Submit your post

Follow Us

नेहा धूपिया ने बताया, साउथ की फिल्मों में हुए भद्दे अनुभव के बारे में

5
शेयर्स

नेहा धूपिया बॉलीवुड एक्ट्रेस हैं. लेकिन हिंदी के अलावा उन्होंने तमिल और तेलुगू फिल्मों में भी काम किया है. नेहा का डेब्यू भी एक मलयालम फिल्म ‘मिन्नारम’ (Minnaram) से बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट हुआ था. हाल ही में उन्होंने न्यूज वेबसाइट पिंकविला से बात करते हुए साउथ की इंडस्ट्री में एक्ट्रेस के साथ होने वाले भेदभाव पर बात की. बकौल नेहा-

बहुत पहले, जब मैं साउथ की फिल्मों में काम कर रही थी, तो सेट पर सब कोशिश करते थे कि पहले हीरो खाना खाए. तब मेरी हालत भूख से मरने वाली होती थी. लेकिन वो लोग मुझे नहीं खाने देते थे. वो लोग कहते, पहले वो (हीरो) प्लेट उठाएंगे. लेकिन वो अभी शॉट कर रहे हैं. ये बहुत ही अजीब सा था. हालांकि ये बहुत सालों पहले की बात है. तब ऐसा होता था. लेकिन अब ऐसा कुछ नहीं होता. मेरे साथ भी ऐसा सिर्फ एक बार हुआ और मुझे बहुत हंसी आई. मुझे इससे बहुत ज्यादा परेशानी नहीं हुई क्योंकि मैं बोल देती थी, ठीक है और वहीं बैठ जाती थी.

Villain
तेलुगू फिल्म विलेन के एक सीन में नेहा धूपिया.

नेहा धूपिया से पहले भी कई एक्ट्रेस ने साउथ की इंडस्ट्री में होने वाले उत्पीड़न पर बात की है. मसलन, एक्ट्रेस श्रुति हरिहरन. 2018 में हुई इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में उन्होंने कास्टिंग काउच से जुड़ा एक अनुभव शेयर किया था. तब वह सिर्फ 18 साल की थीं. बकौल श्रुति –

मैं डांसर थी. एक दिन में रोते हुए अपने कोरियोग्राफर के पास पहुंची और उन्हें एक प्रोड्यूसर की हरकत के बारे में बताया तो उन्होंने कहा- अगर तुम ये हैंडल नहीं कर सकती तो इंडस्ट्री छोड़कर चली जाओ. मेरे साथ फिर कुछ वैसा ही हुआ. मैंने कन्नड़ भाषा की एक फिल्म की थी. इसके तमिल रीमेक के लिए एक प्रोड्यूसर ने मुझे कॉल किया. फोन पर उसने मुझसे कहा हम पांच प्रोड्यूसर हैं. आपको हम पांचों के बीच में एक्सचेंज किया जाएगा. जब हम चाहेंगे आपको बुला लिया करेंगे. लेकिन एक-एक करके. तबतक मैं जवाब देना सीख चुकी थी. मैंने जवाब में कहा- मैं साथ में चप्पल लेकर आऊंगी, जिसे इस्तेमाल करने में मुझे कोई झिझक नहीं होगी. उस दिन के बाद से मुझे तमिल फिल्मों में अच्छे रोल ऑफर नहीं हुए. लेकिन उस दिन के बाद से मेरे सामने ऐसी दिक्कतें नहीं आईं.

शोषण सिर्फ प्रेफरेंस या सेक्स की मांग जैसा ही नहीं होता. कैमरा भी कई बार आपको महज एक मांस के टुकड़े में तब्दील कर दिखाता है. ये बात शेयर की थी एक्ट्रेस परिणीता सुभाष ने तेलुगू फिल्म ‘जरासंधा’ (Jaraasandha) से जुड़ा वाकया बताते हुए. परिणीता के मुताबिक-

Ss

फिल्म ‘जरासंधा’ के एक सीन में परिणीता सुभाष

मैं एक फिल्म कर रही थी, जिसमें मुझे एक नक्सली की पत्नी का किरदार करना था. मेरा किरदार इंटेंस और नॉन ग्लैमरस था. फिल्म में मेरा एक इंट्रोडक्शन सीन था, जिसमें मैं सीढ़ियां उतर रही हूं. शूटिंग के दौरान कैमरा मेरे चेहरे पर फोकस था. लेकिन प्रीमियर पर जब मैंने फिल्म देखी तो बहुत शर्मिंदा हुई. कैमरा एंगल ऐसा था कि वो बेवॉच का रनिंग सीन लग रहा था. और मेरे साथ में पेरेंट थे. फिल्म मेकिंग के प्रोसेस में हीरोइन का मत सबसे आखिर में आता है. बात चाहें खुद हीरोइन के कैरेक्टर की हो, डिसीजन मेकिंग में एक्ट्रेस की राय मायने नहीं रखती है.

तीन एक्सपीरियंस. जो बोले गए. करोड़ों चुप्पियां. किसी मी टू मूवमेंट के इंतजार में.


Video : अपारशक्ति खुराना की मूवी ‘हेलमेट’ उस चीज़ पर बात करेगी जिसका नाम लेते लोग शर्माते हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

चार बेटियों से यौन शोषण के आरोप में पिता गिरफ्तार

बेटी ने टीचर को बताया फिर मामले का पता चला.

तीसरी बार भी बेटी न हो जाए, इस डर से प्रेगनेंट बीवी को मारकर टुकड़े कर डाले

पुलिस से कहता रहा कि पत्नी लापता है, बड़ी बेटी ने सच्चाई बताई.

भारत में खेलों का ये हाल है कि 29 कोचों पर यौन शोषण के आरोप लगे हैं

जबकि कई लड़कियां डर के मारे शिकायत वापस भी ले लेती हैं

सुपरमॉडल को अश्लील तस्वीरों में टैग कर झूठी न्यूज़ फैलाता था, अब भुगत रहा है

नताशा सूरी ने ऐसा सबक सिखाया कि खुद को गायब कर लिया.

बीवी पर शक था कि उसके अपने पिता के साथ सम्बन्ध हैं, तेज़ाब फेंक कर भाग निकला!

गुजरात के नडियाद की खबर.

19 साल की लड़की गायब हुई, गुजरात पुलिस बोली 'सुरक्षित है', आखिर में पेड़ से लटकी लाश मिली

दलित सुमदाय से आने वाला ये परिवार बेटी के लिए भटकता रहा और पुलिस सोती रही.

नशे में धुत्त पुलिसवाले ने मोहल्ले की बच्ची से रेप करने की कोशिश की

पुलिसवाले की पहले गिरफ्तारी हुई थी. अब बर्खास्त भी हो गया.

तेलंगाना: सरकारी कॉलेज में तीन लड़कियां प्रेगनेंट हो गईं, जांच हुई तो डराने वाला राज़ खुला

अंडरग्रेजुएशन की लड़कियां हैं.

8 साल पहले अपहरण हुआ, बार-बार बिकी, प्रेगनेंट हुई: मौत से बचती लड़की की कहानी

कभी 20 हजार में, तो कभी 1.5 लाख रुपये में बेची गई.

रांची की 'निर्भया' के दोषी को तीन साल के अंदर सुनायी फांसी की सजा

आरोपी की मां का DNA मैच हुआ, तब गिरफ्तारी हुई.