Submit your post

Follow Us

छत्तीसगढ़ की लापता लेडी कॉन्स्टेबल वृंदावन में फूल बेचती मिली, ढूंढने आई पुलिस को वापस लौटाया

छत्तीसगढ़ की एक महिला कॉन्स्टेबल उत्तर प्रदेश के वृंदावन में फूल बेचती मिली है. ये लेडी कॉन्स्टेबल रायपुर में तैनात थी. कुछ महीने पहले लापता हो गई थी. तब से रायपुर पुलिस उसकी तलाश में थी. अब उसका वृंदावन में पूजा का सामना बेचते हुए दिखना चर्चा में है.

हिंदी अखबार दैनिक भास्कर ने खबर दी है कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने महिला कॉन्स्टेबल अंजना सहिस को वृंदावन में देखा. वो वहां फूल बेच रहीं थीं. अखबार के मुताबिक, छत्तीसगढ़ पुलिस ने अंजना सहिस को अपने साथ वापस लाने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने लौटने से इनकार कर दिया. अंजना का आरोप है कि पुलिस विभाग में उन्हें परेशान किया जा रहा था. महिला कॉन्स्टेबल ने उन्हें ले जाने आई पुलिस से कहा कि वो वृंदावन में ही रहना चाहती हैं.

क्या है मामला?

दैनिक भास्कर के मुताबिक, पिछले साल अंजना सहिस रायगढ़ में पोस्टेड थीं. 9 महीने पहले उनका रायपुर पुलिस हेडक्वार्टर में तबादला किया गया था. यहां CID में पोस्टिंग के दौरान अंजना अचानक एक दिन लापता हो गईं. उनके परिवार या विभाग को इसके कारणों की कोई जानकारी नहीं थी. बाद में परिवार ने अंजना की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने महिला कॉन्स्टेबल की तलाश शुरू की.

anjana sahis
तस्वीर- महेंद्र नामदेव/आजतक

कैसे मिलीं अंजना?

राजेंद्र नगर पुलिस स्टेशन के प्रभारी विशाल कुजुर ने दैनिक भास्कर को बताया कि अंजना को ढूंढना आसान नहीं था. उनका मोबाइल नंबर पुलिस के पास नहीं था. विशाल कुजुर ने बताया,

“हम लगातार अंजना को ट्रेस करने की कोशिश में थे. हमारे पास उनका कोई फोन नंबर भी नहीं था. जांच के दौरान हमें उनके बैंक अकाउंट से कुछ जानकारी मिली. ट्रांजैक्शन से मालूम हुआ कि वे वृंदावन के कुछ ATM से किए गए थे. इसके बाद हमारी एक टीम वहां पहुंची. उसने कई लोगों को अंजना की तस्वीर दिखाई, जिसके बाद उनका ठिकाना पता चला.”

खबर के मुताबिक, पुलिस वृंदावन के एक कृष्ण मंदिर पर पहुंची. वहां उसे अंजना पूजा का सामान बेचते नजर आईं. अफसरों ने लेडी कॉन्स्टेबल से कहा कि उन्हें वापस चलना चाहिए. लेकिन अंजना ने इससे इनकार कर दिया. पुलिस ने उनकी मां से भी बात कराई. लेकिन वो तब भी नहीं मानीं. खबर के मुताबिक, अंजना ने पुलिस से कहा,

“ना मेरा परिवार है और ना रिश्तेदार. मैं अब यहीं रहना चाहती हूं.”

अफसरों पर परेशान करने का आरोप

दैनिक भास्कर ने बताया है कि अंजना का घर रायपुर के महावीर नगर में है. उनकी मां और पुलिस मुख्यालय से जुड़े सूत्रों ने अखबार को बताया कि कथित रूप से कुछ अफसरों की हरकतों से तंग आकर अंजना नौकरी छोड़ना चाहती थीं. हालांकि पुलिस टीम के कई बार पूछने पर भी अंजना ने ये नहीं बताया कि उन्हें किस तरह की समस्या थी और कौन से अधिकारी थे जो उन्हें परेशान कर रहे थे.

