The Lallantop
Advertisement

हाथ सुन्न पड़ना कब स्ट्रोक या ब्रेन अटैक का लक्षण हो सकता है?

हाथ सुन्न हो जाना बहुत आम समस्या है. ये किसी भी उम्र में हो सकती है. खासकर 30 से 40 साल वालों में ये समस्या काफी देखी जाती है. कुछ लोगों में सुबह उठते ही हाथ सुन्न महसूस होता है. ऐसा लगता है जैसे चींटी-सी चल रही है, हाथ में खून का बहाव नहीं हो रहा है.

Advertisement
numbness in hands and fingers causes and treatment
कई लोगों का हाथ रात में सोने के बाद सुन्न पड़ जाता है
11 जुलाई 2024
Updated: 11 जुलाई 2024 17:39 IST
font-size
Small
Medium
Large
whatsapp share

क्या आपके साथ कभी ऐसा हुआ है कि आप सोकर उठे हों और आपका हाथ या हाथों की कुछ उंगलियां सुन्न पड़ गई हों? ऐसा महसूस हो, जैसे उनमें जान ही नहीं है. जैसे बहुत सारी चीटियां चल रही हैं. ऐसे में आप तुरंत अपनी उंगलियां हिलाते हैं. हाथ घुमाते हैं और खुद को ठीक करने की कोशिश करते हैं.

अगर आपके साथ ऐसा अक्सर होता है. हर कुछ दिनों में आपका सुन्न पड़ जाता है तो इसे हल्के में बिल्कुल न लें. यह कुछ बीमारियों का लक्षण भी हो सकता है. ऐसे में आज डॉक्टर से जानेंगे कि उंगलियां या हमारा हाथ सुन्न क्यों पड़ जाता है? ये किन बीमारियों का लक्षण हो सकता है? और, इसका इलाज क्या है? 

उंगलियां, हाथ सुन्न क्यों महसूस होता है?

ये हमें बताया डॉक्टर कपिल सिंघल ने. 

doctor
डॉ. कपिल सिंघल, डायरेक्टर, न्यूरोलॉजी, फोर्टिस हॉस्पिटल, नोएडा

हाथ सुन्न हो जाना बहुत आम समस्या है. ये किसी भी उम्र में हो सकती है. खासकर 30 से 40 साल वालों में ये समस्या काफी देखी जाती है. कुछ लोगों में सुबह उठते ही हाथ सुन्न महसूस होता है. ऐसा लगता है जैसे चींटी-सी चल रही है, हाथ में खून का बहाव नहीं हो रहा है.

अगर हाथों को खून पहुंचाने वाली नर्व (तंत्रिका) में सेंसेशन ठीक से नहीं हो रहा है, तब हाथों में सुन्नपन हो सकता है. बहुत सारे लोगों का हाथ रात में सोने के बाद सुन्न पड़ जाता है. इसी तरह, टाइपराइटर पर कुछ देर काम करने या एक ही पोज़ीशन में फोन पकड़े रहने से भी ये होने लगता है. हाथों में सुन्नपन होने का एक बहुत आम कारण कार्पल टनल सिंड्रोम (Carpal Tunnel Syndrome) है.

कार्पल टनल सिंड्रोम में हाथ को खून पहुंचाने वाली मीडियन नर्व के ऊपर दबाव आ जाता है. इससे हाथ की कुछ उंगलियां सुन्न पड़ने लगती हैं. जब आप एक ही पोज़ीशन में देर तक हाथ रखते हैं, तब नर्व पर प्रेशर बढ़ता है. इससे ये लक्षण दिखने लगते हैं.

numbness in hand
हाथ को हिलाने पर अक्सर सुन्नपन चला जाता है

हालांकि कई बार हाथ झटकने या हिलाने से ये ठीक हो जाता है. इसके अलावा सर्वाइकल स्पोंडिलोसिस, जिसे आमतौर पर सर्वाइकल कहा जाता है, उसमें भी ये समस्या होती है. इसमें अगर गर्दन से उस नर्व के ऊपर दबाव पड़ रहा है जो हाथ को खून पहुंचाती है तो भी हाथ में सुन्नपन आ सकता है. कुछ ऐसी बीमारियां जिसमें खून के बहाव में दिक्कत आ जाए यानी खून ले जाने वाली ब्लड वेसल्स में कुछ रुकावट आ जाए तो भी हाथ में सुन्नपन हो सकता है. इसके अलावा रूमेटाइड अर्थराइटिस बीमारी में भी सुन्नपन की दिक्कत हो सकती है.

अगर किसी व्यक्ति का एक ही हाथ सुन्न पड़ रहा है, वो भी पूरा एक साथ. हाथ में कमज़ोरी आ रही है या चेहरे पर टेढ़ापन आ रहा है तो ये स्ट्रोक या ब्रेन अटैक का लक्षण हो सकता है.

इलाज

किसी न्यूरोलॉजिस्ट को दिखाएं ताकि आपके लक्षणों को विस्तार से समझा जा सके. फिर उस हिसाब से आगे की जांच की जाएगी. कुछ रुटीन जांचें की जा सकती हैं. जैसे ब्लड शुगर, थायरॉयड, विटामिन बी या अन्य कोई जांच. कई बार नर्व के टेस्ट की ज़रूरत पड़ सकती है. गर्दन का MRI भी कराया जा सकता है. लगभग सभी मरीज़ों को फिज़ियोथेरेपी, कुछ एक्सरसाइज़, वेट लॉस या कुछ दवाइयों के द्वारा ठीक किया जा सकता है. अगर कभी लक्षण बहुत ज़्यादा हैं और कोई गंभीर बीमारी सामने आती है. तब कुछ मरीज़ों को सर्जरी की ज़रूरत भी पड़ सकती है.

(यहां बताई गई बातें, इलाज के तरीके और खुराक की जो सलाह दी जाती है, वो विशेषज्ञों के अनुभव पर आधारित है. किसी भी सलाह को अमल में लाने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर पूछें. दी लल्लनटॉप आपको अपने आप दवाइयां लेने की सलाह नहीं देता.)

वीडियो: सेहतः खुशबू वाली मोमबत्तियां क्यों नहीं जलानी चाहिए?

thumbnail

Advertisement

Advertisement