Submit your post

Follow Us

8वीं क्लास के बच्चे वॉट्सऐप ग्रुप पर क्लास की लड़की के गैंगरेप की प्लानिंग करते पाए गए

5
शेयर्स

मुंबई के एक नामी-गिरामी इंटरनैशनल करिकुलम (IB) वाले स्कूल ने अपने आठ छात्रों को सस्पेंड कर दिया. वजह- वॉट्सऐप ग्रुप में उनके बीच होने वाली बातचीत. जिसमें वो अपने क्लास की लड़कियों के साथ रेप करने की बातें करते थे. समलैंगिकों को गालियां देते थे. इन बच्चों की कल्पनाओं, इनकी बातचीत में ‘गैंगरेप करना’ शामिल था. और सबसे डरावनी बात, ये सभी 13-14 साल के हैं. 8वीं में पढ़ते हैं.

‘मुंबई मिरर’ ने ये रिपोर्ट की है. इसके मुताबिक, ये मामला यूं खुला कि दो लड़कियों की मांओं के सामने इस चैट ग्रुप की बात खुली. उन्होंने चैटिंग पढ़ी और स्कूल में इस बात की शिकायत की. इस चैट का ट्रांसक्रिप्ट निकलवाया गया. सौ से ऊपर पन्नों में गई है बातचीत. इसमें आठों स्टूडेंट्स ने क्लास के अपने साथी बच्चों के बारे में बेहद हिंसक बातें की हैं. उनकी बॉडी शेमिंग की है. किसी को लेस्बियन, तो किसी को ‘गे’ कहा है. इसमें गैंगरेप का भी ज़िक्र है. ख़बर के मुताबिक, शिकायत करने वाली दोनों महिलाएं सिलेब्रिटी हैं.

‘मुंबई मिरर’ के मुताबिक, उसके पास ये पूरा ट्रांसक्रिप्ट है. इसमें 8 नवंबर से 30 नवंबर के बीच ग्रुप पर हुई चैट का ब्योरा है. ‘मिरर’ ने क्लास में पढ़ने वाले कुछ स्टूडेंट्स के अभिभावकों से भी बात की. उन्होंने इस घटना की पुष्टि की. स्कूल से भी इस बारे में सवाल किया गया. मगर उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है.


इस रिपोर्ट में 23 नंवबर को इस चैट ग्रुप पर लड़कों के बीच हुई एक बातचीत का ज़िक्र किया है. इसमें लड़के एक-दूसरे से पूछ रहे हैं कि एक रात गुज़ारने के लिए वो अपने क्लास की किस लड़की को तरजीह देंगे. आगे की बातचीत क्लास की दो लड़कियों पर सिमट जाती है. एक और चैट में ये लड़के एक क्लासमेट के बारे में बात करते हैं. इनमें से एक कहता है-

देन वन नाइट वी जस्ट गो ऐंड बैंग हर.

अंग्रेज़ी में कही इस बात का हिंदी में मतलब कुछ यूं है कि एक रात जाकर उस लड़की के साथ सेक्स करेंगे. ‘बैंग’ बेहद हिंसक टर्म है, जो स्लैंग के मायने में सेक्स के लिए इस्तेमाल किया जाता है. जिस लड़के ने ये लिखा, वही बातचीत में आगे ‘गैंग बैंग’ टर्म इस्तेमाल करता है. वो ये टर्म उस लड़की के लिए इस्तेमाल कर रहा है, जिसका गैंगरेप किए जाने की बात की है उसने दोस्तों से. उसके ये कहने पर चैटिंग में शामिल बाकी लड़के उसे वाहवाही देते हैं.

इन बच्चों की आम बातचीत में बेहद हिंसक शब्द बार-बार इस्तेमाल होते हैं. ये लड़के कई बार लड़कियों को ‘ट्रैश’ (बेकार, कूड़ा, फालतू) कहकर बुलाते हैं. उनके चैट की ये लाइन पढ़िए-

आई विल डिस्ट्रॉई दैट लिटिल बिच.

एक और लाइन यूं है-

शुड आई गो फुल ऑन ऐंड किल हर एक्ज़िस्टेंस.

इस ट्रांसक्रिप्शन रेकॉर्ड में बलात्कार शब्द चार बार इस्तेमाल हुआ है. कुछ उदाहरण हैं-

– उसका बाप उसके साथ बलात्कार करता है.
– मैंने उसका बलात्कार नहीं किया.

