Submit your post

Follow Us

राजस्थान: नाबालिग बहनों का आरोप- तीन दिन तक गैंगरेप हुआ, पुलिस ने कहा कि बयान तो ऐसा नहीं दिया था

यूपी के हाथरस में कथित गैंगरेप. बलरामपुर में भी गैंगरेप का आरोप. केवल यही दो ऐसी घटनाएं नहीं हैं, जो दुखी कर रही हैं. आज यानी 1 अक्टूबर को लड़कियों और औरतों के साथ अपराधों की कई खबरें एक के बाद एक सुनने को मिलीं. ऐसा भी नहीं कि ये अपराध अचानक ही बढ़ गए. हाथरस की घटना ने लोगों का ध्यान एक बार फिर इनकी तरफ खींचा. औरतों के रेप, यौन शोषण और मर्डर की घटनाओं की तरफ. सभी के बारे में तो बता नहीं पाएंगे, इसलिए उन तीन घटनाओं के बारे में बता रहे हैं, जो राजस्थान पुलिस पर सवाल खड़े कर रही हैं.

1. बारां में दो नाबालिग लड़कियों का कथित गैंगरेप

बारां ज़िला. यहां रहने वाली दो नाबालिग बहनों ने 30 सितंबर को आरोप लगाया कि किडनैप करके उनका गैंगरेप किया गया था. उनके पिता ने भी यही दावा किया. परिवार ने पास ही रहने वाले दो लड़कों के ऊपर किडनैपिंग और गैंगरेप के आरोप लगाए हैं. दोनों लड़के भी नाबालिग हैं. लड़कियों की उम्र 15 और 13 बरस है.

क्या है पूरा मामला?

‘इंडिया टुडे’ के राम मेहता और शरत कुमार की रिपोर्ट के मुताबिक, 18 सितंबर की रात दोनों बहनें घर से गायब हो गईं. आस-पास खोजा गया. नहीं मिलीं. पिता बारां महिला थाना गए. घर के पास रहने वाले दो लड़कों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई. शक जताया कि दोनों उनकी बेटियों को बहला-फुसलाकर किडनैप करके ले गए. IPC की धारा 363 के तहत केस दर्ज किया गया. 21 सितंबर को एक आरोपी लड़के ने फेसबुक पर लड़कियों के साथ फोटो डाली. उससे लोकेशन ट्रेस की गई. कोटा में होने का पता चला. पिता खुद पुलिस के साथ कोटा गए. बच्चियों को खोजा. उन्हें बारां लाया गया. दोनों आरोपी लड़कों को भी लाया गया.

CrPc के सेक्शन 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने बच्चियों से पूछताछ की गई. फिर उन्हें पांच दिन के लिए सखी केंद्र भेजा गया. कुछ दिन आरोपी लड़के हिरासत में रहे. फिर वो भी छूट गए. लड़कियों को भी घर भेज दिया गया. अब 30 सितंबर को लड़कियों ने मीडिया के सामने आकर आरोप लगाया कि उनका रेप हुआ था.

क्या कहा लड़कियों ने?

बड़ी बहन ने कहा,

“वो दोनों लड़के हमें ज़बरन लेकर गए. 18 सितंबर की रात में. हमारे मुंह पर कपड़ा बांधकर ले गए थे. पहले कोटा, फिर जयपुर, फिर दोबारा कोटा ले गए. वहां दो-तीन लड़के और आए. सबने हमारे साथ गलत काम किया. वो धमकी देते थे कि अगर हम किसी को बताएंगे तो मां-बाप को मार देंगे. फिर 21 सितंबर को पिताजी आए पुलिस के साथ. पुलिस को हमने सबकुछ बताया. लेकिन हम डरे हुए थे क्योंकि मां-बाप को मारने की धमकी दी थी. इसलिए मजिस्ट्रेट के सामने हमने बयान बदल दिया.”

छोटी बहन ने कहा,

“हमें ज़बरन लेकर गए थे वो लोग. वही लोग हमारे लिए खाना लाते थे. हमें खिलाते थे. फिर हमें कुछ होश नहीं रहता कि वो हमारे साथ क्या करते थे. मुझे नहीं पता कितनों ने गलत किया. एक लड़के को बस जानती हूं मैं. उन्होंने धमकी दी थी कि अगर पुलिसवालों के सामने मुंह खोल दिया तो मार देंगे. कुछ पता नहीं है, कहां लेकर गए.”

बच्चियों के पिता कहना है,

“पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. लड़कों को भी छोड़ दिया. बेटियों को सखी केंद्र में भेज दिया. डराया धमकाया. फिर जब बच्चियां घर आईं, तो उन्होंने सारी बात बताई. मेरी बेटियों के साथ बहुत गलत हुआ है. हमें न्याय चाहिए. उन्हें सज़ा मिलनी चाहिए.”

