Submit your post

Follow Us

तालिबानी क्रूरता: बच्चों के सामने महिला पुलिस अधिकारी को गोली मारी, चेहरा कुचला!

तालिबान के लड़ाकों ने कथित तौर पर एक महिला पुलिस अधिकारी की हत्या कर दी है. बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, महिला की पहचान बानू नेगर के तौर पर हुई है. बानू अफगानिस्तान के गोर प्रांत की राजधानी फिरोजकोह में तैनात थी. उनके परिवार के मुताबिक, हत्यारों ने हत्या के बाद बानू का चेहरा बुरी तरह से कुचल दिया. बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया कि बानू आठ महीने की गर्भवती थीं और उनकी हत्या करने वाले अरबी बोल रहे थे.

द सन ने भी इस मामले में रिपोर्ट की है. इस रिपोर्ट के अनुसार, तालिबानी लड़ाकों ने बानू की हत्या उनके बच्चों और पति के सामने की. ये लड़ाके घर-घर जाकर अफगानिस्तान सरकार के साथ काम करने वाले लोगों को मार रहे थे. बानू की हत्या के बाद की फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुई है. फोटो में साफ-साफ देखा जा सकता है कि एक कालीन पर बानू का शव खून से लथपथ पड़ा हुआ है और शव के पास ही खून के सने पेचकस पड़े हुए हैं. बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, बानू के परिवार ने  यह भी बताया कि तालिबान के स्थानीय नेताओं ने बानू की हत्या की जांच करने का आश्वासन दिया है.

Taliban के पिछले शासन को देखते हुए Afghanistan की महिलाओं के लिए समूह पर भरोसा करना बहुत कठिन है.
Taliban के पिछले शासन को देखते हुए Afghanistan की महिलाओं के लिए समूह पर भरोसा करना बहुत कठिन है.

अफगानिस्तान पर कब्जे से पहले से ही तालिबान पहले के मुकाबले अपनी उदार छवि पेश करने की कोशिश कर रहा है. इसी क्रम में उसने काबुल में की गई एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि वो शरिया के दायरे में महिलाओं के अधिकारों का समर्थन करेगा. इसमें उनकी शिक्षा और रोजगार का अधिकार शामिल है. तालिबान ने यह भी कहा था कि वो पिछली सरकार में काम कर चुके सरकारी कर्मचारियों को भी कोई नुकसान नहीं पहुंचाएगा.

दूसरी तरफ, इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के बाद तालिबान ने औरतों को लेकर मिले जुले संदेश भी दिए. न्यू यॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, तालिबान ने औरतों को घर में रहने के लिए कहा. ऐसा इसलिए क्योंकि बकौल तालिबान उसके लड़ाके अभी महिलाओं का सम्मान करना नहीं सीखे हैं. वहीं अल जजीरा की रिपोर्ट के अनुसार, तालिबान ने स्वास्थ्य मंत्रालय में काम करने वाली महिला कर्मचारियों को वापस से काम पर लौट आने के लिए कहा.

प्रदर्शनकारी महिलाओं पर हमला

इस बीच तालिबान की आगामी सरकार की घोषणा की संभावनाओं के बीच काबुल से लेकर हेरात तक महिलाओं ने विरोध प्रदर्शन किए. इन महिलाओं ने अपनी राजनीतिक हिस्सेदारी के साथ-साथ दूसरे मूल अधिकारों की मांग की. टोलो न्यूज के मुताबिक, काबुल में हुई एक ऐसी ही विरोध प्रदर्शन पर तालिबान के लड़ाकों की तरफ से आंसू गैस के गोले फेंके गए. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इन महिलाओं को बंदूकों से पीटा भी गया. इस दौरान राबिया सादत नाम की महिला प्रदर्शनकारी घायल हो गई. सोशल मीडिया पर शेयर हुए एक वीडियो में राबिया के सिर से खून निकलता हुआ दिख रहा है.


इन प्रदर्शनकारियों ने बताया कि उनके ऊपर तालिबान ने तब हमला किया, जब वे नारे लगाती हुई राष्ट्रपति भवन की तरफ बढ़ रही थीं. इस प्रदर्शन को अफगानिस्तान की एक पत्रकार अजीता नजीमी कवर कर रही थीं. रिपोर्ट्स बताती हैं कि तालिबान के लड़ाकों ने उनके साथ भी मारपीट की. नजीमी ने टोलो न्यूज को बताया,

“आज से 25 साल पहले जब तालिबान शासन में आया था, तो उसने मुझे स्कूल नहीं जाने दिया. तालिबान के जाने के बाद मैंने पढ़ाई की और खूब मेहनत कर अपनी राह बनाई. अब हम दोबारा वो सब नहीं होने देंगे.”

अफगानिस्तान की महिलाओं की शिक्षा की अगर बात करें तो तालिबान ने देश के विश्वविद्यालयों के लिए एक आदेश निकाला है. इस आदेश में कहा गया है कि लड़कियों को पढ़ाई करने की इजाजत होगी. आदेश में आगे कहा गया है कि सभी लड़कियों को अबाया पहनना अनिवार्य होगा. यही नहीं, लड़के और लड़कियां अलग-अलग क्लासरूम में पढ़ेंगे. लड़कियों की पढ़ाने के लिए महिला शिक्षकों को नियुक्त करना होगा. अगर महिला शिक्षक नहीं मिलती हैं, तो अच्छे चरित्र वाले बूढ़े पुरुष शिक्षकों की नियुक्ति की जा सकती है. छुट्टी होने पर लड़कों के निकलने के पांच मिनट बाद ही लड़कियां अपने घर जा पाएंगी. सोशल मीडिया पर ऐसी तस्वीरें आई हैं, जिनमें क्लास के अंदर लड़के और लड़कियों के बीच पर्दा लगाया गया है.

