Submit your post

Follow Us

'तारक मेहता...' के बबीता-टप्पू असल ज़िंदगी में अगर रिश्ते में है, तो जनता इतनी क्यों बेचैन है?

सोशल मीडिया की वायरल दुनिया ऐसी है, जो किसी को रातोंरात स्टार बना देती है, तो किसी का एक झटके में सुख-चैन सब छीन लेती है. कुछ न कुछ खिचड़ी इस दुनिया में पकती ही रहती है. और इसे पकाने वाले हमारे और आपके बीच के ही लोग होते हैं. अब इन्हीं लोगों ने एक बार फिर मीम्स की खिचड़ी पकाने का काम शुरू किया है. और इस बार इनका टारगेट एक फेमस टीवी एक्ट्रेस और उस एक्ट्रेस से जुड़े कुछ एक्टर्स हैं. खैर, हम ज्यादा नहीं घूमाएंगे, सीधा मुद्दे पर आते हैं. ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ फेमस टीवी सीरियल है. करीब 12-13 बरसों से आ रहा है. इस सीरियल के ही कुछ किरदारों को लेकर भद्दे-भद्दे मीम्स बनाए जा रहे हैं. दरअसल, एक न्यूज़ सामने आई है, जिसमें ये कहा गया है कि सीरियल में बबीता जी का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस मुनमुन दत्ता अपने से नौ साल छोटे राज अनादकट के साथ रिलेशन में हैं. राज इस सीरियल में टप्पू का रोल निभाते हैं. और टप्पू सीरियल के किरदार जेठालाल का बेटा है. बस इसी को लेकर मीम्स बन रहे हैं. क्या है पूरा मामला? और किस तरह ये मीम्स गलत हैं, हम बताएंगे एक-एक करके.

क्या खबर सामने आई?

9 सितंबर को ‘ई टाइम्स’ में एक खबर छपी. कहा गया कि मुनमुन दत्ता और राज अनादकट के बीच रिलेशन होने की बात सामने आ रही है. इसके बाद सोशल मीडिया पर भी ये लिखा जाने लगा कि राज और मुनमुन एक दूसरे को डेट कर रहे हैं. दोनों अक्सर ही एक दूसरे के सोशल मीडिया पोस्ट पर कमेंट्स करते हैं. ‘ई टाइम्स’ की ही रिपोर्ट में एक सोर्स के हवाले से कहा गया कि दोनों के बीच जो कुछ भी चल रहा है, उसकी जानकारी सीरियल की पूरी टीम को है. रिपोर्ट में सोर्स के हवाले से ये भी कहा गया कि-

“कोई भी उन्हें परेशान नहीं करता. दोनों एक-दूसरे के साथ मोमेंट्स चुराने की भी कोशिश नहीं करते. ये प्रेम कहानी असल में पुरानी है और हैरानी इस बात की है कि ये अब तक सामने कैसे नहीं आई थी.”

राज 24 साल के हैं और मुनमुन 33 की हैं. दोनों ने खुलकर कभी भी अपने रिश्ते पर बात नहीं की है. कई मीडिया हाउस ने इस खबर को कन्फर्म करने के लिए दोनों को कॉन्टैक्ट किया, लेकिन उनकी तरफ से कोई रिप्लाई नहीं किया गया. खैर, हमें इस बात से कोई लेना-देना नहीं है कि मुनमुन और राज अपनी पर्सनल लाइफ में किसे डेट कर रहे हैं. और न ही किसी की निजी ज़िंदगी में दखल देने का हमें कोई अधिकार है और न ही हमारा ऐसा कोई औचित्य है. हम तो आगे बात करेंगे उन लोगों के बारे में जो इस खबर को बड़े चटखारे लेकर इन्जॉय कर रहे हैं. यानी हमारी मीम सेना. लेकिन आगे बढ़ने से पहले, सीरियल का थोड़ा प्लॉट समझ लीजिए. वैसे ज्यादातर लोग तो जानते ही होंगे, लेकिन हो सकता है कि किसी को न भी पता हो.

