Submit your post

Follow Us

क्रिकेटर स्मृति मंधाना की ये एडिट की हुई तस्वीर उच्च स्तरीय घटिया सोच का सटीक उदाहरण है

स्मृति मंधाना. ये नाम आपने कई बार सुना होगा. खासकर वो लोग जो क्रिकेट में थोड़ी बहुत भी दिलचस्पी रखते हैं, उन्होंने तो सुना ही होगा. क्रिकेटर हैं. बल्लेबाजी करती हैं. बहुत बढ़िया खेलती हैं. 23 साल की हैं. लेकिन कई सारे बड़े रिकॉर्ड अपने नाम कर चुकी हैं. 2018 में BCCI ने स्मृति को ‘बेस्ट विमंस इंटरनेशनल क्रिकेटर’ बनाया था. उसी साल वो ‘आईसीसी विमंस क्रिकेटर ऑफ द ईयर’ भी बनी थीं. टी-20 में सबसे तेजी से 50 रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला क्रिकेटर भी हैं. खेल ऐसा है कि पुरुष क्रिकेटर भी फॉलो करने की कोशिश करते हैं.

इसी साल हुए आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स की टीम के एक यंग क्रिकेटर ने स्मृति के खेल को फॉलो करने की बात कही थी. 17 साल के रियान पराग ने कहा था कि वो बचपन से स्मृति के खेल को फॉलो कर रहे हैं. तब से जब वो चश्मा लगाकर खेलती थीं. रियान ने उनके खेल के तरीके को कॉपी करने की कोशिश भी की थी, लेकिन हो नहीं सका था.

अब इतना सबकुछ बताने के बाद एक लाइन में ये कह सकते हैं कि स्मृति एक शानदार क्रिकेटर हैं. लेकिन इतनी कम उम्र में इतना सबकुछ अचीव करने के बाद भी लोगों को स्मृति के अंदर कुछ कमियां दिखती हैं. और वो उन कमियों को ठीक करने की भरसक कोशिशों में लगे हुए हैं.

कमी क्या है? क्या कोशिशें हो रही हैं?

सोसायटी के पैरामीटर के मुताबिक स्मृति शायद ‘गोरी’ नहीं हैं. ‘सुंदर’ नहीं हैं. इसलिए तो उनकी तस्वीर को एडिट करके उन्हें गोरा बनाया गया. आंखों में काजल और होठों पर लिप्सटिक लगाई गई. गूगल पर अगर आप स्मृति मंधाना की तस्वीरें खोजेंगे, तो आपको कई सारी तस्वीरें मिलेंगी. इन सभी तस्वीरों में से एक तस्वीर आपको ऐसी मिलेगी, जिसमें उनके चेहरे को एडिट किया गया है. उन्हें ‘सुंदर’ बनाने की कोशिश की गई है. जबकि उसी तस्वीर का असली वर्जन भी गूगल पर मौजूद है. जहां स्मृति बिना मेकअप के दिख रही हैं.

एक ट्विटर यूजर ने दोनों तस्वीरें पोस्ट कीं. और लोगों की सोच पर सवाल खड़े किए. लिखा,

‘स्मृति मंधाना को गूगल कर रही थी और मुझे ये फोटोशॉप्ड तस्वीर मिली. असली तस्वीर राइट साइड है. हमारे ब्यूटी स्टैंडर्ड्स कितने खराब हैं कि एक क्रिकेटर की तस्वीर, जो कि एक प्रेस कॉनफ्रेंस की है. उसे एडिट किया जा रहा है. उसके गोरा बनाया जा रहा है. काजल और लिप्सटिक लगाई जा रही है.’

Untitled Design
स्मृति मंधाना की तस्वीर.

ट्विटर पर स्मृति की तस्वीर को लेकर लोग अपनी-अपनी सोच रख रहे हैं. कोई लिख रहा है कि वो बिना मेकअप के भी सुंदर लग रही है. तो कोई लिख रहा है कि क्या कभी विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी की फोटो में मेकअप किया जाएगा?

