Submit your post

Follow Us

तिहाड़ जेल से बाहर आएंगी जामिया की सफ़ूरा ज़रगर, हाई कोर्ट ने ज़मानत दे दी है

जामिया मिल्लिया इस्लामिया की स्टूडेंट सफ़ूरा ज़रगर को बेल मिल गई है. दिल्ली हाई कोर्ट में 23 जून को सफ़ूरा की ज़मानत याचिका पर सुनवाई हुई. कोर्ट ने उनकी याचिका मंज़ूर करते हुए उन्हें ज़मानत दी है. दरअसल, सफ़ूरा प्रेगनेंट हैं, प्रेग्नेंसी का 23वां हफ्ता चल रहा है. वो इस वक्त तिहाड़ जेल में बंद हैं. कोरोना वायरस के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं, ऐसे में उनकी सेहत का ध्यान रखते हुए ज़मानत की मांग की जा रही थी.

किसने क्या कहा हाई कोर्ट में?

‘लाइव लॉ’ के मुताबिक, सफ़ूरा की तरफ से कोर्ट में वकील नित्या रामकृष्ण पेश हुए. वहीं स्टेट की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता और ASG अमन लेखी पेश हुए. तुषार मेहता ने कहा कि कुछ ज़रूरी शर्तों के साथ सफ़ूरा को मानवीय आधार पर रेगुलर बेल दी जा सकती है, इसके लिए स्टेट भी तैयार है.

उन्होंने आगे कहा कि इस बेल को मिसाल की तरह नहीं देखा जाना चाहिए. इसके अलावा स्टेट की तरफ से ये भी शर्त रखी गई कि सफ़ूरा को दिल्ली में ही रहना होगा. इस पर सफ़ूरा के वकील नित्या ने कहा कि उन्हें फरीदाबाद जाने की परमिशन दी जाए, क्योंकि वहां उनके डॉक्टर का क्लिनिक है. दिल्ली पुलिस की तरफ से भी कहा गया कि मानवीय आधार पर बेल दी जा सकती है.

इन सारे पक्षों और तर्कों को सुनने के बाद जस्टिस राजीव शकधर की बेंच ने सफ़ूरा को रेगुलर बेल देने की परमिशन दी. साथ ही दस हज़ार रुपए का पर्सनल बॉन्ड भरने को कहा. इसके अलावा कुछ शर्तें भी रखीं-

– सफ़ूरा वैसी गतिविधियों में शामिल नहीं हो सकती हैं, जिसे लेकर उनके खिलाफ जांच चल रही है.

– जांच में बाधा डालने से बचना होगा.

– दिल्ली का क्षेत्र छोड़ने से पहले उन्हें कोर्ट से परमिशन लेनी होगी.

– हर 15 दिन में फोन कॉल के ज़रिए एक न एक बार जांच अधिकारी से संपर्क करना होगा.

इसके आगे कोर्ट ने कहा कि इस बेल को, न तो इस केस में और न ही दूसरे किसी केस में मिसाल के तौर पर नहीं पेश किया जाए.

सफ़ूरा की ज़मानत याचिका इससे पहले दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट से खारिज हो गई थी, इसके बाद उन्होंने 4 जून को दिल्ली हाई कोर्ट में इस फैसले के खिलाफ याचिका डाली थी.

क्या आरोप लगे हैं सफ़ूरा पर?

सफ़ूरा 27 बरस की हैं. उन्हें दिल्ली पुलिस ने 10 अप्रैल को गिरफ्तार किया था. सफ़ूरा पर आरोप लगा है कि नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में फरवरी में जो हिंसा हुई थी, उसमें उनका भी हाथ था. दिल्ली पुलिस ने अनलॉफुल एक्टिविटी प्रिवेंशन एक्ट (UAPA) के तहत उनके खिलाफ केस दर्ज किया है.

इसके पहले जब सफ़ूरा के प्रेगनेंट होने की बात सामने आई थी, तो सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने गंद मचा दी थी. लोग सफ़ूरा के चरित्र पर सवाल उठाने लगे थे, पूछने लगे थे कि बच्चा किसका है, कुछ लोगों ने तो शाहीन बाग को अय्याशी का अड्डा तक कह दिया था. तब क्या बवाल हुआ था ये पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.


वीडियो देखें: तिहाड़ में बंद प्रेगनेंट जामिया स्टूडेंट सफ़ूरा के ‘नाजायज़’ कहे जा रहे बच्चे का सच क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

लड़की की शादी होने वाली थी, इसलिए टिकटॉक स्टार ने सरेआम उसकी हत्या कर दी

लड़की से एकतरफा प्यार करता था, शादी करना चाहता था.

सरोगेसी से जन्मे बच्चों को नेपाल में बेचने वाले गिरोह की दो महिलाएं और तीन पुरुष अरेस्ट

इस गिरोह की मदद हरियाणा के दो अस्पताल और नेपाल की डॉक्टर करती थी!

गुजरात: पिता ने गर्भवती नाबालिग बेटी को 50 हजार में उसके बॉयफ्रेंड को बेचा!

और पैसे मांगने पर बॉयफ्रेंड ने अपनी गर्लफ्रेंड को घर से निकाल दिया.

रेपिस्ट को पकड़वाने के लिए इस महिला ने बेहद सूझ-बूझ वाला काम किया

लगभग पौन घंटे तक पुलिस पीछा करती रही रेपिस्ट का.

ट्रेन पकड़ने में मदद के बहाने दो RPSF आरक्षकों ने नाबालिग का रेप कर उसे सड़क पर छोड़ा

16 साल की लड़की दिल्ली में फंसी थी, अपने घर जाना चाहती थी.

नहाने का वीडियो बनाकर लड़के सेक्स की डिमांड कर रहे थे, लड़की ने खुद को जला लिया

15 साल की लड़की को ब्लैकमेल कर रहे थे लड़के.

जादू-टोने के शक में की चाची की हत्या, कटा सिर लेकर 13 किलोमीटर दूर थाने पहुंचा

घटना ओडिशा की है.

ठाणे नगर निगम के अस्पताल पर आरोप- COVID नेगेटिव गर्भवती महिला को तीन दिन कोरोना वॉर्ड में रखा

महिला के पति ने बताई पूरी कहानी.

दर्शन के लिए आई महिला से रेप के आरोप में दिगम्बर जैन मुनि गिरफ्तार

आरोपी के पास से चार हार्ड डिस्क, कई स्मार्ट फोन और कई साधारण फोन मिले.

एक्ट्रेस के बेटे ने ट्रांस महिला के साथ जो शर्मनाक हरकत की, उस पर बवाल बढ़ रहा है

इस एक्ट्रेस ने कहा, 'बेटे का साथ नहीं दूंगी.'