Submit your post

Follow Us

POCSO कोर्ट ने आंख मारने और फ्लाइंग किस को यौन उत्पीड़न माना, एक साल की सजा सुनाई

मुंबई की POCSO यानी  Protection of Children from Sexual Offences कोर्ट ने नाबालिग लड़की को आंख मारने और फ्लाइंग किस  देने को सेक्सुअल इशारा मानते हुए यौन उत्पीड़न करार दिया है.   कोर्ट ने 20 साल के लड़के को एक साल की सजा सुनाई है. साथ ही 15 हजार का जुर्माना भी लगाया है. आरोप था कि उसने 14 साल की लड़की को आंख मारी और उसे फ्लाइंग किस दिया था. कोर्ट ने इसी केस में उसे दोषी करार देते हुए  सजा सुनाई है. कोर्ट ने ये सजा प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंसेस (पॉक्सो) एक्ट के तहत सुनाई है.

इंडिया टुडे की पत्रकार विद्या की रिपोर्ट के मुताबिक, मामला 29 फरवरी, 2020 का है.लड़की की मां का आरोप है कि लड़के ने उनकी बेटी को जब वह अपनी बहन के साथ बैठी थी, तब आंख मारी और कई बार फ्लाइंग किस दिया. ऐसा पहली बार नहीं था. कई बार ये वाकया हो चुका था. पहले तो उन्होंने लड़के को डांटा लेकिन नहीं मानने पर एलटी मार्ग पुलिस स्टेशन में उसके खिलाफ यौन शोषण का केस दर्ज करा दिया.  पुलिस ने भी कार्रवाई करते हुए आरोपी लड़के को अरेस्ट किया. मार्च, 2020 से वह जेल में है.

उधर, आरोपी लड़के ने ट्रायल के दौरान दावा किया था कि वह और लड़की दोनों अलग-अलग समुदाय के हैं, इसलिए लड़की की मां उसे बात करने के लिए रोक रहीं थी. लड़के ने ये भी आरोप लगाया कि उसे गलत तरह से फंसाया जा रहा है. उसने ऐसा कुछ नहीं किया है. उसके वकील ने भी कोर्ट में कहा कि इस मामले की सही से जांच नहीं की हुई है. उनके क्लाइंट ने यौन शोषण नहीं किया है. उसे फंसाया जा रहा है.

कोर्ट ने कहा कि कोई भी ऐसा सबूत नहीं मिला, जिससे ये साबित हो सके कि पीड़ित पक्ष ने आरोपी को जबरन इस केस में फंसाने की कोशिश की. कोर्ट ने लड़की, उसकी मां और केस के जांच अधिकारी का बयान सुना और उसी आधार पर लड़के को दोषी करार दिया. कोर्ट ने सजा सुनाते हुए कहा कि अगर रिकॉर्ड में जो सबूत हैं, उनको गौर से देखा जाए, तो आरोपी की तरफ से हुई हरकत सेक्सुअल इशारा है. उन्होंने कहा कि लड़की का यौन उत्पीड़न हुआ है. सजा सुनाते हुए आरोपी पर लगाए 15 हज़ार रुपये के जुर्माने में से 10 हज़ार लड़की को मुआवजे के तौर पर देने का भी आदेश दिया. साथ ही एक साल जेल की सजा भी सुनाई है.


वीडियो देखें: म्यांमार की इस मॉडल ने देश से निकाले जाने के खतरे के बीच क्या बहादुरी दिखा दी?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

जेल में बंद औरतों के बच्चे किस हाल में रहते हैं?

जेल में बंद औरतों के बच्चे किस हाल में रहते हैं?

NCPCR की ताज़ी रिपोर्ट में कई चिंताजनक बातें सामने आई हैं.

लीचड़ यात्री एयर होस्टेस से कैसी-कैसी डिमांड करते हैं, खुद उन्होंने बताया

लीचड़ यात्री एयर होस्टेस से कैसी-कैसी डिमांड करते हैं, खुद उन्होंने बताया

बीते दिनों एक पैसेंजर ने अपने कपड़े उतारकर एयर होस्टेस से 'इटैलियन स्मूच' की मांग की थी.

प्रेगनेंट औरतें छुट्टियां न लें, उसके लिए बहुत ही घटिया तरीके अपना रही कुछ कंपनियां

प्रेगनेंट औरतें छुट्टियां न लें, उसके लिए बहुत ही घटिया तरीके अपना रही कुछ कंपनियां

कंपनियों की क्रूरता का सामना कर चुकी औरतों ने सुनाया अपना दर्द.

लड़कियों की फोटो लगा फ़ेक अकाउंट बनाकर फॉलोवर्स बटोरने वालों की सच्चाई जानकर हंसी छूट जाएगी

लड़कियों की फोटो लगा फ़ेक अकाउंट बनाकर फॉलोवर्स बटोरने वालों की सच्चाई जानकर हंसी छूट जाएगी

जिन लड़कियों की तस्वीर लगाते हैं उनकी प्रोफाइल पर इनकी पैनी नज़र होती है.

पाक PM इमरान खान ने घटियापने की बात कही, पूर्व पत्नी ने लताड़ दिया

पाक PM इमरान खान ने घटियापने की बात कही, पूर्व पत्नी ने लताड़ दिया

इससे ये भी पता चल गया कि भारत-पाकिस्तान में कोई अंतर नहीं है.

तसलीमा को क्यों लगता है कि मोईन अली पर किया गया ISIS वाला ट्वीट मज़ाक था?

तसलीमा को क्यों लगता है कि मोईन अली पर किया गया ISIS वाला ट्वीट मज़ाक था?

इस ट्वीट को करने के पीछे तसलीमा ने ये क्या वजह बताई?

स्वेज नहर में जहाज फंसने के लिए क्या एक महिला जिम्मेदार थी?

स्वेज नहर में जहाज फंसने के लिए क्या एक महिला जिम्मेदार थी?

जहाज फंसने के बाद मिस्र की पहली महिला शिप कैप्टन मारवा एल्सलेहदर के खिलाफ क्या साजिश हुई?

देश निकाले के खतरे के बावजूद, म्यांमार की इस मॉडल ने इंटरनैशनल मंच पर असली बहादुरी दिखा दी

देश निकाले के खतरे के बावजूद, म्यांमार की इस मॉडल ने इंटरनैशनल मंच पर असली बहादुरी दिखा दी

म्यांमार में दो महीने पहले सेना ने तख्ता पलट कर दिया था.

अरी बहिन! जूती वाली इन्फेक्टेड रोटी खिलाने से आदमी वश में नहीं आता, मर ज़रूर सकता है

अरी बहिन! जूती वाली इन्फेक्टेड रोटी खिलाने से आदमी वश में नहीं आता, मर ज़रूर सकता है

रोटी बनाने और पुरुषों को वश में करने के अलावा जैसे औरतों के पास कोई काम ही न है.

महिलाओं के लिए सीट आरक्षित हुई तो पिता ने मॉडल-एक्ट्रेस बेटी को यूपी पंचायत चुनाव में उतार दिया

महिलाओं के लिए सीट आरक्षित हुई तो पिता ने मॉडल-एक्ट्रेस बेटी को यूपी पंचायत चुनाव में उतार दिया

साल 2015 में फेमिना मिस इंडिया की रनरअप रह चुकी हैं.