Submit your post

Follow Us

राजस्थान: लापरवाही से प्रेग्नेंट महिला की मौत का आरोप लगा 4 दिन से धरने पर गांववाले

राजस्थान का चुरू ज़िला. चार दिन पहले यहां के बूकना गांव में एक पुजारी को ज़िंदा जला दिया गया था. अब इसी ज़िले के रामपुरा बेरी गांव से एक प्रेग्नेंट महिला की मौत का मामला सामने आया है. महिला के पति और गांववालों का आरोप है कि डॉक्टर ने गलत दवा दी थी, जिसकी वजह से उसकी मौत हुई. चार दिन बाद भी अभी तक शव का अंतिम संस्कार नहीं किया गया है. गांववाले धरने पर हैं. इसे लेकर सियासत भी गरमा गई है. इलाके में तनाव फैला हुआ है.

क्या है पूरा मामला?

‘इंडिया टुडे’ की रिपोर्ट के मुताबिक, रत्ना मीणा की प्रेग्नेंसी का आठवां महीना चल रहा था. 9 अक्टूबर को उनकी तबीयत थोड़ी बिगड़ी तो पति राजेंद्र मीणा उन्हें प्राइमरी हेल्थ सेंटर (PHC) ले गए. राजेंद्र और गांववालों का आरोप है कि हेल्थ सेंटर के डॉक्टर ने रत्ना को गलत इंजेक्शन लगा दिया. उसकी वजह से रत्ना को कान से खून बहने लगा, और मुंह से झाग निकलने लगे.

गांववालों ने दावा किया कि गलत दवा का रिएक्शन देखने के बाद डॉक्टर ने रत्ना को राजगढ़ तहसील के अस्पताल के लिए रेफर कर दिया. खुद अस्पताल से भागने की कोशिश करने लगा. राजेंद्र का कहना है कि उनकी पत्नी को प्रेग्नेंसी में किसी तरह की दिक्कत नहीं थी, लेकिन डॉक्टर की गलत दवा की वजह से मौत हो गई. राजेंद्र मीणा कहते हैं,

गलत दवा की वजह से मेरी पत्नी की तबीयत बिगड़ गई. डॉक्टर ने हमसे कहा कि रत्ना को राजगढ़ ले जाएं. वह खुद PHC से भागने लगे. वहां एक एंबुलेंस भी खड़ी थी, PHC के सामने. लेकिन डॉक्टर ने एंबुलेंस मुहैया कराने से मना कर दिया. ये कहकर कि वह इमरजेंसी के लिए है.

राजगढ़ जाने पर मुझसे गया गया कि मैं पत्नी को चुरू ज़िले के हेडक्वार्टर लेकर जाऊं. जब मैं वहां पहुंचा तो बताया गया कि तीन घंटे पहले ही रत्ना की मौत हो गई है. वहां का स्टाफ ये पूछने के बजाय कि मैं डेडबॉडी लेकर घंटों से क्यों घूम रहा हूं, मुझसे पूछ रहे थे कि मुझे शव कहां से मिला? मेरे पास क्या सबूत है कि मैं उसका पति हूं?

Churu 2
डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए गांववाले धरने पर बैठ गए. (फोटो- देव/विजय चौहान)

धरने पर गांववाले

महिला की मौत के बाद परिवार और गांववाले धरने पर बैठ गए. उनकी मांग थी कि न्याय दिया जाए, डॉक्टर के खिलाफ एक्शन हो और पीड़ित परिवार को मुआवज़ा मिले. महिला का शव डीप फ्रिज़ में रखा गया है. खबर लिखे जाने तक अंतिम संस्कार नहीं हुआ था. गांववालों का कहना है कि मांग पूरी हुए बिना अंतिम संस्कार नहीं करेंगे. एक गांववाले ने ‘इंडिया टुडे’ से बातचीत में कहा,

PHC के डॉक्टर समेत पूरे मेडिकल स्टाफ के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए. राजेंद्र मीणा को न्याय मिलना चाहिए. उन्हें 10 लाख रुपए का मुआवज़ा भी मिलना चाहिए.

