Submit your post

Follow Us

फटी जींस वाली बात पर तीरथ सिंह रावत की बेटी को घसीटने वाले उनसे ज्यादा बीमार हैं

तीरथ सिंह रावत. उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री हैं. हमारे प्रधानमंत्री की तरह इनके पास भी कपड़ों से लोगों की परख करने का हुनर है. इन्हें देश के संस्कारों की खासी चिंता है. इसलिए औरतों के कपड़े, पहनावा देखकर वो पता लगा लेते हैं कि वो औरत संस्कारी है या नहीं.

पिछले दिनों उनका एक बयान वायरल हुआ. इसमें उन्होंने कहा,

“मैं जयपुर में एक कार्यक्रम में था. अगले दिन करवाचौथ था. और जब मैं जहाज में बैठा, तो मेरे बगल में एक बहनजी बैठी थीं. मैंने जब उनकी तरफ देखा तो नीचे गमबूट थे. जब और ऊपर देखा तो घुटने फटे थे. हाथ देखे तो कई कड़े थे. उनके साथ में दो बच्चे भी थे. मैंने कहा- बहनजी कहां जाना है? कहा-दिल्ली जाना है. पति कहां हैं? JNU में प्रोफेसर हैं. तुम क्या करती हो? मैं एक NGO चलाती हूं. NGO चलाती हैं, घुटने फटे दिखते हैं, समाज के बीच में जाती हो, बच्चे साथ में हैं, क्या संस्कार हैं ये?”

एक महिला. अपने पैरों पर खड़ी. दो बच्चों की ज़िम्मेदारी के साथ अपना खुद का एनजीओ चलाती है. न जाने कितनों को रोज़गार उनका एनजीओ देता होगा. न जाने कितनों की मदद उनके एनजीओ ने की होगी. उस महिला से बात करने के लिए कितनी चीज़ें रही होंगी. एनजीओ किस तरह का काम करता है? किन इलाकों में एक्टिव है? उत्तराखंड में कुछ करता है या कर सकता है क्या? फंडिंग कैसे मिलती है? आदि इत्यादि.

Ripped Jeans
मार्केट में रेडीमेड रिप्ड जींस उपलब्ध हैं, या आप चाहें तो अपनी जींस को ब्लेड से काटकर उसे रिप्ड बना सकते हैं. फोटो- Pixabay

मगर मुख्यमंत्री का फोकस उस महिला के कपड़ों से हट नहीं पाया. फटी जींस से झांक रहे उनके घुटनों में मुख्यमंत्री ने उनके संस्कार देख लिए. ये सोच लिया कि ऐसी फटी जींस में वो न जाने कितनों से मिली होगी, न जाने कितनों ने उसे ऐसे देखा होगा. शर्म नहीं आती? पता नहीं मां-बाप ने इसे कैसे संस्कार दिए, पता नहीं ये अपने बच्चों को कैसे संस्कार देती होगी?

अब उनका एक और बयान वायरल हुआ है. कब का है और कहां का है इसकी फिलहाल हम पुष्टि नहीं कर पाए हैं. इस वीडियो में रावत अपने कॉलेज के टाइम की एक लड़की के बारे में बता रहे हैं,

“श्रीनगर में जब मैं पढ़ता था, एक चंडीगढ़ से आई लड़की, थी पहाड़ की ही, लेकिन चंडीगढ़ से आई थी. हाफ कट ड्रेस पहनती थी. ऐसे देख रहे थे लड़के उसको… बस आ गई बंबई से…उसका कुछ दिन ऐसा मज़ाक बना, ऐसा मज़ाक…क्योंकि सारे पीछे भागना शुरू कर दिए. यूनिवर्सिटी में पढ़ने आई हो… और बदन दिखा रहे हो…क्या होगा?”

मुख्यमंत्री की ये पूरी बात पुरुषवादी सोच के घिसे-पिटे लूप में, स्त्रियों की आज़ादी के विरोध की सदियों से जल रही आग में घी डालने जैसा है जो कहता है कि यौन शोषण और रेप के लिए औरतें इनवाइट करती हैं, अपने छोटे कपड़ों से. अपना बदन दिखाकर.

मेरी नज़र में जो किस्सा मुख्यमंत्री ने बताया उसमें हर वो आदमी यौन शोषण का आरोपी है जो उस लड़की के पीछे भाग रहा था. हर वो आदमी उस औरत को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोपी है जो उसका मज़ाक उड़ा रहा था. इन जैसे पुरुषों की वजह से ही औरतें अपने पल्लू से पीठ ढक लेती हैं कि ब्लाउज़ के डिज़ाइन से कोई उत्तेजित होकर पीछे न पड़ जाए, महिलाएं दमघोंटू गर्मी में भी पैडेड ब्रा पहनती हैं कि कहीं निप्पल के उभार को कोई इनविटेशन न समझ ले.

