Submit your post

Follow Us

बंगाल में लड़की की मौत को 'रेप के बाद हत्या' कहा जा रहा था, पर हकीकत क्या है?

बंगाल का दिनाजपुर जिला. यहां के सोनपुर गांव में रविवार, 19 जुलाई को 16 साल की एक लड़की का शव मिला. उसके घर से 500 मीटर की दूरी पर. गांववालों ने आरोप लगाया कि कथित तौर पर उसका रेप कर हत्या की गई है. कुछ देर में स्थानीय लोगों ने इस मामले पर राजनीति शुरू कर दी. लोगों ने सड़कों पर प्रदर्शन किया. गाड़ियों को आग लगा दी गई. तोड़फोड़ की. सड़कें जाम कर दीं गईं. कहा गया कि जब तक आरोपी नहीं पकड़ा जाएग, तब तक वो प्रदर्शन करते रहेंगे. भीड़ पर काबू पाने के लिए पुलिस फोर्स बुलाई गई. और जैसे-तैसे काबू पाया गया. अब इस आगजनी और तोड़फोड़ में पुलिस ने 15 लोगों को हिरासत में ले लिया है.

अब क्या पता चला?

इस मामले में अपडेट ये है कि लड़की की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आ गई है. इसके मुताबिक, शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं मिले हैं, न ही लड़की का यौन शोषण हुआ है. लड़की की मौत ज्यादा मात्रा में ज़हर खाने से हुई है. इसके अलावा, लड़की के परिवार के चार सदस्यों को देर रात पुलिस ने हिरासत में भी ले लिया है.

लड़की की बॉडी के पास से क्या मिला?

‘इंडिया टुडे’ की रिपोर्टर मनोज्ञा लोईवाल के मुताबिक, लड़की के घरवालों का कहना है कि उसे किडनैप किया गया था. और दूसरे दिन उसका शव घर से 500 मीटर की दूरी पर पाया गया गया. इसके साथ ही लड़की के शव के पास से एक लड़के का मोबाइल और ज़हर की कुछ बोतलें भी मिली हैं. लेकिन पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में यौन शोषण जैसा कुछ भी सामने नहीं आया है. ज्यादा मात्रा में ज़हर खाने से उसकी मौत हुई है. पुलिस ने इस मामले की जानकारी अपने ट्विटर हैंडल से भी दी है.

 पश्चिम बंगाल पुलिस ने खुद ट्वीट कर बताया था.
पश्चिम बंगाल पुलिस ने खुद ट्वीट कर बताया था कि लड़की की मौत ज़हर खाने से हुई है.

जिस लड़के को पुलिस ढूंढ रही थी, उसकी लाश मिली

वहीं, 20 जुलाई को पुलिस को एक तालाब में एक लड़के का शव मिला. उसी जगह से जहां लड़की की बॉडी मिली थी. और ये वही लड़का है, जिसका फोन लड़की की बॉडी के पास मिला था. पुलिस का कहना था कि लड़का, लड़की को जानता था. उन दोनों को पहले भी साथ में देखा गया था.  पुलिस के मुताबिक, वो लड़का फरार चल रहा था. लेकिन उसके पिता को पहले ही पुलिस कस्टडी ले लिया गया था. खैर, उस लड़के का शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा जा चुका है. पुलिस का कहना है कि अब वो दोनों केस की जांच करेगी और सभी पहलुओं पर गौर कर रही है. इसका भी पता लगा रही है कि इस घटना से पुलिस का ध्यान भटाकाने या गुमराह करने का तो प्रयास नहीं किया गया है.

परिवार का क्या आरोप था?

परिवार का आरोप था कि लड़की का कथित रूप से रेप हुआ और उसके बाद उसे मार दिया गया. वहीं, लड़की की बड़ी बहन का कहना था-

मेरी बहन शनिवार रात से ही गायब है. पूरी रात उसका इंतजार करते-करते रविवार सुबह को उसका शव बरगद के पेड़ के नीचे मिला. उसके मुंह में ज़हर था. उसका रेप हुआ था. हमें शक है कि पांच मुस्लिम व्यक्ति, जो उसे कल ढूंढ रहे थे, उन्होंने ही उसे मारा है. 

