Submit your post

Follow Us

बुलंदशहर के प्राथमिक स्कूल में टीचर और प्रिंसिपल की मारपीट क्यों हो गई?

उत्तर प्रदेश का बुलंदशहर जिला. यहां का दरियापुर गांव. गांव के प्राथमिक विद्यालय का एक वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो में एक टीचर और प्रिंसिपल हाथापाई कर रही हैं. मामले में प्रिंसिपल की शिकायत पर टीचर के खिलाफ FIR दर्ज हो चुकी है. जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने भी इस मामले का संज्ञान लिया है.

क्या है मामला?

अभी यह साफ नहीं है कि यह मामला कब का है. प्राप्त जानकारी के अनुसार, टीचर इस बात से नाराज़ थी कि छुट्टी के दौरान प्रिंसपल ने उन्हें स्कूल बुलाया. प्रिंसिपल ने स्कूल के एक रसोइये को भेजकर उन्हें बुलाया था. इससे वह ज़्यादा नाराज़ थीं. वायरल वीडियो में टीचर ये बात बार-बार बोलते हुए सुनी जा सकती हैं. टीचर का नाम अर्चना बताया जा रहा है.

वीडियो में अर्चना, प्रिंसिपल से कहती है-

“तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई रसोइए से मुझे बुलवाने की. तुम इनके साथ मुझे कम्पेयर नहीं कर सकती. इन झाड़ू लगाने वालों से तुमने मुझे बुलवाया कैसे!”

दूसरी तरफ प्रिंसिपल बार-बार यह कहती हैं कि अर्चना केवल झगड़ा करने के मकसद से आई है. इस बीच कहासुनी बढ़ जाती है और अर्चना प्रिंसिपल को थप्पड़ जड़ देती है. जिसके जवाब में प्रिंसिपल भी अर्चना को मारने के लिए हाथ उठाती है. बाद में स्कूल का स्टाफ बीच-बचाव के लिए आता है.

जिले के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने इसे अनुशासनहीनता का मामला बताते हुए जांच की बात कही है. खंड शिक्षा अधिकारी को मामले की जांच करने के लिए कहा गया है.

पुलिस का क्या कहना है?

इस मामले में प्रिंसिंपल की शिकायत पर टीचर अर्चना के खिलाफ धारा 323, 504 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है. वहीं जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करने के लिए टीचर पर एससी/एसटी एक्ट भी लगाया गया है. हमने और जानकारी प्राप्त करने के लिए बुलंदशहर के एसएसपी संतोष कुमार सिंह से बात की. उन्होंने बताया,

“इस वीडियो के वायरल होने के बाद प्रिंसिपल की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की गई है. अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. जो धाराएं लगाई हैं उनके तहत कम से कम सात साल की सजा हो सकती है. मामले की जांच चल रही है.”

संतोष कुमार सिंह ने यह भी बताया कि अभी टीचर की तरफ से हमें कोई शिकायत नहीं मिली है. अगर शिकायत मिलती है तो उसके अनुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी.


 

वीडियो-घरेलु हिंसा पर महिलाओं के लिए कमल हासन ने क्या उलटी बोला जिसपर बवाल मच गया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

साड़ी पहनती थी, इसलिए मेरे बिना ही क्लाइंट मीटिंग्स में चले जाते थे कलीग्सः इंदिरा नूई

साड़ी पहनती थी, इसलिए मेरे बिना ही क्लाइंट मीटिंग्स में चले जाते थे कलीग्सः इंदिरा नूई

इंदिरा नूई की ऑटोबायोग्राफी 'माय लाइफ ऐट फुल' रिलीज़ हुई है.

कच्चे पपीते से लेकर यूट्यूब के नुस्खे: बच्चा गिराने के लिए न करें ये भयानक गलतियां

कच्चे पपीते से लेकर यूट्यूब के नुस्खे: बच्चा गिराने के लिए न करें ये भयानक गलतियां

यूट्यूब पर ट्यूटोरियल देख एक महिला खुद का अबॉर्शन कर रही थी, ऐसा हाल हो गया

ज़िंदगीभर जेल में रहेगा औरतों का रेप और बच्चों की तस्करी करने वाला सिंगर R Kelly

ज़िंदगीभर जेल में रहेगा औरतों का रेप और बच्चों की तस्करी करने वाला सिंगर R Kelly

कोर्ट ने माना- केली ने अपनी स्टारडम का इस्तेमाल कर महिलाओं और बच्चों का यौन शोषण किया.

वो टेस्ट जिसमें महिला खिलाड़ियों को साबित करना पड़ता है कि वो महिला हैं

वो टेस्ट जिसमें महिला खिलाड़ियों को साबित करना पड़ता है कि वो महिला हैं

तापसी पन्नू की आने वाली फिल्म 'रश्मि रॉकेट' स्पोर्ट्स में होने वाले जेंडर वेरिफिकेशन टेस्ट पर बात करती है.

REET का एग्ज़ाम देने गई लड़कियों के कपड़ों की अस्तीन क्यों काट दी गई?

REET का एग्ज़ाम देने गई लड़कियों के कपड़ों की अस्तीन क्यों काट दी गई?

क्या चीटिंग रोकने के लिए ऐसा किया या कारण कुछ और है?

जिस इवेंट में CJI ने औरतों के अधिकारों पर बात की, उसकी बार काउंसिल ने आलोचना क्यों कर दी?

जिस इवेंट में CJI ने औरतों के अधिकारों पर बात की, उसकी बार काउंसिल ने आलोचना क्यों कर दी?

CJI ने जुडीशरी में औरतों की 50 प्रतिशत भागीदारी पर जोर दिया, साथ ही इंफ्रास्ट्रक्चरल बदलावों की बात की.

आइसलैंड से आई एक गलत खबर और दुनिया में जेंडर इक्वालिटी पर बहस छिड़ गई

आइसलैंड से आई एक गलत खबर और दुनिया में जेंडर इक्वालिटी पर बहस छिड़ गई

आइसलैंड की कौन सी बात उसे भारत से कई गुना बेहतर देश बनाती है?

कोविड से जूझते हुए UPSC में तीसरी रैंक लाने वाली अंकिता जैन ने ऐसे की तैयारी

कोविड से जूझते हुए UPSC में तीसरी रैंक लाने वाली अंकिता जैन ने ऐसे की तैयारी

अंकिता के पति IPS हैं, बहन ने भी 21वीं रैंक हासिल की है.

महिला अधिकार कार्यकर्ता कमला भसीन का 75 वर्ष की उम्र में निधन

महिला अधिकार कार्यकर्ता कमला भसीन का 75 वर्ष की उम्र में निधन

नारीवाद और पितृसत्ता पर कई किताबें लिखी हैं, जिनमें से कई का 30 से अधिक भाषाओं में अनुवाद हुआ.

UPSC की महिला टॉपर जागृति अवस्थी, BHEL में इंजीनियर थी, नौकरी छोड़ दूसरे प्रयास में पाई सफलता

UPSC की महिला टॉपर जागृति अवस्थी, BHEL में इंजीनियर थी, नौकरी छोड़ दूसरे प्रयास में पाई सफलता

ग्रामीण, महिला और बाल विकास के क्षेत्र में काम करना चाहती हैं.