वहीं तालिबान के केंद्रीय नेतृत्व का दावा है कि उसने काबुल में महिलाओं की प्रोटेस्ट रैली पर हमला करने वालों पर कार्रवाई की है. द गार्डियन की रिपोर्ट के मुताबिक, तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद्दीन ने बताया कि रैली पर हमला करने के आरोप में तालिबान के चार लड़ाकों को गिरफ्तार किया गया है. मुजाहिद्दीन ने यह भी स्वीकार किया कि तालिबान के लड़ाकों ने एक महिला पत्रकार को भी पीटा. मुजाहिद्दीन ने यह भी कहा कि विरोध प्रदर्शन करने वाली महिलाओं को तालिबान की तरफ से अभी सुरक्षा का आश्वासन नहीं दिया जा सकता. ऐसा इसलिए क्योंकि केंद्रीय नेतृत्व का ध्यान दूसरे मुद्दों पर है. मुजाहिद्दीन की तरफ से कहा गया कि अफगानिस्तान में तालिबान की सरकार का गठन हो जाने के बाद प्रदर्शनकारियों की मांगों को सुना जाएगा.


 

वीडियो- अफ़गानिस्तान की इन औरतों ने जैसे अपनी जान बचाई, उसे जानकर तालिबान के वादे झूठे लगेंगे!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

यूपी: नाबालिग ने 28 पर किया गैंगरेप का केस, FIR में सपा-बसपा के जिलाध्यक्षों के भी नाम

यूपी: नाबालिग ने 28 पर किया गैंगरेप का केस, FIR में सपा-बसपा के जिलाध्यक्षों के भी नाम

पिता के अलावा ताऊ, चाचा पर भी लगाए गंभीर आरोप.

कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद बेटी ने आतंकियों को 'कुरान का संदेश' दे दिया!

कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद बेटी ने आतंकियों को 'कुरान का संदेश' दे दिया!

श्रद्धा बिंद्रू ने आतंकियों को किस बात के लिए ललकारा है?

बिहार: महिला चिल्लाती रही, लोग बदन पर हाथ डालते रहे; वीडियो भी वायरल किया

बिहार: महिला चिल्लाती रही, लोग बदन पर हाथ डालते रहे; वीडियो भी वायरल किया

बिहार की पुलिस ने क्या एक्शन लिया?

महिला अफसर के यौन उत्पीड़न का ये मामला है क्या जिसके छींटे वायु सेना पर भी पड़े हैं?

महिला अफसर के यौन उत्पीड़न का ये मामला है क्या जिसके छींटे वायु सेना पर भी पड़े हैं?

आरोपी अफसर पर बलात्कार से जुड़ी धारा 376 लगी है.

परिवार ने पूरे गांव के सामने पति-पत्नी की हत्या कर दी, 18 साल बाद फैसला आया है

परिवार ने पूरे गांव के सामने पति-पत्नी की हत्या कर दी, 18 साल बाद फैसला आया है

कोर्ट ने एक को फांसी और 12 लोगों को उम्रकैद की सज़ा दी है.

असम से नाबालिग को किडनैप कर राजस्थान में बेचा, जबरन शादी और फिर रोज रेप की कहानी

असम से नाबालिग को किडनैप कर राजस्थान में बेचा, जबरन शादी और फिर रोज रेप की कहानी

नाबालिग 15 साल की है और एक बच्चे की मां बन चुकी है.

डोंबिवली रेप केसः 15 साल की लड़की का नौ महीने तक 29 लोग बलात्कार करते रहे

डोंबिवली रेप केसः 15 साल की लड़की का नौ महीने तक 29 लोग बलात्कार करते रहे

नौ महीने के अंतराल में एक वीडियो के सहारे बच्ची का रेप करते रहे आरोपी.

यौन शोषण की शिकायत पर पार्टी से निकाला, अब मुस्लिम समाज में सुधार के लिए लड़ेंगी फातिमा तहीलिया

यौन शोषण की शिकायत पर पार्टी से निकाला, अब मुस्लिम समाज में सुधार के लिए लड़ेंगी फातिमा तहीलिया

रूढ़िवादी परिवार से ताल्लुक रखने वाली फातिमा पेशे से वकील हैं.

रेप की कोशिश का आरोपी ज़मानत लेने पहुंचा, कोर्ट ने कहा- 2000 औरतों के कपड़े धोने पड़ेंगे

रेप की कोशिश का आरोपी ज़मानत लेने पहुंचा, कोर्ट ने कहा- 2000 औरतों के कपड़े धोने पड़ेंगे

कपड़े धोने के बाद प्रेस भी करनी होगी. डिटर्जेंट का इंतजाम आरोपी को खुद करना होगा.

स्टैंड अप कॉमेडियन संजय राजौरा पर यौन शोषण के गंभीर आरोप, उनका जवाब भी आया

स्टैंड अप कॉमेडियन संजय राजौरा पर यौन शोषण के गंभीर आरोप, उनका जवाब भी आया

इस मामले पर विक्टिम और संजय राजौरा की पूरी बात यहां पढ़ें.