Submit your post

Follow Us

स्नेह राणा का सपना पूरा हुआ तो महिला क्रिकेटर्स की लाइन लगा देगा उत्तराखंड!

स्नेह राणा. कुछ घंटों पहले तक इस नाम से लोगों को कोई फ़र्क नहीं पड़ता था. ये एक मामूली नाम था, जिसे पुकारे जाने पर शायद ही कोई सर हिलता. लेकिन अब ऐसा नहीं है. राणा ने ब्रिस्टल के मैदान पर 195 मिनट में वो हासिल कर लिया, जो कई क्रिकेटर पूरी जिंदगी में नहीं कर पाते. पहले तो अपनी बोलिंग और फिर बैटिंग से राणा ने कमाल का डेब्यू करते हुए पूरी दुनिया को अपने हुनर से वाक़िफ करा दिया.

अगर आपने विमिंस टीम का टेस्ट मैच देखा होगा, तो आपको राणा की बैटिंग के 195 मिनट की कीमत पता होगी. नहीं देखा, तो जान लीजिए कि राणा और तानिया भाटिया के बीच नौवें विकेट के लिए हुई 104 रन की पार्टनरशिप सिडनी में अश्विन और विहारी के बीच हुई पार्टनरशिप से कम महत्वपूर्ण नहीं थी. फॉलोऑन खेलते हुए भारत ने 199 के टोटल पर हरमनप्रीत का विकेट गंवाया. सात विकेट खो चुके भारत के पास अभी सिर्फ 34 रन की लीड थी.

इसके बाद आईं शिखा पांडेय ने भी 70 मिनट बैटिंग की लेकिन 240 के टोटल पर वो भी आउट हो गईं. अभी काफी ओवर बाकी थे और इंग्लैंड को जीत साफ दिखने लगी थी. लेकिन यहां से राणा और भाटिया ने जो खूंटा गाड़ा, वो खराब लाइट के चलते मैच खत्म होने पर ही उखड़ा. दोनों बल्लेबाजों ने मिलकर इंग्लैंड को खूब फ्रस्ट्रेट किया. इंग्लिश कैप्टन हीदर नाइट ने सात बोलिंग ऑप्शन ट्राई किए लेकिन सातों मिलकर भी इन दोनों को हिला नहीं पाए.

# कौन हैं Sneh Rana?

अपने डेब्यू टेस्ट में आठवें नंबर पर बैटिंग करने उतरी 27 साल की राणा 80 रन बनाकर नाबाद लौटीं. जबकि भाटिया ने 44 रन की नाबाद पारी खेली. राणा की ये पारी इसलिए भी खास है क्योंकि इस टेस्ट में उनका खेलना ही पक्का नहीं था. आखिरी बार 2016 में भारत के लिए खेलने वाली स्नेह राणा ने एकता बिष्ट और पूनम यादव जैसी स्पिनर्स को पछाड़कर टीम में एंट्री की थी. और वह कैप्टन मिताली द्वारा दिखाए गए इस भरोसे पर पूरी तरह खरी उतरीं. मैच में भारत की ओर से सबसे ज्यादा 39.2 ओवर फेंकने वाली स्नेह ने अपनी ऑफ स्पिन से चार विकेट निकाले.

साल 2016 के फरवरी महीने में श्रीलंका के खिलाफ आखिरी बार नीली जर्सी में दिखी देहरादून की स्नेह के पिताजी उन्हें दोबारा भारतीय कलर्स में देखने की इच्छा लिए साल 2021 में दुनिया छोड़ गए थे. ऐसे में स्नेह के लिए डेब्यू करना आसान नहीं था. इस बारे में उन्होंने क्रिकइंफो से कहा था,

‘इंग्लैंड टूर के लिए स्क्वॉड अनाउंस होने से पहले, आज से दो महीने पहले मैंने अपने पिताजी को खो दिया. मैं उन्हें खोया, इसलिए यह मेरे लिए थोड़ा मुश्किल था. टेस्ट डेब्यू करना मेरे लिए भावुक करने वाला पल था. वह मुझे दोबारा से भारत के लिए खेलते देखना चाहते थे, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया. लेकिन ठीक है. यह सब जिंदगी का हिस्सा है. उनकी मृत्यु के बाद मैंने जो कुछ भी हासिल किया है या करूंगी, वो सब मैं उन्हें समर्पित कर दूंगी.’

बता दें कि इंग्लैंड टूर के लिए सेलेक्ट होने से पहले राणा ने घरेलू 50 ओवर के टूर्नामेंट में बेहतरीन ऑलराउंड प्रदर्शन किया था. मिताली राज की कप्तानी वाली रेलवे के लिए खेलते हुए राणा 18 विकेट लेने के साथ 123 की स्ट्राइक रेट से 160 रन भी बनाए. फाइनल में उन्होंने 34 रन की नाबाद पारी खेलने के साथ 33 रन देकर तीन विकेट भी निकाले थे.