पुलिस क्या कहती है?

बारां के SP (सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस) रवि सबरवाल का कहना है कि बच्चियों का बयान लेने के लिए मजिस्ट्रेट साहब खुद सखी केंद्र गए थे. वहां बच्चियों ने खुद बताया कि उनके साथ कुछ गलत नहीं हुआ. वो अपनी मर्ज़ी से उन लड़कों के साथ गई थीं. SP ने कहा,

“मजिस्ट्रेट साहब के सामने बच्चियों ने कहा कि उनके पिता उन्हें कहीं घुमाने नहीं ले जाते थे, इस कारण से वे कोटा चली गई थीं घूमने. कोई गलत काम नहीं हुआ. मजिस्ट्रेट साहब ने बाकायदा इसे लिखित में हमें प्रोवाइड किया. इन तथ्यों के आधार पर 164 के तहत दिए गए बयान, लड़कियों के बयान, सखी केंद्र में इन्होंने जो बयान दिया, उसका विश्लेषण किया जा रहा है.

चूंकि लड़कियों ने कोई ज़ोर-ज़बरदस्ती होने से इनकार किया था. साथ ही, मेडिकल जांच से भी पता चला कि किसी प्रकार की ज़ोर-ज़बरदस्ती नहीं हुई थी. इन सब आधार पर हम जांच कर रहे हैं. हम जांच को बंद नहीं कर रहे हैं. इसमें अगर कोई और एंगल है तो उसमें हम ज़रूरी कार्रवाई करेंगे.”

Baran Sp Ravi Sabharwal
बारां  के SP रवि सबरवाल ने कहा, लड़कियों ने मजिस्ट्रेट के सामने रेप जैसी कोई बात नहीं कही थी.  (फोटो- राम मेहता)

SP से जब पूछा गया कि लड़कियों ने मीडिया में कहा है कि बयानों को लेकर उन्हें धमकी दी गई थी. इस पर क्या कहेंगे? जवाब में SP ने कहा,

“164 Crpc के बयान का यही मतलब है कि पीड़िता इंडिपेंडेंट एजेंसी मजिस्ट्रेट के सामने बिना डरे अपना बयान दे सके. और उनके सामने लड़कियों ने बयान दिए हैं. फिर भी अगर बच्चियों को लगता है कि उस समय उन्होंने जो बयान दिए, वो किसी ज़ोर-ज़बरदस्ती में दिए थे, तो हम उनसे दोबारा मजिस्ट्रेट साहब से परमिशन लेकर उनके बयान करा देंगे. उसमें जो तथ्य सामने आएंगे, उसके हिसाब से केस आगे बढ़ाया जाएगा.”

‘दी लल्लनटॉप’ ने जब इस मुद्दे पर SP को कॉल किया और मेडिकल टेस्ट की रिपोर्ट के बारे में पूछा, तो बड़ा ही गोल-मोल सा जवाब मिला. कहा गया कि अभी रिपोर्ट भेजी जा रही है, अभी पूरी आई नहीं है. वो साफ-साफ क्या कहना चाह रहे थे, ये समझ नहीं आया.

दोबारा मजिस्ट्रेट के सामने बयान लिया जाएगा

हालिया अपडेट ये है कि अब दोबारा मजिस्ट्रेट के सामने लड़कियों का बयान लिया जाएगा. लड़कियों ने पुलिस से कहा है कि वो अपना बयान बदलना चाहती हैं. अब पुलिस ने दोबारा बयान लेने के लिए मजिस्ट्रेट को लिखा है और इस मामले में धारा 376 (रेप) भी लगाने का फैसला किया है.

सीएम ने कहा- हाथरस से कम्पेयर न करो

सोशल मीडिया पर इस मामले को हाथरस की घटना से कम्पेयर किया जा रहा है. ये बात राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत को ज़रा भी रास नहीं आई. इसलिए उन्होंने लगातार दो-तीन ट्वीट करके कहा,

सीएम ने ट्वीट तो कर दिया. मेडिकल करवाने की भी बात कही, लेकिन उसका नतीजा क्या आया, ये तो बताया नहीं. हालांकि घटना को लेकर बीजेपी के प्रदर्शन के बाद रेप की धाराओं में केस दर्ज करके फिर से मजिस्ट्रेट के सामने बयान कराने की घोषणा की गई है.

2. 17 बरस की बच्ची एक साल में 8-10 बार रेप का शिकार हुई!