सीरियल में जेठालाल नाम का एक किरदार है, जो दिलीप जोशी निभाते हैं. जेठालाल की पत्नी का नाम है दया. एक्ट्रेस दिशा वकानी इसे निभाती हैं. इस कपल का एक बेटा है, जिसका नाम है टप्पू, अभी इसे राज अनादकट प्ले कर रहे हैं. ये फैमिली गोकुलधाम सोसायटी में रहती है. यहां और भी कई सारे परिवार रहते हैं. इसी सोसायटी में रहती हैं बबीता जी. उनके पति का नाम है अय्यर, जिसे निभाया है तनुज महाशब्दे ने. बबीता का किरदार फेयर स्किन वाली मॉडर्न महिला का है. उनके पति अय्यर की त्वचा का रंग उनसे एकदम ऑपोज़िट है. हम यहां त्वचा के रंग की बात इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि सीरियल में इस कपल का ये तथाकथित विरोधाभास कई बार मज़ाकिया अंदाज़ में टारगेट किया गया है. कि कैसे इतने सांवले आदमी को इतनी गोरी महिला मिल गई. इधर जेठालाल अपनी शादीशुदा ज़िंदगी में हल्की-फुल्की चिक-चिक के साथ खुश तो है, लेकिन फिर भी वो अपनी पड़ोसन बबीता जी को पसंद करते हैं. उनसे बात करने का, मिलने का कोई भी बहाना नहीं छोड़ते. और तो और कई बात को खुद ही बहाना पैदा कर लेते हैं. लेकिन इन्हीं कोशिशों के दौरान जेठालाल की लंका भी लग जाती है. बबीता का किरदार जेठालाल को केवल एक पड़ोसी और दोस्त की हैसियत से ही अहमियत देता है. उसकी तरफ से ऐसा कुछ भी प्यारनूमा या क्रशनूमा बर्ताव नहीं होता. शादी के इतर दूसरी महिला को पसंद करने वाले इस कॉन्सेप्ट को सीरियल में मज़ाकिया अंदाज़ में दिखाने की कोशिश की जाती रही है.

किस तरह से ट्रोल किया गया, कैसे मीम्स बने?

अब जैसे ही ये खबर सामने आई कि टप्पू का किरदार निभा रहे राज और मुनमुन कथित तौर पर एक-दूसरे को डेट कर रहे हैं, तो सोशल मीडिया पर बहार आ गई मीम्स की. कुछ के दर्शन हम कराते हैं आपको. एक मीम में कहा गया-

“मुनमुन दत्ता और राज कपल हैं. अब ऐसे में जेठालाल कहेंगे- गुडमॉर्निंग बहूजी.”

गुड मॉर्निंग बहू जी

दरअसल, सीरियल में ये दिखाया गया है कि जेठालाल जब भी बबीता को देखते हैं, अपनी बालकनी से उन्हें आवाज़ ज़रूर लगाते हैं. सुबह के वक्त गुडमॉर्निंग बबीता जी ज़रूर कहते हैं. मीम में इस लाइन से बबीता जी का नाम काटकर बहूजी कर दिया गया.

एक यूज़र ने लिखा-

“जेठालाल तो ठीक है. अब बबीता जी को टप्पू और बापू जी के साथ बेड शेयर करना पड़ेगा.”

बेड शेयर करना पड़ेगा

एक अन्य यूज़र ने लिखा-

“बबीता जी, बाप जो न कर सका वो बेटे ने कर दिखाया. अब चंपक चाचा बबीता और टप्पू का हृदय परिवर्तन कराएंगे.”

हृदय परिवर्तन

एक यूज़र तो मीम में क्रिएटिविटी दिखाने के चक्कर में बहुत नीचे गिर गया. लिखा- “33 और 24 मिलकर अब 69 बनाएंगे.” इस कमेंट के नीचे एक यूज़र ने लिखा कि 33 और 24 जोड़ने पर 69 नहीं होता. इस पर सामने वाले ने लिखा कि उसे ये बात मालूम है, उसने तो ऐसे ही 69 लिख दिया. फिर एक अन्य यूज़र ने जवाब दिया- “मुझे भी पता है कि क्यों लिखा है?”. इसके बीच ट्रोल सेना का एक और सैनिक आया, और इसी थ्रेड में लिखा- “सर्च कर भाई 57 भी सेक्स पोज़िशन होती है.”

गोइंग टू मेक 69 सेक्स पॉज़िशन

एक और मीम काफी वायरल है. जिसमें ये लिखा है-

“बबीता जी और टप्पू के बारे में जानकर जेठालाल और अय्यर कहेंगे- सांप को पाल रहा था.”

इसी के साथ एक पोस्टर भी वायरल हो रहा है. जिसमें प्रियंका चोपड़ा के साथ निक जोनस, मलायका के साथ अर्जुन कपूर और मुनमुन के साथ राज की तस्वीरों का एक कोलाज बनाया गया. दरअसल, इन तीनों ही कपल्स में लड़कियों की उम्र लड़के से ज्यादा है. यानी सीधे तौर पर इस पोस्टर के ज़रिए लड़की का उम्र में लड़के से बड़ा होना, इसी को टारगेट किया जा रहा है.

