Submit your post

Follow Us

दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे, महिला ने वीडियो बनाया, जी-मेल में सबूत रखकर फांसी लगा ली

तमिलनाडु का एक कस्बा है विरुधाचलम. कुड्डालोर जिले में आता है. यहां एक महिला ने सुसाइड कर लिया. उसने सुसाइड से पहले वीडियो भी बनाया. जो अब वायरल हो रहा है. इस वीडियो में वह बता रही हैं कि किस तरह उन्हें उनके ससुरालवाले दहेज के लिए टॉर्चर करते थे.  उसी से परेशान होकर वो आत्महत्या कर रही हैं. वीडियो सामने आने और पीड़िता के परिवारवालों की शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी पति, सास और ससुर को गिरफ्तार कर लिया है. मामले की जांच कर रही है.

शोभना. (फोटो सोर्स: अक्षया नाथ, इंडिया टुडे)
शोभना. (फोटो सोर्स: अक्षया नाथ, इंडिया टुडे)

दहेज में क्या मिला था?

इस मामले की जानकारी के लिए हमने ‘इंडिया टुडे’ की रिपोर्टर अक्षया मेहता से बात की. उन्होंने बताया कि महिला का नाम शोभना था. उनकी उम्र 26 साल थी. दो साल पहले यानी 2018 में 28 साल के विजयकुमार से शादी हुई थी. उन दोनों का एक डेढ़ साल का बेटा भी है. उसका नाम विशोत है. शादी के दौरान शोभना के परिवारवालों ने दहेज में 50 पाउंड सोने के गहने, 2 लाख कैश और बाकी जरूरत का सामान दिया था.

आरोपी पति विजयकुमार. (फोटो सोर्स: अक्षया नाथ, इंडिया टुडे)
आरोपी पति विजयकुमार. (फोटो सोर्स: अक्षया नाथ, इंडिया टुडे)

पुलिस का क्या कहना है?

विजयकुमार ने BE यानी बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग में पढ़ाई की थी. उसके बाद चेन्नई के एक IT कंपनी में काम करता था. पुलिस के मुताबिक, विजयकुमार की नौकरी कोरोना महामारी के कारण छूट गई थी. और वो शोभना पर मायके से और दहेज लाने का दबाव बना रहा था. और जब उसने ऐसा नहीं किया, तो विजयकुमार और उसके मम्मी-पापा ने शोभना के साथ बुरा बर्ताव करना शुरू कर दिया. भद्दी बातें कहने लगे.

आरोपी पति विजयकुमार और उसके माता-पिता. (फोटो सोर्स: अक्षया नाथ, इंडिया टुडे)
आरोपी पति विजयकुमार और उसके माता-पिता. (फोटो सोर्स: अक्षया नाथ, इंडिया टुडे)

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान जब लोगों की नौकरी जा रही थी, तभी विजयकुमार की भी नौकरी चली गई. तब इसने और इसकी मां सेल्वारानी (45) और पिता अनाबलगन (53) ने पैसों के लिए शोभना को टॉर्चर करना शुरू कर दिया. इतना ही नहीं, विजयकुमार किसी दूसरी महिला के साथ भी रिलेशन में था. और शोभना को शक था कि दूसरी महिला को घर में लाने के लिए उसे निकालने का प्रयास किया जा रहा है.

जांच अधिकारी का कहना है कि शोभना की मां ने इस बात की पु्ष्टि की है कि विजयकुमार की मांग के मुताबिक, शोभना ने उनसे ज्यादा सोने की डिमांड की थी. साथ ही कई बार बताया भी था कि उसे दहेज के लिए उसके ससुरालवाले प्रताड़ित करते थे. पर शोभना की मां ने उन्हें वहीं रहने के लिए कहा था.

अब वीडियो में क्या है?

शोभना ने दो वीडियो बनाए. एक वीडियो 50 सेकेंड का है. जिसमें उन्होंने अपने गले को एक साड़ी से बांध रखा है. वो रो रही हैं. और बता रही हैं-

मां मुझे माफ कर दो. मेरे पति, सास और ससुर मुझे दहेज के लिए मारते-पीटते हैं. वो उस महिला को भी घर में लाने के इरादे से मुझे प्रताड़ित कर रहे हैं.

