Submit your post

Follow Us

मुंबई रेप पीड़िता की इलाज के दौरान मौत, आरोपी ने रॉड से प्राइवेट पार्ट पर हमला किया था

मुंबई के साकी नाका इलाके में रेप की शिकार हुई पीड़िता की शनिवार, 11 सितंबर को इलाज के दौरान मौत हो गई. 32 साल की रेप पीड़िता का इलाज राजावाड़ी हॉस्पिटल घाटकोपर में चल रहा था. अस्पताल प्रशासन ने मौत की पुष्टि की है.वारदात मुंबई के साकी नाका इलाके में खैरानी रोड पर हुई. आरोप है कि महिला के साथ पहले रेप किया गया और फिर आरोपी ने उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डाल दी. महिला को गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया गया था. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. कोर्ट ने उसे 21 सितंबर तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है. मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलाने की बात कही है ताकि पीड़ित परिवार को जल्दी न्याय मिले.

पूरा मामला क्या है?

घटना शुक्रवार 10 सितंबर सुबह 3 बजे की है. खैरानी रोड पर आरोपी मोहन चौहान ने महिला को अपने टेंपो में खींचा और उसके साथ मारपीट की. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मुंबई पुलिस के कंट्रोल रूप में शुक्रवार तड़ते 3:30 बजे एक फोन आया था. बताया गया था कि साकी नाका में खैरानी रोड पर खून से लथपथ एक महिला बेहोश हालत में पड़ी है. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और उसे अस्पातल में भर्ती करवाया और तहत केस दर्ज किया.

CCTV फुटेज से हुई आरोपी की पहचान

जिस जगह घटना हुई, वहां CCTV लगा हुआ था. पुलिस ने जांच के दौरान CCTV फुटेज को खंगाला. पाया कि आरोपी मोहित चौहान ने महिला का रेप करने करने के बाद उससे मारपीट की थी. उस पर लोहे की रॉड से हमला किया. प्राइवेट पार्ट में भी कई बार उस रॉड को डाला और उसी हालत में उसे ऑटो में छोड़कर मौके से फरार हो गया. 15 मिनट बाद वहां से गुजरने वाले किसी व्यक्ति ने खून से लथपथ महिला को देखा और पुलिस को कॉल किया. पुलिस का कहना है कि CCTV फुटेज आरोपी के खिलाफ एक अहम सबूत है, जिसे वो इस केस में इस्तेमाल करेगी.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा है कि इस संबंध में उन्होंने राज्य के गृह मंत्री से बात की है. मुख्यमंत्री ने घटना की पूरी जानकारी ली है और पुलिस आयुक्त से भी बात की है. घटना निंदनीय है. अपराधी को कड़ी से कड़ी सजा दी जाएगी. उन्होंने कहा कि मामले को फास्ट ट्रैक पर चलाया जाएगा और पीड़िता को न्याय मिलेग. उन्होंने जांच में तेजी लाने के भी निर्देश दिए.

उधर इन सब के बीच मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने बताया कि आरोपी उत्तर प्रदेश के जौनपुर का रहने वाला है. उसने अकेले इस घटना को अंजाम दिया है. फिलहाल कोर्ट ने उसे पुलिस कस्टडी में भेज दिया है. पुलिस कमिश्नर ने आगे बताया कि

इस मामले की जांच के लिए एक स्पेशल इनवेस्टिगेशन टीम यानी SIT का गठन किया गया है, जिसका नेतृत्व महिला अफसर SP ज्योत्सना रासम करेंगी. शुरुआत में लग रहा था कि इस मामले में एक से अधिक आरोपी हैं. पर अब तक की जांच में सामने आया कि आरोपी ने अकेले ही वारदात को अंजाम दिया है. मुख्यमंत्री ने फास्ट ट्रैक कोर्ट में इस केस को चलाने का निर्देश दिया है. दुर्भाग्य है कि पीड़िता की शनिवार सुबह मौत हो गई. हम उसका स्टेटमेंट रिकॉर्ड नहीं कर पाए. उसकी मौत के बाद धारा 307 (किसी धारदार हथियार से चोट पहुंचाना) को 302 (हत्या करने का अपराध) में बदल दिया गया है.

मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की.
मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

पुलिस कमिश्नर ने बताया कि एक चौकीदार के कंट्रोल रूम में सूचित किए जाने के ठीक 10 मिनट बाद टीम मौके पर पहुंच गई थी. पर वहां कोई मौजूद नहीं था. पर सीसीटीव की मदद से आरोपी गिरफ्तार किया जा चुका है.

इससे पहले इस मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट किया

जानकर दुख हुआ कि पीड़िता जंग हार गई. पुलिस आरोपियों को अरेस्ट करने में विफल रही. NCW ने खुद मामले में संज्ञान लिया है और मुंबई पुलिस कमिश्नर से आग्रह करती है कि दोषियों को जल्द से जल्द अरेस्ट कर पीड़िता के परिवार को हर संभव मदद दी जाए.

वहीं महाराष्ट्र के कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने कहा,

हम यह सुनिश्चित करेंगे कि जल्द से जल्द चार्जशीट दायर की जाए. पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए फास्टट्रैक कोर्ट में केस चलेगा.

शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट किया.

मुंबई में हुए जघन्य रेप की घटना ने मुझे बहुद पीड़ा दी है. गुस्से से भर दिया. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. प्रशासन से ये मैं सुनिश्चित करने का आग्रह करती हूं कि इस जांच में तेजी लाई जाए और दोषियों को सजा दी जाए.

सांसद ने इस इस ट्वीट में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राज्य के गृहमंत्री दिलीप पाटिल को टैग किया.

BJP नेता प्रीति गांधी ने ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार पर महिला सुरक्षा को लेकर निशाना साधा. लिखा-

मुंबई हमेशा महिलाओं के लिए सबसे सुरक्षित रही है. ये घटना चौंकाने और दिल दहला देने वाली है. शहर के बीचों-बीच ‘निर्भया’ जैसी रेप की वारदात हुई. एक 34 वर्षीय महिला के साथ बेरहमी से रेप किया गया और उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डाली गई. महाराष्ट्र सरकार की प्रतिक्रिया आने तक महिलाओं को और कितना ये सब झेलना पड़ेगा?

BJP IT सेल प्रमुख अमित मालवीय ने भी ट्वीट कर महाराष्ट्र सरकार पर सवाल उठाए. उन्होंने लिखा-

मुंबई, जिसे कभी महिलाओं के लिए सुरक्षित माना जाता था, अब पुरुषों को असहाय पीड़ितों के साथ यौन उत्पीड़न और क्रूरता करते हुए दिखाई देती है. मुंबई अकेली नहीं है. अभी कुछ दिन पहले पुणे में 13 लोगों ने 14 साल की बच्ची के साथ गैंगरेप किया था. क्या महाराष्ट्र सरकार कोई जिम्मेदारी लेगी?

आरोपी के बारे में क्या पता चला है?

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी टेंपो चालक है. एक अधिकारी ने एक्सप्रेस को बताया,

हमें उसका फोन नंबर भी मिला, लेकिन उसका फोन स्विच ऑफ था. बाद में मुखबिरों की मदद से हम साकी नाका इलाके में दोपहर लगभग 1:30 बजे उसका पता लगाने में सफल रहे.

पुलिस ने कहा कि वे उसे थाने ले गए. शुरू में उसने झूठ बोलकर गुमराह करने की कोशिश की. बताया कि उसका नाम सुनील है, लेकिन बाद में पुलिस ने लगातार पूछताछ की, तो उसने बताया कि उसका असली नाम मोहन चौहान है. पुलिस के मुताबिक, आरोपी के दो बच्चे हैं और वह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के जौनपुर का रहने वाला है.पुलिस ने कहा कि वह ड्रग्स और शराब का आदी है, जिसके चलते उसके परिवार ने उससे नाता तोड़ लिया है. उसका भाई मुंबई में रहता है, लेकिन उसकी लत के कारण, वह उसे अपने घर नहीं ले जाता है. उसकी पत्नी और दो बच्चे भी उससे बात करने से बचते हैं.

वह 25 साल पहले मुंबई आया था. पुलिस को पता चला है कि वह वाहनों से बैटरी और पेट्रोल चोरी करने में शामिल है. पुलिस का कहना है कि उसका इतिहास खोजने की कोशिश कर रहे हैं.


देखिए वीडियो: ‘द्रौपदी’ के रेप की कहानी से DU प्रशासन को दिक्कत क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

'तारक मेहता...' के बबीता-टप्पू असल ज़िंदगी में अगर रिश्ते में है, तो जनता इतनी क्यों बेचैन है?

