Submit your post

Follow Us

बीजेपी के पुराने नेता पर रेप का आरोप था, मोदी के ऑफिस ने बंद केस खुलवाया

देहरादून के एक बीजेपी नेता थे. संजय कुमार. ‘थे’ इसलिए क्योंकि इन्हें पार्टी ने निकाल दिया गया था. निकालने का कारण ये था कि उन पर रेप का आरोप था. मामला 2018 का है. पुलिस में शिकायत की थी. लेकिन सबूत न मिलने पर संजय कुमार पर लगे रेप चार्जेस हटा लिए गए थे. अब PMO ने कॉल करके मालमे में कार्रवाई करने को कहा है.

इंडिया टुडे के रिपोर्टर दिलीप सिंह ने बताया कि शिल्पा (बदला हुआ नाम) संजय कुमार के ऑफिस में ही काम करती थी. वहीं पर इसके साथ ये सारी घटना हुई थी. पुलिस ने कार्रवाई नहीं की, तब उसने PMO यानी प्रधानमंत्री कार्यालय में लेटर लिखा और कार्रवाई की मांग की. वहां से जवाब भी आया है.

और जानकारी के लिए हमने शिल्पा से बात की. उन्होंने बताया

मैं बीजेपी प्रदेश मुख्यालय में थी. 2017 में जॉइन किया था. उस समय संजय कुमार बीजेपी के संगठन महामंत्री थे. सब ठीक चल रहा था. मार्च 2018 में नीलम सेहगल (प्रदेश महिला मोर्चा अध्यक्ष) और संजय कुमार दोनों आए. बोले कि एक बैठक होनी है. सबको आना है.

मैं गई, तो देखा वहां कोई नहीं है. फिर संजय कुमार आए. चाय दी. बोले कि जब तक सब आ रहे हैं, तुम चाय पियो. मैंने चाय पी. उसके बाद मैं बेहोश हो गई. और जब मुझे होश आया. सब बदल चुका था. मैं जिस कंडीशन में थी. मैं बता भी नहीं सकती हूं. संजय भी वहीं मौजूद था. वो भी जिस हालत में था, सोचकर भी सिर्फ घिन आती है.

संजय ने मुझसे उस समय बोला कि मैंने तुम्हारा वीडियो बना लिया है. जब तुम्हें बुलाया जाएगा. तुम्हें आना पड़ेगा. उसके बाद मई, जुलाई और फिर अगस्त में यानी तीन बार उसने मेरा रेप किया. हालांकि मैंने मार्च में ही पार्टी के लोगों को सारी बात बताई थी. पर किसी ने यकीन नहीं किया. सबने कहा कि सबूत लाओ, तब मानेंगे.

पुलिस ने तो रेप चार्जेस हटा दिया. पर पीएमओ से शिकायत के बाद कार्रवाई हो सकती है.
                                  पुलिस ने तो रेप चार्जेस हटा दिया. पर पीएमओ से शिकायत के बाद कार्रवाई हो सकती है.

शिल्पा ने बताया कि उन्होंने नवंबर, 2018 में हिम्मत जुटाई और पुलिस में शिकायत की. पर नहीं लिखी गई. उस समय तक क्या… आज तक पीड़िता को जान से मारने की धमकी दी जाती है. उनके मुताबिक, उन्हें पार्टी के कई लोगों ने परेशान करने की कोशिश की, जिससे वो केस वापस ले लें.

पीड़िता ने बताया कि उन्होंने मीडिया में पूरी बात बताई. तब जाकर पुलिस ने केस दर्ज किया. लेकिन उन्होंने PMO को भी लेटर लिखकर पूरी बात बताई थी. और कार्रवाई की मांग की थी. इसके बाद ही संजय कुमार को पार्टी से निकाल दिया गया था.

जनवरी में पुलिस प्रोटेक्शन मिली. पर पार्टी नेता हरकतों से बाज नहीं आ रहे थे. आए दिन धमकी दे रहे थे. ऐसा शिल्पा ने बताया. कोर्ट में शिल्पा का बयान रिकॉर्ड हुआ. पर पुलिस ने केस 10 मार्च का बना दिया. मतलब कि पुलिस ने जो चार्जशीट फाइल की. उसमें रेप होने की तारीख 10 मार्च लिखी और कहा कि इस दिन संजय कुमार देहरादून में थे ही नहीं. इसी वजह से पुलिस ने संजय के ऊपर लगे सभी चार्जेस हटा दिए. जबकि पूरा मामला मार्च के आखिरी दिनों का है. ऐसा पीड़िता का कहना है.

पीड़िता को अब PMO की तरफ से रिप्लाई आया है. कहा गया है कि वो मुख्यालय आ जाएं, जिससे आगे की कार्रवाई की जा सके.

फिलहाल, शिल्पा न्याय चाहती हैं. और संजय को सजा दिलवाना चाहती हैं. उनका कहना है कि वो इस पूरे मामले की वजह से भागी-भागी फिर रही हैं.


वीडियो देखें : यूपी के बागपत में छठी के 3 बच्चों ने तीसरी में पढ़ने वाली 8 साल की बच्ची का रेप किया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

लता करे, जिन्होंने 62 की उम्र में वो कारनामा कर दिखाया कि फिल्म बनाने वाले दौड़े चले आए

गज्जब जज़्बा. हौसले से मुश्किलों को दी मात.

उस महिला की कहानी, जिसकी कैल्कुलेशन ने आदमी को चांद पर पहुंचाया

कैथरीन जॉनसन का 101 की उम्र में 24 फरवरी को निधन हो गया.

स्मृति ईरानी का मज़ाक उड़ाने वाले लड़के को ऐसा जवाब मिला कि उसने हाथ जोड़ लिए

किसी ने नहीं सोचा था कि वो खुद आकर जवाब दे देंगी.

भारत को उसकी पहली महिला राष्ट्रपति 1977 में मिल जाती, अगर ये महिला हां कर देतीं

लेकिन रुक्मिणी देवी ने प्रस्ताव ठुकरा दिया था.

क्या किसी देश की फर्स्ट लेडी वहां के राष्ट्रपति की पत्नी ही होती है?

फर्स्ट लेडी की क्या ज़िम्मेदारियां होती हैं?

महिलाओं के बारे में डॉनल्ड ट्रंप की सोच देखकर आपको शर्म आ जाएगी

एक बार नहीं, बार-बार की घटिया बातें.

सिसोदिया की इस हरकत से कई औरतें अगले जनम में 'कुतरी' बन जाएंगी! CC: स्वामी जी

इन औरतों के पीरियड चल रहे थे.

क्या है ये ‘मॉमी गिल्ट’ जो केट मिडिलटन समेत दुनियाभर की कामकाजी मांओं को होता है

ये उतना ही आम है जितना सांस लेना.

जुरासिक पार्क के डायरेक्टर की बेटी मिकेला पॉर्न स्टार क्यों बनीं?

23 साल की मिकेला ने बताया कि वह पॉर्न इंडस्ट्री में क्यों और कैसे आईं.

क्या मां बनने के लिए देश में कोई तय उम्र होनी चाहिए?

हाईकोर्ट में याचिका पर सरकार ने कहा-टास्ट फोर्स बनाया है.