खैर, इस पूरी बहस में सवाल ये है कि क्या किसी का ‘सुंदर’ दिखना जरूरी है? एक क्रिकेटर की खासियत उसके खेल में होती है. वो कैसा दिखता है या दिखती है, इससे कोई मतलब नहीं होना चाहिए. ‘बिना मेकअप के सुंदर दिख रही है’ ऐसा कहने की भी कोई जरूरत नहीं है. स्मृति के लिए सुंदरता चेहरे या रंग से जुड़ी हुई नहीं है. उनकी सुंदरता उनके खेल में है. लेकिन लोगों को तो हर लड़की गोरी चाहिए. काजल और लिप्सटिक लगाई हुई चाहिए. उसके बिना तो वो ‘सुंदर’ हो ही नहीं सकती.

एक लड़की जब स्पोर्ट्स में आने का फैसला लेती है. खासकर इंडिया जैसे कल्चर में. उसी समय वो समाज से लोहा ले लेती है. कई बार तो उसको पता ही नहीं होता कि उसको फाइट आगे कितनी बड़ी होने वाली है. क्योंकि वो शॉट खेलेगी, लोग उसकी शक्ल देखेंगे. और ये सिर्फ क्रिकेट की ही कहानी नहीं है. वो वकील हो तो दलीलों से ज्यादा उसके कपड़े देखे जाएंगे. सिंगर हो, पत्रकार हो, टीचर हो, पहले ये देखा जाएगा कि वो दिखती कैसी है. उसी हिसाब से उसका काम परखा जाता है.

स्मृति मंधाना को भी लोगों ने याद दिला दिया कि चाहे वो कितने ही रिकॉर्ड बना लें. देश का कितना बी गौरव बढ़एं, अंततः हर दूसरी लड़की की तरह उनका ‘सुंदर’ दिखना जरूरी है. है न?


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

डिलिवरी के लिए पहुंची महिला को अस्पताल ने लौटा दिया, सड़क पर बच्चे को जन्म दिया

...और बच्चे की मौत हो गई.

कोरोना वायरस: लॉकडाउन का फायदा उठाकर 9 लड़कों ने नाबालिग का गैंगरेप किया

ऐसे माहौल में भी इन लड़कों को डर नहीं लगा.

'कोरोना' चिल्लाकर लड़की पर थूकने वाले को पुलिस ने धर लिया है

दिल्ली का ही है आरोपी, सफ़ेद स्कूटी और CCTV फुटेज ने मदद की

महिला क्रिकेटर्स ने हेड कोच पर यौन शोषण के आरोप लगाए, कोच को सस्पेंड किया गया

कोरोना के कारण हेड कोच की मुश्किल और भी बढ़ गई.

निर्भया के दोषियों से पहले रेप के अपराध में आखिरी बार फांसी इस शख्स को हुई थी

जिसके बारे में बाद में कहा गया कि वो बेगुनाह था.

ईवेंट के लिए असम से कानपुर पहुंची मॉडल, बिजनेसमैन ने दोस्तों के सामने रेप किया

पार्टी के बाद दोस्त के बंगले लेकर गया था.

वेटनरी डॉक्टर गैंगरेप जैसा मामला फिर, पुलिया के नीचे नग्न हालत में महिला की लाश मिली

सिर कुचला हुआ, शरीर पर सोने के गहने सही-सलामत.

बॉक्सिंग टूर्नामेंट के लिए कोलकाता जा रही स्टूडेंट का उसी के कोच ने ट्रेन में रेप किया

ट्रेनर को पुलिस ने सोनीपत से गिरफ्तार कर लिया है.

सौम्या हत्याकांड: जब एक पत्रकार लड़की के मर्डर का राज़ दूसरी लड़की से मर्डर से खुला

दिल्ली के पॉश इलाके में क्रूर हत्या को अंजाम देने वाला एक बार फिर पकड़ा गया है.

इंटरनेट के ज़रिए डेटिंग पार्टनर या दूल्हा खोज रही हैं तो इन लड़कियों की कहानी पढ़िए

आपका वो हाल न हो, जो इनका हुआ.