Submit your post

Follow Us

औरत को बांधकर आंख में एसिड डाला, फिर 11 साल के बेटे से जबरन रेप करवाया

अमेरिका में एक स्टेट है एरिजोना. यहां एक सिटी है किंगमेन. यहां एक आदमी ने अपनी एक महिला रिश्तेदार को बंधक बनाकर, उसकी आंखों में एसिड डाला. फिर उसी औरत के 11 साल के बेटे से जबरन उसका रेप करवाया. फिर उन दोनों पर दबाव डाला कि वो दोनों उसके साथ सेक्स करें. दोनों के हाथ-पैर बांधकर पीटा. ये सब वो लगातार 4 दिन तक करता रहा. इस मामले में अब उस आदमी को कोर्ट में ट्रायल का सामना करना होगा.

आदमी का नाम है जैरी गिलिगन. उम्र है 72 साल. मामला है साल 2016 का. रिपोर्ट्स के मुताबिक, जैरी उस औरत का रिश्तेदार था. (एक बात नोट कर लें, किसी भी रिपोर्ट में ये नहीं बताया गया है कि उस औरत से जैरी का क्या रिश्ता है.) करीब दो साल से वो उस औरत और उसके बेटे को परेशान कर रहा था. फिर 2016 के सितंबर महीने में उसने उन दोनों को अपने घर के एक कमरे में कैद कर लिया. जैरी ने पूरी घटना का वीडियो भी बनाया. उसने घटना के बाद उसने दोनों का मुंडन भी कर दिया.

जैरी गिलिगन.
जैरी गिलिगन.

ये मामला पुलिस तक तब पहुंचा, जब औरत अपना इलाज कराने के लिए किंगमेन अस्पताल गई. पुलिस ने औरत की शिकायत के बाद मामला दर्ज किया. जैरी के घर पहुंची और छानबीन की. वहां ऐसे सबूत मिले, जो औरत के आरोपों की पुष्टि कर रहे थे. पुलिस ने फिर साल 2016 में 17 सितंबर के दिन जैरी को गिरफ्तार किया. और अब मामला कोर्ट में है.

एक और बात, जैरी ने 1980 में अपने सौतेले पिता का मर्डर भी किया था. पुलिस ने उसे 1988 में गिरफ्तार किया था. जैरी को 25 साल की सज़ा भी हुई थी. वो अक्टूबर, 2014 में रिहा हो गया था.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

नॉलेज

आज की ख़बरों में ये महिलाएं टॉप पर क्यों बनी रहीं, वजह जान लीजिए

किरण बेदी से लेकर नलिनी श्रीहरन तक.

लॉकडाउन खुलने के बाद सरकारी स्कूल के टीचर्स किन मुश्किलों से जूझ रहे हैं?

किसी के पास आने-जाने का साधन नहीं, तो किसी को सैनिटाइजेशन की फ़िक्र.

आज की ख़बरों में ये महिलाएं छाई रहीं, वजह भी जान लीजिए

बड़े आविष्कारों से लेकर 12वीं की परीक्षा तक.

स्कॉच ब्राइट वालों ने ढंग का काम करना चाहा, ट्विटर पर लोगों ने उल्टी गंगा बहा दी

बात थी जेंडर से जुड़ी, बिंदी लेकर उड़ चले

बीजेपी में शामिल होने वाली वीरप्पन की बेटी को पार्टी ने कौन सी जिम्मेदारी दी?

फरवरी 2020 में बीजेपी में शामिल हुई थीं.

आज पूरे दिन ख़बरों में छाई रहने वाली ये महिलाएं कौन हैं?

और इन्होंने ऐसा क्या कर दिया कि स्पॉटलाइट इन पर पड़ी है.

COVID-19: क्वारंटीन सेंटर के भीतर का ये सीन देखकर आप उम्मीद से भर जाएंगे

जहां कोरोना से ज्यादा मजबूत है इंसानी हिम्मत और न हारने का जज्बा.

समलैंगिकता 'ठीक' करने के नाम पर शर्मिंदगी से भर देने वाली 'कन्वर्जन थेरेपी' क्या है

विदेश में भी इसे एक इलाज बताकर बेचा जाता है.

शुभम मिश्रा जैसे लड़कों से लड़कर कैसे जीतती हैं इंडिया की स्टैंड-अप कॉमिक लड़कियां?

जो पहले से ही एक ऐसे फील्ड में हैं जहां लड़कियां बेहद कम हैं

प्रवासी मजदूरों की लगातार मदद कर रही थीं, COVID-19 ने जान ले ली

पश्चिम बंगाल की सिविल सर्वेंट देबदत्ता रे की मौत.