अब खैर नहीं!

दिल्ली महिला आयोग ने पुलिस के सामने तीन मांगें रखी हैं.

'बॉयज़ लॉकर रूम' में लड़कियों का रेप प्लान करने वाले लड़कों का भांडा कैसे फूटा?

इस इंस्टाग्राम ग्रुप के एडमिन को दिल्ली पुलिस की साइबर क्राइम सेल ने गिरफ्तार किया है.

'गर्ल्स लॉकर रूम': लड़कियों की चैट वायरल, जिसमें लड़कों की नग्न तस्वीरें शेयर होती थीं

पहले 'बॉयज़ लॉकर रूम' के चैट्स वायरल हुए थे.

बिहार: तीन बूढ़ी औरतों को पंचायत ने वो 'सज़ा' दी, जिसे सुनकर इंसानियत शर्मसार हो जाए!

तीन बूढ़ी औरतें घर छोड़ने पर मजबूर हुईं.

बनारस में महिला पत्रकार ने सुसाइड किया, नोट में स्थानीय SP नेता को ज़िम्मेदार बताया

आरोपी SP नेता इस वक्त पुलिस की हिरासत में है.

बॉयज लॉकर रूम: गैंगरेप का प्लान बना रहे लड़के दिल्ली के नामी स्कूलों में पढ़ते हैं

इंस्टाग्राम के इस ग्रुप में लड़कियों से जुड़ी और भी भद्दी बातें होती थीं.

'बॉयज़ लॉकर रूम': नाबालिग स्कूली लड़कों का ग्रुप, जहां गैंगरेप के प्लान बनते हैं

ये कोई गुंडे नहीं, साउथ दिल्ली के स्कूली बच्चे हैं.