Jeans Salwar
लड़की स्लीवलेस टॉप पहने, फटी जींस पहने, चाहे सलवार कमीज़ इसका इस बात से कोई लेना-देना नहीं है कि वो अपने करियर और पढ़ाई को लेकर कितनी फोकस्ड है. फोटो- Pixabay

मुख्यमंत्री ने लड़कियों के पहनावे पर अपने दो अनुभव बता दिए और दोनों ही बातें ये दिखाती हैं कि वो किसी औरत के कपड़ों के ऊपर देख नहीं पाते. उन्हें अपनी ज़िंदगी अपने हिसाब से जीने की आज़ादी का मतलब समझ में नहीं आता. उन्हें नहीं समझ में नहीं आता कि चाहे साड़ी पहनने वाली औरत हो, चाहे स्कर्ट पहनने वाली, चाहे जींस टॉप पहनने वाली, उसके कपड़े न किसी के लिए इन्विटेशन होते हैं और न ही ये इस बात का परिचायक होते हैं कि वो अपनी पढ़ाई-लिखाई और करियर को लेकर कितनी गंभीर है. ये तो हुई तीरथ सिंह रावत की बात.

वो लोग जो रावत के विरोध में और भी ज्यादा बेतुकी बात कह रहे

लेकिन सीएम के विरोध के नाम पर कुछ ऐसे लोग भी इंटरनेट पर हैं जो उनसे भी ज्यादा मूर्खतापूर्ण बात रख रहे हैं.

मुख्यमंत्री की बेटी लोकांक्षा की एक फोटो शेयर की जा रही है. लोकांक्षा दसवीं क्लास में पढ़ती हैं. उनकी शॉर्ट्स वाली एक फोटो शेयर करते हुए लोग लिख रहे हैं,

“लोगों को संस्कारों पर ज्ञान दे रहे हैं, मुख्यमंत्री पहले अपने घर के संस्कार तो देख लें. दोहरी मानसिकता”

ऐसा लिखने वालों को इस बात से दिक्कत नहीं है कि मुख्यमंत्री औरतों के कपड़ों पर घटिया बातें बोल रहे हैं. उन्हें दिक्कत इस बात से है कि सीएम की अपनी बेटी जैसे कपड़े पहनती है, वैसे कपड़ों के खिलाफ वो बयानबाजी कर रहे हैं. जैसा कि हमने पहले ही लिखा कि किसी के कपड़े उसके संस्कार और गंभीरता के परिचायक नहीं हैं, न हो सकते हैं. यह बात मुख्यमंत्री के परिवार की महिलाओं के लिए भी लागू होती है.

और उससे भी ज़रूरी बात, लोकांक्षा एक नाबालिग हैं. बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी कर रही हैं. इस बहस में उन्हें खींचना उनके साथ ज्यादती है.

नव्या नवेली ने लिखा- हमारे कपड़े बदलवाने से पहले अपनी सोच बदलो

नव्या नवेली नंदा ने तीरथ सिंह के बयान के बाद रिप्ड जींस में अपनी फोटो डाली. और लिखा,

“हमारे कपड़े बदलवाने से पहले अपनी मानसिकता बदलो. इस तरह के कमेंट्स समाज में एक गलत मैसेज देते हैं. मैं अपनी फटी जींस पहनूंगी और गर्व से पहनूंगी.”

वहीं, जया बच्चन ने कहा, “पहले वह अपना पद संभालें. अभी-अभी मुख्यमंत्री बने हैं. महिलाओं पर टिप्पणी करना बंद करें. यह इस तरह की मेंटालिटी के लोग जो कपड़ों से महिलाओं को जज करते हैं, यह महिलाओं के प्रति गलत मानसिकता को बढ़ावा दे रहे हैं. यह बहुत निंदनीय है और बहुत दुख होता है कि आज 21वीं सदी में भी ऊंचे पद पर बैठे लोग इस तरह की टिप्पणी कर रहे हैं.” एक्ट्रेस गुल पनाग ने सीएम के बयान पर कोई टिप्पणी नहीं की. बस एक ट्वीट किया जिसमें लिखा था- रिप्ड जींस बाहर निकाल ली. इसके बाद एक फोटो उन्होंने पोस्ट की. जिसमें वो रिप्ड जींस पहनी नज़र आ रही हैं.

एक्टर-कमीडियन वीर दास ने अपने पुराने स्टैंडअप के स्क्रीनशॉट्स शेयर करते हुए लिखा, “दुखद, लेकिन ये जोक्स अभी भी रेलेवेंट हैं.”

कई लोगों ने RSS के पुराने यूनिफॉर्म यानी शॉर्ट्स के बारे में लिखा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दूसरे बीजेपी नेताओं की फोटो डालकर सवाल किया कि रावत उन पर क्या कहेंगे? RSS वाले भी पहले घुटनों से ऊपर ही कपड़े पहनते थे.