वहीं, पुलिस का कहना है कि लड़की को वो लड़का जानता था. पुलिस का कहना है कि दोनों के धर्म अलग-अलग होने के कारण भी ये मामला तूल पकड़ रहा है.

राजनीति होने लगी!

इस मामले में BJP का दावा है कि लड़की उनके एक कार्यकर्ता की बहन थी और इंसाफ के लिए पूरी पार्टी बड़े स्तर पर विरोध प्रदर्शन करेगी. बीजेपी नेताओं ने ममता सरकार पर महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सवाल भी उठाए हैं.

बीजेपी नेता राजू बिस्ता ने तो वीडियो बनाकर पोस्ट किया है. खुद देखिए-

वहीं, TMC नेता गौतम देब ने कहा था कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं. सरकार इस मामले में शामिल लोगों को गिरफ्तार करेगी और सजा भी देगी.

इंसाफ मांग रहे लोगों ने हिंसा की

लड़की का शव मिलने के बाद लोकल लोगों ने रविवार शाम 19 जुलाई को NH 31 हाइवे ब्लॉक कर दिया था. इंसाफ की मांग कर रहे लोग कहने लगे कि जब तक हत्यारे पकड़े नहीं जाते, उन्हें सजा नहीं मिलती, वो यूं ही प्रोटेस्ट करते रहेंगे.

हालात बिगड़ते देख मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई थी, आंंसू गैस के गोले छोड़े गए थे और हालात पर काबू पाया गया था.


वीडियो देखें : दरभंगा में मिली थी बच्ची की लाश, अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट ने बता दिया कि कैसे हुई थी मौत

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

आज की ख़बरों में ये महिलाएं छाई रहीं, वजह भी जान लीजिए

बड़े आविष्कारों से लेकर 12वीं की परीक्षा तक.

स्कॉच ब्राइट वालों ने ढंग का काम करना चाहा, ट्विटर पर लोगों ने उल्टी गंगा बहा दी

बात थी जेंडर से जुड़ी, बिंदी लेकर उड़ चले

बीजेपी में शामिल होने वाली वीरप्पन की बेटी को पार्टी ने कौन सी जिम्मेदारी दी?

फरवरी 2020 में बीजेपी में शामिल हुई थीं.

आज पूरे दिन ख़बरों में छाई रहने वाली ये महिलाएं कौन हैं?

और इन्होंने ऐसा क्या कर दिया कि स्पॉटलाइट इन पर पड़ी है.

COVID-19: क्वारंटीन सेंटर के भीतर का ये सीन देखकर आप उम्मीद से भर जाएंगे

जहां कोरोना से ज्यादा मजबूत है इंसानी हिम्मत और न हारने का जज्बा.

समलैंगिकता 'ठीक' करने के नाम पर शर्मिंदगी से भर देने वाली 'कन्वर्जन थेरेपी' क्या है

विदेश में भी इसे एक इलाज बताकर बेचा जाता है.

शुभम मिश्रा जैसे लड़कों से लड़कर कैसे जीतती हैं इंडिया की स्टैंड-अप कॉमिक लड़कियां?

जो पहले से ही एक ऐसे फील्ड में हैं जहां लड़कियां बेहद कम हैं

प्रवासी मजदूरों की लगातार मदद कर रही थीं, COVID-19 ने जान ले ली

पश्चिम बंगाल की सिविल सर्वेंट देबदत्ता रे की मौत.

आलिया भट्ट की बहन को मैसेज कर लोगों ने कहा, 'डिप्रेशन से मौत हो जाए, मां का रेप हो जाए'

शाहीन भट्ट ने ढेर सारे स्क्रीन शॉट्स लगाए हैं.

शादी की ये साइट गारंटी दे रही है कि इसपर मौजूद लड़के-लड़कियों ने कभी सेक्स नहीं किया?

आखिर 'वर्जिनिटी' के नाम पर ये हो क्या रहा है?