Submit your post

Follow Us

महिला के एक साथ दस बच्चों को जन्म देने की खबर में झोल सुनकर सिर चकरा जाएगा

कुछ दिन पहले एक खबर आई थी. दक्षिण अफ्रीका के मीडिया संस्थान प्रेटोरिया न्यूज ने बताया था कि वहां गॉटेंग प्रांत में रहने वाली एक महिला ने एक साथ 10 बच्चों को जन्म दिया. महिला का नाम गोसियाम सितहोल बताया गया. अब जानकारी सामने आई है कि ये खबर गलत थी.

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, गॉटेंग प्रांत की स्थानीय सरकार ने बताया है कि प्रांत के हॉस्पिटल रिकॉर्ड्स में एक साथ 10 बच्चे पैदा होने का कोई भी मामला दर्ज नहीं है. बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया है कि मेडिकल रिपोर्ट्स में सितहोल के हाल फिलहाल में प्रेगनेंट ना होने की बात भी सामने आई है.

रिपोर्ट के मुताबिक सितहोल की उम्र 37 साल है और उन्हें फिलहाल देश के मानसिक स्वास्थ्य कानून के तहत निगरानी में रखा गया है. सितहोल को मेडिकल हेल्प भी दी जाएगी. दूसरी तरफ, प्रेटोरिया न्यूज संस्थान अभी भी अपनी खबर के साथ खड़ा है. मीडिया संस्थान का कहना है कि सितहोल ने 7 जून को स्टीव बीको एकेडेमिक अस्पताल में बच्चों को जन्म दिया. अस्पताल का स्टाफ इसके लिए तैयार नहीं था. मीडिया संस्थान ने कहा कि अस्पताल और प्रांतीय सरकार डिलीवरी के दौरान हुई लापरवाही पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं.

दूसरी तरफ सरकार ने अस्पताल को प्रांत का प्रतिष्ठित मेडिकल संस्थान बताया है. साथ ही मेडिकल लापरवाही के आरोपों को नकारते हुए मीडिया संस्थान के ऊपर कार्रवाई की बात कही है.

ऐसे उलझा पूरा मामला

अलजजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, गोसियाम सितहोल और उनके पति तेबोहो सोतेसी जोहानसबर्ग के पास थेंबीसा नाम के कस्बे के रहने वाले हैं. इस कस्बे में मजदूर वर्ग के लोग बहुतायत में रहते हैं. रिपोर्ट के मुताबिक प्रेटोरिया न्यूज के रिपोर्टर रेमपेडी की एक चर्च में गोसियाम और तेबोहो से मुलाकात हुई थी. उसी मुलाकात के दौरान रिपोर्टर ने दोनों का इंटरव्यू लिया था. जिसमें दोनों ने रिपोर्टर को बताया कि उनको आठ बच्चे पैदा होने की आशा है. इसी इंटरव्यू के दौरान रेमपेडी ने गोसियाम की फोटो खींची. इस फोटो में गोसियाम का पेट बहुत बड़ा दिखता है.

फिर आई आठ जून की तारीख. प्रेटोरिया न्यूज ने एक खबर प्रकाशित की. जिसमें बताया गया कि गोसियाम ने एक साथ दस बच्चों को जन्म दिया है. मीडिया संस्थान ने सोर्स के तौर पर गोसियाम के पति तेबोहो का हवाला दिया. हालांकि, तेबोहो ने बाद में बताया कि उन्हें एक व्हाट्सएप मेसेज के जरिए जानकारी मिली थी, जिसमें उनकी पत्नी ने दस बच्चों को जन्म देने की बात बताई थी. तेबोहो ने यह भी बताया कि कोरोना वायरस प्रतिबंधों के चलते उन्हें अस्पताल के अंदर नहीं जाने दिया गया.

अपने परिवार के दूसरे सदस्यों के साथ गोसियाम. (फोटो: ट्विटर)
अपने परिवार के दूसरे सदस्यों के साथ गोसियाम. (फोटो: ट्विटर)

बाद में कस्बे के मेयर ने भी दस बच्चों के जन्म की घोषणा की. उनकी घोषणा के आधार पर कई अंतरराष्ट्रीय मीडिया संस्थानों ने खबर चला दी. हाालांकि, प्रांतीय सरकार के एक प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया कि मेयर ने बस परिवार की बातों पर भरोसा करके घोषणा की थी और किसी ने भी अभी तक अपनी आंखों से बच्चों को नहीं देखा है.

इधर बच्चों के लिए देश-दुनिया से लोग डोनेशन भेजने लगे. इस बीच प्रेटोरिया न्यूज की रिपोर्ट पर सवाल उठने लगे क्योंकि गॉटेंग प्रांत के कई अस्पतालों ने इस तरह की डिलीवरी कराने से इनकार कर दिया. खबरें यह भी आईं कि गोसियाम के पति ने उसके लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई. थोड़े दिन बाद गोसियाम ने एक बयान जारी किया. जिसमें उन्होंने अपने पति पर झूठ फैलाने और फिर आर्थिक फायदा कमाने की बात कही. खबरें यह भी आईं कि रेमपेडी ने प्रेटोरिया न्यूज से माफी मांगी. रेमपेडी ने कहा कि उनकी रिपोर्ट की वजह से संस्थान की छवि खराब हुई है और उन्हें खोजी रिपोर्ट के तौर पर खबर करनी चाहिए थी.

एक साथ आठ बच्चों को जन्म देने का गिनीज रिकॉर्ड

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक अभी तक एक बार में आठ बच्चों को जन्म देने का रिकॉर्ड है. लाइव मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक, यह रिकॉर्ड नादिया सुलेमान के नाम है. नादिया ने साल 2009 में अमेरिका के कैलिफोर्निया में छह लड़कों और दो लड़कियों को जन्म दिया था. जन्म के दौरान सभी बच्चे जीवित थे.

