Submit your post

Follow Us

9 बरस की बच्ची से रेप और हत्या कर टुकड़ों में काट दिया था शव, कोर्ट ने सुनाई फांसी की सज़ा

बिहार में गोपालगंज के रहने वाले 20 वर्षीय जय किशोर को फांसी की सजा सुनाई गई है. उसे 9 वर्षीय बच्ची के रेप, हत्या और उसके शरीर को बेरहमी से पांच टुकड़ों में काटने के मामले में दोषी पाया गया है. 27 जनवरी को पुलिस ने इस मामले में चार्जशीट फाइल की थी और 25 दिन के अंदर POCSO की स्पेशल कोर्ट ने अब अपना फैसला सुना दिया है.

पिछले साल की घटना

घटना पिछले साल 25 अगस्त, 2020 की है. जब देशभर में कोरोना महामारी के दौरान लॉकडाउन लगा था. पटना में जूस की दुकान चलाने वाला जय किशोर अपने घर गोपालगंज स्थित गांव बकरौर आ गया था. इंडिया टुडे से जुडे़ रोहित सिंह की रिपोर्ट के मुताबिक, बच्ची आरोपी के घर खेलने के लिए जाया करती थी. घटना के दिन भी बच्ची आरोपी के यहां गई थी. पर उस दिन आरोपी की पत्नी और बच्ची घर पर नहीं थे. आरोपी ने इसी दौरान बच्ची का रेप किया और उसकी हत्या कर दी. इसके बाद उसके शव को पांच टुकड़ों में काटकर एक बैग में भर दिया और घर के किसी कोने में छिपा दिया. और मौके से फरार हो गया.

वहीं, जब बच्ची देर रात तक घर नहीं लौटी, तो परिजन परेशान हो गए. उसको ढूंढने लगे. जब वो नहीं मिली, तो सूचना स्थानीय पुलिस को दी. पुलिस ने जांच की तो पाया कि बच्ची जय किशोर के यहां गई थी और तभी से जय किशोर और बच्ची दोनों लापता हैं. फिर पुलिस ने जय किशोर के घर की तलाशी ली. वहां वो बैग मिला, जिसमें बच्ची का शव पड़ा हुआ था. पुलिस ने शव के टुकड़ों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा. रिपोर्ट में बच्ची के शरीर पर कई जगह कांटने के निशान मिले.

क्या-क्या धाराएं लगीं?

POCSO की स्पेशल पब्लिक प्रॉसिक्यूटर दरोगा सिंह ने बताया कि बच्ची आरोपी के यहां आया-जाया करती थी. उसके बच्चों के साथ खेलती थी. घटना के दिन जब आरोपी की पत्नी और बच्ची घर पर मौजूद नहीं थे और ये बच्ची उसके घर गई थी तो उसने घटना को अंजाम दिया. इस मामले में कोर्ट ने आरोपी को दोषी करार देते हुए फांसी की सजा सुनाई है.

आरोपी पर 12 साल से कम उम्र की लड़की का रेप करने के लिए IPC की धारा  376AB, हत्या करने के लिए धारा 302, सबूत को छिपाने के लिए धारा 201 और POCSO  (संशोधित) एक्ट 2019 की धारा 6 और 10 के तहत केस दर्ज किया गया है.


वीडियो देखें: प्रेमी के साथ मिलकर अपने परिवार के सात लोगों को मार डाला था, अब फांसी हो रही है!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

इंग्लैंड के खिलाफ जीती बाज़ी में किस प्लेयर ने कर दिया कमाल?

इंग्लैंड के खिलाफ जीती बाज़ी में किस प्लेयर ने कर दिया कमाल?

वुमेन्स टीम की सुपरस्टार बोलीं, 'प्रेशर पसंद है'

योगी की नई जनसंख्या नीति से महिलाओं को किस बात का डर सता रहा है?

योगी की नई जनसंख्या नीति से महिलाओं को किस बात का डर सता रहा है?

UP में आई जनसंख्या नीति और ड्राफ्ट बिल में गर्भनिरोधक को लेकर क्या कहा गया है?

रोटी बनाने वाली जिस लड़की का वीडियो वायरल हुआ था, वो कौन है इसका पता चल गया है

रोटी बनाने वाली जिस लड़की का वीडियो वायरल हुआ था, वो कौन है इसका पता चल गया है

इस लड़की के एक-एक वीडियो को हज़ारों में लाइक्स मिलते हैं.

सिरिषा बंदलाः NASA में नहीं मिली थी एंट्री, अब स्पेस जाकर बचपन का सपना पूरा किया

सिरिषा बंदलाः NASA में नहीं मिली थी एंट्री, अब स्पेस जाकर बचपन का सपना पूरा किया

वर्जिन गैलेक्टिक के Unity 22 से स्पेस की सैर करके आने वाली सिरिषा स्पेस जाने वाली भारतीय मूल की तीसरी महिला हैं.

हरलीन देओल का ये कैच नहीं देखा तो समझिए आपका वीकेंड बेकार चला गया!

हरलीन देओल का ये कैच नहीं देखा तो समझिए आपका वीकेंड बेकार चला गया!

रोड्स, कैफ, रैना की लिस्ट में एक नाम बढ़ा लीजिए.

YS शर्मिलाः आंध्र के CM की अब तक पर्दे के पीछे रहने वाली बहन, जिसने अपनी अलग पार्टी बना ली है

YS शर्मिलाः आंध्र के CM की अब तक पर्दे के पीछे रहने वाली बहन, जिसने अपनी अलग पार्टी बना ली है

YS शर्मिला आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री YS राजशेखर रेड्डी की बेटी हैं.

मुंबई: कोविड की दूसरी लहर में आठ गुना ज्यादा प्रेगनेंट महिलाओं की मौत हो गई

मुंबई: कोविड की दूसरी लहर में आठ गुना ज्यादा प्रेगनेंट महिलाओं की मौत हो गई

ICMR से जुड़े संस्थान और एक अस्पताल की स्टडी में सामने आई जानकारी.

महिला सशक्तिकरण या चुनावी समीकरण? किस वजह से मोदी कैबिनेट में शामिल हुईं सात नई महिला मंत्री

महिला सशक्तिकरण या चुनावी समीकरण? किस वजह से मोदी कैबिनेट में शामिल हुईं सात नई महिला मंत्री

यूपी चुनाव से लेकर कर्नाटक की आंतरिक कलह, हर जगह है बीजेपी की नजर.

जान की बाज़ी लगाकर कोविड ड्यूटी की, अब सरकार ने इन नर्सों से मुंह क्यों मोड़ लिया?

जान की बाज़ी लगाकर कोविड ड्यूटी की, अब सरकार ने इन नर्सों से मुंह क्यों मोड़ लिया?

मध्य प्रदेश में सात दिन तक हज़ारों नर्स धरने पर बैठी थीं.

जानकारों ने कहा- 'धर्म में नहीं है दहेज का ज़िक्र', फिर क्यों और कैसे शुरू हुई ये कुप्रथा?

जानकारों ने कहा- 'धर्म में नहीं है दहेज का ज़िक्र', फिर क्यों और कैसे शुरू हुई ये कुप्रथा?

वर्ल्ड बैंक की स्टडी ने मॉडर्न भारत की पोल खोल दी.