Submit your post

Follow Us

MeToo : अनु मलिक के बचाव में सिंगर ये क्या बोल गई?

हेमा सरदेसाई. फेमस सिंगर हैं. शाहरुख खान की फिल्म ‘परदेस’, ‘जोश’ वगैरह में गाने गा चुकी हैं. अभी इसलिए खबरों में हैं, क्योंकि उन्होंने मीटू मूवमेंट पर कुछ बोला है.

हेमा ने 3 नवंबर को अपने सोशल मीडिया अकाउंट से एक लंबा-चौड़ा पोस्ट लिखा. इसमें उन्होंने सिंगर और म्यूजिक कंपोजर अनु मलिक को फेवर करते हुए यौन शोषण का आरोप लगाने वाली महिलाओं पर सवाल उठाए.

हेमा ने लिखा-

सालों पहले जब इंडस्ट्री में मेरा संघर्ष जारी था, मैं इकलौती सिंगर थी जिसने साफ तौर पर सार्वजनिक रूप से कहा था कि मैंने गानों के लिए अपने मूल्यों से समझौता करने से इनकार कर दिया है. फिर बाकी सभी चुप क्यों थे? और वे इतने सालों से चुप क्यों रहे? मेरे मजबूत सिद्धांतों के बावजूद, मुझे अनु मलिक के डायरेक्टर किए कई ब्लॉकबस्टर हिट गाने मिले.

अगर कई भले गायक जैसे मैं, अनु मलिक के लिए कई बढ़िया गाने गा सकते हैं, तो इससे ये साबित होता है कि वो एक महान कलाकार हैं, जिसने सच्ची प्रतिभा का सम्मान किया और केवल योग्यता के आधार पर गाने के मौके दिए हैं. मैंने कुछ सिंगर्स से पूछा, जो आज उनके विरोध में बोल रहे हैं कि आप इतने साल क्यों चूक थे? क्या आप उन बाकी म्यूजिक डायरेक्टर्स को भगवान कहने की कोशिश कर रहे हो, जिनके साथ आपने काम किया है. मतलब वाकई. अगर आप अपनी पब्लिसिटी के लिए उनपर पत्थर फेंक रहे हैं, तो यह बिल्कुल स्वीकार्य नहीं है.

उन बड़े सिंगर्स से पूछिए जिन्होंने उनके लिए कई सुपरहिट गाने गाए, वो अब चुप क्यों हैं. जबकि आज उन्हें उनके साथ खड़े रहना चाहिए. मेरा मतलब है कि ताली दो हाथों से बजती है. जब इस इंडस्ट्री के कुछ भले सिंगर इस पर कुछ कह रहे हैं, तो लोगों को बैठकर सोचना चाहिए.

पिछले साल अक्टूबर में मीटू मूवमेंट आया था. दुनियाभर की औरतों ने अपने साथ हुए यौन शोषण की घटनाओं को सोशल मीडिया, इंटरव्यू और अन्य प्लेटफॉर्म से दुनिया के सामने रखा. बॉलीवुड के कई डायरेक्टर्स, म्यूजिक कंपोजर और सिंगर का नाम सामने आया. अनु मलिक पर कई महिलाओं ने यौन शोषण के आरोप लगाए. इनमें नेहा भसीन, श्वेता पंडित, सोना महापात्रा जैसी सिंगर्स और इंडियन आइडल की प्रोड्यूसर डेनिस डिसूजा समेत कई महिलाओं के नाम थे. आरोप लगाने वाली महिलाओं को लेकर सवाल उठ रहे, अब क्यों? इस पर सिंगर श्वेता पंडित ने एक ट्वीट किया.

उन्होंने लिखा-

2019 में भी, हम पीड़ितों से ही सवाल किया जा रहा है. दो दशकों से इस इंडस्ट्री में प्रोफेशनल सिंगर होने के बाद भी, कुछ छोटे दिमाग वाले पूछ रहे हैं, हमने तब क्यों नहीं किया? वाकई कमजोर लोगों? सोचिए मेरे साथ क्या होता अगर मैं इसके बारे में 2001 में बात करती जब मैं स्कूल जाने वाली एक बच्ची थी. #MeToo के लिए भगवान का शुक्रिया.

मीटू कैंपेन आने के बाद कई लोगों ने कहा- तब क्यों नहीं कहा? उन लोगों के लिए एक जवाब है. तब इसलिए नहीं बोला कि हिम्मत नहीं थी. साहस नहीं था कि खुद को साबित कर सकें. आज कह दिया, लेकिन उससे बदला क्या है? क्या कुछ फर्क आया? सवाल तो तब भी किए जाते थे. वो सवाल अब भी किए जा रहे हैं.


Video :  देश के पहले मल्टीप्लेक्स से शाहरुख खान का ये नाता आप क्या कोई नहीं जानता होगा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

यौन उत्पीड़न और जान से मारने की धमकी मिलने से परेशान नाबालिग ने खुद को आग लगाई

पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू की. पांच आरोपी गिरफ्तार.

राशन देने का झांसा देकर महिला मजदूर से रेप के आरोप में पुलिसवाला गिरफ्तार

मामला हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर का है.

पांच लड़के नाबालिग लड़की को घर से किडनैप कर ले गए, गैंगरेप किया

एक आरोपी जज का भतीजा है.

गुरुग्राम: मणिपुरी लड़की का आरोप- लोगों ने मारा-पीटा और कहा- समझ नहीं आता, यहां क्यों आती हो

लड़की के खिलाफ भी मामला दर्ज.

बच्ची ने दुकान खोलने से मना किया तो AIADMK के दो नेताओं ने उसे ज़िंदा जला दिया

लड़की के पिता के साथ पुरानी दुश्मनी थी, बदला ले लिया.

दिल्ली: ऑटो ड्राइवर ने पहले गर्भवती पत्नी की हत्या की, फिर पुलिस को बता दी पूरी कहानी

खुद ही सरेंडर करने भी पहुंच गया.

21 साल की नन की लाश कुएं में मिली, दूसरी नन ने लिखा- और कितनी लाशें चाहिए आंखें खोलने के लिए?

पुलिस का एक ही जवाब- जांच चल रही है.

'बॉयज़ लॉकर रूम' में नहीं हुई थी गैंगरेप प्लानिंग, लड़की ने लड़के की फेक ID बनाकर ये बात की थी

मार्च के महीने में हुई थी ये बातचीत.

80 साल के बुजुर्ग पर 22 साल की लड़की के रेप का आरोप

मामला अप्रैल का है, पीड़िता ने 8 मई को केस दर्ज कराया.

अस्पताल के कर्मचारियों पर आरोप- डिलीवरी के बाद महिला का यौन शोषण किया

दूध की टेस्टिंग के लिए महिला को सैंपल देना था.