सूत्रों से अखबार को केवल यही पता चला है कि नौकरी के दौरान अंजना परेशान रहती थीं. उन्होंनें अपने साथी कर्मचारियों से कई बार कहा था कि वो अपने ड्यूटी रुटीन और कुछ अधिकारियों से तंग आ चुकी हैं और वृंदावन जाकर रहना चाहती हैं.

anjana sahis
अंजना सहिस की पुरानी तस्वीरें. (साभार- महेंद्र नामदेव/आजतक)

आजतक से जुड़े नरेश शर्मा ने हमें बताया कि कुछ साल रायगढ़ पुलिस में रहने के बाद अंजना को रायपुर भेज दिया गया था. वहां उनकी पहचान शिकायत करने वाली पुलिसकर्मी की बन गई थी. नरेश शर्मा के मुताबिक, अंजना ने अपने साथी पुलिस कर्मियों की अलग से शिकायतें की थीं, जो जांच में झूठी पाई गईं. उसके बाद उन्हें रायपुर पुलिस हेडक्वार्टर ट्रांसफर किया गया था.

कुछ स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, पुलिस टीम को देखकर अंजना ने काफी हंगामा किया. वे बड़ी मुश्किल से नजदीकी थाने चलकर बयान देने को राजी हुईं. बताया गया है कि काफी बहस के बाद रायपुर पुलिस की टीम अंजना से सहमति पत्र लेकर वापस लौट गई.


वीडियो- कोल माइन में अंडरग्राउंड काम करने वाली पहली महिला इंजीनियर बन आकांक्षा ने पेश की मिसाल 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

उत्तर प्रदेश: रेप नहीं कर पाया तो महिला का कान चबा डाला, पत्थर से कुचला!

एक साल से महिला को परेशान कर रहा था आरोपी.

मुझे जेल में रखकर, उदास देखने में पुलिस को खुशी मिलती है: इशरत जहां

दिल्ली दंगा मामले में इशरत जहां की जमानत में अब पुलिस ने कौन सा पेच फंसा दिया है?

किशोर लड़कियों से उनकी अश्लील तस्वीरें मंगवाने के लिए किस हद चला गया ये आदमी!

खुद को जीनियस समझ तरीका तो निकाल लिया लेकिन एक गलती कर बैठा.

कॉन्डम के सहारे खुद को बेगुनाह बता रहा था रेप का आरोपी, कोर्ट ने तगड़ी बात कह दी

कोर्ट की ये बात हर किसी को सोचने पर मजबूर करती है.

रेखा शर्मा को 'गोबर खाकर पैदा हुई' कहा था, अब इतनी FIR हुईं कि अक्ल ठिकाने आ जाएगी

यति नरसिंहानंद को आपत्तिजनक टिप्पणियां करना महंगा पड़ा.

अवैध गुटखा बेचने वाले की दुकान पर छापा पड़ा तो ऐसा राज़ खुला कि पुलिस भी परेशान हो गई

इतने घटिया अपराध के सामने तो अवैध गुटखा बेचना कुछ भी नहीं.

अपनी ड्यूटी कर रही महिला अधिकारी की सब्जी बेचने वाले ने उंगलियां काट दीं

इसके बाद सब्जी वाले ने जो कहा वो भी सुनिए.

पीट-पीटकर अपने डेढ़ साल के बच्चे को लहूलुहान कर देने वाली मां की असलियत

ये वायरल वीडियो आप तक भी पहुंचा होगा.

महिला कॉन्स्टेबल पर भद्दे कमेंट कर रहा था शख्स, विरोध किया तो रॉड से हमला कर दिया

परिवार मानसिक रूप से बीमार बताकर आरोपी को बचाने की कोशिश कर रहा.

मैसूर गैंगरेप केस: पुलिस ने 5 को गिरफ्तार किया, आरोपियों में किशोर भी शामिल

DGP प्रवीण सूद ने घटना के बारे में और क्या बताया.