Submit your post

Follow Us

'CAB' का सपोर्ट करने वाले ने प्रियंका गांधी पर बेहद घटिया कमेंट किया और धरा गया

28 दिसंबर के दिन कांग्रेस का फाउंडेशन डे होता है. इस बार पार्टी के फाउंडेशन डे पर प्रियंका गांधी लखनऊ में थीं. उन्होंने वहां कार्यकर्ताओं को संबोधित किया, फिर पूर्व IPS अधिकारी दारापुरी के परिवार से मिलने गईं. दारापुरी को CAA के खिलाफ फेसबुक पर लिखने के कारण गिरफ्तार कर लिया गया था. जब प्रियंका उनके घर के लिए रवाना हुईं, तो उन्हें पुलिस ने रोक लिया. फिर वो स्कूटी से उनके घर गईं. मुलाकात के बाद प्रियंका ने मीडिया से बात की. आरोप लगाए कि पुलिस ने उन्हें घेर लिया था और उनका गला दबाया था. हालांकि बाद में पुलिस का बयान भी आ गया था. लखनऊ सर्किल ऑफिसर डॉ. अर्चना सिंह ने कहा कि प्रियंका के साथ कोई गलत बर्ताव नहीं किया गया था.

इस पूरे मामले को हमारी टीम ने कवर किया. इस पर खबर भी पोस्ट की, हेडिंग में वही लिखा गया, जो प्रियंका ने अपने बयान में कहा था. हमने खबर की हेडिंग दी- ‘प्रियंका गांधी का UP पुलिस पर बड़ा आरोप, ‘मुझे घेरा और मेरा गला दबाया’.

हर स्टोरी की तरह इस खबर को भी हमने दी लल्लनटॉप के फेसबुक पेज पर शेयर किया. हर स्टोरी की तरह लोगों के रिएक्शन भी आए. इन सबके बीच रितेश बर्नवाल नाम के आदमी ने भी कमेंट किया. बहुत ही वाहियात, भद्दा, निचले दर्जे का कमेंट. बस एक कमेंट ने ही उसकी मानसिकता की पोल खोल दी. उसने क्या लिखा था, ये बताने लायक नहीं है.

हां, लेकिन हम ये बता सकते हैं कि उन दिग्गज भाईसाहब की प्रोफाइल कैसी दिखती थी. ‘थी’ इसलिए, क्योंकि अब उसका अकाउंट फेसबुक पर नहीं दिख रहा है. रितेश बर्नवाल ने अपने नाम के नीचे लिखा था, ‘गर्व से कहो हम हिंदू हैं’. प्रोफाइल फोटो अपनी लगा रखी थी, जिसके ऊपर लिखा था, ‘मैं CAB को सपोर्ट करता हूं’. शायद उन्हें ये नहीं पता था कि CAB अब CAA हो चुका है. चलिए इसे छोड़िये. कवर फोटो की बात करते हैं. पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर को कवर फोटो बना रखा था.

Ritesh Baranwal
रितेश बर्नवाल का फेसबुक पेज. अब नहीं दिख रहा है.

गिरफ्तारी हो गई है

रितेश के कमेंट का स्क्रीनशॉट जब वायरल हुआ, तो कांग्रेस के नेताओं ने उसके खिलाफ शिकायत की. पुलिस ने उसके खिलाफ IPC की कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया. 31 दिसंबर की शाम उसे हिरासत में ले लिया गया. रितेश गोरखपुर का रहने वाला है. इस वक्त पुलिस की गिरफ्त में है. पूछताछ चल रही है.

भरे पड़े हैं ऐसे लोग

खैर, रितेश का कमेंट इकलौता ऐसा कमेंट नहीं था, जो उस खबर पर आया. ऐसे लोग भरे पड़े हैं, जो उसकी तरह ही सोचते हैं और जिन्होंने उस तरह के कमेंट किए. जिन्हें लगता है कि किसी का विरोध करना है, तो उस पर भद्दे कमेंट कर दो. खासतौर पर अगर किसी औरत का विरोध करना हो, तो ज्यादातर लोग उसकी देह, उसके रंग को ही टारगेट करते हैं. ऐसे लोगों के लिए औरतें आसान टारगेट हो जाती हैं.

पॉलिटिक्स में औरतों की संख्या आदमियों के मुकाबले बेहद कम हैं. फिर अगर बात फेमस चेहरों की हो, तो वो संख्या और भी कम है. ऐसे में अगर कोई महिला राजनेता किसी तरह का कोई बयान देती है, किसी तरह का एक्शन लेती है, तो उसे टारगेट करना लोगों को आसान लगता है.

कल्पना कीजिए कि अगर प्रियंका की जगह राहुल गांधी होते या वो इस तरह का बयान देते, तो क्या उनके लिए उनके शरीर से जुड़ा कोई कमेंट आता? नहीं आता. उन्हें उनकी राजनीतिक क्षमता को लेकर टारगेट किया जाता, जो समय-समय पर किया जाता रहा है.

सवाल ये है कि किसी महिला राजनेता को टारगेट करने के लिए उसके शरीर पर कमेंट क्यों होता है? उसके काम पर, उसकी राजनीतिक क्षमता पर बात क्यों नहीं की जाती? अगर ऐसा किया जाएगा, तो बेहतर होगा.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्राइम

पांच नाबालिग सहित छह पर आठ साल की बच्ची से यौन शोषण का आरोप

पिता ने जब एक आरोपी के घरवालों को बताया, तो उन्होंने हमला कर दिया.

कोरोना टेस्ट के लिए लड़की के वजाइना का सैम्पल लिया, टेक्नीशियन पर रेप का केस दर्ज

घटना महाराष्ट्र के अमरावती के सरकारी लैब की है.

कपल यूट्यूब स्टार है, घरेलू हिंसा का आरोप लगा तो पति ने सारे वीडियो डिलीट कर दिए

अस्पताल के सामने पत्नी को पीटने का आरोप लगा था.

तीन साल की बच्ची खून से लथपथ पड़ी रही, रातभर अस्पतालों ने भर्ती तक नहीं किया

बच्ची का कथित तौर पर उसके ताऊ ने रेप किया था.

घर छोड़ने के बहाने गाड़ी में बिठाया, राजस्थान में छह लोगों ने लड़की का रेप किया

छह में से दो लड़कों को लड़की पहचानती थी.

गाजियाबाद के खाली मैदान में पड़ा था सूटकेस, खोलने पर निकली लड़की की लाश

लाश देखकर लग रहा है, जैसे उसकी हाल ही में शादी हुई हो.

किस 'दबाव' में ABVP के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर लगाया उत्पीड़न का आरोप महिला ने वापिस ले लिया?

45 मिनट की फ़ोन कॉल में क्या बात हुई?

62 साल की महिला ने ABVP के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर उत्पीड़न का आरोप लगाया

महिला ने कहा- दरवाज़े पर पेशाब की. ABVP ने वीडियो को फेक बताया.

छठवीं की छात्रा से रेप के आरोप में स्कूल के डायरेक्टर, मैनेजर समेत 10 टीचर्स पर केस

आरोप, तीन महिला टीचर्स को भी थी मामले की जानकारी, पर उन्होंने छिपाया.

लड़की की मौत, शरीर पर चोट के निशान, 8 दिन तक आरोपी को 'बचाती' रही पुलिस

असम पुलिस की नग्न सच्चाई: पोस्टमॉर्टम तक की खबर नहीं है.