दूसरे वीडियो में शोभना के पास में उनका बेटा लेटा हुआ है. और वो कह रही हैं-

मैं अब नहीं रह सकती. मेरे शरीर को पापा के शरीर के पास दफना देना. पापा की इच्छानुसार, मेरे शरीर के ऑर्गन्स को डोनेट कर देना. मैंने अपने गहने एक जगह बॉक्स में रखें हैं. उन्हें ले लेना और मेरे बेटे पर खर्च कर देना. और कुछ वीडियो मेरे जी-मेल अकाउंट में हैं. उन्हें गवाहों के तौर पर आप इस्तेमाल कर लेना. जो मेरी मौत के ज़िम्मेदार हैं, उन्हें मत छोड़ना. मां, मैं तुम पर भरोसा करके जा रही हूं. मेरे बेटे का ख्याल रखना.

वीडियो का स्क्रीनशॉट. (वीडियो सोर्स: अक्षया मेहता, इंडिया टुडे)
वीडियो का स्क्रीनशॉट. (वीडियो सोर्स: अक्षया नाथ, इंडिया टुडे)

वहीं, अक्षया नाथ की रिपोर्ट के मुताबिक, शोभना ने वीडियो में एक जीमेल आईडी और पासवर्ड का भी ज़िक्र किया है, जिसे एक्सेस करने पर एक फोल्डर मिलेगा. ‘इम्पॉर्टेंट’ नाम से. इसमें उन्होंने कुछ तस्वीरें और ऑडियो रिकॉर्डिंग्स सेव करके रखे हैं. सबूत के तौर पर. उसी के बारे में वो अपनी मां से वीडियो में कह रही हैं.

चूंकि ये केस अब पुलिस के पास है, तो वो इस मामले से जुड़ी हर चीज की जांच कर रही है. फिलहाल आरोपी जेल में हैं. और उन पर IPC की धारा 174(3) (शादी के 7 साल पूरे होने के पहले ही महिला के आत्महत्या करने), धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाने) और धारा 304 बी (दहेज हत्या) के तहत केस दर्ज कर जेल भेज दिया गया है.


वीडियो देखें : पायलट पति इतना पीटता था कि परेशान होकर इंजीनियर पत्नी ने फांसी लगा ली

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

आज पूरे दिन ख़बरों में छाई रहने वाली ये महिलाएं कौन हैं?

और इन्होंने ऐसा क्या कर दिया कि स्पॉटलाइट इन पर पड़ी है.

COVID-19: क्वारंटीन सेंटर के भीतर का ये सीन देखकर आप उम्मीद से भर जाएंगे

जहां कोरोना से ज्यादा मजबूत है इंसानी हिम्मत और न हारने का जज्बा.

समलैंगिकता 'ठीक' करने के नाम पर शर्मिंदगी से भर देने वाली 'कन्वर्जन थेरेपी' क्या है

विदेश में भी इसे एक इलाज बताकर बेचा जाता है.

शुभम मिश्रा जैसे लड़कों से लड़कर कैसे जीतती हैं इंडिया की स्टैंड-अप कॉमिक लड़कियां?

जो पहले से ही एक ऐसे फील्ड में हैं जहां लड़कियां बेहद कम हैं

प्रवासी मजदूरों की लगातार मदद कर रही थीं, COVID-19 ने जान ले ली

पश्चिम बंगाल की सिविल सर्वेंट देबदत्ता रे की मौत.

आलिया भट्ट की बहन को मैसेज कर लोगों ने कहा, 'डिप्रेशन से मौत हो जाए, मां का रेप हो जाए'

शाहीन भट्ट ने ढेर सारे स्क्रीन शॉट्स लगाए हैं.

शादी की ये साइट गारंटी दे रही है कि इसपर मौजूद लड़के-लड़कियों ने कभी सेक्स नहीं किया?

आखिर 'वर्जिनिटी' के नाम पर ये हो क्या रहा है?

गुजरात: मंत्री के बेटे को नाइट कर्फ्यू का पालन न करने पर रोका, महिला कॉन्स्टेबल को इस्तीफा देना पड़ा

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल.

प्रभास-पूजा हेगड़े की 'राधे श्याम' का पोस्टर है तो उम्दा, लेकिन एक भयानक ब्लंडर कर दिया

इतने लोगों ने मिलकर बनाया होगा, ऐसी चूक कैसे हो गई?

गोवा के पूर्व मंत्री की COVID-19 से मौत हुई, तो बेटी ने PPE किट पहनकर मुखाग्नि दी

डॉक्टर सुरेश अमोनकर मनोहर पर्रिकर सरकार में स्वास्थ्य मंत्री थे.