पुलिस पर लाठीचार्च का आरोप

‘इंडिया टुडे’ की रिपोर्ट के मुताबिक, कांग्रेस की विधायक कृष्णा पूनिया ने 11 अक्टूबर रविवार को गांव का दौरा किया. गांव की महिलाओं ने उनसे मिलने की कोशिश की तो पुलिस ने कथित तौर पर फोर्स का इस्तेमाल करके गांववालों को रोका. इससे नाराज गांववालों ने पत्थरबाज़ी कर दी. इससे इलाके में तनाव बढ़ गया. हालात काबू करने के लिए ज्यादा पुलिसबल तैनात करना पड़ा.

वहीं बीजेपी ने इस मामले को लेकर सीएम अशोक गहलोत पर निशाना साधा है. BJP के नेता और राजस्थान विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौर ने भी गांव का दौरा किया. कहा कि एक महिला जो मां बनने वाली थी, PHC की लापरवाही से उसकी मौत हो गई. इसके अलावा, बाकी पार्टियों के नेताओं ने भी गांव पहुंचकर पीड़ित परिवार के प्रति समर्थन जताया है.

क्या कार्रवाई हुई?

‘इंडिया टुडे’ के देव और विजय चौहान की रिपोर्ट के मुताबिक, गांववालों और नेताओं की एक टीम ने ज़िला प्रशासन से बात की. 12 अक्टूबर यानी सोमवार को मीटिंग हुई. इसमें SP और कलेक्टर भी मौजूद रहे. मीटिंग के बाद पीड़ित परिवार को करीब 10 लाख रुपए का मुआवज़ा देने पर सहमति हुई है. डॉक्टर को PHC से हटा दिया गया है, अगली पोस्टिंग नहीं दी गई है. डॉक्टर के खिलाफ IPC की धारा 304ए (गैर इरादतन हत्या) के तहत केस दर्ज हुआ है. गांववालों ने अंतिम संस्कार के लिए हामी भर दी है.


वीडियो देखें: राजस्थान में जमीन के विवाद में पुजारी की हत्या पर BJP ने उठाए सवाल

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

रिया चक्रवर्ती की मां ने बताया, किस हाल में है पूरा परिवार

और जानिए, साहित्य में नोबेल पाने वाली 16वीं महिला कौन है?

बालाकोट एयरस्ट्राइक में वायुसेना की इस अधिकारी ने दमखम दिखाया था, अब मिला बड़ा सम्मान

और जानिए, रंगभेद की वजह से सेरेना विलियम्स ने क्या कुछ झेला.

बिहार चुनाव में बेहद खास ज़िम्मेदारी संभालने जा रही हैं ये ट्रांसजेंडर महिला

और जानिए सबसे लंबे पैरों वाली लड़की के बारे में, जो अब गिनीज़ बुक में भी आ चुकी है.

IIT एंट्रेंस में टॉप करने वाली इस लड़की की बातें सुनकर दिल एकदम खुश हो जाएगा

और जानिए कि रिया चक्रवर्ती के बारे में अब क्या नई खबर आई है.

हाथरस केस: इस BJP विधायक ने एक बार फिर जहालत भरी बात कर दी है!

विधायक के बयान की आलोचना शुरू हो गई है.

बीजेपी-कांग्रेस की नेताओं पर सेक्स रैकेट चलाने का आरोप

और जानिए भदोही मामले में पुलिस ने क्या दावा किया.

देश में सामने आए रेप के इतने केस, आंकड़े शर्म से सिर झुकाने वाले हैं

यह भी पढ़ें- एक महिला ने तोड़ी जाति की बेड़ियां, दूसरी ने लॉकडाउन में कमाल कर दिया

शाहरुख की बेटी का दर्द छलका, कैसे सांवली होने पर लोग 'बदसूरत' कहा करते थे

और जानिए हाथरस कथित गैंगरेप में पुलिस पर लगे गंभीर आरोपों के बारे में.

यूपी की 'अतिक्रमण स्पेशलिस्ट' के बारे में जानकर आप तारीफ किए बिना नहीं रहेंगे

और हाथरस मामले में सोशल मीडिया पर चल रही ख़बरों के बीच पुलिस ने क्या कहा?

सौ रुपए के एक नोट ने इस महिला को खूब सारी दुआएं दिला दीं!

वो कहते हैं न, देने वाले का दिल देखो, दान नहीं.