इन दोस्तों ने समलैंगिकों का भी बहुत माखौल उड़ाया है. बेहद अपमानजनक तरीके से. अपनी क्लास के बच्चों के लिए ‘लेस्बियन’ और ‘गे’ का इस्तेमाल किया है. इस संबोधन में नीचा दिखाने का भाव है. इतनी सी उम्र में ये बच्चे ‘होमोफोबिक’ हैं.

आप ख़बर के आख़िर में पहुंच चुके हैं. ख़बरें अक्सर एक स्ट्रक्चर में लिखी जाती हैं. मगर हम कैसे अंत करें, कैसे प्रतिक्रिया करें, ये समझ से परे हैं. 13-14 साल के बच्चे इतने हिंसक कैसे हो सकते हैं, ये समझ आ सकने वाली बात भी नहीं है. टीवी, सोशल मीडिया, इंटरनेट, ये तमाम चीजें हैं जिनका असर है अब के बच्चों पर. इंटरनेट को ‘चाइल्ड सेफ’ बना पाना बहुत मुश्किल है. आप कितनी नज़र रखेंगे? कैसे हिसाब रखेंगे कि बच्चा अपने मोबाइल स्क्रीन पर क्या देख रहा है? आप देखना भी चाहें, तो हिस्ट्री मिटाने का विकल्प होता है. इनकॉगनिटो मोड है. बच्चे ये विकल्प जानते हैं. मां-बाप से कहीं ज़्यादा समझ होती है उन्हें टेक्नॉलजी की. ये बहुत भीषण स्थिति है. कि जहां आप बच्चे की पढ़ाई-लिखाई का सोचकर उसे टेक्नॉलजी से पूरी तरह दूर भी नहीं कर सकते. न ही बेहद सख़्त हो जाना, अनुशासन के नाम पर बच्चों पर हद से ज़्यादा पहरे और अंकुश लगाना सही है. और न ही आप पूरी तरह से इंटरनेट के उसके इस्तेमाल पर फिल्टर लगा सकते हैं. बहुत असहाय स्थिति है ये.


क्या है रेप के खिलाफ बना दिशा कानून जिसमें POCSO से भी कड़े नियम हैं?

UP में दहेज के लिए NRI लड़के के परिवार ने बेहूदगी की हदें पार कीं

मुंबई में मलवानी के स्कूल में 7 साल की बच्ची का यौन शोषण, पीड़िता ने बताया वो आरोपी को पहचान सकती है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

BJP ने दिल्ली चुनाव में इन चार महिलाओं पर भरोसा जताया है

पार्टी ने 57 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया है, इनमें से सिर्फ चार पर महिलाओं को मौका दिया.

इस तस्वीर में सोनिया गांधी का चेहरा लहूलुहान क्यों है?

इंटरनेट पर वायरल हो रही तस्वीरों में दुनिया की ताकतवर महिलाएं घायल दिख रही हैं.

18 साल पहले पाकिस्तान से आई थीं नीता, अब नागरिकता मिलने पर चुनाव लड़ रही हैं

चार महीने पहले ही भारत की नागरिकता मिली.

वर्ल्ड चैंपियनशिप में मेडल जीतने वाली बॉक्सर बिना नौकरी अब तक गरीबी में भटक रही थीं

सोशल मीडिया न होता, तो सिमरनजीत कौर का जाने क्या होता.

बच्चों के अश्लील वीडियो डाउनलोड करके बांटने वाले आदमी के खिलाफ मामला दर्ज

पॉर्न देखना भले कानूनी हो भारत में, चाइल्ड पॉर्नोग्राफी अपराध है.

तान्या शेरगिल: सेना दिवस पर परेड का नेतृत्व करने वाली पहली महिला अफ़सर

इस तरह परिवार की परंपरा को आगे बढ़ाया.

AAP की वो 8 महिला नेता, जिन पर अरविंद केजरीवाल को पूरा भरोसा है

कोई पूर्व कांग्रेसी नेता है, तो किसी के पति कांग्रेसी विधायक रह चुके हैं.

गंगूबाई काठियावाड़ी: वो सेक्स वर्कर जिसने डॉन को राखी बांधी और अब आलिया उसका रोल करने वाली हैं

संजय लीला भंसाली बना रहे हैं ये फिल्म.

अगर कन्हैया कुमार ऐसी ही बातें करते रहे, तो युवा लड़कियां उन्हें कभी अपना नेता नहीं मान पाएंगी

जिस राजनीति का विरोध करके मंच पाया, वैसी ही बातें करने लगे.

ट्विटर पर लड़की का नंबर मांगा, पुलिस ने ऐसा जवाब दिया कि नंबर छोड़ो गिनती भूल जाएगा

आप पुलिस के पीछे, पुलिस आपके पीछे. वॉट फन.