किड्स अडल्ट लीजेंट्स

हद तो तब हो गई जब इसे मिर्ज़ापुर सीरीज़ के प्लॉट से कम्पेयर किया जाने लगा. दरअसल इस सीरीज़ में रसिक्का दुग्गल के किरदार बीना त्रिपाठी का रेप होता है. और ये रेप बीना का ससुर ही करता है. ससुर के रोल में कुलभूषण खरबंदा हैं. इसी प्लॉट को बेस लेते हुए मीम सेना ने एक पोस्टर बनाया. और ऊपर लिखा-

“टप्पू, बबीता जी और जेठालाल का अपडेटेड वर्ज़न”.

मिर्ज़ापुर

मीम्स में क्या खराबी?

ज़ाहिर है हममें से बहुत से लोग ऐसे वायरल मीम्स को देखकर हंसते हैं. क्योंकि मीम्स का काम ही हंसाना होता है. लेकिन मुनमुन और राज के केस में जो भी मीम बन रहे हैं, उनमें एक औरत को प्रॉपर्टी के तौर पर ट्रीट किया जा रहा है. मीम्स में जेठालाल और टप्पू के बीच बबीता को लेकर नोक-झोक दिखाई जा रही है. जैसे बबीता किसी की प्रॉपर्टी हों और दो आदमी इस प्रॉपर्टी पर अपना हक जताने की कोशिश कर रहे हों. मुनमुन और राज रिलेशन में हैं या नहीं, ये उनका आपसी मुद्दा है और उनकी पर्सनल लाइफ है. लेकिन पर्सनल लाइफ में जो हो रहा है उसे रील लाइफ की सिचुएशन से कन्पेयर करना कितना वाजिब है? जवाब है, बिल्कुल भी नहीं. मुनमुन शो में बबीता हैं, लेकिन उसके बाद वो मुनमुन ही हैं. उन्हें पूरा हक है कि वो अपनी पसंद के लड़के को डेट करें. वहीं राज का भी सेम सीन है. अगर वाकई उन दोनों के बीच असल ज़िंदगी में रिश्ते हैं, तो इसे सीरियल वाली ज़िंदगी से कम्पेयर करना, हमें जरा भी सही नहीं लगता. तीसरी बात, मिर्ज़ापुर सीरीज़ से इस सिचुएशन को कम्पेयर करना कतई सही नहीं है. उस सीरीज़ में एक महिला का रेप उसका ससुर करता है. ऐसे में इतने गंभीर प्लॉट को इस तरह से प्रेजेंट करना वाकई दिक्कत पैदा करता है. इट्स नथिंग क्लोज़ टू मिर्ज़ापुर.

हम और आप मीम्स पढ़कर हंस देते हैं. लेकिन हम एक बार भी ये नहीं सोचते कि जिन पर ये मीम बन रहे हैं, उन पर क्या बीतती होगी. बबीता, जेठालाल और टप्पू को लेकर जो भी लिखा जा रहा है, ये सीधे तौर पर इन किरदारों को प्ले करने वालों पर हमले जैसा लग रहा है. कैसे डील कर रहे हैं इस तरह की ट्रोलिंग से मुनमुन दत्ता, राज अनादकट, दिलीप जोशी और तनुज महाशब्दे. ये जानने के लिए हमने चारों को कॉन्टैक्ट करने की कोशिश की थी. लेकिन किसी से हमारी बात नहीं हो सकी.

अब बात करते हैं इस सीरियल की. इसमें दिखाया गया है कि एक आदमी अपनी पड़ोसन को लेकर डिज़ायर रखता है. इस लाइन पर हमारे यहां कई टीवी सीरियल्स बन चुके हैं. “भाभी जी घर पर हैं…” से लेकर “भीमान-श्रीमती” तक. इन सबमें आदमी शादी के इतर अपनी पड़ोसन की डिज़ायर रखता है. उसके करीब जाने की भरसक कोशिश करता है. और हम ये प्लॉट देखकर हंसते हैं. जबकि हम जानते हैं कि ये सारी बातें कितनी प्रॉब्लेमेटिक हैं. इनमें से किसी भी सीरियल में कहीं भी ये वर्ज़न नहीं चलता कि महिला क्या चाहती है. दस में से 9 मामलों में महिला की तरफ से कोई लव इंटरेस्ट नहीं होता है, इसे दिखाया भी नहीं जाता. आप सोचिए असल ज़िंदगी में क्या आप ऐसी सिचुएशन को फनी बता सकते हैं. बिल्कुल नहीं.

