Submit your post

Follow Us

चीन के सबसे चर्चित #metoo केस को बीजिंग की अदालत ने क्यों खारिज किया?

साल 2018. #metoo मूवमेंट. ये वो अभियान था जिसमें दुनियाभर की औरतों ने अपने साथ हुए यौन शोषण के बारे में खुलकर बात की थी. इस अभियान का असर इतना बड़ा था कि चीन जैसे देशों से भी इसकी गूंज सुनाई दी.

ये तो सभी को पता है कि चीन डेमोक्रेसी का खोल ओढ़े एक ऐसा देश है जिसका कंट्रोल सिर्फ एक पार्टी और कुछ लोगों के हाथ में है. वहां यौन शोषण जैसे विषयों पर खुलेआम चर्चा होना बहुत बड़ी बात है. इमेज को लेकर हमेशा सतर्क रहने वाली चीनी सरकार ऐसी बातों को बर्दाश्त नहीं करती जो वहां के सिस्टम या सरकार पर सवाल उठाए. इसलिए जब वहां से #metoo कैंपेन की आवाज़ आई तो पूरी दुनिया का ध्यान गया.

अब आप पूछेंगे आज हम इसपर क्यों बात कर रहे हैं?

दरअसल आज चीन के #metoo कैंपेन से जुड़ी एक खबर आयी है. बीजिंग की अदालत ने देश के सबसे फेमस टीवी एंकर के खिलाफ चल रहे मामले को खारिज कर दिया. जानकारों का कहना था कि यह मामला चीन के #metoo कैंपेन का भविष्य तय करने वाला है.

इस मामले में शिकायतकर्ता थीं झोऊ शियोक्सआन.उन्होंने चीन के मशहूर टीवी एंकर झू जुन पर आरोप लगाया था. झाऊ का कहना था कि साल 2014 में वो cctv चैनल के साथ इंटर्नशिप कर रहीं थी. तब झू जुन ने उन्हें ड्रेसिंग रूम में बुलाया और ज़बरदस्ती किस किया. झाऊ का कहना है कि शुरू में वो बहुत डर गई थीं. किसी को नहीं बताना चाहती थीं कि उनका मॉलेस्टेशन हुआ है. इस घटना के कारण वो बहुत शर्मिंदा थीं. उन्हें लगा कि कोई उनकी बात का भरोसा तक नहीं करेगा.

फिर चार साल बाद दुनिया में #metoo कैंपेन चला. झाऊ ने भी लेख लिखा. झाऊ की दोस्त ने उसे वीबो पर पोस्ट कर दिया. कुछ देर में ही वो पोस्ट सेंसर कर दिया गया. मगर तब तक तीर कमान से निकल चुका था. लेख वायरल हो गया.

इसके बाद झाऊ ने पुलिस शिकायत भी दर्ज करा दी. पुलिस ने उन्हें शिकायत वापस लेने को कहा क्योंकि झू फेमस टीवी एंकर थे और समाज में उनका रुतबा था. झू ने अपने ऊपर लगे सारे आरोपों को नकार दिया. और तो और झाऊ के खिलाफ मानहानि का मुकदमा भी दर्ज करवाया.

Untitled Design (6)
फोटो क्रेडिट – रायटर्स

 

अब 14 सितंबर को बीजिंग की हैडियन अदालत ने झू पर दर्ज मुकदमे में आखिरी सुनवाई की. कोर्ट की तरफ से संक्षिप्त बयान आया. कहा गया-

“इस मामले को हम खारिज कर रहे हैं. क्योंकि झाऊ द्वारा पेश किए गए सबूत ये साबित करने के लिए अपर्याप्त थे कि झू ने उनका उत्पीड़न किया है.”

फैसला आने के बाद झू तो अब तक पब्लिक में आए नहीं लेकिन झाऊ ने एक लिखित स्टेटमेंट जारी करके कहा है कि वो इसके खिलाफ अपील करेंगी. वैसे फैसले ने किस कदर झाऊ को तोड़ा इसका अंदाज़ा आप ऐसे लगाइए कि उन्होंने अपने समर्थकों के लिए भी काफी इमोशनल वीडियो मैसेज दिया. निराशा ज़ाहिर की और कहा कि बीते तीन साल बहुत टफ थे और उनमें हिम्मत नहीं कि फिर वही सब अगले तीन सालों तक करती रहें.