'तारक मेहता...' के बबीता-टप्पू असल ज़िंदगी में अगर रिश्ते में है, तो जनता इतनी क्यों बेचैन है?

मुनमुन, राज और 'जेठालाल' को लेकर इतनी गंदगी की उम्मीद 'तारक मेहता..' वालों ने नहीं की होगी.

भूखे बच्चों को अकेला छोड़ नौकरी के लिए प्रोटेस्ट कर रहीं विधवा औरतें आत्मदाह करने पर मजबूर!

भूखे बच्चों को अकेला छोड़ नौकरी के लिए प्रोटेस्ट कर रहीं विधवा औरतें आत्मदाह करने पर मजबूर!

मामला छत्तीसगढ़ का है. औरतों का कहना है- "चुनावी वादा पूरा नहीं कर रही सरकार"

भवानीपुर उपचुनाव: जब BJP के दिग्गज पीछे हट गए, तब ममता को टक्कर देने आईं प्रियंका टिबरेवाल

भवानीपुर उपचुनाव: जब BJP के दिग्गज पीछे हट गए, तब ममता को टक्कर देने आईं प्रियंका टिबरेवाल

भवानीपुर की प्रियंका टिबरेवाल, जो अब दूसरी बार ममता बनर्जी को 'हराने' के लिए कमर कस रही हैं.

'वर्जिनिटी टेस्ट' करने का ये घटिया तरीका बैन होने के बाद भी मेडिकल स्टूडेंट्स को पढ़ाया जाता रहा!

'वर्जिनिटी टेस्ट' करने का ये घटिया तरीका बैन होने के बाद भी मेडिकल स्टूडेंट्स को पढ़ाया जाता रहा!

महाराष्ट्र की एक यूनिवर्सिटी ने 'टू-फिंगर टेस्ट' को सिलेबस से हटाकर नई पहल की.

औरतों का प्रोटेस्ट कवर कर रहे पत्रकारों को तालिबान ने पकड़ा, थाने ले जाकर बुरी तरह पीटा!

औरतों का प्रोटेस्ट कवर कर रहे पत्रकारों को तालिबान ने पकड़ा, थाने ले जाकर बुरी तरह पीटा!

'मैंने पूछा- मुझे क्यों मार रहे हो. तालिबानी बोले कि शुक्र करो सिर कलम नहीं कर रहे'

'सेक्स की लत से लड़कियां लेस्बियन हो जाती हैं': MBBS कोर्स में पढ़ाया जा रहा था ये कचरा

'सेक्स की लत से लड़कियां लेस्बियन हो जाती हैं': MBBS कोर्स में पढ़ाया जा रहा था ये कचरा

LGBTQ+ समुदाय के बारे में पढ़ाई जा रहीं घटिया बातें, केरल HC ने जवाब मांगा है.

महिलाओं के साथ तालिबान की ज्यादती पर भड़के ऑस्ट्रेलिया ने क्या धमकी दे दी?

महिलाओं के साथ तालिबान की ज्यादती पर भड़के ऑस्ट्रेलिया ने क्या धमकी दे दी?

संकट में अफ़ग़ान क्रिकेट का भविष्य.

शिखर धवन और आयशा मुखर्जी का तलाक हुआ, लोग यहां भी बदतमीजी से बाज़ नहीं आए

शिखर धवन और आयशा मुखर्जी का तलाक हुआ, लोग यहां भी बदतमीजी से बाज़ नहीं आए

शिखर धवन की दीवानगी में अंधे लोगों को उनकी पत्नी का पक्ष भी समझना चाहिए

NDA में लड़कियों की भर्ती को लेकर सरकार ने बड़ा U टर्न मारा है और ये अच्छा है

NDA में लड़कियों की भर्ती को लेकर सरकार ने बड़ा U टर्न मारा है और ये अच्छा है

पहले भर्ती न देने के लिए नैशनल सिक्योरिटी तक का तर्क दिया था.

वादा करने के बाद भी तालिबान ने अपनी सरकार में एक भी महिला को जगह नहीं दी

वादा करने के बाद भी तालिबान ने अपनी सरकार में एक भी महिला को जगह नहीं दी

तालिबान के प्रधानमंत्री और गृहमंत्री UN और अमेरिका की आतंकवादी लिस्ट में शामिल हैं.