Submit your post

Follow Us

कोरोना जांच कराने आई थी नई दुल्हन, घूंघट हटाने को कहा तो गजब बवाल कट गया

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ (Aligarh) में कोविड टेस्टिंग कर रही टीम के ऊपर हमले की बात सामने आई है. इंडिया टुडे से जुड़े तनसीम हैदर की रिपोर्ट के मुताबिक मामला टप्पल के साहा नगर सोरौला इलाके का है.

रिपोर्ट के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग की एक टीम गांव-गांव जाकर कोरोना टेस्टिंग कर रही थी. इलाके के एक गांव में टीम 37 लोगों का टेस्ट कर चुकी थी. इनमें पुरुष और महिलाएं दोनों शामिल थे. इस बीच एक नई नवेली शादीशुदा महिला अपनी जांच कराने पहुंची. महिला ने लंबा सा घूंघट ले रखा था.

रिपोर्ट के मुताबिक टीम ने महिला से घूंघट हटाने के लिए कहा, ताकि नाक और मुंह से सैंपल लिए जा सकें. लेकिन महिला अपना घूंघट हटाने के लिए तैयार नहीं हुई. तमाम कर्मचारियों के बाद लैब टेक्नीशियन सौरव अत्री ने भी दुल्हन से अपना घूंघट हटाने को कहा. लेकिन इसका भी कोई फायदा नहीं हुआ.

रिपोर्ट के मुताबिक यह बात सामने आई है कि जांच कराने वाली जगह पर गांव के कुछ बुजुर्ग और लड़के खड़े थे. बताया जा रहा है कि इन लोगों की वजह से महिला ने घूंघट हटाने और कोरोना की जांच कराने से मना कर दिया. मेडिकल टीम ने महिला की हिचक देखते हुए वहां खड़े लोगों को हटने के लिए कहा. इस बात पर लड़के भड़क गए और उन्होंने टीम पर हमला कर दिया.

दो स्वास्थ्यकर्मी बुरी तरह घायल

रिपोर्ट के मुताबिक लड़कों ने स्वास्थ्य टीम के सदस्यों को पहले दौड़ाया. उसके बाद पीटा. यहां तक कि टीम के जरूरी कागजात तक फाड़ दिए. इस पूरे घटनाक्रम के बाद मेडिकल टीम की तरफ से टप्पल थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई. पुलिस के मुताबिक हमले में स्वास्थ्य टीम के कई लोग घायल हुए हैं. दो लोग बुरी तरह से घायल हैं. सभी को जरूरी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं. वहीं अज्ञात आरोपियों की पहचान के लिए जांच जारी है.

हमलावरों द्वारा फाड़े गए दस्तावेज (फोटो: तनसीम हैदर)
हमलावरों द्वारा फाड़े गए दस्तावेज (फोटो: तनसीम हैदर)

दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में अगर कोरोना मामलों की बात करें तो इनमें लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. सोमवार को राज्य में कोरोना के 9,391 नए मामले सामने आए. ऐसा बहुत समय बाद हुआ कि राज्य में एक दिन के भीतर आने वाले मामलों की संख्या 10 हजार के नीचे गई हो. दूसरी तरफ रिकवरी रेट भी बढ़ा है. यह 90 फीसदी के करीब पहुंच गया है. हालांकि, पूरे प्रदेश में कोरोना के लगभग डेढ़ लाख एक्टिव मरीज हैं.


 

वीडियो- क्या है नीडल फोबिया जिसमें लोग इंजेक्शन या सुई से डरते हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

इस एक ट्वीट से हर्ष गोयनका ने अपनी इमेज की मिट्टी-पलीद करवा ली

इतना सस्ता जोक तो अब वॉट्सऐप यूनिवर्सिटी पर भी नहीं चलता.

कोविड के चलते मां को खोने वाले नवजात बच्चों को औरतें कैसे डोनेट करें अपना दूध?

नवजात बच्चों के लिए दूसरी औरतों का दूध या फिर फॉर्मूला मिल्क है बेस्ट?

मिस यूनिवर्स के मंच से म्यांमार की प्रतियोगी का अनोखा विरोध, पोस्टर दिखाकर कहा- मेरे देश को बचाइए

म्यांमार में सैन्य तख्तापलट के बाद से ही हिंसा का दौर चल रहा है.

कोविड पॉज़िटिव भाई और मां को सोता समझ दो दिन उनके शवों के साथ रही महिला

महिला बोली- मां ही खाना बनाती थी, वो सोई थी इसलिए दो दिन से खाना भी नहीं खाया.

दिल्ली में पुरुषों जितनी महिलाएं क्यों नहीं लगवा रही हैं कोरोना वैक्सीन?

दिल्ली, यूपी, जम्मू-कश्मीर और पूर्वोत्तर के राज्यों में गैप बहुत ज्यादा है.

कोविड से अनाथ हुए बच्चों के लिए जारी सरकारी हेल्पलाइन नंबर्स चलते भी हैं या नहीं?

कोई बच्चा कोरोना काल में अनाथ हो जाए तो क्या करें?

कोरोना काल में जहां अपने भी पराए हो रहे, वहां इन औरतों ने कायम की नई मिसाल

इंटरनेशनल नर्सिंग डे का पूरा इतिहास यहां जानिए.

कोरोना ड्यूटी करने वाली महिला पुलिसकर्मियों का ये रूप कभी ना देखा होगा!

महामारी के बीच ड्यूटी में लगीं महिला पुलिसकर्मियों ने सुनाई परेशान करने वाली आपबीती.

कोरोना के ज़ोरदार अटैक के बीच प्रेग्नेंसी प्लान करना क्या गलत है?

प्रेगनेंट औरतों से जानिए, हर पल किस बात का डर सताता है.

मदर्स डे: मिलिए दुनिया की सबसे 'लीचड़', 'घटिया', 'कपटी' मांओं से

और जानिए कि वो ऐसी कैसे बन गईं.