सवाई माधोपुर ज़िला. यहां कुछ दिन पहले एक FIR दर्ज कराई गई. 16 बरस की एक लड़की और उसके परिवार की तरफ से. बीजेपी महिला मोर्चा की पूर्व ज़िला अध्यक्ष सुनीता वर्मा समेत अन्य लोगों के खिलाफ. आरोप लगे कि सुनीता ने पिछले अक्टूबर से इस साल अगस्त के महीने में 8 से 10 बार बच्ची का रेप करवाया. मामला जब सामने आया, तब सुनीता बीजेपी महिला मोर्चा ज़िला अध्यक्ष थीं. गंभीर आरोप लगने के बाद बीजेपी ने उन्हें पद से हटा दिया.

क्या है पूरा मामला?

‘इंडिया टुडे’ सुनील जोशी ने बताया कि पूजा नाम की एक महिला से बच्ची की जान पहचान हुई थी. उसी ने बच्ची की मुलाकात सुनीता से करवाई. बच्ची ने पुलिस को शिकायत में बताया कि सुनीता और पूजा ने उसे बहला-फुसलाकर, पैसों का लालच दिया. और कई लोगों के पास भेजा. कभी किसी होटल में, तो कभी कहीं और. जहां रेप हुआ. तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर मुंह बंद कराया गया.

मामला सामने कैसे आया?

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ दिन पहले बच्ची के घर से पैसे गायब हो गए. परिवार वालों ने उससे पूछताछ की. उसने बताया कि सुनीता ने उससे पैसे मंगवाए थे. फिर बच्ची ने सारी बातें पैरेंट्स को बताई. पैरेंट्स पुलिस के पास पहुंचे. शिकायत दर्ज कराई. सुनीता समेत चार लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है. पूजा अभी फरार है.

गिरफ्तार हुए आरोपियों में सुनीता का साथी हीरालाल, जिला उद्योग केंद्र का कर्मचारी संदीप शर्मा शामिल हैं. चौथा आदमी कलेक्ट्रेट में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी श्योरण मीणा है. श्योरण मीणा पर बच्ची का रेप करने का आरोप लगा है. इसके अलावा पूजा को लेकर ये बात दावा किया जा रहा है कि उसका असली नाम पूनम चौधरी है. वो कांग्रेस सेवादल के महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष है. ये बात सामने आने पर बीजेपी-कांग्रेस दोनों में उथल-पुथल मची हुई है.

महिला सेल के पुलिस उप-अधीक्षक ओम प्रकाश सोलंकी ने कहा,

“सुनीता वर्मा और हीरालाल साथ में ही हैं. इनसे पूछताछ की जा रही है. इन्हें कोर्ट में पेश किया गया है. पीड़िता ने अपनी शिकायत में कहा है कि इन लोगों ने 8 से 10 अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग लोगों से उसका दुष्कर्म कराया. हम और जांच कर रहे हैं. जल्द से जल्द इसका पर्दाफाश करने की कोशिश है हमारी.”

On Prakash Solanki
महिला सेल के पुलिस उप-अधीक्षक ओम प्रकाश सोलंकी. (फोटो- सुनील जोशी)

मुख्य आरोपी सुनीता की गिरफ्तारी 26 सितंबर को हो गई थी. 3 अक्टूबर तक पुलिस रिमांड पर भेजा गया है. बच्ची का मेडिकल हो गया है. ओम प्रकाश सोलंकी ने बताया कि मेडिकल तो हो गया है, लेकिन भी रिपोर्ट आना बाकी है.

Bharat Lal Mathuria
बीजेपी ज़िला अध्यक्ष डॉक्टर भरत लाल मथुरिया

मामले से बीजेपी ने पल्ला झाड़ लिया है. बीजेपी ज़िला अध्यक्ष डॉक्टर भरत लाल मथुरिया ने कहा,

“ये कृत्य निंदनीय है. अपराधी जो भी हो, उसे कानून के तहत दंड मिलना चाहिए. हमें तो ये लगता था कि ये (सुनीता) गरीब महिलाओं की डायरी बनाती है, उनकी मदद करती है. हम तो उन्हें अच्छा कार्यकर्ता समझते थे, लेकिन उसी की आड़ में ये धंधा पनप गया, ये बड़ी चिंता की बात है. इसका जो कानून करेगा, वो करेगा. लेकिन हम भी प्रयास करेंगे कि इस तरह की गलती दोबारा न हो. मैं यही कहूंगा कि किसी पार्टी से कोई मतलब नहीं है, ये सिस्टम की गड़बड़ी है. गरीबों की मदद के बहाने ये सब कर दिया.”

3. अजमेर के एक गांव में महिला रेप की शिकार!

अजमेर ज़िला. यहां के एक गांव की महिला ने अपने ही गांव के एक आदमी पर रेप के आरोप लगाए हैं. थाने में शिकायत दर्ज कराई है. हालांकि अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है.

क्या है पूरा मामला?