Untitled Design (4)
बीजिंग कोर्ट का फैसला आने के बाद झाऊ बहुत इमोशनल दिखीं. फोटो क्रेडिट – रायटर्स

फिलहाल उन्हें मानहानि का वो मुकदमा भी झेलना है जो झू ने उनके खिलाफ किया. पिछले हफ्ते शैनडोंग प्रोविंस की अदालत में भी यही हुआ था. वहां अलीबाबा कंपनी में काम करनेवाली एक महिला इंसाफ मांगने पहुंची थी. उसका आरोप था कि उसके मैनेजर ने उसका रेप किया है. पर उसे इंसाफ नहीं मिला. ये केस भी बहुत चर्चा में रहा था.

अब हाल ये है कि दुनियाभर में कानून के एक्सपर्ट्स चीनी अदालतों की काफी आलोचना इस बात के लिए कर रहे हैं कि जो पीड़ित है उसे ही अपने यौन उत्पीड़न का सबूत भी देना पड़ रहा है. इससे उन महिलाओं के हौसलों को धक्का लगता है जो मॉलेस्टर्स के खिलाफ कानून का सहारा लेना चाहती हैं.


LJP सांसद प्रिंस राज पर रेप का आरोप लगाने वाली पीड़िता ने चिराग पासवान पर क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

यूपी: नाबालिग ने 28 पर किया गैंगरेप का केस, FIR में सपा-बसपा के जिलाध्यक्षों के भी नाम

पिता के अलावा ताऊ, चाचा पर भी लगाए गंभीर आरोप.

कश्मीरी पंडित की हत्या के बाद बेटी ने आतंकियों को 'कुरान का संदेश' दे दिया!

श्रद्धा बिंद्रू ने आतंकियों को किस बात के लिए ललकारा है?

बिहार: महिला चिल्लाती रही, लोग बदन पर हाथ डालते रहे; वीडियो भी वायरल किया

बिहार की पुलिस ने क्या एक्शन लिया?

महिला अफसर के यौन उत्पीड़न का ये मामला है क्या जिसके छींटे वायु सेना पर भी पड़े हैं?

आरोपी अफसर पर बलात्कार से जुड़ी धारा 376 लगी है.

परिवार ने पूरे गांव के सामने पति-पत्नी की हत्या कर दी, 18 साल बाद फैसला आया है

कोर्ट ने एक को फांसी और 12 लोगों को उम्रकैद की सज़ा दी है.

असम से नाबालिग को किडनैप कर राजस्थान में बेचा, जबरन शादी और फिर रोज रेप की कहानी

नाबालिग 15 साल की है और एक बच्चे की मां बन चुकी है.

डोंबिवली रेप केसः 15 साल की लड़की का नौ महीने तक 29 लोग बलात्कार करते रहे

नौ महीने के अंतराल में एक वीडियो के सहारे बच्ची का रेप करते रहे आरोपी.

यौन शोषण की शिकायत पर पार्टी से निकाला, अब मुस्लिम समाज में सुधार के लिए लड़ेंगी फातिमा तहीलिया

रूढ़िवादी परिवार से ताल्लुक रखने वाली फातिमा पेशे से वकील हैं.

रेप की कोशिश का आरोपी ज़मानत लेने पहुंचा, कोर्ट ने कहा- 2000 औरतों के कपड़े धोने पड़ेंगे

कपड़े धोने के बाद प्रेस भी करनी होगी. डिटर्जेंट का इंतजाम आरोपी को खुद करना होगा.

स्टैंड अप कॉमेडियन संजय राजौरा पर यौन शोषण के गंभीर आरोप, उनका जवाब भी आया

इस मामले पर विक्टिम और संजय राजौरा की पूरी बात यहां पढ़ें.