अब इसका जवाब रावत दें न दें, हमें पता है कि उनका ध्यान इस ओर गया ही न होगा कि घुटने दिखाते पुरुष से देश की संस्कृति को कोई खतरा हो सकता है. उनके हिसाब से तो इस महान देश की संस्कृति और संस्कारों का बोझ औरत के कंधों आई मीन गर्दन के नीचे और घुटनों के ऊपर के हिस्सों पर है. बाकी मर्द चड्डी पहनकर, अपने आंगन में खटिया डालकर सो जाएं या खुले आम तेल मालिश करवाएं, उससे कोई फर्क नहीं पड़ता.


सेहत: औरतों में पीरियड्स हमेशा के लिए बंद क्यों हो जाते हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

यूपी : मुरादाबाद में आदमी को बंधक बनाकर सामने ही पत्नी और नाबालिग बेटी के साथ गैंगरेप

यूपी : मुरादाबाद में आदमी को बंधक बनाकर सामने ही पत्नी और नाबालिग बेटी के साथ गैंगरेप

बच्ची ने कहा, "दरोगा ने पापा को बोला कि तू झूठ बोल रहा है"

कस्टमर केयर ने नाम पर लड़की को फोन किया, फिर प्राइवेट पार्ट की फोटो मांगकर रेप की धमकी दी

कस्टमर केयर ने नाम पर लड़की को फोन किया, फिर प्राइवेट पार्ट की फोटो मांगकर रेप की धमकी दी

आठ महीने में दो बार हुआ पीड़िता का यौन शोषण. पुलिस पर जबरन मामला बंद कराने का आरोप.

पश्चिम बंगाल में गैंगरेप पीड़िताओं ने TMC के लोगों पर गंभीर आरोप लगाए हैं

पश्चिम बंगाल में गैंगरेप पीड़िताओं ने TMC के लोगों पर गंभीर आरोप लगाए हैं

बूढ़ी महिला का पोते के सामने और नाबालिग का जंगल में घसीटकर गैंगरेप करने का आरोप.

UP: BJP नेता की मां का वीडियो वायरल, कहा- बेटों ने घर से निकाल दिया

UP: BJP नेता की मां का वीडियो वायरल, कहा- बेटों ने घर से निकाल दिया

BJP नेता ने क्या कहा है?

मिसेज राजस्थान रही प्रियंका चौधरी अरेस्ट, वीडियो बना व्यापारी को ब्लैकमेल करने का आरोप

मिसेज राजस्थान रही प्रियंका चौधरी अरेस्ट, वीडियो बना व्यापारी को ब्लैकमेल करने का आरोप

जयपुर पुलिस प्रियंका चौधरी से पूछताछ कर रही है.

10-12 साल के छह लड़कों पर बच्ची के गैंगरेप और उसका वीडियो बनाने का आरोप लगा है

10-12 साल के छह लड़कों पर बच्ची के गैंगरेप और उसका वीडियो बनाने का आरोप लगा है

सातवां आरोपी 18 साल का है, वो भी धर लिया गया है.

शख्स ने कहा- मैं सेक्स के लिए हॉट संघियों को खोजता हूं; बवाल हो गया

शख्स ने कहा- मैं सेक्स के लिए हॉट संघियों को खोजता हूं; बवाल हो गया

इस पूरे बवाल में कुशा कपिला का नाम क्यों आया और उन्होंने क्या सफाई दी?

BJP नेता की दो दिन से लापता बेटी की लाश जंगल में मिली, परिवार को गैंगरेप का शक

BJP नेता की दो दिन से लापता बेटी की लाश जंगल में मिली, परिवार को गैंगरेप का शक

लाश की एक आंख भी बाहर निकली थी. मौके से एक लड़के का मोबाइल फोन मिला है.

ऑपरेशन थिएटर में 'गैंगरेप' मामले में विक्टिम की मौत, परिवार ने हत्या का आरोप लगाया

ऑपरेशन थिएटर में 'गैंगरेप' मामले में विक्टिम की मौत, परिवार ने हत्या का आरोप लगाया

अस्पताल प्रशासन को बिना जांच क्लीट चिट दे चुकी पुलिस ने पीड़िता की मौत के बाद दर्ज की FIR. अस्पताल के बाहर विरोध प्रदर्शन.

मैट्रिमोनियल साइट की मदद से 12 लड़कियों का रेप करने वाला धरा गया है, आप ये सावधानियां ज़रूर बरतें

मैट्रिमोनियल साइट की मदद से 12 लड़कियों का रेप करने वाला धरा गया है, आप ये सावधानियां ज़रूर बरतें

कितना गहरा है मैट्रिमोनियल साइट फ्रॉड का यह जाल? कैसे खुद को बचाएं?