‘इंडिया टुडे’ के चंद्रशेखर शर्मा की रिपोर्ट के मुताबिक, एक शादीशुदा महिला अपने मायके आई थी. महिला ने पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाया कि गांव का एक आदमी टीपू सुल्तान उसे जबरन खेतों में लेकर गया. रेप किया. उसके दोस्त भी पास में मौजूद थे.

महिला ने मीडिया से कहा,

“मैं ससुराल से मायके आई थी. मम्मी से मिलकर वापस घर जा रही थी. वो (टीपू) मुझे रास्ते में मिला. छत से इशारा किया और कहा आगे चल. खेत में लेकर गया. फिर रेप किया. तीन लोग थे वहां. दो को मैं नहीं जानती, एक को जानती हूं. मैंने मम्मी को सारी बात बताई है. पुलिस में भी शिकायत कर दी है.”

Satendra Negi
थाना प्रभारी सतेंद्र नेगी. (फोटो- चंद्र शेखर शर्मा)

पुलिस क्या कहती है?

थाना प्रभारी सतेंद्र नेगी ने मीडिया से कहा,

“महिला ने शिकायत में बताया कि गांव के ही एक आदमी ने उसका रेप किया. रात में जब घरवाले उसे खोजने लगे, तब आरोपी ने महिला को घर के पास छोड़ दिया और भाग गया. केस दर्ज कर लिया गया है. जांच हो रही है. आरोपी की तलाश जारी है.”


वीडियो देखें: हाथरस के कथित गैंगरेप मामले में पुलिस पर गंभीर आरोप लग रहे हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

शाहरुख की बेटी का दर्द छलका, कैसे सांवली होने पर लोग 'बदसूरत' कहा करते थे

शाहरुख की बेटी का दर्द छलका, कैसे सांवली होने पर लोग 'बदसूरत' कहा करते थे

और जानिए हाथरस कथित गैंगरेप में पुलिस पर लगे गंभीर आरोपों के बारे में.

यूपी की 'अतिक्रमण स्पेशलिस्ट' के बारे में जानकर आप तारीफ किए बिना नहीं रहेंगे

यूपी की 'अतिक्रमण स्पेशलिस्ट' के बारे में जानकर आप तारीफ किए बिना नहीं रहेंगे

और हाथरस मामले में सोशल मीडिया पर चल रही ख़बरों के बीच पुलिस ने क्या कहा?

सौ रुपए के एक नोट ने इस महिला को खूब सारी दुआएं दिला दीं!

सौ रुपए के एक नोट ने इस महिला को खूब सारी दुआएं दिला दीं!

वो कहते हैं न, देने वाले का दिल देखो, दान नहीं.

क्या सुनील गावस्कर पर अनुष्का शर्मा बेवजह भड़क गईं?

क्या सुनील गावस्कर पर अनुष्का शर्मा बेवजह भड़क गईं?

और जानिए पूनम पांडे के ट्रोल होने के पीछे की कहानी.

कश्मीर की 'पत्थरबाज़' पीएम मोदी के साथ क्या कर रही हैं

कश्मीर की 'पत्थरबाज़' पीएम मोदी के साथ क्या कर रही हैं

अफशां आशिक की वो कहानी, जो शायद ही कोई भूल पाए.

BJP की इस नेता पर अब पार्टी के ही नेता को पीटने का आरोप लगा है

BJP की इस नेता पर अब पार्टी के ही नेता को पीटने का आरोप लगा है

और, इस पुलिसवाली को देखकर आप गर्व से भर जाएंगे!

रफाल जेट उड़ाने वाली पहली महिला IAF ऑफिसर से मिलिए!

रफाल जेट उड़ाने वाली पहली महिला IAF ऑफिसर से मिलिए!

और जानिए टाइम मैगजीन ने इन दादी को अपनी लिस्ट में क्यों जगह दी है.

अनुराग कश्यप के खिलाफ़ बोल तो दिया, अब पायल घोष का आगे क्या होगा?

अनुराग कश्यप के खिलाफ़ बोल तो दिया, अब पायल घोष का आगे क्या होगा?

जानिए क्या हुआ है बॉलीवुड में पुराने #मीटू केसेज का.

दस साल की बच्ची ने ऐसा काम किया कि लोग खड़े होकर तालियां बजायेंगे!

दस साल की बच्ची ने ऐसा काम किया कि लोग खड़े होकर तालियां बजायेंगे!

इसी के साथ पढ़िए नुसरत जहां और दीपिका पादुकोण क्यों वायरल हो रही हैं.

दो महिला अधिकारी नौसेना में इतिहास रचने को तैयार हैं

दो महिला अधिकारी नौसेना में इतिहास रचने को तैयार हैं

आखिर ऐसी क्या खास बात होने जा रही है नेवी में?