Submit your post

Follow Us

देहरादून: स्कूल की बच्ची से गैंगरेप, गर्भपात करवाया गया, अब कोर्ट ने सख्त सज़ा सुनाई है

देहरादून के बोर्डिंग स्कूल में एक बच्ची के गैंगरेप के मामले में स्पेशल कोर्ट ने सज़ा का ऐलान किया है. इसमें नाबालिगों को तीन-तीन साल, जबकि मुख्य आरोपी को 20 साल की सजा हुई है. स्कूल प्रबंधन पर 10 लाख का जुर्माना भी लगाया है. ये मामला POCSO के तहत दर्ज हुआ था.

मामला क्या है?

अगस्त, 2018 में देहरादून के बोर्डिंग स्कूल में गैंगरेप का मामला सामने आया. चार क्लासमेट और एक सीनियर ने मिलकर लड़की का रेप किया. इसके बाद लड़की ने ये बात स्कूल प्रबंधन को बताई. लेकिन मामले को गंभीरता से लेने के बजाय स्कूल प्रबंधन ने इसे छिपाने की कोशिश की. आरोप लगे कि स्कूल प्रबंधन ने लड़की का गर्भपात कराया. उसके घरवालों को भी ये बात नहीं बताई गई.

School 3
मुंह ढककर पुलिस के साथ जाती स्कूल प्रबंधन की सदस्य. (तस्वीर: स्पेशल अरेंजमेंट)

पुलिस ने क्या किया?

मामले का खुलासा होने पर पुलिस ने कार्रवाई की. स्कूल के डायरेक्टर और चार अन्य को गिरफ्तार किया. इनमें प्रिंसिपल, चीफ एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर, उनकी पत्नी और डोमेस्टिक हेल्प शामिल थे. आरोप लगा आपराधिक साज़िश और गर्भपात कराने का. इनके अलावा तीनों नाबालिग छात्रों और एक सीनियर स्टूडेंट को भी पकड़ लिया गया.

क्या सज़ा मिली है?

तीनों नाबालिगों को किशोर न्याय बोर्ड (जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड) ने बरी कर दिया था. लेकिन POCSO कोर्ट ने उन्हें भी तीन साल की सजा सुनाई है. प्रिसिंपल जितेंद्र शर्मा को तीन साल की सजा मिली है. स्कूल निदेशक लता गुप्ता,  मुख्य प्रशासनिक अधिकारी दीपक और उसकी पत्नी तनु को अलग-अलग धाराओं में पॉक्सो कोर्ट ने दोषी करार देते हुए सभी को 9 -9 साल की सजा सुनाई. POCSO कोर्ट ने सज़ा सुनाने के बाद तीनों नाबालिगों को किशोर न्याय बोर्ड के सामने पेश होने के निर्देश दिए हैं.


वीडियो:भयंकर वायरल: निर्मला सीतारमण के बजट 2020 पर बने मज़ेदार मीम्स

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

तीन साल पहले आदमी ने सेक्स चेंज कराया, रेलवे ने अब माना कि वो महिला हैं

2017 में राजेश सेक्स चेंज करवाकर सोनिया पांडे बन गए थे.

वरुण ग्रोवर ने नेल पॉलिश लगाई और परेशानी ज़माने को हो गई

सवालों के जवाब में वरुण ने पूछे कुछ जरूरी सवाल.

गोरा करने वाली क्रीम बेचने के ऐड बनाए, तो सरकार जेल भेज देगी

क्या है ड्रग्स एंड मैजिक रेमेडीज (ऑब्जेक्शनेबल एड्वर्टिजमेंट) एक्ट, जिसमें बदलाव होने वाले हैं?

कौन हैं नैंसी पेलोसी, जिन्होंने ट्रंप के सामने उनका भाषण फाड़ डाला!

इससे पहले भी एक बार वो ट्रंप का मज़ाक उड़ा चुकी हैं.

अब सिंगल औरतें भी किराए पर कोख ले पाएंगी!

सरोगेसी रेगुलेशन बिल: सेलेक्ट कमिटी ने कहा सिंगल औरतों को भी सरोगेसी का ऑप्शन मिलना चाहिए.

बीना दास: 21 साल की वो स्वतंत्रता सेनानी, जो डिग्री लेने पहुंचीं और चीफ गेस्ट पर गोलियां दाग दीं

आज के ही दिन कलकत्ता यूनिवर्सिटी को थर्राया था बीना दास ने.

कौन हैं शाहीन बाग़ में बुर्का पहने पकड़ी गईं गुंजा कपूर, जिन्हें PM मोदी फॉलो करते हैं

कभी राहुल गांधी को चिट्ठी लिखी थी गुंजा कपूर ने.

केंद्र ने कोर्ट से कहा- सेना में महिलाओं को कमांड पोस्ट कैसे दें, मैटरनिटी लीव देनी पड़ जाएगी

महिला ऑफिसर अभी सिर्फ शॉर्ट सर्विस कमीशन पर रखी जाती हैं आर्मी में.

ज़ायरा वसीम ने इंस्टाग्राम पर लिखा- कश्मीर की आवाज़ को दबा देना इतना आसान क्यों है?

ये भी लिखा कि मीडिया की दिखाई चीज़ों पर भरोसा मत कीजिए.

निर्भया के दोषियों को एक साथ फांसी देने के पीछे क्या मजबूरी है?

जिसकी याचिका खारिज हो गई, उसे अलग से फांसी क्यों नहीं दी जा सकती?