लाइव मिंट की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले महीने माली में रहने वाली एक 25 साल की महिला ने नौ बच्चों को जन्म दिया. रिपोर्ट के मुताबिक डॉक्टर्स ने स्कैन्स के जरिए केवल सात बच्चों का अनुमान लगाया था. हालांकि, यह साफ नहीं है कि जन्म के दौरान कितने बच्चे जीवित पैदा हुए.

डॉक्टर्स क्या कहते हैं

एक से अधिक बच्चों के जन्म पर हमने गायनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर लवलीना नादिर ने बात की. उन्होंने हमें बताया-

“जुड़वा बच्चे 250 में से एक प्रेगनेंसी में पैदा होते हैं. इसी तरह एक साथ तीन बच्चे 10 हजार में से एक प्रेगनेंसी में और एक साथ चार बच्चे सात लाख में से एक प्रेगनेंसी में. ऐसा ज्यादातर बांझपन के लिए कराए गए इलाज के कारण होता है. लेकिन नस्ल, उम्र और आनुवांशिकी इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है.”

डॉक्टर नादिर ने हमें यह भी बताया कि एक ही समय पर एक से अधिक बच्चे पैदा होने पर कई परेशानियां हो सकती हैं. जैसे बच्चे समय से पहले जन्म ले सकते हैं, मां में खून की कमी हो सकती है, गर्भाशय में तरह-तरह की दिक्कत हो सकती हैं, प्रेगनेंसी के दौरान डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है, साथ ही साथ हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो सकती है. इसके अलावा डिलीवरी के बाद बहुत खून भी बह सकता है और गर्भनाल में भी समस्या आ सकती है.


 

वीडियो- अंधविश्वास छोड़िए, साइंस बताएगा कि गर्भ में बेटा कैसे आता है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

यूपी: नाबालिग ने 28 पर किया गैंगरेप का केस, FIR में सपा-बसपा के जिलाध्यक्षों के भी नाम

यूपी: नाबालिग ने 28 पर किया गैंगरेप का केस, FIR में सपा-बसपा के जिलाध्यक्षों के भी नाम

पिता के अलावा ताऊ, चाचा पर भी लगाए गंभीर आरोप.

कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद बेटी ने आतंकियों को 'कुरान का संदेश' दे दिया!

कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद बेटी ने आतंकियों को 'कुरान का संदेश' दे दिया!

श्रद्धा बिंद्रू ने आतंकियों को किस बात के लिए ललकारा है?

बिहार: महिला चिल्लाती रही, लोग बदन पर हाथ डालते रहे; वीडियो भी वायरल किया

बिहार: महिला चिल्लाती रही, लोग बदन पर हाथ डालते रहे; वीडियो भी वायरल किया

बिहार की पुलिस ने क्या एक्शन लिया?

महिला अफसर के यौन उत्पीड़न का ये मामला है क्या जिसके छींटे वायु सेना पर भी पड़े हैं?

महिला अफसर के यौन उत्पीड़न का ये मामला है क्या जिसके छींटे वायु सेना पर भी पड़े हैं?

आरोपी अफसर पर बलात्कार से जुड़ी धारा 376 लगी है.

परिवार ने पूरे गांव के सामने पति-पत्नी की हत्या कर दी, 18 साल बाद फैसला आया है

परिवार ने पूरे गांव के सामने पति-पत्नी की हत्या कर दी, 18 साल बाद फैसला आया है

कोर्ट ने एक को फांसी और 12 लोगों को उम्रकैद की सज़ा दी है.

असम से नाबालिग को किडनैप कर राजस्थान में बेचा, जबरन शादी और फिर रोज रेप की कहानी

असम से नाबालिग को किडनैप कर राजस्थान में बेचा, जबरन शादी और फिर रोज रेप की कहानी

नाबालिग 15 साल की है और एक बच्चे की मां बन चुकी है.

डोंबिवली रेप केसः 15 साल की लड़की का नौ महीने तक 29 लोग बलात्कार करते रहे

डोंबिवली रेप केसः 15 साल की लड़की का नौ महीने तक 29 लोग बलात्कार करते रहे

नौ महीने के अंतराल में एक वीडियो के सहारे बच्ची का रेप करते रहे आरोपी.

यौन शोषण की शिकायत पर पार्टी से निकाला, अब मुस्लिम समाज में सुधार के लिए लड़ेंगी फातिमा तहीलिया

यौन शोषण की शिकायत पर पार्टी से निकाला, अब मुस्लिम समाज में सुधार के लिए लड़ेंगी फातिमा तहीलिया

रूढ़िवादी परिवार से ताल्लुक रखने वाली फातिमा पेशे से वकील हैं.

रेप की कोशिश का आरोपी ज़मानत लेने पहुंचा, कोर्ट ने कहा- 2000 औरतों के कपड़े धोने पड़ेंगे

रेप की कोशिश का आरोपी ज़मानत लेने पहुंचा, कोर्ट ने कहा- 2000 औरतों के कपड़े धोने पड़ेंगे

कपड़े धोने के बाद प्रेस भी करनी होगी. डिटर्जेंट का इंतजाम आरोपी को खुद करना होगा.

स्टैंड अप कॉमेडियन संजय राजौरा पर यौन शोषण के गंभीर आरोप, उनका जवाब भी आया

स्टैंड अप कॉमेडियन संजय राजौरा पर यौन शोषण के गंभीर आरोप, उनका जवाब भी आया

इस मामले पर विक्टिम और संजय राजौरा की पूरी बात यहां पढ़ें.