The Lallantop
Advertisement

दोपहर के खाने के बाद जमकर नींद आती है, वजह ये बीमारी भी हो सकती है

दोपहर के खाने के बाद कुछ लोगों को जमकर नींद आती है. ऐसा सिर्फ खाने की वजह से नहीं होता. इसके पीछे कई मेडिकल रीज़न भी हो सकते हैं.

Advertisement
why we feel sleepy after lunch
दोपहर के खाने के बाद अक्सर लोगों को नींद आती है
20 मई 2024 (Updated: 20 मई 2024, 15:55 IST)
Updated: 20 मई 2024 15:55 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

क्या आपके साथ भी ऐसा होता है कि आप ऑफिस में अच्छे भले काम कर रहे हैं. लंच करने गए. खाना खाया. फिर वापस अपनी सीट पर आए और आते ही कुछ ही देर के अंदर आपको ज़ोरों की नींद आने लगी. भयानक सुस्ती महसूस होने लगी. अगर आपके साथ ऐसा रोज़ होता है तो ध्यान देने की ज़रुरत है क्योंकि लंच करने के बाद नींद आना, सुस्ती महसूस होना, कभी-कभी केवल आपके खाने की वजह से होता है. पर कई बार इसके पीछे मेडिकल कारण भी होते हैं और आपको इसकी जानकारी नहीं होती. आज डॉक्टर से जानेंगे, दोपहर के खाने के बाद नींद, सुस्ती किन कारणों से महसूस होती है (Why We Feel Sleepy after Lunch). साथ ही जानेंगे कि इस समस्या का इलाज क्या है? 

दोपहर के खाने के बाद नींद, सुस्ती क्यों होती है?

ये हमें बताया डॉ. मंजूषा अग्रवाल ने. 

डॉक्टर मंजूषा अग्रवाल, सीनियर कंसल्टेंट, इंटरनल मेडिसिन, ग्लेनीगल्स हॉस्पिटल, मुंबई

जब हम कुछ हैवी खाते हैं. जैसे हाई कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, शुगर या डीप फ्राइड चीज़ें, तब हमें नींद और सुस्ती आती है. टर्की खाने के बाद भी बहुत नींद और सुस्ती होती है क्योंकि इसमें ट्रिप्टोफैन नाम के अमीनो एसिड की मात्रा अधिक होती है. दूध, चॉकलेट और कई सारे नट्स में ट्रिप्टोफैन पाया जाता है. इसलिए कहा जाता है कि रात में अगर आप एक कप दूध में हल्दी डालकर पिएं तो अच्छी नींद आएगी. इसके पीछे की वजह ट्रिप्टोफैन है. 

एक मेडिकल प्रॉब्लम भी होती है, जिसमें इंसान रात में ठीक से सो नहीं पाता. अगर रात में नींद पूरी नहीं होगी तो दिन में बहुत नींद आएगी. इसे ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया कहा जाता है. इसके मरीज़ों को खर्राटे आते हैं, मोटापा होता है, गला थोड़ा मोटा होता है. इनमें से ज्यादातर लोगों में डायबिटीज और ब्लड प्रेशर पाया जाता है. जब ब्लड शुगर कंट्रोल में नहीं होता तो खाना खाने के बाद ज़्यादा सुस्ती महसूस होती है. अगर हीमोग्लोबिन कम है तो भी खाना खाने के बाद सुस्ती होगी. थायरॉइड अंडरएक्टिव है तो भी खाना खाने के बाद बहुत नींद आएगी. अगर ये समस्या हो रही है तो डॉक्टर से ज़रूर मिलें. 

लंच में कम कैलोरी खाएंगे तो दोपहर में नींद नहीं आएगी
इलाज

अगर कोई मेडिकल समस्या नहीं है तो भी नींद और सुस्ती होती है, तब आप कम मात्रा में खाएं. कम कैलोरी खाएंगे तो ये समस्या नहीं होगी. अगर कोई चीज़ फ्राइड है तो उसे कम खाएं या कार्बोहाइड्रेट कम लें. पानी ज़्यादा पिएं और फ्रेश फल ज़्यादा खाएं. इससे खाना खाने के बाद नींद और सुस्ती कम आएगी. 

अगर आपको लंच करने के बाद आराम करने की, सोने की फुर्सत नहीं है तो कोशिश करिए आप बहुत ही लाइट लंच लें. ज़्यादा हैवी खाना खाएंगे तो नींद आएगी. पर अगर ऐसा लगातार हो रहा है तो ज़रूरी है कि आप डॉक्टर को दिखाकर जांच करवाएं. 

(यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से ज़रूर पूछें. दी लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.)

वीडियो: सेहत: गर्मियों में ठंडा-गर्म आपको बीमार क्यों कर देता है? इससे बचने का उपाय डॉक्टर से जानिए

thumbnail

Advertisement

Advertisement