भाभी मां समान होती है. 70 के दशक से लेट 90s तक आने वाला एक आइडिया. बॉलीवुड फिल्मों से निकला एक आइडिया. हम आपके हैं कौन वाली रेणुका शहाणे, हम साथ-साथ हैं वाली तबू या फिर विवाह फिल्म में लता सबरवाल वाली भाभी का आइडिया. मगर सभी संस्कारी और पारिवारिक आइडियाज की एक ख़ास बात होती है. पैरेलेल दुनिया में कोई उन्हें एडल्ट आइडियाज में बदल रहा होता है. केवल एडल्ट फिल्मों में ही भाभियों को ‘ऑब्जेक्ट ऑफ़ डिज़ायर’ नहीं माना जाता, बल्कि टीवी इंडस्ट्री भी लगातार ये काम कर रही है. कुछ शोज़ के उदाहरण तो हमने आपको पहले ही दे दिए हैं. और पड़ोसनों से रोमैंस की चाह रखना कोई नया कॉन्सेप्ट नहीं है. अंग्रेजी की कहावत ‘लव दाय नेबर’ यानी अपने पड़ोसी से प्रेम करो, इसे इंडियन टीवी इंडस्ट्री ने बहुत पहले ही लिटरली लेना शुरू कर दिया था.

फिर भी इन सीरियल्स को हम पारिवारिक सीरियल कहते हैं. पारिवारिक दिखने वाले इन शोज़ में भी बारीकी से ये साबित किया जाता रहा है कि पुरुष शादियों के बाहर जाकर पड़ोसनों की चाहत रख सकते हैं. कॉमेडी यही है कि वो चाहत कभी पूरी नहीं होगी. इसके उलट क्या आपने कोई शो देखा है? जिसमें कोई शादीशुदा महिला एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर रखने की चाहत रखती हो? रखती हो तो क्या वो एक फैमिली कॉमेडी का प्लॉट बन पाएगा? सोचिएगा.


वीडियो देखें: मुनमुन दत्ता और राज अनादकट के रिश्ते पर भद्दे मीम बनाने वालों की मानसिकता क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

NCP कार्यकर्ता ने महिला सरपंच को पीटा, वीडियो वायरल

मामला महाराष्ट्र के पुणे का है. पीड़िता ने कहा – नहीं मिला न्याय.

सिविल डिफेंस वालंटियर मर्डर केस: परिवार ने की SIT जांच की मांग, हैशटैग चला लोग मांग रहे इंसाफ

पीड़ित परिवार का आरोप- गैंगरेप के बाद हुआ कत्ल.

उत्तर प्रदेश: रेप नहीं कर पाया तो महिला का कान चबा डाला, पत्थर से कुचला!

एक साल से महिला को परेशान कर रहा था आरोपी.

मुझे जेल में रखकर, उदास देखने में पुलिस को खुशी मिलती है: इशरत जहां

दिल्ली दंगा मामले में इशरत जहां की जमानत में अब पुलिस ने कौन सा पेच फंसा दिया है?

किशोर लड़कियों से उनकी अश्लील तस्वीरें मंगवाने के लिए किस हद चला गया ये आदमी!

खुद को जीनियस समझ तरीका तो निकाल लिया लेकिन एक गलती कर बैठा.

कॉन्डम के सहारे खुद को बेगुनाह बता रहा था रेप का आरोपी, कोर्ट ने तगड़ी बात कह दी

कोर्ट की ये बात हर किसी को सोचने पर मजबूर करती है.

रेखा शर्मा को 'गोबर खाकर पैदा हुई' कहा था, अब इतनी FIR हुईं कि अक्ल ठिकाने आ जाएगी

यति नरसिंहानंद को आपत्तिजनक टिप्पणियां करना महंगा पड़ा.

अवैध गुटखा बेचने वाले की दुकान पर छापा पड़ा तो ऐसा राज़ खुला कि पुलिस भी परेशान हो गई

इतने घटिया अपराध के सामने तो अवैध गुटखा बेचना कुछ भी नहीं.

अपनी ड्यूटी कर रही महिला अधिकारी की सब्जी बेचने वाले ने उंगलियां काट दीं

इसके बाद सब्जी वाले ने जो कहा वो भी सुनिए.

पीट-पीटकर अपने डेढ़ साल के बच्चे को लहूलुहान कर देने वाली मां की असलियत

ये वायरल वीडियो आप तक भी पहुंचा होगा.