इस प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें इंग्लैंड टूर की टीम में चुना गया था. स्नेह राणा को अपना क्रिकेट करियर जारी रखने के लिए काफी मुश्किलें झेलनी पड़ीं. साल 2016 में श्रीलंका के खिलाफ हुई T20I सीरीज के बाद वह खराब फॉर्म और चोटों के चलते दो साल से ज्यादा वक्त तक टीम से बाहर रहीं. भारतीय महिला टीम का कैलेंडर देखें तो इतने लंबे वक्त तक बाहर होने के बाद वापसी आसान नहीं होती. लेकिन स्नेह राणा अपने लक्ष्य को लेकर अडिग थीं.

चोट से उबरते ही उन्होंने डोमेस्टिक क्रिकेट में जान लगा दी. घरेलू टूर्नामेंट्स में बेहतरीन प्रदर्शन कर उन्होंने टीम इंडिया में वापसी की और फिर इंग्लैंड के खिलाफ कमाल कर दिया. सचिन तेंडुलकर को अपना आदर्श मानने वाली स्नेह उत्तराखंड में विमिंस क्रिकेट असोसिएशन की स्थापना करना चाहती हैं जिससे उनके बाद आने वाली विमिन क्रिकेटर्स को दिक्कत ना हो.


INDvsNZ: WTC फाइनल में विराट कोहली ने धोनी का किस मामले में रिकॉर्ड तोड़ दिया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

MP: एक दिन में तीन बच्चियों के रेप के मामले आए सामने, एक की मौत, दूसरी की हालत नाजुक

MP: एक दिन में तीन बच्चियों के रेप के मामले आए सामने, एक की मौत, दूसरी की हालत नाजुक

हाई कोर्ट ने पूछा- आखिर रेप दोषियों को पैरोल पर क्यों छोड़ रही सरकार?

अस्पताल में भर्ती एयर होस्टेस की आइसक्रीम खाने से मौत, इंसाफ मांग रहे भतीजे की भी जान गई

अस्पताल में भर्ती एयर होस्टेस की आइसक्रीम खाने से मौत, इंसाफ मांग रहे भतीजे की भी जान गई

दोनों के लिए न्याय की मांग को लेकर सड़क पर उतरे लोग.

विकलांग औरतों को क्यों है यौन शोषण और रेप का ज्यादा खतरा?

विकलांग औरतों को क्यों है यौन शोषण और रेप का ज्यादा खतरा?

जब पुलिस वालों ने डिसेबल औरत से कहा- "मैं तुम्हारी बात क्यों सुनूं?"

मध्य प्रदेश: बर्बर भीड़ ने दो युवतियों को बेरहमी से पीटा, डंडा टूट गया पर पीटना बंद नहीं किया

मध्य प्रदेश: बर्बर भीड़ ने दो युवतियों को बेरहमी से पीटा, डंडा टूट गया पर पीटना बंद नहीं किया

धार पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

बिना बताए ससुराल से मामा के घर चली गई युवती, पिता और भाइयों ने पेड़ से लटकाकर पीटा

बिना बताए ससुराल से मामा के घर चली गई युवती, पिता और भाइयों ने पेड़ से लटकाकर पीटा

घटना का वीडियो वायरल.

शादी के नाम पर लड़कियों की अदला-बदली करने वाली ये घटिया प्रथा कब खत्म होगी?

शादी के नाम पर लड़कियों की अदला-बदली करने वाली ये घटिया प्रथा कब खत्म होगी?

इसी घटिया प्रथा के चलते एक लड़की ने अपनी जान ले ली.

वीडियो से ब्लैकमेल कर दो साल तक लड़की का रेप का आरोप, तीन लड़के गिरफ्तार

वीडियो से ब्लैकमेल कर दो साल तक लड़की का रेप का आरोप, तीन लड़के गिरफ्तार

लड़की जब परीक्षा देने अलवर के एक कॉलेज में गई थी, तब उसका अपहरण किया गया था.

भाई ने भेजा था खाना, पार्सल लेकर पहुंचे आदमी पर बहन के रेप का आरोप

भाई ने भेजा था खाना, पार्सल लेकर पहुंचे आदमी पर बहन के रेप का आरोप

पीड़िता ने शिकायत में कहा- अकेला पाकर आरोपी ने किया रेप.

पीटने, रेप करने वाले सौतेले बाप की हत्या करने वाली लड़की रिहा

पीटने, रेप करने वाले सौतेले बाप की हत्या करने वाली लड़की रिहा

अपनी सौतेली बेटी का बार-बार रेप किया, गर्भवती किया, फिर वेश्या बनने पर किया मजबूर

ORS और चॉकलेट लेकर बैंक लूटने पहुंची औरत की मासूमियत पर आपको तरस आएगा

ORS और चॉकलेट लेकर बैंक लूटने पहुंची औरत की मासूमियत पर आपको तरस आएगा

इधर उसे लापता समझ पति ने सोशल मीडिया पर उसे खोजने की मुहीम छेड़ रखी थी.